(Alakh Pandey) Physics wallah 1000 के बोर्ड से लेकर 8000 करोड़ की यूनिकॉर्न कंपनी तक का सफर

जीवन में अगर इरादे बुलंद हो तो बड़े लक्ष्य आपकी मुट्ठी में होते है इसी कहावत को चरितार्थ करता है फिजिक्स वाला यानी अलक पांडेय का जीवन। आज आईआईटी, नीट और जेईई के लिए फिजिक्स और केमिस्ट्री पढ़ने वाले छात्रों के लिए अलक पांडेय यानी की फिजिक्स वाला एक जाना-पहचाना नाम है। कभी अपने घर के छोटे कमरे से 1000 रुपए के बोर्ड से ऑनलाइन क्लासेज शुरू करने वाले अलक पांडेय के आज यूट्यूब पर 6.95 मिलियन यानी की सत्तर लाख के करीब सब्सक्राइबर है। हाल ही में इनकी कंपनी फिजिक्सवाला को 1.1 बिलियन की मार्केट वैल्यू के साथ देश की 101 वीं यूनिकॉर्न होने के गौरव प्राप्त हुआ है। चलिए आज जानते है की कैसा रहा है (Alakh Pandey) Physics wallah का 1000 के बोर्ड से लेकर 8000 करोड़ की यूनिकॉर्न कंपनी तक का सफर

(Alakh Pandey) Physics wala

(Alakh Pandey) Physics wallah, एक नजर

नाम अलक पांडेय
व्यवसाय शिक्षक
जन्म-तिथि 2 अक्टूबर 1991
वर्तमान उम्र 32 वर्ष
विशेषज्ञता भौतिक विषय
शिक्षा बीटेक, हारकोर्ट बटलर तकनीकी संस्थान, कानपुर
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
गृह-जनपद प्रयागराज, उत्तर-प्रदेश
यूट्यूब चैनल Physics Wallah – Alakh Pandey
कंपनी Physics Wallah
कंपनी का प्रकार यूनिकॉर्न
राष्ट्रीयता भारतीय

1000 के बोर्ड से लेकर 8000 करोड़ की यूनिकॉर्न कंपनी तक का सफर

कभी 1000 रुपए के बोर्ड से छात्रों को फिजिक्स पढ़ाने वाले अलक पांडेय की कंपनी को हाल ही में देश की 101 वीं यूनिकॉर्न होने का तगमा मिला है। यूनिकॉर्न ऐसी कंपनी को कहा जाता है जिसकी मार्केट वैल्यू 1 अरब डॉलर से अधिक हो जाती है। Physics wala कंपनी के यूनिकॉर्न क्लब में शामिल होने के बाद सभी जगह अलक पांडेय के नाम की चर्चा है परन्तु इससे पूर्व भी यह नाम (Alakh Pandey) Physics wala यूट्यूब चैनल पर 6.95 मिलियन सब्सक्राइबर के साथ छात्रों की जुबान पर है। कभी 5000 रुपए से अपना करियर शुरू करने वाले अलक पांडेय का जीवन मुश्किलों से भरा रहा है परन्तु अपने हौसलों से उन्होंने अपने सपनो को पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत की है। जीवन में अनेक उतार-चढ़ाव देखने के बाद ही अलक पांडेय ने अपनी कंपनी को इस मुकाम पर पहुंचाया है।

अलक-पांडेय, प्रारंभिक जीवन

अलक पांडेय का जन्म 2 अक्टूबर 1991 को प्रयागराज के दक्षिण मलाका इलाके में हुआ था। इनके पिता सतीश पांडेय और मां रजत पांडेय है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से आने वाले अलक पांडेय बचपन से ही पढ़ाई में तेज थे इसी कारण वे अपना अधिकांश समय लाइब्रेरी में बिताना पसंद करते थे। इन्होने अपनी हाई-स्कूल बिशप जॉनसन स्कूल से 91 फीसदी अंको के साथ उत्तीर्ण की जिसके पश्चात इन्होने 12वीं में भी 93 फीसदी अंक प्राप्त किये थे। घर के आर्थिक हालातों के चलते इन्होने बचपन से ही मुश्किलों को देखा था ऐसे में इन्होने छोटी उम्र से ही बच्चो को ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दिया था। इसी का परिणाम रहा की बाद के वर्षो में भी इनका रुझान टीचिंग के क्षेत्र में ही रहा।

