UP GK – उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान (Uttar Pradesh General Knowledge)

अगर आप उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित की जाने वाली विभिन परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है तो इस लेख के माध्यम से आपको उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान (Uttar Pradesh General Knowledge) सम्बंधित जानकारी प्रदान की गयी है। इस आर्टिकल में UP GK के सभी महत्वपूर्ण भागों को कवर किया गया है जिससे की आप उत्तर-प्रदेश लोक सेवा आयोग (uppsc) और उत्तर-प्रदेश अधीनस्थ सेवा-चयन आयोग (upsssc bharti 2022) द्वारा आयोजित की जाने वाली विभिन परीक्षाओं जैसे ग्रुप-सी (up group c vacancy), यूपी लेखपाल भर्ती 2022 (up lekhpal bharti 2022),

Uttar Pradesh General Knowledge
Uttar Pradesh General Knowledge

यूपी पुलिस एएसआई भर्ती (up police si bharti 2022), यूपीएसएसएससी विडिओ भर्ती (UPSSSC VDO Bharti 2022), और यूपी पटवारी भर्ती (UP Patwari Vacancy 2022) जैसी महत्वपूर्ण परीक्षाओं की तैयारी कर पाएंगे। इस आर्टिकल में उत्तर-प्रदेश के सामान्य ज्ञान से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओ को कवर किया गया है। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए यह लेख अत्यंत उपयोगी है।

उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान-भूगोल (Uttar Pradesh General Knowledge Geography)

  • उत्तर-प्रदेश भारत के उत्तरी भाग में स्थित राज्य है।
  • उत्तर-प्रदेश का कुल क्षेत्रफल 240,928 km² है जो की भारत के कुल क्षेत्रफल का 7.33 फीसदी है।
  • भौगोलिक क्षेत्रफल के आधार पर उत्तर-प्रदेश का देश में चौथा स्थान है।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार उत्तर-प्रदेश की जनसँख्या 19,98,12,341 है जो की पूरे देश में सबसे अधिक है।
  • उत्तर-प्रदेश का अक्षांशीय विस्तार 23°52′ से 30°24′ है अर्थात प्रदेश का अक्षांशीय विस्तार कुल 6°32′ है।
  • उत्तर-प्रदेश का देशांतरीय विस्तार 77°5′ से 84°38′ पूर्वी देशांतर है अर्थात प्रदेश का कुल देशांतरीय विस्तार 7°33′ है।
  • प्रदेश की पूर्व-पश्चिम लम्बाई 650 किलोमीटर और उत्तर-दक्षिण चौड़ाई 240 किलोमीटर है।
  • उत्तर-प्रदेश देश के कुल 9 राज्यों के साथ सीमा- साझा करता है जिसमे उत्तराखंड, हिमाचल-प्रदेश, हरियाणा, मध्यप्रदेश, छतीसगढ़, झारखण्ड, बिहार, राजस्थान और केंद्रशासित प्रदेश दिल्ली है।
  • उत्तर-प्रदेश को भौगोलिक आधार पर मुख्यत 3 भागों में विभाजित किया जाता है जिनका विवरण इस प्रकार है :-
    • उत्तर का तराई प्रदेश
    • मध्य में गंगा यमुना का मैदानी भाग
    • दक्षिण का पठारी भाग
  • गंगा का मैदानी भाग अत्यंत उपजाऊ है और मुख्यत जलोढ़ मिट्टी से बना है। गंगा के मैदान में पायी जाने वाली मिट्टी निम्न प्रकार की है :-
    • बांगर मिट्टी- पुरानी जलोढ़ मिट्टी
    • खादर जलोढ़ मिट्टी- नवीन जलोढ़ मिट्टी
  • उत्तर-प्रदेश विभिन प्रकार के खाद्यान उत्पादन के मामले में देश में पहले नंबर पर है।
  • उत्तर-प्रदेश में सबसे अधिक कृषि क्षेत्र सिंचाई के अधीन आता है।
  • उत्तर-प्रदेश की जलवायु को मुख्यत 2 भागों में बांटा गया है :-
    • आर्द्र एवं ऊष्ण प्रदेश
    • साधारण आर्द्र एवं ऊष्ण प्रदेश
  • राज्य के तराई क्षेत्रों में औसत वर्षा 120 सेमी से 180 सेमी तक होती है और यह राज्य के सबसे अधिक उपजाऊ क्षेत्रों में से एक है।
  • गंगा प्रदेश की सबसे प्रमुख नदी है जो की उत्तर के मैदान को सिंचाई की सुविधा प्रदान करती है। इसके अतिरिक्त हर वर्ष बाढ़ के माध्यम से गंगा यहाँ के मैदानी क्षेत्रों में उपजाऊ मिट्टी भी बिछाती है।
  • उत्तर-प्रदेश में पाए जाने वाले वनो का प्रकार निम्न है :-
    • उष्णकटिबंधीय आर्द्र पर्णपाती वन
    • उष्णकटिबंधीय शुष्क पर्णपाती वन
    • उष्णकटिबंधीय कांटेदार वन

उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान-इतिहास (Uttar Pradesh General Knowledge History)

  • भारत देश के इतिहास में उत्तर-प्रदेश का इतिहास बहुत ही महत्वपूर्ण रहा है।
  • पुरापाषाण काल के अवशेष प्रदेश में सिंगरौली घाटी, बेलन नदी घाटी से प्राप्त हुए है।
  • उत्तर-प्रदेश में इलाहाबाद, मिर्जापुर और बुंदेलखंड से मध्यपाषाण काल के अवशेष प्राप्त हुए है।
  • पौराणिक काल में उत्तर-प्रदेश को मध्यदेश एवं महर्षि देश की संज्ञा दी जाती थी।
  • उत्तर-प्रदेश के इतिहास को मुख्यत निम्न 5 भागों में बाँटा जाता है:-
    • प्रागैतिहासिक एवं पौराणिक काल – (600 ई.पू.)
    • बौद्ध-हिन्दू (ब्राह्मण काल) – (600 ई.पू.- 1200 ई.)
    • मुस्लिम काल (1200 ई.-1775 ई.)
    • ब्रिटिश काल (1775 ई.-1947 ई.)
    • स्वतंत्रता के बाद – (1947 ई. के पश्चात)
  • महाजनपद काल में 6वीं शताब्दी में प्रदेश में 2 नये धर्मो का उदय हुआ जिनमे जैन और बौद्ध धर्म प्रमुख है।
  • भगवान बुद्ध द्वारा ज्ञान प्राप्ति के पश्चात अपना पहला उपदेश सारनाथ में ही दिया गया था।
  • प्राचीन काल से ही उत्तर-प्रदेश में भारत के कई प्रमुख शहर रहे है जिनमे अयोध्या, मथुरा, वाराणसी और प्रयाग प्रमुख रहे है।
  • वाराणसी को दुनिया का सबसे अधिक पुराना शहर माना जाता है।
  • कुषाण काल में मथुरा बौद्ध मूर्ति बनाने का प्रमुख केंद्र था।
  • भारत में मुस्लिम शासकों के शासन के दौरान भी गंगा के उपजाऊ क्षेत्र के लिए कई युद्ध लड़े गए जिनमे कन्नौज की भूमि के लिए त्रिकोणीय संघर्ष प्रमुख था।
  • आगरा शहर की स्थापना सिकंदर लोदी द्वारा की गयी थी।
  • उत्तर भारत में भक्ति आंदोलन का प्रसार करने में उत्तर-प्रदेश के कई महान संतों ने अपना योगदान दिया है जिनमे कबीरदास, सूरदास और तुलसीदास का नाम प्रमुख है।
  • भारत की आजादी की लड़ाई में भी उत्तर-प्रदेश का अतुलनीय योगदान रहा है।
  • 10 मई 1857 को शुरू हुयी आजादी की पहली लड़ाई प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत प्रदेश के मेरठ जिले से हुयी थी।
  • असहयोग आंदोलन के दौरान चौरा-चौरी की घटना भी प्रदेश के गोरखपुर जिले में घटित हुयी थी।
  • 1857 में वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई ने अंग्रेजो से लड़ते हुए अपने प्राणों की बलि दी थी।
  • ब्रिटिश काल में उत्तर-प्रदेश को संयुक्त प्रांत कहा जाता था।
  • 9 नवंबर 2000 को उत्तर-प्रदेश के पश्चिमी भाग में स्थित 13 पर्वतीय जिलों को काटकर उत्तराखंड की स्थापना की गयी थी।

उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान-अर्थव्यवस्था

  • उत्तर-प्रदेश की अर्थव्यवस्था भारत के सभी राज्यों में तीसरे स्थान पर है।
  • वर्ष 2022-23 के लिए प्रदेश की नॉमिनल जीडीपी 20 लाख करोड़ रुपए आँकी गयी है।
  • वर्ष 2022-23 के लिए प्रदेश की वार्षिक वृद्धि दर 17 फीसदी से अधिक आंकी गयी है।
  • प्रदेश की चालू वित् वर्ष के लिए प्रति-व्यक्ति आय 81,398 रुपए है।
  • उत्तर-प्रदेश की प्रति व्यक्ति आय के अनुसार पूरे देश में 28वीं रैंक है।
  • उत्तर-प्रदेश की अर्थव्यवस्था में इकॉनमी के तीनो क्षेत्रों का योगदान इस प्रकार से है :-
    • प्राथमिक क्षेत्र कृषि का- 26%
    • द्वितीय क्षेत्र विनिर्माण का – 26%
    • तृतीय क्षेत्र सर्विस सेक्टर का – 49%
  • प्रदेश की 19.4 फीसदी जनसँख्या गरीबी रेखा से नीचे निवास करती है। वही प्रदेश में बेरोजगारी दर 4 फीसदी के करीब है।
  • उत्तर-प्रदेश में विभिन जिलों में उद्योगों का वर्णन इस प्रकार से है :-
    • वाराणसी- हस्तकरघा ऊन उद्योग, डीजल एवं लोकोमोटिव इंजन निर्माण
    • कानपुर-चर्म एवं लेदर सम्बंधित उद्योग
    • मुरादाबाद- पीतल एवं बर्तन निर्माण के लिए
    • फिरोजाबाद – कांच एवं चूड़ी सम्बंधित उद्योग
    • नोएडा- सर्विस सम्बंधित आईटी कंपनियों के लिए
  • उत्तर-प्रदेश में कुल 17.6 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र सिंचित है जो की पूरे देश में सबसे अधिक है।
  • उत्तर-प्रदेश देश में विभिन खाद्यानों के उत्पादन में प्रमुख है जिनमे गेहूं और चावल प्रमुख है।
  • पूरे देश में गेहूं उत्पादन के मामले में उत्तर-प्रदेश का पहला स्थान है।
  • खनिज की दृष्टि से भी उत्तर-प्रदेश देश के समृद्ध राज्यों में शुमार किया जाता है।
  • उत्तर-प्रदेश भारत के सबसे तेजी से आर्थिक वृद्धि करने वाले राज्यों में शुमार है।

उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान-राजनीति

  • वर्ष 1950 तक उत्तर-प्रदेश को ब्रिटिश शासन के अंतर्गत संयुक्त प्रांत के नाम से जाना जाता था।
  • 24 जनवरी 1950 को उत्तर-प्रदेश का नया नाम उत्तर-प्रदेश रखा गया।
  • संविधान के अनुच्छेद 168 के अनुसार राज्य के विधानमंडल का वर्णन किया गया है।
  • उत्तर-प्रदेश की विधायिका को निम्न भागों में बाँटा गया है :-
    • विधानसभा (निम्न-सदन)
    • विधानपरिषद (उच्च-सदन)
    • राज्यपाल
  • उत्तर-प्रदेश भारत में उन 6 राज्यों में शामिल है जहाँ विधानसभा के साथ विधानपरिषद भी है।
  • उत्तर-प्रदेश विधानसभा में कुल 403 सीटें है जो की पूरे देश में किसी भी राज्य की विधानसभा में सबसे अधिक है।
  • उत्तर-प्रदेश के विधानपरिषद में कुल 100 सीटें है।
  • प्रदेश विधानपरिषद् के सदस्य 6 वर्षो के चुने जाते है जिनमे एक-तिहाई सदस्य हर 2 साल में सेवानिवृत होते है।
  • प्रशासनिक सुविधा के आधार पर पूरे प्रदेश को 75 जिलों में बांटा गया है जो की पूरे देश में सबसे अधिक है।
  • उत्तर-प्रदेश के वर्तमान मुख्यमत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी है।
  • उत्तर-प्रदेश की राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल है।
  • उत्तर-प्रदेश में कुल 18 प्रशासनिक प्रमंडल है।
  • प्रशासनिक आधार पर प्रदेश में एक प्रमंडल में 3 से लेकर 7 जिलों को शामिल किया गया है।
  • उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा पंचायती राज संस्थानों को अधिकार प्रदान करने के लिए उत्तर-प्रदेश क्षेत्र समिति एवं जिला परिषद अधिनियम 1961 लागू किया गया है।
  • सरकार द्वारा पंचायती राज व्यवस्था के अंतर्गत त्रिस्तरीय व्यवस्था को अपनाया गया है।
  • प्रदेश के सभी प्रमंडलों के कार्यभार को संभालने के लिए सरकार द्वारा कमिश्नर की नियुक्ति की जाती है।
  • वर्तमान समय में उत्तर-प्रदेश में कुल 80 लोकसभा सीटें है जो की किसी भी राज्य से लोकसभा में अधिकतम सीटें है।

