JEE Full Form in Hindi – JEE का फुल फॉर्म क्या है?

आपने ऐसे कई छात्र छात्राए देखी होंगी 12 वी पास करने के बाद इंजीनियरिंग करते है, और छात्र छात्राए चाहते है उनका इंजीनियरिंग के टॉप कॉलेजेस में एडमिशन ले जिससे अच्छी शिक्षा ग्रहण कर सके। अगर आप भी इंजीनियरिंग टॉप कॉलेजेस में एडमिशन लेना चाहते है तो उसके लिए आपको क्या करना होगा तो आज हम आपको बताने जा रहे है,तो आइये जानते है इंजीनियरिंग के टॉप कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए जेईई का एक्जाम क्लियर करना होता है जिससे आप उसके बाद आप आसानी से इंजीनियरिंग के टॉप कॉलेजेस में एडमिशन ले सकते है। क्या आप जानते है आखिर जेईई होता क्या है तो आइये जानते है आज हम आपको JEE से सम्बंधित आपको सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे है जैसे जेईई क्या होता है, JEE Full Form क्या होती है तो आइये जानते है अगर इंजीनियरिंग के टॉप कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है, या आप जानकारी प्राप्त करने के इच्छुक है तो आप हमारे साथ आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहे जिससे आपको जानकारी मिल सके,और आप भी जेईई का एक्जाम आसानी से दे सके।

JEE KI FULL FORM KYA HOTI HAI JEE FULL FORM
JEE KI FULL FORM KYA HOTI HAI JEE FULL FORM

JEE की फुल फॉर्म

जेईई का पूरा नाम ज्वाइंट इंट्रेंस एक्जामिनेशन Joint Entrance Examination (JEE) होता है। इंजीनियरिंग के टॉप कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए एक्जाम को क्लियर करना बहुत ही आवश्यक होता है। यह एक्जाम नेशनल लेवल पर करवाया जाता है जेईई का एक्जाम क्लियर करने के बाद आप इस परीक्षा के द्वारा हम अपने देश के स्टेट लेवल के गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज या प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज, सेंट्रल इंजीनियरिंग कॉलेज में आसानी से एडमिशन ले सकते है। यह एक्जाम एक साल में 2 बार करवाया जाता है लाखो लोग एडमिशन करवाने के लिए इस एक्जाम को देते है जिसके बाद एक्जाम क्लियर करने के बाद कॉलेज में एडमिशन लेते है।

जेईई को एक्जाम

जेईई के 2 पेपर होते है।

  • जेईई मेन्स
  • जेईई एडवांस

जेईई मेन्स पेपर – अगर आप जेईई मेंस पेपर क्लियर करते है तो आपको एनआईटी कॉलेज में भी एडमिशन दिया जाता है अगर आपके एक्जाम से अच्छे अंक प्राप्त किये है ,तो आप जेईई एडवांस का पेपर भी आप आसानी से दे सकते है।

जेईई एडवांस – JEE एडवांस का पेपर आईआईटी काउंसिल के द्वारा करवाया जाता हैं। हर साल अलग अलग आईआईटी कॉलेज के द्वारा छात्र छात्राओं के लिए प्रश्न पत्र तैयार करवाये जाते है। जेईई एडवांस का एक्जाम आप जेईई मेन्स एक्जाम के बाद दे सकते है इस एक्जाम को क्लियर करने के काफी कड़ी मेहनत करनी होती है अगर आप जेईई एडवांस एक्जाम के अच्छे अंक प्राप्त करते है तो आप आईटीआई के अलग अलग केम्पस में स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जाता है।

JEE का एक्जाम कौन कौन दे सकता है

जेईई का मेन्स एक्जाम12 वी पास करने वाले छात्र छात्राए दे सकते है अगर आपकी 12 वी कक्षा में मैथ्स है तब भी आप जेईई के एक्जाम के लिए अप्लाई कर सकते है।

जेईई एडवांस का एक्जाम देने के लिए आपको जेईई मेन्स का एक्जाम क्लियर करना होगा आपके 12 वी में 75 प्रतिशत या 75 प्रतिशत होनी आवश्यक है अगर आप अन्य जाति में आते है तो आप स्थिति में रिज्वर्ड केटेगिरी के लोगो को छूट दी जाती है।

अगर आप भी 12 वी पास करने के बाद टॉप कॉलेज से इंजीनियरिंग करना चाहते है तो आप भी जेईई का एक्जाम दे सकते है।

JEE मेन्स JEE एडवांस एक्जाम की समयावधि

आइये जानते JEE मेन्स JEE एडवांस का एक्जाम देने की समयावधि क्या है कितने साल तक आप जेईई का एक्जाम दे सकते है।

  • जेईई का एक्जाम एक साल में दो बार करवाया जाता है।
  • अगर आप जेईई मेन्स का एक्जाम 3 साल तक दे सकते है।
  • अगर आप जेईई का एक्जाम 2 साल तक दे सकते है।

जेईई की अन्य फुल फॉर्म की जानकारी

अब हम आपको जेईई की अन्य फुल फॉर्म के बारे में बताने जा रहे है अगर आप भी जानना चाहते है नीचे दिए प्वाइंट्स को ध्यानपूर्वक देखे जिससे आपको जेईई की अन्य फुल फॉर्म भी पता लग सके।

  • JEE – जापान इंवाइयॉमेन्टल एक्सचेंज
  • JEE –जावा प्लेफॉर्म एंटरप्राइज एडिशन
  • JEE – जनरल आफ इंजीनियरिंग  
  • JEE – जनरल आफ इलेक्ट्रिकल एजुकेशन
  • JEE – जोवियन Extinction इवेंट
  • JEE – जनरल आफ इकोनॉमिक एंटोमोलोजी

आशा करते है ,आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको काफी पसंद आयी होगी आर्टिकल के माध्यम से आपको काफी जानकारी मिली होगी। अगर आप इस आर्टिकल से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप हमे कमेंट सेक्शन में जरूर बताये जिससे आपको जानकारी मिल सके।

JEE से जुड़े सम्बंधित प्रश्न उत्तर

जेईई क्या होता है ?

जेईई एक एक्जाम होता है।

JEE की फुल फॉर्म क्या है ?

जेईई की फुल फॉर्म ज्वाइंट इंट्रेंस एक्जाम होता है

जेईई के कितने भाग होते है ?

जेईई के 2 भाग होते है जेईई मेन्स जेईई एडवांस।

यह एक्जाम क्यों करवाया जाता है ?

यह एक्जाम इसलिए करवाया जाता है जिससे छात्र छात्राओं को टॉप इंजीनियरिंग कालेज में एडमिशन मिल सके।

इस एक्जाम को कौन कौन दे सकता है ?

इस एक्जाम को 12 वी छात्र छात्रा या 12 वी पास करने वाले स्टूडेंट दे सकते है जिनके पास 12 वी कक्षा में मैथ्स हो।

इस एक्जाम को कब करवाया जाता है ?

इस एक्जाम को एक साल में दो बार करवाया जाता है।

जेईई का एडवांस एक्जाम देने के लिए क्या जेईई मेन्स का एक्जाम देना जरूरी है ?

जी हाँ अगर आप जेईई एडवांस का एक्जाम देना चाहते है तो उसके लिए जेईई मेन्स का एक्जाम क्लियर करना बहुत जरूरी है।

Leave a Comment