माध्यमिक शिक्षा पूरी होने के बाद इन्होने कॉलेज में प्रवेश के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने की ठानी परन्तु कोचिंग की फ़ीस महँगी होने के कारण ये तैयारी नहीं कर पाए। परन्तु मजबूत हौसलों से भरे अलक पांडेय ने सेल्फ-स्टडी के माध्यम से Harcourt Butler Technical University, Kanpur की प्रवेश परीक्षा पास कर बीटेक में एडमिशन लिया। बीटेक पूरा करने के बाद इन्होने अपने करियर पर ध्यान देना शुरू कर दिया जिसके परिणामस्वरुप आज ये यूनिकॉर्न कंपनी के मालिक है।

ये है Physics wallah बनने की कहानी

पहले से ही पढ़ाने का शौक रखने वाले अलक पाण्डेय का जीवन उतार-चढ़ावो को साक्षी रहा है। बीटेक की शिक्षा पूरी करने के पश्चात वर्ष 2015 से उन्होंने एक निजी संस्थान में पढ़ाना शुरू किया। इस समय ऑनलाइन पढ़ाई का क्रेज छात्रों के सिर चढ़कर बोल रहा था ऐसे में अलक ने भी अपना यूट्यूब चैनल खोला परन्तु अच्छा रिस्पांस ना मिलने के कारण इन्होने इसे जल्दी ही बंद कर दिया। इसके बाद इन्होने ऑफलाइन पढ़ाई पर ही अपना फोकस रखा। हालांकि फिजिक्स जैसे कठिन विषय को आसान भाषा में समझाने और अपनी यूनिक टीचिंग के कारण ये जल्द ही छात्रों के बीच लोकप्रिय हो गए। इसके पश्चात इन्होने पुनः अपना यूट्यूब चैनल दुबारा शुरू करने की सोची और Physics Wallah – Alakh Pandey के नाम से अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया। एक वर्ष में मात्र 10000 सब्सक्राइबर गेन करने वाले Physics Wallah – Alakh Pandey यूट्यूब चैनल के आज 6.95 मिलियन सब्सक्राइबर पूरे हो चुके है साथ ही यह कंपनी देश की यूनिकॉर्न कंपनियों में भी शामिल हो चुकी है।

(Alakh Pandey) Physics wallah अनोखा है पढ़ाने का अंदाज

अलक पांडेय छात्रों के बीच अपने पढ़ाने के अंदाज के कारण काफी लोकप्रिय हुए है। फिजिक्स जैसे कठिन प्रतीत होने वाले विषय को आसान शब्दो में समझाने के कारण अलक-पांडेय ने छात्रों के बीच से फिजिक्स के डर को दूर किया साथ ही अपने मजाकिया अंदाज के कारण वे विषय के कठिन शब्दो की भी सरल भाषा में व्याख्या करते है। कभी-कभी छात्रों को कोई कांसेप्ट समझाने के लिए मीम्स (Memes) का भी इस्तेमाल करते है जिससे की छात्रों को अध्ययन करने के आसानी होती है। आईआईटी, नीट, मेडिकल, इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए भी अलक-पांडेय द्वारा विभिन कोर्स लांच किये जाते रहे है।

मुश्किलों भरा रहा है जीवन का सफर

अपने शुरूआती दिनों से अलक पांडेय ने संघर्ष को देखा था। इंटरमीडिएट के बाद जब वे कॉलेज के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए अपनी फ़ीस नहीं चुका पाए थे तो तभी से वे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से आने वाले छात्रों के लिए कुछ करने की ठान चुके थे। अपने कई-इंटरव्यू के दौरान भी वे इस बात का जिक्र कर चुके है की उनका मकसद देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से आने वाले छात्रों को कम कीमत पर उच्च-शिक्षा उपलब्ध करवाना है जिससे की वे जीवन में अपने सपनो को पूरा कर सके। अपने प्रारम्भ के दिनों में यूट्यूब चैनल पर अच्छा रिस्पांस ना मिलने पर भी अलक ने पढाना जारी रखा और आज वे 6 मिलियन से भी ज्यादा सब्सक्राइबर के साथ भारत के सबसे प्रसिद्ध अध्यापको में शुमार है। अपने प्रारंभिक दिनों को याद करते हुए अलक कहते है की शुरूआत के दिनों में मेरी वीडियोस पर जीरो व्यूज आते थे जिन्हे मेरी मम्मी और बहन द्वारा ही लाइक किया जाता था। इसके अलावा शुरूआती दिनों में उन्हें आर्थिक समस्या से भी जूझना पड़ा है।

