बिहार आपदा राहत कोष योजना: 6000 रूपये सहायता राशि के लिए ऐसे करें आवेदन

Bihar Aapda Rahat Kosh: दोस्तों जैसे की आप सबको पता होगा, इस वर्ष बिहार में आए बाढ़ के प्रकोप के कारण बहुत से आपदा प्रभावित नागरिकों को हर वर्ष की तरह ही काफी नुक्सान उठाना पड़ा, इससे राज्य के 10 जिले बाढ़ के कारण काफी प्रभावित हुए हैं, जिससे बहुत से नागरिकों के घरों में पानी भर जाने या मकानों के नुक्सान होने के कारण उन्हें अपनी जान भी गवानी पड़ी है, ऐसे स्थिति में बचाव के लिए सरकार बिहार आपदा राहत कोष योजना/ बाढ राहत सहयता योजना के माध्यम से सभी प्रभावित जिलों के प्रत्येक परिवारों को आर्थिक सहयोग प्रदान करने हेतु 6000 रूपये सहायता राशि आवेदकों के बैंक खातों में ट्रांसफर करवा रही है, साथ ही जिन नागरिकों के मकान डेह चुकें हैं, या फसलें बर्बाद हो गई है और जानवरों को काफी नुकसान पहुँचा है ऐसे नागरिकों को भी अलग से सहायता प्रदान की जाएगी, जिससे उन्हें समस्या की घडी में काफी राहत मिल सकेगी। Bihar Aapda Rahat Kosh द्वारा सरकार नागरिकों को और क्या-क्या लाभ प्रदान करवा रही है, इससे जुडी सभी जानकारी आवेदक हमारे लरख के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे।

Bihar Aapda Rahat Kosh

बिहार बाढ़ राहत कोष क्या है?

बिहार बाढ़ राहत कोष योजना बिहार सरकार द्वारा राज्य के बाद प्रभावित नागरिकों को होने वाले नुक्सान पर राहत प्रदान करने के लिए आरम्भ की गई योजना है, जिसके अंतर्गत सरकार राज्य के सबसे ज्यादा बाढ से प्रभावित 10 जिलों (किशनगंज, दरभंगा, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी, पश्चिमी चम्पारण, खगरिया,सुपौल, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर) के उन सभी नागरिकों को राहत प्रदान करवा रही है, जिन लोगों को बाढ़ के चलते काफी परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके लिए सरकार द्वारा बिहार आपदा राहत कोष योजना का आरम्भ किया गया है, जिससे बाढ़ प्रभावित नगरिकों को सरकार होने वाली फसलों, मकानों व परिवार के सदस्य की मृत्यु की क्षति के आधार पर मुआवझा दे रही है, साथ ही इन्हे सुरक्षित शिविरों में खाने की व्यवस्था के साथ-साथ कोरोना से बचाव के लिए मास्क भी प्रदान कर रही है, आपदा राहत कोष का लाभ देने के लिए शिविर में रखे गए नागरिकों की सूची कर्मचारियों द्वारा तैयार की जा रही है, और जो लोग बाढ़ से बचने के लिए कही दूसरी जगह चले गए हैं, उनकी भी खोज करवा रही है, जिससे ज्यादा से जयादा नागरिकों को सरकार द्वारा मिलने वाली Bihar Aapda Rahat Kosh योजना से लाभ मिल सकेगा।

Bihar Aapda Rahat Kosh : Details


आर्टिकल
Bihar Aapda Rahat Kosh
शुरुआत की गई बिहार के मुख्यमंत्री जी द्वारा
साल 2021
प्रभावित जिले 10 जिले
सहायता राशि 6000 रूपये
लाभार्थी बाढ़ से प्रभावित जिलों के नागरिक
उद्देश्य नागरिकों को संकट के समय आर्थिक सहयोग देना
आधिकारिक वेबसाइट aapda.bih.nic.in

