UGC-NET(JRF) क्या होता है ? UGC-NET(JRF) की चयन प्रक्रिया

UGC-NET(JRF) क्या होता है? इसकी चयन प्रक्रिया किस प्रकार से होती है। इसके एग्जाम कब होते हैं और इसमें सेलेक्ट होने का प्रोसेस क्या है। इस तरह के सवाल अगर आपके मन में भी हैं तो आज हम इस पोस्ट के जरिए आपके सारे डाउट दूर करने वाले हैं यहाँ पर हम इस एग्जाम से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी आपके सामने रखने वाले हैं कि इसके लिए कौन सा एग्जाम देना पड़ता है? कैसे इसकी तैयारी होती है? इसका सिलेबस क्या है? इस एग्जाम में बैठने के लिए योग्यता क्या चाहिए आदि। अगर आप भी UGC-NET एग्जाम को देना चाहते हैं और इसमें सेलेक्ट होकर सहायक प्रोफेसर (Assistant Professor) या JRF(Junior Research Fellowship) करना चाहते हैं तो ध्यान से पोस्ट को लास्ट तक पढ़ें।

इसे भी पढ़ें :- एसएससी एग्जाम (SSC Exam) की तैयारी कैसे करें

UGC-NET(JRF) क्या होता है
UGC-NET(JRF) क्या होता है ? UGC-NET(JRF) की चयन प्रक्रिया

जेआरएफ (JRF) क्या होता है ?

JRF का फुल फॉर्म (Junior Research Fellowship) होता है। JRF(जेआरएफ) राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली परीक्षा है जिसे UGC(University Grant Commission) विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा करवाया जाता है। जिसके तहत UGC-NET, ICMR और CSIR के लिए अहर्ता प्राप्त स्टूडेंट्स परीक्षा दे सकते हैं। इन परीक्षाओं में अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों को JRF के लिए चुना जाता है और जो JRF में सेलेक्ट होते हैं उन्हें विश्वविद्यालय में M.phil/PHD करने के साथ किसी विषय में रिसर्च करने के लिए UGC की तरफ से हर महीने स्कालरशिप दी जाती है। 2 साल JRF करने के बाद SRF(Senior Research Fellowship) भी कर सकते हैं और इसमें स्कालरशिप भी बढ़ जाती है अगले 3 साल के लिए। इस एग्जाम में सफल होने के बाद किसी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में नौकरी कर सकते हैं या फिर UGC के फ़ेलोशिप कोर्स में हिस्सा ले सकते हो। इस परीक्षा को साल में 2 बार जून और दिसंबर के माह में कराया जाता है। इसमें लगभग 10 से 12 लाख अभ्यर्थी शामिल होते हैं। वर्ष 2018 तक इस परीक्षा को CBSE द्वारा कराया जाता था। लेकिन 2018 के बाद इसे NTA(National Testing Agency) राष्ट्रीय परिक्षण एजेंसी द्वारा ऑनलाइन माध्यम से कराई जाती है।

आर्टिकल NET (JRF) क्या होता है?
फुल फॉर्म UGC- University Grant Commission
NET-National Eligibility Test
JRF-Junior Research Fellowship
एग्जाम आयोजन NTA द्वारा
साल में 2 बार
आवेदन शुल्क Gen-1100
OBC-550
SC/ST/Pwd/Transgender- 275
ऑफिसियल वेबसाइट click here
UGC-NET(JRF) क्या होता है ? UGC-NET(JRF) की चयन प्रक्रिया

UGC-NET(JRF) के लिए आवश्यक योग्यता

जो अभ्यर्थी UGC-NET(JRF) परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहता है उसे सबसे पहले इसके योग्यता के बारे में जान लेना ज़रूरी है, यहाँ पर नीचे हमने इस एग्जाम के योग्यता के बारे में बताया है ध्यान से इसे पढ़ें-

  • अभ्यर्थी किसी भी UGC द्वारा मान्यता प्राप्त संसथान से पोस्ट ग्रेजुएट (मानविकी, सामाजिक विज्ञान) में न्यूनतम 55 प्रतिशत अंक से उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • SC/ST/OBC/Pwd और ट्रांसजेंडर अभ्यर्थियों को 5 प्रतिशत की छूट दी जाती है।
  • ऐसे अभ्यर्थी जो अभी पोस्ट ग्रेजुएशन कर रहे हैं वो इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • अभ्यर्थी की आयु 30 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए और आरक्षित श्रेणी के छात्रों को 5 वर्ष की छूट दी जाती है।
  • जिन अभ्यर्थियों ने 19 सितंबर 1991 तक अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन कम्पलीट कर ली है वह भी 5 प्रतिशत छूट का लाभ उठा सकते हैं।

UGC-NET(JRF) परीक्षा पैटर्न

अगर आप UGC-NET(JRF) का एग्जाम देने की सोच रहे हो तो आपको इसके परीक्षा पैटर्न के बारे में अच्छे से पता होना चाहिए कि इसमें कितने पेपर होते हैं और इसमें किस प्रकार के विषय से प्रश्न आते हैं-

  • अभ्यर्थी को इसमें 2 पेपर (पेपर-1, पेपर-2) से होकर गुजरना पड़ता है।
  • पेपर-1 में 50 प्रश्न होते हैं जबकि पेपर-2 में 100 प्रश्न होते हैं, मतलब दोनों को मिलकर इसमें 150 प्रश्नों का पेपर होता है।
  • पेपर-1 में जनरल एप्टीटूड से सम्बंधित प्रश्न आते हैं और पेपर-2 में अभ्यर्थी द्वारा चुने विषय से सम्बंधित प्रश्न होते हैं।

NET(JRF) में चयन होने के बाद मिलने वाली स्कालरशिप

जो भी अभ्यर्थी UGC-NET(JRF) उत्तीर्ण करने के बाद M.phil/PHD जैसे विश्वविद्यालय के कोर्सेस में प्रवेश कर सकते हैं और 2 वर्षों के लिए JRF योजना के अंतर्गत स्कालरशिप लेने के पात्र हो जाते हैं।

  • JRF करने वाले अभ्यर्थियों को प्रति माह 12-15 हजार की स्कालरशिप दी जाती है।
  • JRF के 2 साल पूरे होने के बाद अगले 3 वर्षों के लिए SRF करने के लिए 15-20 हजार रुपये प्रतिमाह दिए जाते हैं।
  • जो अभ्यर्थी Humanities(मानविकी) के क्षेत्र में M.phil/PHD कर रहे हैं उन्हे प्रतिमाह 10-12 हजार रूपये तथा बाकी के 3 वर्षों के लिए 20 हजार रू प्रतिमाह दिए जाते हैं।
  • विज्ञान के क्षेत्र में M.phil/PHD कर रहे अभ्यर्थियों को प्रतिमाह 15 हजार और बाकी की 3 सालों के लिए 15 हजार रू स्कालरशिप दी जाती है।
  • शारीरिक रूप से विकलांग अभ्यर्थी को हर महीने 2000 रू आर्थिक सहायता भी दी जाती है।
  • सरकार द्वारा शहरों के वर्ग के अनुसार अभ्यर्थियों को आवास का किराया भी दिया जाता है।

UGC-NET(JRF) में चयन होने के फायदे

UGC-NET(JRF) का एग्जाम देने के बाद अगर आप इसमें चयनित हो जाते हैं तो इसमें बहुत से फायदे मिलते हैं जैसे-स्कालरशिप, डिग्री आदि। नीचे दी गई सूची को पढ़कर इसके फ़ायदेव को जाने-

  • UGC-NET(JRF) की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद अभ्यर्थी आसानी से PhD में अड्मिशन ले सकता है, क्योंकि PhD करने के लिए इस परीक्षा को पास करना ज़रूरी है।
  • अगर अभ्यर्थी का JRF क्वालीफाई नहीं होता है सिर्फ NET क्वालीफाई होता है तो उसे किसी विश्वविद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में काम करने का मौका मिलता है।
  • अगर अभ्यर्थी का JRF में चयन हो जाता है तो रिसर्च करने के लिए UGC द्वारा उसे स्कालरशिप दी जाती है।
  • UGC-NET(JRF) क्लियर करने के बाद अगर अभ्यर्थी किसी टीचिंग की जॉब के लिए अप्लाई करना है तो उसे वरीयता दी जाती है।

UGC-NET(JRF) के लिए उम्रसीमा

किसी भी एग्जाम को देने से पहले सभी लोग उम्र सीमा के बारे में ज़रूर ध्यान देते हैं क्योंकि परीक्षा देने का सर्वप्रथम चरण उम्र सीमा ही होती है तो आप भी जान लीजिए UGC-NET(JRF) के एग्जाम के कितनी उम्र सीमा होती है और आरक्षण के आधार पर किस प्रकार से छूट दी जाती है।

  • JRF अभ्यर्थी की उम्र सीमा 30 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए आवेदन करने हेतु अधिकतम कोई उम्र सीमा नहीं है।
  • SC/ST/OBC/Pwd/ट्रांसजेंडर और महिला आवेदकों को 5 साल तक की छूट दी जाती है।
  • रिसर्च करने वाले अभ्यर्थियों को सम्बंधित विषय में शोध पर लगे समय अवधि के बराबर छूट या स्नातकोत्तर डिग्री भी दी जाती है।
  • एलएलएम अभ्यर्थियों को ऊपरी आयु में 3 वर्ष की छूट दी जाती है।
  • 1989 से पहले UGC/CSIR/JRF परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थियों को NET में बैठने की छूट दी जाती है।

आज के इस पोस्ट में हमने UGC-NET(JRF) की परीक्षा के बारे में जानकारी दी जिसमें हमने इस परीक्षा से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां आपको दी है। सभी को ध्यान से पढ़कर अगर आप भी इस परीक्षा के लिए पात्र हैं तो जरूर इस एग्जाम को दें। अगर आपका इस पोस्ट से सम्बन्धिक किसी भी प्रकार का कोई सवाल है आप नीचे कमेंट करके हमें पूछ सकते हो, हम ज़रूर उसका जवाब देने की कोशिश करेंगे।

UGC-NET(JRF) से सम्बंधित पूछे जाने वाले प्रश्न

UGC-NET(JRF) की परीक्षा के लिए कौन पात्र हैं ?

जिन अभ्यर्थियों ने मानविकी और सामाजिक विज्ञान, कंप्यूटर विज्ञान और अनुप्रयोगम इलेक्ट्रॉनिक विज्ञानं आदि में UGC द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थानों से पोस्ट ग्रेजुएशन या समकक्ष में न्यूनतम 55% अंकों के साथ प्राप्त किया हो।

क्या ग्रेजुएशन के बाद UGC-NET(JRF) के लिए अप्लाई कर सकते हैं ?

जिन अभ्यर्थियों ने पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा कर लिया है या अभी फाइनल ईयर में हैं वो सभी इस एग्जाम को दे सकते हैं।

क्या B.Tech करने के बाद UGC-NET(JRF) का एग्जाम दिया जा सकता है ?

जी हाँ बी.टेक के छात्र UGC-NET(JRF) की परीक्षा में शामिल हो सकते हैं अगर वे न्यूनतम अंकों के साथ एम.टेक कर रहे हों।

UGC-NET(JRF) की परीक्षा के लिए कितने प्रयास होते हैं ?

NET की परीक्षा के लिए कोई अधिकतम उम्र सीमा नहीं है लेकिन JRF के लिए अधिकतम उम्रसीमा 30 वर्ष है।

क्या NET और JRF के अलग-अलग परीक्षा होती है ?

नहीं UGC-NET(JRF) दोनों की एक ही परीक्षा होती है, फर्क सिर्फ इतना है की ज्यादा स्कोर करने वालों का चयन JRF में होता है और सिर्फ NET क्वालीफाई करने वाले असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए चुने जाते हैं।

क्या IGNOU से मास्टर्स करने वाले अभ्यर्थी नेट की परीक्षा के पात्र हैं ?

जी हाँ, IGNOU से मास्टर्स करने वाले भी इस परीक्षा के लिए पात्र हैं क्योंकि IGNOU यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान है, बशर्ते नंबर 55% होने चाहिए।

Leave a Comment