75 Ramsar sites in India in Hindi 2022 । भारत के सभी 75 रामसर स्थल

प्रकृति में आर्द्रभूमि के महत्व को देखते हुए “प्रकृति संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय संघ (United Nation for Conservation of Nature) द्वारा विश्व के विभिन क्षेत्रों को रामसर स्थल में शामिल किया जाता रहता है। पारिस्थितिक तंत्र में आर्द्रभूमि की भूमिका को ध्यान में रखते हुए प्रकृति संरक्षण हेतु अंतरराष्ट्रीय संघ द्वारा प्रतिवर्ष विभिन आर्द्रभूमियों को रामसर स्थल की सूची में स्थान दिया जाता है। वर्तमान समय तक IUCN (International Union for Conservation of Nature) द्वारा भारत की 75 आर्द्रभूमियों को रामसर स्थल की सूची में शामिल किया जा चुका है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आपको भारत के सभी 75 रामसर स्थल (75 Ramsar sites in India in Hindi 2022) के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी।

भारत के सभी राष्ट्रीय उद्यानों की सूची

भारत के सभी 75 रामसर स्थल
भारत के सभी 75 रामसर स्थल

भारत के सभी 75 रामसर स्थलों की सूची के बारे में जानने के अतिरिक्त इस आर्टिकल के माध्यम से आपको आर्द्रभूमि एवं रामसर स्थल क्या है सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी।

आर्द्र भूमि क्या है ?

रामसर स्थल के बारे में जानकारी प्राप्त करने से पूर्व हमे आर्द्र भूमि क्षेत्र या वेटलैंड्स के बारे में जानकारी प्राप्त करना आवश्यक है तभी हम रामसर स्थल को अच्छे से समझ सकेंगे। आर्द्रभूमि क्षेत्र या वेटलैंड्स धरती के उन स्थलों को कहा जाता है जो की जल से ढ़के या अंशत घिरे होते है। सरल शब्दो में कहा जाए तो जल से घिरे दलदली स्थलों को आर्द्र भूमि कहा जाता है जिसमे तालाब, जलाशय, झीलें, नदी -डेल्टा, डेल्टा क्षेत्र, पंकभूमि, बाढ़ के मैदान, दलदली भूमि, चावल के खेत, बैराज भूमि और समुद्र के दलदली किनारे शामिल है। मुख्यत जल एवं स्थल के मध्य भाग के संक्रमण क्षेत्र या जल से घिरी दलदली भूमि (पंकभूमि) को ही आर्द्र भूमि का दर्जा दिया जाता है। आईयूसीएन (IUCN) की परिभाषा के अनुसार इसमें प्राकृतिक एवं कृत्रिम, स्थैतिक एवं बहते जल तथा स्थायी या अस्थायी आर्द्रभूमि को शामिल किया गया है।

wetland

आर्द्र भूमि पारिस्थितिक तंत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। वास्तव में ये धरती पर सबसे महत्वपूर्ण पारिस्थितिक तंत्र है जो की पर्यावरण संरक्षण, पारिस्थितिक संतुलन, ऑक्सीजन उत्पादन, कार्बन अवशोषक, मत्स्य पालन, सिंचाई, प्रवासी पक्षियों हेतु निवास, गैर-इमारती लकड़ी उत्पाद, आश्रित जीवो हेतु खाद्य, जल-आपूर्ति, बाढ़ रोकथाम एवं जैव विविधता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। यही कारण है की इन्हे संरक्षित करने हेतु रामसर संधि को लागू किया गया है।

रामसर स्थल क्या है ?

आर्द्रभूमियों को संरक्षित करने के लिए 2 फरवरी 1971 को ईरान के रामसर शहर में दुनिया के विभिन देशों के मध्य अंतर्राष्ट्रीय संधि की गयी थी जिसके तहत पर्यावरण संरक्षण हेतु दुनिया के विभिन आर्द्र भूमि स्थलों को संरक्षित करने का संकल्प लिया गया था। इस समझौते को ही रामसर समझौता (Ramsar Convention) के नाम से जाना जाता है। रामसर समझौते के तहत संरक्षित करने हेतु सम्मिलित की गयी आर्द्रभूमियों को ही रामसर स्थल का दर्जा दिया जाता है। रामसर समझौता को सम्बंधित देशो के द्वारा 21 दिसंबर 1975 को पूर्णरूप से लागू किया गया था। भारत के द्वारा इस संधि पर 1 फरवरी 1982 को हस्ताक्षर किए गए थे। किसी भी भूमि के रामसर स्थल में शामिल होने पर सम्बंधित भूमि के संरक्षण की जिम्मेदारी आईयूसीएन (IUCN) द्वारा की जाती है साथ ही रामसर स्थल को पहचान एवं वित्तीय सहायता के अतिरिक्त अन्य प्रकार से भी सहायता प्रदान की जाती है।

भारत के सभी 75 रामसर स्थल

यहाँ आपको भारत के सभी 75 रामसर स्थलों ( List of 75 Ramsar Sites in India in Hindi 2022) की सूची प्रदान की गयी है:-

