Basant Panchami 2023: साल 2023 में कब मनाई जाएगी बसंत पंचमी? जाने बसंत पंचमी पर सरस्वती पूजा कब व कैसे की जाती है।

विद्या की देवी माँ सरस्वती को समर्पित बसंत पंचमी का हमारे देश में ख़ास महत्व है। बसंत ऋतु के आगमन के प्रतीक के रूप में मनायी जानी वाले बसंत पंचमी के मौके पर कामदेव की पूजा का विधान भी है। इस मौके पर लोग घर पर माँ सरस्वती की पूजा करते है। प्रकृति की पूजा के रूप में मनाये जाने वाले बसंत पंचमी का विद्यार्थियों के लिए भी ख़ास महत्व है। बसंत पंचमी के अवसर पर विद्या और ज्ञान की देवी माने जानी वाली माँ सरस्वती के पूजन का विशेष लाभ मिलता है एवं जीवन में शुभ की प्राप्ति होती है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की साल 2023 में बसंत पंचमी कब मनाई जाएगी (Basant Panchami 2023) . साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको बसंत पंचमी के अवसर पर सरस्वती पूजा का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, सरस्वती पूजा मंत्र एवं अन्य जरुरी बातो के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी।

मकर संक्रांति 2023 शुभ मुहूर्त | Makar Sankranti 2023 Shubh Muhurat

Basant Panchami
बसंत पंचमी

विद्या प्राप्ति के लिए करें सरस्वती पूजन

सनातन धर्म में विद्या को अत्यंत महत्व दिया गया है। विद्या ही विवेक की जननी है ऐसे में विद्या अर्जन को जीवन में प्रमुख लक्ष्य के रूप में शामिल किया गया है। माँ सरस्वती को विद्या, संगीत और कला की देवी माना जाता है ऐसे में विद्या प्राप्ति के लिए माँ सरस्वती का पूजन फलदायक एवं शुभ माना जाता है। बसंती पंचमी के दिन माँ सरस्वती का पूजन किया जाता है एवं विद्या प्रति हेतु कामना की जाती है। इस अवसर पर कामदेव का पूजन भी शुभ माना जाता है।

बसंत पंचमी देश में बसंत ऋतु के आगमन का सूचक है। बसंत ऋतु के अवसर पर प्रकृति अपने उच्चतम सौंदर्य पर आना प्रारम्भ करती है एवं बसंत ऋतु में चारों और हरे-भरे पेड़, हरियाली, रंग-बिरंगे फूल एवं चिड़ियों की चहचहाट सभी का मन मोह लेती है। भारत में बसंत पंचमी के पूजन का विशेष महत्व है।

Basant Panchami 2023 में कब मनाई जाएगी

बसंत पंचमी का त्यौहार प्रतिवर्ष माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है। इस वर्ष बसंत पंचमी (Basant Panchami 2023) 26 जनवरी 2023 को मनाई जायेगी। हिन्दू पंचांग के अनुसार इस वर्ष माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी का शुभारंभ 25 जनवरी 2023 के मध्य दिवस दोपहर 12 बजकर 34 मिनट से शुरू होकर अगले दिन 26 जनवरी 2023 को सुबह 10 बजकर 38 मिनट तक पड़ रहा है। ऐसे में उदयातिथि के आधार पर बसंत पंचमी का त्यौहार 26 जनवरी 2023 को मनाया जायेगा।

इस बार क्यों ख़ास है बसंत पंचमी

इस बार बसंत पंचमी 25 जनवरी के मध्यदिवस से शुरू हो रही है एवं 26 जनवरी के मध्यावधि तक इसका शुभ मुहूर्त रहेगा। उदयातिथि के आधार पर बसंत पंचमी का त्यौहार 26 जनवरी 2023 को पड़ रहा है। इस वर्ष बसंत पंचमी एवं गणतंत्र दिवस एक ही तिथि को पड़ रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। इस साल देश में गणतंत्र दिवस एवं बसंत पंचमी उत्सव को एक साथ मनाया जायेगा।

