स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र ऐसे लिखें (School Leave Application) – leave letter

आवेदन पत्र या प्रार्थना पत्र लिखना एक ऐसी कला है जो हमारे प्रतिदिन के जीवन में काम आती है।अगर आप किसी स्कूल /कॉलेज के छात्र हो तो आपको स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखें (School Leave Application) इसकी जानकारी होनी चाहिए। अगर आपको यह पता हो की आवेदन पत्र का फॉर्मेट कैसे हो, इसकी भाषा कैसी हो, इसको कैसे शुरू किया जाए कैसे समापन किया जाये या इससे सम्बंधित अन्य तथ्य अगर आपको पता हो तो आप न सिर्फ प्रभावशाली आवेदन पत्र लिख सकते है। आज के इस लेख में हम स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन कैसे लिखे इस बारे में बताएंगे।

स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र ऐसे लिखें (School Leave Application) – leave letter
School Leave Application– leave letter

Article Contents

आवेदन पत्र लिखने का उद्देश्य

हमें प्रतिदिन के जीवन में अनेकों कार्य पड़ते है जिनमें कुछ कार्यो को तत्काल करने की आवश्यकता पड़ती है। इन कार्यो को करने के लिए हमे जो अवकाश लेना पड़ता है उसके लिए हमे आवेदन पत्र देना पड़ता है। आवेदन पत्र में आप आपने अनुपस्थित होने का कारण और अन्य सभी विवरण अच्छी तरीके से लिख देते है जिससे आवेदन पत्र प्राप्त करने वाले को आपके अनुपस्थित होने का कारण पता चल जाता है तथा आपको इस आधार पर अवकाश प्रदान किया जाता है।

आवेदन पत्र कितने प्रकार का होता है ?

हम प्रतिदिन के जीवन में कई प्रकार के आवेदन पत्र लिखते है। इनमें से कुछ आवेदन पत्र सरकारी विभागों, कार्यालयों,अधिकारियो, निगमों, अन्य संस्थानों तथा निजी संस्थाओ में अधिकारियों, स्कूलों में प्रधानाचार्यों , सम्मानित व्यक्तियों एवं ऐसे ही अन्य सम्बंधित लोगो को लिखते है वही हम अपने प्रियजनो ,मित्रों, रिश्तेदारों ,सगे सम्बन्धियों एवं अन्य व्यक्तियों को भी प्रतिदिन के जीवन में पत्र लिखते है। आवेदन पत्रों को मुख्यत 2 प्रकार से विभाजित किया जाता है। ये दो प्रकार निम्न है।

  • औपचारिक आवेदन पत्र – औपचारिक आवेदन पत्र सभी सरकारी विभागों ,कार्यालयों, निगमों ,अन्य सरकारी संस्थानों ,सरकारी अधिकारियों ,निजी कंपनियों के अधिकारियों ,स्टाफ को ,सम्मानित व्यक्तियों को ,जनप्रतिनिधियों को और अन्य ऐसे ही सम्बंधित लोगो को लिखा जाता है।
  • अनौपचारिक आवेदन पत्र -अनौपचारिक आवेदन पत्र हम अपने प्रियजनो को ,मित्रो को ,रिश्तेदारों को ,सगे सम्बन्धियों एवं ऐसे ही अन्य जान पहचान के लोगो को लिखते है।

अब आप समझ गए होंगे की आवेदन पत्र दो प्रकार के के होते है। आपको कौन सा आवेदन पत्र लिखना है औपचारिक या अनौपचारिक यहाँ इस पर निर्भर करता है की वह पत्र किसको लिखा जा रहा है। आपको दोनों पत्रों की लिखने का फॉर्मेट एवं तरीका पता होना चाहिए तभी आप प्रभावशाली पत्र लिख पायेंगे और सामने वाले पर एक अच्छी छाप छोड़ पाएंगे।

आवेदन पत्र लिखने का कारण

स्कूल में छात्रों को छुट्टी लेने के लिए आवेदन पत्र आवेदन पत्र लिखना पड़ता है। अधिकतर मामलो में यह स्वास्थ्य के कारण लिखा जाता है परन्तु इसके कई कारण हो सकते हैं। स्कूल में छुट्टी के लिए आवेदन लिखने के निम्न कारण हो सकते है।

  • घर में शादी होने के कारण
  • घर में किसी के बीमार होने के कारण
  • घर में कोई महत्वपूर्ण फंक्शन के कारण
  • परिवार के साथ छुट्टी पर जाने के कारण
  • घर पर आवश्यक कार्य होने के करने
  • किसी की मृत्यु
  • परिवार के साथ कहीं घूमने जाने के कारण
  • कोई भी महत्वपूर्ण कारण

इस प्रकार से छात्र के स्कूल से छुट्टी लेने के कई कारण हो सकते है। आप जब भी छुट्टी लेना चाहे तो जिस कारण से भी आप छुट्टी ले रहे हो उस कारण को स्पष्ट कर दे।