Uttar Pradesh General Knowledge सम्बंधित प्रश्नोत्तर (FAQ)

उत्तर-प्रदेश का कुल क्षेत्रफल कितना है ?

उत्तर-प्रदेश का कुल क्षेत्रफल 240,928 km² है जो की पूरे देश के क्षेत्रफल का 7.33 फीसदी है। क्षेत्रफल के आधार पर उत्तर-प्रदेश देश का चौथा सबसे बड़ा राज्य है।

उत्तर-प्रदेश की कुल जनसँख्या कितनी है ?

2011 की जनगणना के अनुसार उत्तर-प्रदेश की कुल जनसँख्या 19,98,12,341 है जो की पूरे भारत में सबसे अधिक जनसँख्या वाला राज्य है।

उत्तर-प्रदेश का अक्षांशीय और देशांतरीय विस्तार कितना है ?

उत्तर-प्रदेश का अक्षांशीय 23°52′ उत्तर से 30°24′ उत्तर है अर्थात प्रदेश का अक्षांशीय विस्तार कुल 6°32′ है वही प्रदेश का देशांतरीय विस्तार 77°5′ से 84°38′ पूर्वी देशांतर है अर्थात प्रदेश का कुल देशांतरीय विस्तार 7°33′ है।

उत्तर-प्रदेश की पूर्व-पश्चिमी और उत्तर-दक्षिणी भाग की कुल दूरी कितनी है ?

उत्तर-प्रदेश की पूर्व-पश्चिम लम्बाई 650 किलोमीटर और उत्तर-दक्षिण चौड़ाई 240 किलोमीटर है।

भारत के स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत कहाँ से हुयी थी ?

भारत के स्वतंत्रता संग्राम की शुरुआत उत्तर-प्रदेश के मेरठ जिले से 10 मई 1857 को हुयी थी। इसके अतिरिक्त गांधीजी के असहयोग आंदोलन का प्रमुख केंद्र चौरा-चौरी भी प्रदेश के गोरखपुर जिले में पड़ता है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 1857 की क्रांति का नेतृत्व बेगम हजरत महल के द्वारा किया गया था।

उत्तर-प्रदेश में कुल कितनी विधानसभा एवं विधानपरिषद सीटें है ? साथ ही प्रदेश में लोकसभा सीटो की संख्या भी बतायें ?

उत्तर-प्रदेश विधानसभा में कुल 403 सीटें है जो की पूरे देश में सबसे अधिक है। इसके अतिरिक्त यहाँ विधानपरिषद में 100 सीटें है। साथ ही उत्तर-प्रदेश पूरे देश में सबसे अधिक लोकसभा सीटो वाला राज्य है जहाँ लोकसभा की कुल 80 सीटें है।

आज के इस पोस्ट में हमने उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान (Uttar Pradesh General Knowledge) के बारे में आपको जानकारी दी है, इस तरह के पोस्ट से सम्बंधित नॉलेज के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क करें।

Leave a Comment