आपदा सम्पूर्ति पोर्टल

बिहार सरकार द्वारा आपदा की स्थिति में नागरिकों को सहयोग देने के लिए सरकार प्रभावित नागरिकों का सारा डाटा जिला अधिकारीयों द्वारा सरकारी कर्मचारियों के माध्यम से इकठ्ठा करवा रही है, जिससे उनकी सूची बनाकर सरकार द्वारा शुरू किए गए आपदा सम्पूर्ति पोर्टल पर नागरिकों की जानकारी दर्ज की जा सकेगी, इस पोर्टल के माध्यम से सूची में दर्ज सभी नागरिकों को सरकार एक हफ्ते के भीतर ही राहत प्रदान करने के लिए इनके खातों में 6000 रूपये सहायता राशि जारी करवाएगी साथ ही पोर्टल के माध्यम से नागरिकों को अन्य सेवाएँ व योजनाओ की जानकारी भी प्रदान की गई हैं जिनका लाभ वह पोर्टल के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे पोर्टल में उपस्थिति सेवाएँ कुछ इस प्रकार हैं।

  • आपदा सम्पूर्ति पोर्टल बाढ़ राहत (2021) :- इस पोर्टल के माध्यम से आम नागरिकों का पूरा डाटा पोर्टल पर सरकारी कर्मचारी द्वारा दर्ज किया जाता है, आपदा सम्पूर्ति पोर्टल पर कर्मचारी द्वारा नागरिकों का पूरा डाटा, संबंधित कार्य जैसे डाटा में नागरिकों के विवरण को जोड़ना गलत जानकारी को हटाने का कार्य पूरा किया जाता है, ब्लॉक ऑपरेटर द्वारा भी पोर्टल पर लॉगिन करके सुधार के कार्य जाता है।
  • बिहार श्रम साधन पोर्टल उद्योग विभाग :- इस पोर्टल का आरम्भ श्रम साधन विभाग द्वारा किया गया है, इस पोर्टल पर राज्य के ब्लॉक ऑपरेटर द्वारा राज्य के श्रमिकों व मनरेगा से जुड़े निर्माण श्रमिकों से सम्बंधित कार्य या सूचना में बदलाव करना जैसे किसी जानकारी को अपडेट कर उसमे नई जानकारी को जोड़ना आदि कार्य किया जाता है इसके लिए नागरिकों को ब्लॉक ऑपरेटर कार्यालय जाकर अपने कार्य करवाने पड़ते हैं। यहाँ ऑपरेटर को यूजर आईडी और पासवर्ड जारी किया गया होता है, जिसके द्वारा वह श्रमिकों से संबंधित सूचना में बदलाव करता है।
  • मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना :- इस योजना के माध्यम से बिहार के ऐसे नागरिक जो अन्य राज्यों में नौकरी कर रहे थे और कोरोना के कारण रेल या बसों से अपना किराया लगाकर या अपने खर्चे से बिहार लौटे हैं ऐसे बहुत से नागरिक व प्रवासी श्रमिक को सरकार योजना के अंतर्गत 1000 रूपये सहायता राशि उन्हें उनके किराये के मुआवजे के रूप में प्रदान करेगी।

Bihar Aapda Rahat Kosh योजना का उद्देश्य

जैसे की हमने आपको बताया की इस वर्ष बिहार में बारिश से बाढ़ के कारण राज्य के कई जिले बाढ़ के अधिक प्रभावित हुए, जिससे नागरिकों पर खाने व रहने का संकट उत्पन्न हो गया, ऐसी स्थिति में राज्य के प्रभावित जिलों के 25 लाख से भी अधिक नागरिकों को सहयोग देने व उन्हें बाढ़ से सुरक्षित रखने के लिए सरकार बिहार आपदा राहत कोष योजना के माध्यम से इन्हे आर्थिक सहयोग दे रही है, जिससे नागरिकों को होने वाले नुक्सान पर उन्हें बड़ी राहत मिल सकेगी साथ ही नागरिकों को उनके जानवरों, मकानों व फसलों आदि पर हुए नुसकान के लिए भी अलग से मुआवजा दिया जाएगा, जिससे हालत सुधरने पर नागरिक मिलने वाले सहायता से अपना जीवन यापन कर सकेंगे और फिर से अपने जीवन को सुधार सकेंगे।

बाढ़ आपदा राहत योजना में दिया जाने वाला मुआवजा

राज्य के आपदा से प्रभावित नागरिकों को सहयोग देने के लिए सरकार इन्हे होने वाले नुक्सान के आधार पर मुआवजा प्रदान करवा रही है, यह नुक्सान नागरिकों के घरों के बर्बाद होने से लेकर नागरिकों के बाढ़ में जान जाने के कारण होने वाले नुक्सान पर प्रदान किया जाएगा, इन कारणों का चलते नागरिकों को मिलने वाले मुआवजे की जानकाई कुछ इस प्रकार है :-

नुक्सान का कारण मुआवजा राशि
योजना में प्रतियेक बाढ़ प्रभावित परिवारों को 6000 रूपये
परिवार में किसी सदस्य की मृत्यु हो जाने पर 4 लाख रूपये
घर के बर्तनों के नुक्सान पर2000 रूपये
कपड़ों के नुक्सान पर मदद के लिए1800 रूपये
कच्चे व पक्के मकानों के नुक्सान पर 95100 रूपये
कच्चे मकानों की कम क्षति होने पर 3200 रूपये
पक्के मकानों की कम क्षति होने पर5200 रूपये
जानवरों गाय, भैस की क्षति होने पर30000 रूपये
जानवरों के शेड की क्षति होने पर 2100 रूपये
झोपडी के नुक्सान होने पर 4100 रूपये
फसलों के नुक्सान पर6800 रूपये /हेक्टेयर

बाढ़ आपदा राहत योजना की पात्रता

बाढ़ आपदा राहत योजना का लाभ उन्ही नागरिकों को मिल सकेगा जो इसकी पात्रता को पूरा करते हो, लाभार्थी नागरिकों की पात्रता कुछ इस प्रकार है।

  • योजना के तहत बिहार के ऐसे जिले के नागरिक जिनका जिला बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आता है, उन सभी को योजना में मुआवजा दिया जाएगा।
  • आवेदक का पूरा परिवार बाढ़ प्रभावित ग्राम या पंचायत में होना चाहिए।
  • योजना में मुआवजा प्राप्त करने के लिए आवेदक का बैंक में खाता होना चाहिए।
  • आवेदक के पास उनके आधारकार्ड व बैंक खाता नंबर होना आवश्यक है।

Bihar Aapda Rahat Kosh के दस्तावेज

आवेदकों के नाम सूची में दर्ज करने के लिए उनसे कुछ दस्तावेज भी माँगे जाएँगे जो कुछ इस प्रकार है।

  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • आधारकार्ड
  • आवेदक का पूरा विवरण
  • बैंक की पासबुक

बिहार बाढ़ राहत कोष योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

बिहार के नागरिक जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से आते हैं, उन्हें सरकार द्वारा बिहार बाढ़ राहत कोष योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए कही और जाने व ऑनलाइन आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी, ऐसे सभी नागरिक जिन्हे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से सुरक्षित जगह ले जाया है, इन सभी के लिए शिविर लगवाए जाएँगे, जिसमे कर्मचारियों द्वारा नागरिकों को योजना से जोड़ा जाएगा, इसके लिए नागरिकों से उनका सारा विवरण जैसे उनका नाम, पता, परिवार के सदस्यों का नाम, बैंक विवरण, होने वाले नुक्सान की जानकारी आदि उन्हें कर्मचारियों को प्रदान करनी होगी, जिसके बाद अधिकारीयों द्वारा पूरा डाटा पोर्टल पर राज्य सरकार को सौंपा जाएगा, जिसमे सभी नागरिकों की सभी जानकारी उपलब्ध की गई होगी, इस सूची के माध्यम से विभागों द्वारा सभी नागरिकों के खातों में पैसे ट्रांसफर किये जाएँगे।