क्र. सं. चित्र रामसर स्थल का नाम शामिल वर्षसम्बंधित राज्य/केंद्रशासित प्रदेशविशेष तथ्य/महत्व
1.Chilika Lake (Odisha)चिल्का झील1981ओडिशाभारत की सबसे बड़ी लैगून झील, प्रवासी पक्षियों का निवास स्थल, विभिन विदेशी पक्षी एवं फ्लेमिंगो की पसंदीदा आरामगाह
2.Keoladeo National Park (Rajasthan)केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान1981राजस्थानप्रवासी पक्षियों के लिए प्रसिद्ध पक्षी बर्ड-सेंचुरी
3.Loktak lake (Manipur)लोकटक झील1990मणिपुरउत्तर-पूर्वी राज्यों में स्थित सबसे बड़ी ताजे जल की झील, विश्व का एकमात्र तैरता उद्यान कैबुल लामजाओ स्थित
4.Wular lake (Jammu & Kashmir)वुलर झील1990जम्मू-कश्मीरभारत की ताजे जल की सबसे बड़ी झील
5.Harike Wetlands (Punjab)हरिके झील1990पंजाबव्यास एवं सतलुज के संगम के पास स्थित, इंदिरा गाँधी नहर हेतु महत्वपूर्ण
6.Sambhar lake (Rajasthan)सांभर झील1990राजस्थानभारत की सबसे बड़ी अंतर्देशीय जल की झील, प्रवासी पक्षियों हेतु महत्वपूर्ण
7.Kanjli Wetland (Punjab)कंजली झील2002पंजाबजलीय जीवों एवं कछुओं की विभिन प्रजातियों हेतु प्रसिद्ध वेटलैंड
8.Ropar Wetland (Punjab)रोपड़ वेटलैंड2002पंजाबसतलुज झील द्वारा निर्मित बैराज, सांभर एवं हॉग डियर के निवास हेतु प्रसिद्ध
9.Kolleru lake (Andhra Pradesh)कोलेरु झील2002आंध्र प्रदेशकृष्णा एवं गोदावरी नदियों के संगम पर स्थित मीठे जल की झील
10.Deepor Beel (Assam)दीपोर बील2002असमब्रह्मपुत्र नदी की धारा से निर्मित झील, बर्मा मानसून क्षेत्र के अंतर्गत संरक्षित
11.Pong Dam lake (Himachal Pradesh)पोंग बांध झील2002हिमाचल प्रदेशमहाराणा प्रताप सागर झील के नाम से प्रसिद्ध, महाशीर मछली का निवास
12.Tsomoriri (Ladakh)त्सो मोरीरी झील2002लद्दाखभारतीय सीमा में स्थित सर्वाधिक ऊँचाई पर स्थित झील
13.Ashtamudi Wetland (Kerala)अष्टमुडी झील2002केरलकेरल में बैकवाटर झीलों के प्रवेश द्वार के रूप में प्रसिद्ध
14.Sasthamkotta lake (Kerala)सस्थमकोट्टा झील2002केरलसस्थमकोट्टा मंदिर के पास स्थित केरल की सबसे बड़ी ताजे जल की झील, प्रवासी पक्षियों हेतु प्रसिद्ध
15.Vembanad Kol Wetland (Kerala)वेम्बनाड-कोल आर्द्रभूमि2002केरलभारत की सबसे लम्बी झील, नौका दौड़ प्रतियोगिता हेतु प्रसिद्ध
16.Bhoj Wetland (Madhya Pradesh)भोज वेटलैंड2002मध्य प्रदेशभोजताल के नाम से प्रसिद्ध भोपाल के निकट स्थित वेटलैंड, क्रैन सारस हेतु प्रसिद्ध
17.Bhitarkanika Mangroves (Odisha)भितरकनिका मैंग्रोव2002ओडिशाभारत का द्वितीय सबसे बड़ा मैंग्रोव वन तंत्र
18.Point Calimere Wildlife and Bird Sanctuary (Tamil Nadu)प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभयारण्य2002तमिलनाडुफ्लेमिंगो पक्षी के संगम एवं ब्लैकबक हिरणों के लिए दर्शनीय
19.East Kolkata Wetlands (West Bengal).पूर्व कोलकाता आर्द्रभूमि2002पश्चिम बंगालकोलकता के सीवर स्वछता हेतु निर्मित पूर्व कोलकाता आर्द्रभूमि प्राकृतिक एवं कृत्रिम झील का समन्वय है।
20.chadrataal jhilचंद्रताल वेटलैंड2005हिमाचल प्रदेशचंद्र नदी का उद्गम, हिमालयी पक्षियों के निवास हेतु उपयुक्त
21.Renuka lake (Himachal Pradesh)रेणुका वेटलैंड2005हिमाचल प्रदेशभगवान परशुराम की पुत्री रेणुका के नाम पर रेणुका वेटलैंड प्रसिद्ध झील है।
