MBA Chaiwala Biography In Hindi | कहानी एक करोड़पति चायवाले की

जब एक चाय वाला देश का प्रधानमंत्री बन सकता है तो एक चाय वाला करोड़पति भी बन सकता है। आप सभी ने प्रफुल्ल बिल्लोरे का नाम तो सुना ही होगा एक ऐसा युवा नौजवान जिसने सिर्फ 20 साल की उम्र में इस सफर की शुरुआत की थी। आप शायद सोच रहे होंगे की भला चाय वाला तो सुना था पर यह MBA चाय वाला कौन है ? और कैसे कोई चाय वाला करोड़पति बन सकता है। किसी भी काम को करने के लिए आपकी इच्छा शक्ति होनी चाहिए फिर चाहे वह काम बड़ा हो या छोटा। MBA chai wala यानि की प्रफुल्ल बिल्लोरे छोटी सी उम्र में MBA जैसी डिग्री को छोड़ अपना खुद का चाय का बिजनेस खोलकर आज करोड़पति बन चुके हैं। उन्होंने समाज की संकीर्ण सोच की परवाह न करते हुए सभी युवाओं के लिए यह आशा जगायी है कि किसी भी काम के लिए यदि आप मेहनत करते हैं तो वह काम आपकी पहचान बन जाता है।

MBA Chaiwala Biography In Hindi | कहानी एक करोड़पति चायवाले की
MBA Chaiwala Biography In Hindi | कहानी एक करोड़पति चायवाले की

आज हम आपको MBA chai wala प्रफुल्ल बिल्लोरे के बारे में बताने जा रहे हैं कि कैसे उन्होंने इतनी कम उम्र में अपना चाय का कारोबार खोला और इस कारोबार ने कैसे उन्हें करोड़पति बना डाला। एक करोड़पति चायवाला के पीछे की क्या कहानी है आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

MBA chai wala Biography In Hindi

नाम प्रफुल्ल बिल्लोरे
डेट ऑफ़ बर्थ /जन्म 14 जनवरी 1996
जन्म स्थान धार ,एमपी
धर्म हिन्दू
पढ़ाई MBA ड्रापआउट
प्रचलित नाम (अन्य नाम जिससे जाने जाते हैं )MBA chai wala
वर्ष 2022 में उम्र 26 साल
सालाना टर्नओवर 2-3 करोड़ से अधिक
वर्तमान में निवास अहमदाबाद ,गुजरात
प्रसिद्धि का कारण MBA चायवाला की दुकान

एमबीए चायवाला का परिचय

प्रफुल्ल का जन्म जनवरी 1996 में मध्य प्रदेश के धार जिले में हुआ था। इन्हें लोग प्रफुल्ल के नाम से कम और MBA chai wala के नाम से ज्यादा जानते हैं। हर युवा के लिए जो अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहता है,प्रफुल्ल उनके लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं हैं। उन्होंने मात्र 20 साल की उम्र में चाय का ठेला खोलने का विचार किया इसके लिए उन्होंने अपने पापा से 8000 रुपए उधार लिए थे। उन्होंने अपने इस बिजनेस में अपने अनुभव का सहारा लिया। आज के समय में प्रफुल्ल के पुरे वर्ड में फ्रेंचाइज हैं। प्रफुल्ल पूरे विश्व में दूसरे सबसे प्रसिद्ध चायवाला हैं।

कहानी एक करोड़पति चायवाले की

प्रफुल्ल बिल्लोरे जो की MBA Chaiwala के फाउंडर हैं हर जगह बहुत पॉपुलर हैं। अपने सभी इंटरव्यू में प्रफुल्ल बिल्लोरी यही कहते हैं कि किसी भी काम को कभी छोटा नहीं समझना चाहिए अगर आप कोई भी काम करना चाहते हो तो उसके लिए आपको उस कम् के लिए अपना टाइम देना बहुत जरुरी है। बिल्लोरी ने अपनी MBA की पढ़ाई को छोड़ कर अपने इस चाय के कारोबार को शुरू करने का सोचा था और वह कहते हैं की मेरा सपना इंडिया के टॉप कॉलेज से MBA करने का था। लेकिन मेरा वह सपना नहीं हो पाया मैं खुद का कुछ शुरू करना चाहता था। प्रफुल्ल बिल्लोरी का एक काफी जाना माना डायलाग है जिससे मोहोब्बत करते हो उससे शादी कर लो और अगर ऐसा न हो तो जिससे शादी हो गयी हो उससे मोहोबत कर लो वह कहते हैं की भारत में चाय की काफी डिमांड है जो सभी को कनेक्ट करकर रखती है। चाय भारत में सबसे अधिक पी जाती है हर एक कदम पर चाय का स्वाद बदल जाता है। उन्होंने अपनी चाय के ठेले पर सिर्फ चाय नहीं अपने अनुभवों को भी अपने कस्टमर के साथ में साझा किया। उनका हर दिन यह टारगेट होता था कि 50 से 100 लोगों को दूकान तक लाया जाये और अपनी कहानी उन्हें बताना। प्रफुल्ल ने समय-समय पर कई इवेंट किये कई फ्रेंचाइजी को खोला ,सोशल मीडिया का उपयोग किया। हर तरह से प्रफुल्ल बिल्लोरे ने अपने बिजनेस को ऊंचाई तक पहुंचाया। आज उनका 2-3 करोड़ से अधिक का सालाना टार्नओवर है।

‘MBA CHAIWALA’ की ऐसे की थी शुरुआत

अपनी MBA की पढ़ाई को बीच में छोड़ कर मात्र 21 वर्ष की आयु में प्रफुल्ल बिल्लोरे ने सबसे पहले चाय का ठेला लगाया था जिसके लिए उन्हें 50 दिन तक का समय लगा। और ऐसे ही उन्हें MBA CHAIWALA के लिए 3 से 4 साल का समय लग गया। वह बताते हैं कि किसी भी काम को शुरू करने के लिए यह नहीं सोचना चाहिए की मुझे बहुत बड़ा करना है आपको आज क्या करना है इसके बारे में सोचना चाहिए। हर मिनट और हर घंटे मेहनत करो सिर्फ बड़ा करने के बारे में सोचने भर से कुछ नहीं होगा आपको इसके लिए हर दिन मेहनत करनी होगी। कई बार शुरुआती दिनों में प्रफुल्ल को अपने रिश्तेदारों और दोस्तों के तानों का सामना भी करना पड़ा। प्रफुल्ल कहते हैं की MBA CHAIWALA नाम रख लेने से कुछ नहीं होगा आप नाम तो कुछ भी रख सकते हैं पर आपको इसके लिए कड़ी मेहनत भी करनी होती है आपकी सर्विस को अच्छा बनाना होता है। 3 -4 महीने प्रफुल्ल ने मेक्डोनाल्ड में वेटर की जॉब की और इसके बाद यहाँ से उनकी MBA CHAIWALA बिजनेस की शुरुआत की। उन्होंने अपने पापा से अपने खुद के चाय के बिजनेस को शुरू करने के लिए 8000 रुपए उधर लिए थे और ऐसे में उन्होंने अपने चाय के बिजनेस को बूमअप करने के लिए सोशियल मीडिया का काफी सहारा लिया इतना ही नहीं उन्होंने अपने ग्राहकों को चाय के साथ साथ अच्छी सर्विसेस भी दी। आज इनका बिजनेस भारत ही नहीं पूरे विश्व में अपनी पहचान बनाये हुए है।

Leave a Comment