बिहार बाल सहायता योजना : 18 साल से कम उम्र के बच्चों को 1500 रुपये मिलेंगे, ऐसे करें आवेदन

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों की मदद के लिए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है. कोरोना महामारी के कारण राज्य के सैकड़ो बच्चो ने अपने माँ-बाप को खोया है. अब बिहार सरकार द्वारा इनको अनाथ बच्चों को मदद देने के लिए पूरी तैयारियाँ कर ली गयी है. इसके लिए सरकार द्वारा बिहार बाल सहायता योजना शुरू की गयी है जिसके तहत इन बच्चों को राज्य सरकार द्वारा 18 वर्ष का होने तक प्रति माह 1,500 रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी. साथ ही उनकी पढ़ाई के लिए भी सरकार द्वारा मदद दी जाएगी. चलिए जानते है इस योजना के बारे में और

अनाथ बच्चों को सहारा देगी सरकार

बिहार बाल सहायता योजना की शुरुआत बिहार सरकार द्वारा अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता देने के लिए की गयी है. इसके तहत बच्चों को 18 वर्ष का होने तक सरकार द्वारा प्रतिमाह 1,500 रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी. जिन बच्चों का रहने का आसरा नहीं है उन्हें बालगृह में रखकर उनकी जिम्मेदारी सरकार द्वारा उठायी जाएगी. जिन लड़कियों ने अपने माँ-बाप को खोया है उन्हें कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में नामांकन करवाया जायेगा.

इस योजना की जानकारी खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट करके दी है. उन्होंने कहा की जिन भी बच्चों ने इस आपदा में अपने माँ-बाप को खोया है या उनमें से किसी एक की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है उन्हें सरकार द्वारा हर माह 1,500 रुपए की आर्थिक मदद दी जाएगी. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने इस आपदा में बच्चों की हर संभव मदद का भरोसा भी दिया है.

बच्चों को मिलेगी निशुल्क शिक्षा

कोरोना के कारण राज्य के बहुत सारे बच्चों ने अपने माँ-बाप को खोया है जिससे की उनके पढ़ाई और देखभाल के लिए सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना को अहम् माना जा रहा है. आपको बता दें की अनाथ बच्चो की मदद के लिए केंद्र सरकार भी पीएम-केयर्स फॉर चिल्ड्रन की शुरुआत की गयी है जिससे की अनाथ बच्चो की शिक्षा वा पालन-पोषण के लिए केंद्र द्वारा मदद दी जाएगी. साथ ही इन बच्चों को स्वास्थ्य बीमा भी दिया जायेगा. वयस्क होने पर PM CARES फण्ड द्वारा इन बच्चों को 10 लाख रुपए दिए जायेंगे.

बिहार बाल सहायता योजना के तहत बेसहारा बच्चों की देखभाल राज्य सरकार के बाल-गृहों में की जायेगा. राज्य में वर्तमान में 50 बालगृह संचालित हो रहे है जिनमें लगभग 2500 बच्चों की देखभाल की जा रही है. लड़कियों की शिक्षा के लिए भी सरकार ने बालिका विद्यालयों में इनके नामांकन की व्यवस्था करने का फैसला किया है. वयस्क होने तक इन बच्चों की जिम्मेदारी सरकार द्वारा ली जा रही है.

इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरुरत

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाणपत्र
  • आय प्रमाणपत्र
  • माता-पिता या किसी के की कोरोना के कारण मृत्यु का प्रमाणपत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

ऐसे कर सकेंगें आवेदन

जो भी आवेदक बिहार बाल सहायता योजना में आवेदन करना चाहते है उन्हें इसके लिए आंगनबाड़ी केंद्र, जिला बाल संरक्षण कार्यालय या समेकित बाल विकास परियोजना के कार्यालय से इस योजना का फॉर्म प्राप्त होगा. इस फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारी भरकर और सम्बंधित डाक्यूमेंट्स को संलग्न करके फॉर्म को सम्बंधित कार्यालय में जमा करवा दे.

Leave a Comment