22.hokera ramsar siteहोकेरा वेटलैंड / होकेर्सर वेटलैंड2005जम्मू और कश्मीरदेश में रेडबीडस पक्षी का एकमात्र निवास स्थल, पीर-पंजाल रेंज में स्थित
23.Surinsar- Mansar lakes (Jammu & Kashmir)सुरिंसर और मानसर झील2005जम्मू और कश्मीरजम्मू में स्थित झेलम नदी क्षेत्र में स्थित, अर्ध शुष्क वेटलैंड स्थल
24.Rudrasagar lake (Tripura)रुद्रसागर झील2005त्रिपुरा3 स्थायी झरनो के संगम पर स्थित, स्थानीय पर्यावरणीय तंत्र के लिए आवश्यक वेटलैंड
25.Upper Ganga River (Brijghat to Narora Stretch)ऊपरी गंगा नदी (ब्रजघाट से नरौरा खिंचाव)2005उत्तर प्रदेशदेश के सर्वाधिक महत्वपूर्ण वेटलैंड में शामिल, कछुओं, घड़ियाल, मगरमच्छ, गंगा डॉलफिन एवं अन्य जलीय जीवो हेतु महत्वपूर्ण
26.Nalsarovar Bird sanctuary (Gujarat)नलसरोवर पक्षी अभयारण्य2012गुजरातथार मरुस्थल का सबसे बड़ा वेटलैंड, जंगली गधों के लिए महत्वपूर्ण निवास स्थल
27.Sunderban Wetland (West Bengal)सुंदरवन डेल्टा क्षेत्र2019पश्चिम बंगालविश्व का सबसे बड़ा मैन्ग्रोव वनों का इकोलॉजिकल सिस्टम, बंगाल टाइगर एवं सुंदरी वनों हेतु प्रसिद्ध
28.Nandur Madhameshwar (Maharashtra)नंदुर मध्यमेश्वर2019महाराष्ट्रदक्कन पठार में स्थित, भरतपुर बर्ड सेंचुरी के नाम से भी प्रसिद्ध
29.Nawabganj Bird Sanctuary (Uttar Pradesh)नवाबगंज पक्षी अभयारण्य2019उत्तर प्रदेशशहीद चंद्रशेखर आजाद के नाम प्रसिद्ध, विभिन जीवों एवं पशु-पक्षियों की प्रजाति हेतु प्रसिद्ध
30.keshopur wetlandकेशोपुर मिआनी कम्युनिटी रिजर्व2019पंजाबदलदली एवं कृषि भूमि पर स्थित वेटलैंड, सामुदायिक रूप से संरक्षित प्राकृतिक स्थल
31.Beas Conservation Reserve (Punjab)व्यास संरक्षण रिजर्व2019पंजाबब्यास नदी के 185 किलोमीटर क्षेत्र में स्थित वेटलैंड, सिंधु रिवर डॉलफिन का मुख्य निवास
32.Nangal Wildlife Sanctuary (Punjab)नांगल वन्यजीव अभयारण्य2019पंजाबविभिन भारतीय एवं विदेशी प्रजातियों के पक्षियों का निवास स्थल, भारतीय पैंगोलिन के लिए प्रसिद्ध
33.Sandi Bird Sanctuary (Uttar Pradesh)साण्डी पक्षी अभयारण्य2019उत्तर प्रदेशउत्तर के गंगा के मैदान में स्थित महत्वपूर्ण पक्षी अभयारण्य, दलदली भूमि से घिरा एवं मानसून पर निर्भर वेटलैंड
34.Samaspur Bird Sanctuary (Uttar Pradesh)समसपुर पक्षी अभयारण्य2019उत्तर प्रदेशभारतीय पक्षियों के साथ विदेशी पक्षियों के लिए प्रसिद्ध पक्षी अभयारण्य, मुख्यत दलदली भूमि
35.Saman Bird Sanctuary (Uttar Pradesh)समान पक्षी अभयारण्य2019उत्तर प्रदेशगूज, बाज एवं अन्य दुर्लभ प्रजाति के पक्षियों के लिए महत्वपूर्ण निवास स्थल, मानसून पर निर्भर स्थल
36.Parvati Arga Bird Sanctuary (Uttar Pradesh)पार्वती अरगा पक्षी अभयारण्य2019उत्तर प्रदेशविभिन प्रकार की पक्षी प्रजातियों के लिए निवास स्थल, गिद्धों के संरक्षण हेतु महत्वपूर्ण
37.Sarsai Nawar Jheel (Uttar Pradesh)सरसई नावर झील2019उत्तर प्रदेशदुर्लभ क्रेन सारस के लिए प्रसिद्ध गंगा के मैदानी क्षेत्र में स्थित वेटलैंड, स्थायी दलदली क्षेत्र
38.Asan Barrage (Uttarakhand)आसन कंजर्वेशन रिजर्व2020उत्तराखंडप्रवासी पक्षियों के स्वर्गगाह के रूप में प्रसिद्ध संरक्षित क्षेत्र
39Kanwar Lake or Kabal Taal (Bihar)कंवर ताल2020बिहारनदी क्षेत्र में आने वाली बाढ़ हेतु अवरुद्ध, विभिन प्रजाति के जीवों हेतु महत्वपूर्ण
40.Lonar Lake (Maharashtra)लोनार झील2020महाराष्ट्रउल्कापिंड के प्रभाव के कारण निर्मित झील, ज्वालामुखी के क्रेटर की भांति आकार वाली झील
41.Sur Sarovar (Uttar Pradesh)सुर सरोवर झील / कीथम झील2020उत्तर प्रदेशमध्य-एशिया से आने वाली प्रवासी पक्षियों हेतु महत्वपूर्ण झील, ग्रेलेग गूज का महत्वपूर्ण निवास
42.Tso Kar Wetland (Ladakh)त्सो कर आर्द्रभूमि क्षेत्र2020लद्दाखहिमतेंदुए का प्रमुख निवास, एशिया वाइल्ड डॉग एवं हिमालयी स्पीशीज के लिए प्रसिद्ध, लवणीय झील
43.Sultanpur National Park (Haryana)सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान2021हरियाणापक्षी प्रेमियों का सबसे पसंदीदा स्थल, विभिन प्रकार के पक्षियों का निवास स्थल
44.Bhindawas Wildlife Sanctuary (Haryana)भिड़ावास वन्यजीव अभ्यारण्य2021हरियाणाहरियाणा में स्थित सबसे बड़ा वेटलैंड एरिया, ताजे जल की झील
45.Thol Lake Wildlife Sanctuary (Gujarat)थोल झील वन्यजीव अभ्यारण्य2021गुजरातमध्य एशिया से आने वाले प्रवासी पक्षियों का आरामगाह, दुर्लभ प्रजाति के पक्षियों का घर
46.Wadhvana Wetland (Gujarat)वाधवाना आर्द्रभूमि क्षेत्र2021गुजरातकृषि क्षेत्र से घिरी आर्द्रभूमि, लाल गर्दन वाली बतख के लिए प्रसिद्ध
47.haiderpur wetland, ramsar siteहैदरपुर वेटलैंड2021उत्तर प्रदेशलाल सुर्खाब, रिवर गुल एवं कारमोरेंट जैसे दुर्लभ स्पीशीज, विभिन जलपक्षियों, जलीय जीवों तथा वनस्पति का घर
48.Khijadia Wildlife Sanctuary (Gujarat)खिजड़िया पक्षी अभयारण्य2022गुजरातविभिन स्पीशीज के लिए प्रसिद्ध लवणीय एवं अलवणीय जल का प्रमुख क्षेत्र, पक्षियों का आरामगाह स्थल
49.Bakhira Wildlife Sanctuary (Uttar Pradesh)बखीरा वन्यजीव अभयारण्य2022उत्तर प्रदेशविभिन विदेशी पक्षियों के लिए आरामगाह, जलीय जीवो हेतु प्रसिद्ध
50.Karikili Bird Sanctuary (Tamil Nadu)करिकीली पक्षी अभयारण्य2022तमिलनाडुसैकड़ो पक्षियों का घर, जलीय जीवों एवं वनस्पति की विविधता हेतु प्रसिद्ध
51.Pallikaranai Marsh Reserve Forest (Tamil Nadu)पल्लीकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट2022तमिलनाडुराजधानी चेन्नई के निकट स्थित प्राकृतिक वेटलैंड
52.Pichavaram Mangrove Forest (Tamil Nadu)पिचवरम मैंग्रोव2022तमिलनाडुदेश के सबसे बड़े मैंग्रोव वनों में शुमार, सुनामी से सुरक्षा हेतु महत्वपूर्ण
53.Pala Wetland (Mizoram)पाला आर्द्रभूमि2022मिजोरमपूर्वोत्तर में स्थित प्राकृतिक वेटलैंड, स्थानीय प्रजाति के जीवों के संरक्षण हेतु महत्वपूर्ण
54.Sakhya Sagar Lake (Madhya Pradesh)साख्य सागर2022मध्य प्रदेशमध्यप्रदेश में स्थित माधव अभ्यारण में स्थित वेटलैंड, जैव-विविधता का खजाना
55.Kudankulam wetland, ramsar siteकूथनकुलम पक्षी अभयारण्य2022तमिलनाडुकूथनकुलम गाँव में स्थित सामुदायिक सहभागिता से संरक्षित पक्षी अभयारण्य
56.mannar strait wetlandमन्नार की खाड़ी समुद्री बायोस्फीयर रिजर्व2022तमिलनाडुसमुद्री जीवो हेतु प्रमुख निवास स्थल, विभिन जलीय जीवों के संरक्षण हेतु महत्वपूर्ण
57.Vembannur Wetland Complexवेम्बन्नूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स2022तमिलनाडुप्रायद्वीपीय भारत में स्थित कृत्रिम वेटलैंड, सिंचाई एवं प्राकृतिक संरक्षण हेतु महत्वपूर्ण
58.Vellode wetlandवेलोड पक्षी अभयारण्य2022तमिलनाडुकृषि कार्यो के लिए निर्मित कृत्रिम वेटलैंड, पक्षियों के लिए आदर्श निवास स्थल
59.Vedanthangal Bird Sanctuariesवेदान्थंगल पक्षी अभयारण्य2022तमिलनाडुपक्षियों के खाद्य एवं निवास हेतु आदर्श स्थल, विभिन प्रकार के पक्षियों का निवास स्थल
60.udhayamarthandapuram bird sanctuaryउदयमार्थंदपुरम पक्षी अभयारण्य2022तमिलनाडुपक्षियों के आरामस्थल के रूप में प्रचलित, विभिन जीवो के लिए प्राकृतिक वातावरण के रूप में प्रसिद्ध
61.sirpur wetland areaसिरपुर वेटलैंड2022मध्य प्रदेशग्रे हेरोन के लिए प्रसिद्ध वेटलैंड, इंदौर के महाराजा द्वारा निर्मित सैकड़ो वर्ष पुराना जलस्रोत
62.satkosia gorge ramsar siteसतकोसिया गॉर्ज2022ओडिशासतकोसिया टाइगर रिज़र्व के साथ लगा हुआ वेटलैंड स्थल, प्राकृतिक वातावरण हेतु प्रसिद्ध
63.nanda jheel ramsar siteनंदा झील2022गोवागोवा का एकमात्र रामसर स्थल, पक्षियों की विभिन प्रजातियों का निवास स्थल
64.ranganathittu ramsar siteरंगनाथिट्टू पक्षी अभयारण्य2022कर्नाटककिंगफ़िशर, फेलिकन्स एवं हेरोंस पक्षी प्रजातियों के लिए प्रसिद्ध पक्षी अभ्यारण
65.Yashwant Sagar wetland areaयशवंत सागर2022मध्य प्रदेशमानव निर्मित कृत्रिम जलाशय, मानसून काल में विभिन पक्षियों का निवास स्थान
66.Thane Creekठाणे क्रीक2022महाराष्ट्रप्रवासी पक्षियों में फ्लेमिंगो का प्रमुख निवास स्थान, विभिन विदेशी पक्षियों हेतु प्रसिद्ध स्थल
67.Hygam Wetland Conservation Reserveहाइगम वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व2022जम्मू और कश्मीरमध्यएशिया, यूरोप, चीन एवं लद्दाख से आने वाले प्रवासी पक्षियों का प्रमुख आरामगाह स्थल
68.Shallbugh Wetland Conservation Reserveशालबुग वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व2022जम्मू और कश्मीरसाइबेरिया एवं अन्य सुदूर प्रदेशों से आने वाले गीज, कॉमन टील एवं पोचर्ड पक्षियों का पसंदीदा निवास
69.Tampara Lake wetland areaटंपारा झील2022ओडिशाजलीय जीवों के निवास हेतु प्रसिद्ध, विभिन वनस्पतियों से आच्छादित वेटलैंड स्थल
70.Hirakud Reservoir wetland areaहीराकुंड रिजर्व2022ओडिशाहीराकुंड डैम पर स्थित रिजर्व, विभिन जीवों एवं पक्षियों हेतु प्रसिद्ध निवास
71.Ansupa Lake wetland areaअनसुपा झील2022ओडिशाविभिन जीवों एवं वनस्पतियों का घर, आम एवं बाँस की अधिकता के लिए प्रसिद्ध
72.Chitrangudi Bird Sanctuaryचित्रांगुडी पक्षी अभ्यारण्य2022तमिलनाडुविभिन प्रकार के प्रवासी पक्षियों हेतु प्रसिद्ध, हेरॉन, स्टोर्क, फेलिकन का पसंदीदा निवास
73.Suchindram Theroor Wetland Complex wetland areaसुचिंद्रम थेरूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स2022तमिलनाडुढ़ाई सौ से अधिक स्थानीय एवं प्रवासी पक्षियों का निवास स्थल
74.Vaduvur Bird Sanctuary wetland areaवडुवुर पक्षी अभ्यारण्य2022तमिलनाडुपक्षियों के स्वर्ग के रूप में प्रसिद्ध, विभिन प्रजाति के पक्षियों हेतु खाद्य एवं निवास का प्रमुख स्थल
75.Kanjirankulam Bird Sanctuary wetland areaकांजीरंकुलम पक्षी अभ्यारण्य2022तमिलनाडुमध्यएशिया एवं अन्य भागों से हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके आये पक्षियों का निवास स्थान, विभिन वनस्पतियों एवं जीवों हेतु अनुकूल स्थल
भारत के सभी 75 रामसर स्थल