बाढ़ राहत कोष योजना की सूची

जैसा की हमने आपको बताया की कर्मचारियों द्वारा प्रभावित क्षेत्रों के नागरिकों का सर्वेक्षण कर उनके नामों की सूची तैयार की जाएगी, जिसके अंतर्गत सूची में शामिल नागरिकों को सरकार द्वारा 6000 हजार से अधिक नुकसान होने पर सहायता राशि आवेदकों के बैंक खातों में डीबीटी के माध्यम से ट्रांसफर की जाएँगी, यह राशि आवेदकों को आवेदन के 1 हफ्ते के भीतर प्राप्त हो जाएगी, परन्तु यदि किसी उमीदवार का नाम सूची में दर्ज होने के बाद भी उनके खाते में यह राशि नहीं पहुँचती है, तो इसके लिए वह अपने ब्लॉक अधिकारी से संपर्क करके या बिहार आपदा प्रबंधन विभाग के हेल्पलाइन नंबर : 0612 252 2032 पर संपर्क करके इसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Bihar Aapda Rahat Kosh से जुड़े प्रश्न/उत्तर

बाढ़ राहत कोष योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

बाढ़ राहत कोष योजना की आधिकारिक वेबसाइट aapda.bih.nic.in है।

बिहार आपदा राहत कोष योजना का लाभ किन-किन नागरिकों को प्राप्त हो सकेगा ?

बिहार आपदा राहत कोष योजना का लाभ राज्य के उन सभी आपदा प्रभावित क्षेत्रों में रह रहें नागरिकों को प्राप्त हो सकेगा, जिनके जिले बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में से एक हैं।

योजना के अंतर्गत बाढ़ प्रभावित नागरिकों को सरकार कितना मुआवजा प्रदान करेगी ?

योजना के अंतर्गत बाढ़ प्रभावित प्रतियेक परिवारों को सरकार द्वारा 6000 रूपये की आर्थिक सहायता जारी की जाएगी, साथ ही अन्य नुक्सान जैसे परिवार के किसी सदस्य की मृत्यु हो जाना, मकान या फसलों आदि के नुक्सान पर होने वाली क्षति के लिए भी मुआवजा प्रदान करेगी।

इस योजना के अंतर्गत ऐसे परिवार जिनके कच्चे या पक्के मकानों को भरी नुक्सान हुआ है उन्हें कितना मुआवजा सरकार द्वारा दिया जाएगा ?

ऐसे परिवार जिनके कच्चे या पक्के मकान को भरी नुक्सान हुआ है उन्हें सरकार द्वारा 95100 रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

Bihar Aapda Rahat Kosh योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक किस प्रकार आवेदन कर सकेंगे ?

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदकों को किसी तरह के आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है, राज्य विभाग द्वारा इनके लिए शिविर लगवाए जाएँगे, जिसमे सरकारी कर्मचारियों द्वारा ऐसे सभी प्रभावित नागरिकों की सूची बनाई जाएगी, जिसके बाद ही सूची में दर्ज नागरिकों के बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर किए जाएँगे।

क्या फसलों के नुक्सान होने पर भी नागरिकों को योजना का लाभ मिल सकेगा।

जी हाँ, बाढ़ से फसलों के नुक्सान होने पर भी नागरिकों को सरकार द्वारा 6800 रूपये /हेक्टेयर मुआवजा प्रदान किया जाएगा।

जिन नागरिकों का नाम विभाग की सूची में दर्ज होगा क्या उन्ही के खातों में पैसे ट्रांसफर किए जाएँगे ?

जी हाँ शिविर में अधिकारियों द्वारा दर्ज किए गए जिन भी नागरिकों का नाम विभाग की सूची में शामिल किया गया होगा उन्ही के खातों में सरकार द्वारा पैसे ट्रांसफर किए जाएँगे।

बिहार बाढ़ राहत कोष योजना से सम्बंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है की यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी होगी, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment