बीडीसी का फुल फॉर्म क्या है – BDC Full Form in Hindi : BDC का Full Form क्या है

दोस्तों नमस्कार, आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको BDC से संबंधित सभी जानकारियाँ देने वालें हैं। जैसा की आप सभी जानते हैं की भारत की एक बहुत बड़ी जनसंख्या जो गावों में निवास करती है और जिनका प्रमुख व्यवसाय कृषि व खेती है। जिस तरह गावों में विकास कार्यों, शिकायतों के निपटारे हेतु जैसे ग्राम पंचायत होती है ठीक उसी तरह राज्यों के जिलों में ब्लॉक स्तर पर एक ब्लॉक प्रमुख होता है जो गावों के ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों के साथ समन्वय बिठाकर गाँव की समस्या को सरकार तक पहुंचाता है और समस्या के समाधान हेतु सरकार से बजट पास करवाता है। आगे आर्टिकल में आप बीडीसी का फुल फॉर्म, बीडीसी की योग्यता, चुनाव प्रक्रिया, वेतन आदि के बारे में जानेगे। कृपया आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

बीडीसी का फुल फॉर्म क्या है - BDC Full Form in Hindi : BDC का Full Form क्या है
बीडीसी का फुल फॉर्म क्या है – BDC Full Form in Hindi : BDC का Full Form क्या है

क्या है BDC ? – बीडीसी का फुल फॉर्म

BDC एक राज्य के अंदर ब्लॉक स्तर की समिति है । जिसका काम है गाँव के विकास कार्यों के लिए सरकार के द्वारा फंड को मजूर करवाना। BDC का पूरा अर्थ है “Block Development Council” जिसको हिन्दी में “प्रखण्ड विकास समिति” कहा जाता है । यदि हम व्यवसाय के क्षेत्र में बात करें तो बीडीसी का फुल फॉर्म होता है “Business Development Company” पर यहाँ हम ग्राम क्षेत्र के बारे में बात करेंगे। आपको बता दें की ग्राम पंचायतों के द्वारा चुना गया ब्लॉक प्रमुख प्रखण्ड विकास समिति का मुखिया होता है। Block Development Council के पास निपटारे हेतु गाँव के विकास कार्य जैसे – सड़के बनाना, हैन्ड पम्प लगवाना, पक्के मकान बनवाना, अस्पताल बनवाना, नाली का निर्माण करवाना, गरीबी उन्मूलन के आदि के साथ – साथ सामाजिक मामलें भी दिए जाते हैं।

BDC प्रमुख के चुनाव प्रक्रिया :

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 243 के अंतर्गत पंचायती राज के नियमानुसार राज्य सरकार के निर्वाचन आयोग के द्वारा आयोजित BDC के प्रमुख सदस्य की चुनाव प्रक्रिया एक बेहद सरल और साधारण तरीके से की जाती है। BDC प्रमुख के लिए मतदान ग्राम सभा की जनता के द्वारा Ballot Paper के माध्यम से कराया जाता है। BDC के चुनाव के लिए उम्मींदवार को किसी एक वार्ड से नामांकन दाखिल कर चुनाव में खड़ा होना होता है। फिर उस वार्ड की जनता BDC के उम्मींदवार के लिए वोट करती है। चुनाव में जीतने वाला उम्मींदवार BDC प्रमुख बना दिया जाता है। आपको बता दें की एक ग्राम पंचायत में एक से अधिक BDC प्रमुख हो सकते हैं।

BDC प्रमुख के लिए योग्यता :

BDC प्रमुख के लिए कोई योग्यता तो नहीं है पर उम्मींदवार को कम से कम पाँचवी पास होना चाहिए। उम्मींदवार जिस ग्राम पंचायत से BDC प्रमुख का चुनाव लड़ रहा है तो वह ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले गावं का निवासी होना चाहिए।

BDC प्रमुख के लिए आवश्यक दस्तावेज :

Block Development Council के अंतर्गत BDC प्रमुख के लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेज होने चाहिए।

  • उम्मींदवार का आधार कार्ड
  • उम्मींदवार का निवास प्रमाण पत्र
  • उम्मींदवार का नाम ग्राम सभा की वोटर लिस्ट में होना चाहिए।
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि लागू हो )
  • उम्मींदवार का स्वयं के द्वरा प्रमाणित स्व-प्रमाणित शपथ पत्र
  • उम्मींदवार का पैन कार्ड
  • उम्मींदवार का राशन कार्ड
  • उम्मींदवार का मोबाईल नंबर
  • उम्मींदवार का चरित्र प्रमाण पत्र
  • उम्मींदवार के बैंक पासबुक

BDC पद के लिए सैलरी :

BDC का पद एक सरकारी पद होता है। जिसकी सैलरी अलग – अलग राज्यों में अलग – अलग हो सकती है। राज्य सरकारों के पास यह अधिकार है की BDC के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए। लेकिन हम आपको बता दें की औसतन क्षेत्र पंचायत सदस्यों को और BDC को प्रतिमाह लगभग ₹4,500/- से ₹4,800/- के बीच वेतन दिया जाता है।

BDC का कार्यकाल :

BDC का कार्यकाल भी जिला पंचायत, जिला परिषद , ग्राम पंचायत और ग्राम सभा की तरह 5 वर्ष का होता है।

आपको ये बताते चलें की राज्य सरकारों ने BDC चुनाव में महिलाओं के लिए 30% आरक्षण व्यवस्था लागू की हुई है। जिसके कारण चुनाव में काफी महिला उम्मींदवारों ने भाग लिया है। जिस कारण ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं की स्थिति बेहतर और मजबूत हुई है।

BDC के संबंधित FAQs :

BDC की Full From क्या है ?

BDC की Full From “Block Development Council”

BDC के चुनाव की प्रक्रिया क्या है ?

उपरोक्त आर्टिकल में हमने BDC के चुनाव की प्रक्रिया बताई है। सबसे पहले उम्मींदवार को चुनाव में लड़ने के लिए नामांकन करना होता है। फिर इसके ग्राम सभा या ग्राम पंचायत की जनता अपने योग्य उम्मींदवार के लिए मतदान करती है। चुनाव में जीतने वाले व्यक्ति को BDC प्रमुख बना दिया जाता है।

BDC के लिए उम्मींदवार की आयु कितनी होनी चाहिए ?

BDC के लिए उम्मींदवारी के लिए पुरुष की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष और महिलाओं के लिए न्यूनतम 18 वर्ष होनी चाहिए।

BDC के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या होने चाहिए ?

BDC उम्मींदवारी के लिए आपके पास आधार कार्ड, स्व-प्रमाणित शपथ पत्र , चरित्र प्रमाण पत्र इत्यादि दस्तावेज होने चाहिए । दस्तावेजों के बारे में हमने उपरोक्त आर्टिकल में जानकारी दे रखी है।

BDC के लिए वेतन कितना है ?

BDC के लिए कोई वेतन निर्धारित नहीं है। यह हर राज्य में अलग – अलग है।

उम्मींद करते हैं हमारा यह आर्टिकल आपके लिए BDC के बारे में जानने के लिए मददगार रहा होगा। यदि आपके मन कोई डाउट रह गया हो तो आप कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हमें आपके मैसेज का इंतजार रहेगा। हम आपके मैसेज का रिप्लाइ करने का भरपूर प्रयास करेंगे। धन्यवाद

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment