वर्टिगो के 7 घरेलू उपचार : Vertigo Home Remedy

वर्टिगो जिसे आम भाषा में चक्कर आना कहते हैं, अक्सर आपने देखा होगा की कई बार चक्कर आने से लोग अपना संतुलन खोकर गिर जाते हैं, चक्कर आना किसी तरह की बीमारी नहीं है बल्कि इसका एक कारण शारीरिक कमजोरी हो सकता हैं लेकिन बार-बार चक्कर आना या सिर चकराना बहुत सी स्वाथ्य बिमारियों जैसे माइग्रेन, हाई बीपी, ट्यूमर आदि के लक्षण हो सकते है। वर्टिगो की समस्या आम तौर पर आंतरिक कान में संतुलन के काम करने के तरीके में समस्या होने के कारण या मस्तिसक के कुछ हिस्सों में समस्या के चलते होती है, ऐसे में वर्टिगो की समस्या को ठीक करने के लिए इसका घरलू इलाज किया जा सकता हैं, तो चलिए जानते हैं किन घरलू उपचार से आप वर्टिगो से राहत पा सकते हैं। वर्टिगो के 7 घरेलू उपचार से आप इसे ठीक कर सकते हैं।

मिर्गी क्या है? मिर्गी कैसे होती है? लक्षण, कारण, उपचार

वर्टिगो के 7 घरेलू उपचार : Vertigo Home Remedy
वर्टिगो के 7 घरेलू उपचार : Vertigo Home Remedy

जाने वर्टिगो के 7 घरेलू उपचार

  • धनिये के बीज – वर्टिगो की समस्या से राहत दिलाने में धनिये के बीज बेहद ही लाभकारी माने जाते हैं। दरअसल धनिया में बहुत से पोषण तत्त्व जैसे कैल्सियम, मैग्नीशियम, आयरन मौजूद होते हैं, जो शरीर की कमजोरी को दूर करने में काफी मदद करते हैं, इसके लिए एक बड़े चम्मच धनिये के बीज और एक चम्मच आँवले के पाउडर को पानी में रातभर भिगोकर रखें और सुबह छानकर रोजाना पीने से वर्टिगो को दूर किया जा सकता है।
  • पानी और जूस का सेवन – कई बार शरीर में डिहाइड्रेशन के कारण भी चक्कर आने की समस्या हो सकती हैं ऐसे में शरीर को हाइड्रेट करने के लिए रोजाना 10 गिलास पानी पीना चाहिए, इसके साथ ही सुबह ताजे आर्गेनिक फ्रूट जूस के सेवन शरीर को तरो ताजा रखने और वर्टिगो को दूर करने में काफी फायदेमंद होता है।
  • अदरक की चाय – सिर घूमने या चक्कर आने जैसी समस्या होने पर अदरक की चाय को नियमित रूप से पीने या अदरक को रोजाना मुँह में डालकर चूसने से शरीर में रक्त का प्रवाह बना रहता है, जिससे ब्रेन के सेल्स को आराम मिलता है और घबराहट या चक्कर आने की समस्या से राहत मिलती है।
  • कम नमक वाला भोजन का सेवन – कई लोगों को बार-बार चक्कर आने से वेस्टिब्यूलर माइग्रेन की समस्या हो सकती है, ऐसे में माइग्रेन की समस्या से परेशान मरीजों को कम नमक और अधिक पोटाशियम वाला भोजन खाने से काफी आराम मिलता है।
  • तुलसी – तुलसी के पत्तों में बहुत से औषधिक गुण पाए जाते हैं, ऐसे में वर्टिगो के लिए तुलसी के पत्ते हर्बल उपचार के तौर पर फायदेमंद होते हैं, इसके लिए चक्कर आने या सिर घूमने की समस्या होने पर तुलसी के पत्तों को चबाकर खाने या चाय में पीने से वर्टिगो के मरीजों को काफी फायदा मिलता है।
  • योगा – कई बार अधिक तनाव और आराम न मिलने के कारण भी सिर में दर्द या चक्कर आ सकता हैं, ऐसे में दिमागी को आराम दिलाने के लिए रोजाना योगा करने से शरीर में रक्त का प्रवाह बना रहता है, जिससे थकान और स्ट्रेस की समस्या कम होती है, जो वर्टिगो को दूर करने में काफी लाभ देता है।
  • नींबू का सेवन – नींबू का सेवन शरीर के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में काफी फायदेमंद होता है, इसके लिए आधे नींबू को गुनगुने पानी में मिलकर उसमे काली मिर्च, और एक चुटकी नमक मिलाकर पीने या नींबू को सलाद में मिलाकर खाने से दिमागी को वर्टिगो से काफी आराम मिलता है।

टी.बी के लक्षण और घरेलू उपचार | T.B. Ka Gharelu ilaaj!

Vertigo Home Remedy FAQ’s

वर्टिगो कैसे ठीक किया जा सकता है ?

अगर आप किसी चीज से अधिक परेशान हैं तो आप डॉक्टर की सलाह लें, इसमें डॉक्टर एंटीबॉयोटिक देकर कुछ दिनों के लिए रेस्ट करने को कह सकते हैं। डॉक्टर द्वारा दी गई सलाह को फॉलो करें जिससे जल्द ही यह ठीक हो जाएगा।

चक्कर आने पर तुरंत क्या खाना चाहिए ?

यह समस्या समय के साथ ठीक होती है, तुरंत इससे आराम पाने के लिए आप अदरक की चाय पी सकते हैं, हर्बल टी पि सकते हैं, पुदीना पत्ता चाय में डालकर पी सकते हैं, इससे थोड़ा आराम मिलेगा।

क्या वर्टिगो बीमारी घातक है ?

यह बीमारी शरीर के संतुलन को बिगड़ती है, चक्कर आने पर ऐसे महसूस होता है कि जैसे सारी दुनिया घूम रही होगी। यह एक बीमारी होने से अधिक एक लक्षण है जसिकी गंभीरता हो सकती है।

वर्टिगो का हिंदी में क्या अर्थ है ?

यह एक बैलेंस डिसऑर्डर है, जो किसी इंसान का सतुलन बिगाड़ता है, वर्टिगो आने पर शरीर असहज महसूस करता है और शरीर चेतावनी देता है कि आप गिरने वाले हैं।

Leave a Comment

Join Telegram