इस प्रकार से इस आर्टिकल के माध्यम से आपको भारत के सभी 75 रामसर स्थलों के बारे में जानकारी एवं इनकी विशेषताओं से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य के बारे में अवगत कराया गया है।

यह भी जानें :-

रामसर स्थल सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

रामसर स्थल क्या होता है ?

रामसर स्थल उन प्राकृतिक एवं कृत्रिम आर्द्रभूमियों को कहा जाता है जिन्हे पारिस्थितिक तंत्र में महत्वपूर्ण भूमिका के लिए आईयूसीएन (IUCN) द्वारा संरक्षित किया जाता है।

आर्द्रभूमि किसे कहा जाता है ?

आर्द्रभूमि क्षेत्र या वेटलैंड्स धरती के उन स्थलों को कहा जाता है जो की जल से ढ़के या अंशत घिरे होते है। आसान शब्दो में जल से घिरे दलदली स्थलों को आर्द्र भूमि कहा जाता है जिसमे तालाब, जलाशय, झीलें, नदी -डेल्टा, डेल्टा क्षेत्र, पंकभूमि, बाढ़ के मैदान, दलदली भूमि, चावल के खेत, बैराज भूमि और समुद्र के दलदली किनारे शामिल है। मुख्यत जल एवं स्थल के मध्य भाग के संक्रमण क्षेत्र या जल से घिरी दलदली भूमि (पंकभूमि) को ही आर्द्र भूमि का दर्जा दिया जाता है।

आर्द्रभूमि क्यों महत्वपूर्ण होती है ?

आर्द्र भूमि पारिस्थितिक तंत्र का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है जो की पर्यावरण संरक्षण, पारिस्थितिक संतुलन, ऑक्सीजन उत्पादन, कार्बन अवशोषक, मत्स्य पालन, सिंचाई, प्रवासी पक्षियों हेतु निवास, गैर-इमारती लकड़ी उत्पाद, आश्रित जीवो हेतु खाद्य, जल-आपूर्ति, बाढ़ रोकथाम एवं जैव विविधता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है।

रामसर समझौता (Ramsar Convention) क्या है ?

रामसर समझौता (Ramsar Convention) 2 फरवरी 1971 को ईरान के रामसर शहर में दुनिया के विभिन देशों के मध्य किया गया अंतर्राष्ट्रीय समझौता है जिसके तहत दुनिया के विभिन आर्द्रभूमियों को संरक्षित करने पर सहमति व्यक्त की गयी थी। यह समझौता 21 दिसंबर 1975 को प्रभाव में आया था।

किसी स्थल को रामसर स्थल घोषित होने पर क्या लाभ होता है ?

किसी स्थल को रामसर स्थल घोषित होने पर सम्बंधित स्थल के संरक्षण की जिम्मेदारी आईयूसीएन (IUCN) द्वारा पूर्ण की जाती है। साथ ही सम्बंधित स्थल के विकास एवं पर्यावरण संरक्षण के अतिरिक्त तकनीकी सहायता एवं वित्तीय सहायता भी आईयूसीएन (IUCN) द्वारा प्रदान की जाती है।

किसी स्थल को रामसर स्थल किस संस्था द्वारा घोषित किया जाता है ?

किसी स्थल को रामसर स्थल “प्रकृति संरक्षण के लिए अंतरराष्ट्रीय संघ (United Nation for Conservation of Nature) या आईयूसीएन (IUCN) द्वारा घोषित किया जाता है।

भारत का प्रथम रामसर स्थल कौन सा है ?

भारत के प्रथम रामसर स्थल के रूप में ओडिशा की चिल्का झील एवं केवलादेव राष्ट्रीय पार्क को वर्ष 1981 में शामिल किया गया।

भारत द्वारा रामसर समझौते (Ramsar Convention) पर कब हस्ताक्षर किए गए ?

भारत द्वारा रामसर समझौते (Ramsar Convention) पर 1 फरवरी 1982 को हस्ताक्षर किए गए थे।

भारत में किस राज्य में सर्वाधिक रामसर स्थल है ?

भारत में वर्तमान समय में सर्वाधिक रामसर स्थल तमिलनाडु राज्य में स्थित है जहाँ कुल 14 रामसर स्थल है।

भारत में वर्तमान में कुल कितने रामसर स्थल है ?

भारत में वर्तमान में कुल 75 आर्द्रभूमि स्थलों को रामसर स्थल में शामिल किया गया है।

Leave a Comment

Join Telegram