आज है यूनिकॉर्न कंपनी के मालिक

अलक पांडेय द्वारा वर्ष 2020 में अपनी कंपनी Physics Wallah को कंपनी रजिस्ट्रेशन एक्ट के तहत बतौर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में रजिस्टर किया गया था। प्रतीक माहेश्वरी जो की अलक के बिजनेस पार्टनर है और कंपनी के शुरूआती दिनों से ही अलक के साथ है ने भी Physics Wallah को इन ऊँचाइयों तक पहुंचाने में अपना योगदान दिया है। हाल ही में वेस्टब्रिज और जीएसवी वेंचर्स द्वारा अलक की कंपनी Physics Wallah में 100 मिलियन का निवेश करने के बाद कंपनी के मार्केट वैल्यू 1.1 बिलियन डॉलर से अधिक हो गयी है जिसके पश्चात अलक की चर्चा पूरे देश में है। इसके साथ ही इनकी कंपनी देश की 101वीं यूनिकॉर्न कंपनी बन गयी है जिसकी मार्केट वैल्यू 1 अरब डॉलर से अधिक है।

ये है जीवन के सबक

अलक-पांडेय का जीवन हम सभी को जीवन में मुश्किलों के बावजूद आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। कैसे एक मध्यम वर्ग से आने वाले छात्र ने अपनी मेहनत के दम पर देश के सभी प्रमुख टीचरो में अपना स्थान बनाया और पर्याप्त संसाधन ना होने के बावजूद अपने सपनो को पूरा किया अलक पांडेय का जीवन हमे हालात को कोसने के बजाय उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करके अपनी क्षमताओ के उपयोग की प्रेरणा देता है। विद्यार्थी जीवन के दौरान आने वाली मुश्किलों से लड़ने के लिए अलक पांडेय का जीवन एक प्रेरणादायक सीख है।

(Alakh Pandey) Physics wallah सम्बंधित प्रश्न (FAQ)

अलक पांडेय कौन है ?

अलक पांडेय भारत में ऑनलाइन माध्यम से फिजिक्स विषय को पढ़ाने वाले एक लोकप्रिय अध्यापक है। इसके अतिरिक्त वे Physics Wallah – Alakh Pandey यूट्यूब चैनल और Physics Wallah edutech कंपनी के मालिक भी है।

Physics Wallah यूट्यूब चैनल के माध्यम से किन-किन प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाती है ?

Physics Wallah यूट्यूब चैनल के माध्यम से छात्रों को आईआईटी, नीट, जेईई, मेडिकल प्रवेश परीक्षाओ की तैयारी करवाई जाती है।

अलक-पांडेय किस विषय के विशेषज्ञ है ?

अलक पांडेय भौतिक विषय के विशेषज्ञ अध्यापक है इसी कारण से उन्होंने अपने चैनल का नाम भी Physics Wallah रखा है।

यूनिकॉर्न कंपनी किसे कहा जाता है ?

यूनिकॉर्न कंपनी ऐसी कंपनियों को कहा जाता है जिनकी मार्केट वैल्यू 1 अरब डॉलर से भी अधिक हो। हाल ही में 1.1 अरब डॉलर की मार्किट वैल्यू के साथ Physics Wallah देश की 101वीं यूनिकॉर्न कंपनी बन गयी है।

अलक सर से आईआईटी और नीट की तैयारी करने के लिए कोर्स कैसे ज्वाइन करें ?

आईआईटी और नीट की तैयारी करवाने के लिए अलक सर द्वारा लक्ष्य एप्प लांच किया गया है। इस एप्प को डाउनलोड करके और निर्धारित फ़ीस की जमा करके छात्र ऑनलाइन कोर्स ज्वाइन कर सकते है।

आईआईटी और नीट के कोर्सो के लिए कितनी फ़ीस रखी गयी है ?

Physics Wallah द्वारा आईआईटी और नीट के कोर्सो की फ़ीस के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए छात्रों को आधिकारिक पोर्टल या लक्ष्य एप्प को विजिट करने की सलाह दी जाती है। इसके माध्यम से छात्र विभिन कोर्सो की अवधि और फ़ीस स्ट्रक्चर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Leave a Comment