बसंत पचंमी 2023 मुहूर्त 

यहाँ आपको बसंत पचंमी 2023 मुहूर्त (Basant Panchami 2023 Shubh Muhurat) के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है :-

  • बसंत पंचमी पूजा मुहूर्त – 26 जनवरी सुबह 07:12:26 बजे से दोपहर 12:33:47 बजे तक
  • बसंत पंचमी पूजा कुल अवधि – 5 घंटे 21 मिनट
  • बसंत पचंमी 2023 तिथि- 26 जनवरी 2023 
  • बसंत पचंमी सरस्वती पूजा मंत्र – ॐ ऐं सरस्वत्यै नमः

बसंत पंचमी 2023 पूजन विधि 

  • बसंत पंचमी के दिन सुबह उठकर स्नान करके निवृत हो जाएं एवं माँ सरस्वती की पूजा के लिए पीले वस्त्र धारण करें।
  • इसके पश्चात घर में माँ सरस्वती एवं गणेश जी की तस्वीर या मूर्ति को स्थापित कर दे।
  • माँ सरस्वती की मूर्ति को गंगा के पवित्र जल से स्नान कराने के पश्चात पीले वस्त्र पहनायें एवं पीले फूल, पीले रंग की रोली, सफेद चंदन, अक्षत, पीला गुलाल, धूप, दीप एवं चन्दन एवं गंध अर्पित करें एवं माँ सरस्वती को माला पहनाएँ।
  • इसके पश्चात माँ सरस्वती को भोग लगायें। बसंत पंचमी के अवसर पर माँ सरस्वती को पीले रंग के खाद्य का भोग लगाना शुभ माना जाता है।
  • इसके पश्चात माँ सरस्वती का पूजन करें। सरस्वती पूजन के लिए शुभ मुहूर्त का ध्यान अवश्य रखें। इस अवसर पर सरस्वती कवच पाठ भी अत्यंत फलदायी होता है।
  • विद्या प्राप्ति एवं शिक्षा, कला और संगीत क्षेत्र में ऊँचाईयों को छूने के लिए आप इस अवसर पर सरस्वती माता के मंत्रों का जाप एवं श्लोक भी गा सकते है।
  • अंत में सरस्वती पूजा का हवन एवं आरती के पश्चात आप माँ सरस्वती की आरती कर बसंत पंचमी के कार्यक्रम को पूर्ण कर सकते है।

बसंत पंचमी सम्बंधित अकसर पूछे जानें वाले प्रश्न (FAQ)

बसंत पंचमी का त्यौहार क्यों मनाया जाता है ?

बसंत पंचमी का त्यौहार बसंत के आगमन का सूचक होता है। इस अवसर पर माँ सरस्वती एवं कामदेव की पूजा का विधान है।

बसंत पंचमी का त्यौहार कब मनाया जाता है ?

बसंत पंचमी का त्यौहार माघ माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है।

साल 2023 में बसंत पंचमी कब मनाई जाएगी?

साल 2023 में बसंत पंचमी (Basant Panchami 2023), 26 जनवरी 2023 को मनाई जाएगी।

बसंत पंचमी के अवसर पर किसकी की पूजा की जाती है ?

बसंत पंचमी के अवसर पर विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा की जाती है। बसंत पंचमी के अवसर पर माँ सरस्वती की पूजा अत्यंत फलदायक एवं शुभ मानी जाती है। माँ सरस्वती को विद्या एवं संगीत की देवी भी माना जाता है।

बसंत पंचमी पूजा का शुभ मुहूर्त कब है ?

बसंत पचंमी 2023 मुहूर्त (Basant Panchami 2023 Shubh Muhurat) 26 जनवरी सुबह 07:12:26 बजे से दोपहर 12:33:47 बजे तक है।

बसंत पंचमी की पूजा विधि के बारे में जानकारी प्रदान करें ?

बसंत पंचमी पूजा विधि (Basant Panachami Puja vidhi) के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए ऊपर दिया गया लेख पढ़े। इस लेख के माध्यम से आपको Basant Panachami Puja vidhi 2023 के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गयी है।

Leave a Comment

Join Telegram