क्या है स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र लिखने का फॉर्मेट

इस लेख में हम मुख्यता स्कूल में छात्रों द्वारा छुट्टी हेतु आवेदन पत्र लिखने के बारे में जानकारी दे रहे है जो की औपचारिक पत्र के अंतर्गत आता है। आपको इसका फॉर्मेट पता होना जरुरी है तभी आप अच्छी तरीके से इसे लिख सकते है। इस पत्र के अंतर्गत सभी बिंदुओं को पृष्ठ के बाई और लिखा जाता है। इसमें सभी बिंदुओं को क्रमवार लिखना पड़ता है एवं छुट्टी लेने का उचित कारण भी उल्लिखित करना पड़ता है।

कैसी हो आवेदन पत्र की भाषा

आवेदन पत्र की भाषा साफ़ सुथरी एवं सरल होनी चाहिए। इसमें आपको सभी मुख्य बिंदुओं को कम से कम शब्दो में स्पष्ट करना चाहिए परतु साथ ही साथ इसकी भाषा इतनी प्रभावशाली भी होनी चाहिए की प्राप्त करने वाले पे एक अच्छा प्रभाव डाल सके। इसकी भाषा जितनी हो सके उतनी शुद्ध रखनी चाहिए एवं इसको व्याकरण के आधार पर भी त्रुटिरहित होना चाहिए।

क्या है आवेदन पत्र से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदु

जब भी आप आवेदन पत्र लिखे आपको कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों का ध्यान रखना आवश्यक है जिनसे आपका पत्र और अधिक प्रभावशाली हो जायेगा। जो निम्न प्रकार से है।

  • आपको हमेशा ध्यान रखना चाहिए की आपके पत्र की भाषा सरल एवं प्रभावशाली होनी चाहिए।
  • पत्र लिखने में आपको पत्र लिखने का उद्देश्य स्पष्ट कर देना चाहिए ताकि सामने वाला आपकी कही गयी बात का अच्छे से मतलब समझ सके।
  • पत्र लिखने के दौरान इस बात का ध्यान रखे की आप मूल उद्देश्य से न भटके और आपका पत्र आपका मूल उद्देश्य प्रकट कर रहा हो।
  • पत्र लिखने में आप अपने विचारों, भावो एवं सन्देश को कम से कम शब्दो में पत्र पहुंचाने वाले तक पहुचाये।
  • आपको पत्र में कम से कम शब्दो में अधिक से अधिक बात कहने की कला आनी चाहिए।
  • पत्र की भाषा ऐसे होनी चाहिए जिसमें रोचकता एवं उत्सुकता का भाव हो। यह ऐसा होना चाहिए की पढ़ने वाला अंत तक इसमें बंधा रहे।
  • पत्र में पत्र प्राप्त करने वाले की पद एवं गरिमा का ध्यान रखते हुए उपयुक्त शब्दो का चयन करना चाहिए।
  • पत्र लिखने के पश्चात उसे अच्छे से पढ़े ताकि आप समझ सके की आप अपना सन्देश इसे प्राप्त करने वाले को पहुंचा पाए है या नहीं।

आइये अब जानते है स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखें

यहाँ ध्यान रखना आवश्यक है की अगर प्रधानाचार्य पुरुष हो तो उसे प्रधानाचार्य एवं अगर महिला हो तो उसे प्रधानाध्यापिका से सम्बोधित करना चाहिए। इसी प्रकार पुरुष को महोदय एवं महिला को महोदया लिखकर सम्बोधित करना चाहिए।

बीमारी के कारण छुट्टी हेतु आवेदन पत्रschool leave application for fever

सेवा में

प्रधानाचार्य महोदय

राजकीय इंटर कॉलेज ,नागेश्वर सौड़

नैलचामी , पौड़ी गढ़वाल

दिनांक – 18 /08 /2020

विषय– स्वास्थ्य खराब होने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय

सविनय नम्र निवेदन इस प्रकार से है की मैं आपके विद्यालय का कक्षा 9B का छात्र हूँ एवं कल रात से मुझे तीव्र ज्वर है। जिसके कारण में सामान्य काम करने में भी असमर्थ हूँ। डॉक्टर ने भी मुझे कुछ दिनों घर पर रहकर आराम करने की सलाह दी है।

अतः महोदय मुझे कल दिनाँक 19 /08 /2020 से 23/08 /2020 तक 5 दिनों की छुट्टी देने की कृपा करे।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य
छात्र नाम – विनय बिष्ट
कक्षा – 9 A
रोल नंबर – 22

घर पर शादी होने के कारण छुट्टी हेतु आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाचार्य महोदय

राजकीय इंटर कॉलेज , घुमेटीधार

घनसाली , टिहरी गढ़वाल

दिनांक – 21 /05 /2020

विषय-घर पर शादी होने के कारण होने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदय

से सविनय नम्र निवेदन है की मेरी बड़ी बहन की शादी इस महीने की 23 तारीख को होनी तय हुई है जिसके कारण मुझे घर पर आवश्यक कार्यो हेतु अवकाश लेना पड़ेगा। मैं आपके स्कूल का कक्षा 10A का छात्र हूँ।

अतः महोदय मुझे दिनाँक 22/05/2020 से 28/05/2020 तक एक हफ्ते की छुट्टी प्रदान करने की कृपा करे।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य
छात्र नाम – रमेश रावत
कक्षा – 10 A
रोल नंबर – 27

घर पर किसी की मृत्यु होने के कारण आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाचार्य महोदय

राजकीय इंटर कॉलेज , चोपता

मयाली ,रुद्रप्रयाग

दिनांक – 12 /06/2019

विषय– घर पर दादाजी की आकस्मिक मृत्यु होने के कारण आवेदन पत्र

महोदय

बड़े दुःख के साथ सूचित करना पड़ रहा है की कल रात मेरे दादाजी जी की हृदयगति रुकने से देहांत हो गया। जिस कारण से विभिन कार्यो के कारण मुझे कुछ दिन घर पर रुकना पड़ेगा। मैं आपके विद्यालय की कक्षा 10B का छात्र हूँ।

अतः महोदय मुझे आज दिनाँक 12/06/2019 से 25/06/2019 तक अवकाश देने की कृपा करे।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य
छात्र नाम – अमन भंडारी
कक्षा – 10B
रोल नंबर – 45

परिवार के साथ जाने हेतु स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाध्यापिका महोदया

राजकीय इंटर कॉलेज , गरुड़

भिगुन , बागेश्वर

दिनांक – 14 /07/2018

विषय-परिवार के साथ के घूमने जाने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदया

से सविनय नम्र निवेदन इस प्रकार से है की मैं आपके स्कूल का कक्षा 11C का छात्र हूँ। महोदया परिवार द्वारा लम्बे समय से घूमने की योजना बनायीं जा रही थी जो की आजकल सबको समय मिलने के कारण इसी हफ्ते तय कर दी गयी है जिसमें मेरे परिवार के सभी सदस्य जा रहे है।

महोदय इसमें मुझे भी भाग लेने हेतु दिनाँक 15/07/2018 से 20/07/2018 तक छुट्टी देने की कृपा करे।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य
छात्र नाम –अजय कंडारी
कक्षा – 11C
रोल नंबर – 54

घर में पूजा होने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाध्यापिका महोदया

राजकीय इंटर कॉलेज ,चिरबटिया

लोहाघाट ,अल्मोड़ा

दिनांक – 23 /06 /2019

विषय– घर में पूजा होने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

महोदया

से सविनय नम्र निवेदन इस प्रकार से है की आज मेरे घर में पूजा होनी निश्चित हुई है जिसमें परिवार के सभी सदस्यों का भाग लेना अनिवार्य है। अतः मेरा आज घर पर उपस्थित होना अनिवार्य है। मैं आपके विद्यालय के कक्षा 10B की छात्रा हूँ।

अतः महोदया मुझे आज दिनाँक 23 /06 /2019 को एक दिन की छुट्टी देने के कृपा करे।

धन्यवाद

आपकी आज्ञाकारी शिष्या
छात्र नाम – राशि उनियाल
कक्षा – 11C
रोल नंबर – 54

घर पर किसी सदस्य की तबियत खराब होने के कारण आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाध्यापिका महोदया

राजकीय इंटर कॉलेज , मलेथ

मुनस्यारी ,पिथौरागढ़

दिनांक – 22 /09 /2019

विषय– घर में ताऊ जी की तबियत ख़राब होने के कारण आवेदन पत्र

महोदया

सविनय नम्र निवेदन इस प्रकार से की मैं आपके विद्यालय की कक्षा 10C की छात्रा हूँ। महोदया विगत कुछ दिनों से मेरे ताऊ जी की तबियत खराब चल रही है जिस कारण से उन्हें डॉक्टर ने घर पर रहने की सलाह दी है। अतः उनकी देखभाल के लिए घर पर कोई सदस्य उपस्थित ना होने के कारण मुझे ही कुछ दिनों तक उनकी देखभाल करनी है।

अतः महोदया मुझे आज दिनाँक 22 /09 /2019 से 01 /10 /2019 तक छुट्टी देने की कृपा करे।

धन्यवाद

आपकी आज्ञाकारी शिष्या
छात्र नाम – प्रियंका गुसाईं
कक्षा – 10C
रोल नंबर – 23

घर पर किसी महत्वपूर्ण कारण से अवकाश लेने हेतु आवेदन पत्र

सेवा में

प्रधानाचार्य महोदय

राजकीय इंटर कॉलेज , भेल

रुड़की ,हरिद्वार

दिनांक –10 /06 /2021

विषय– घर पर आवश्यक कार्य से रुकने के कारण आवेदन पत्र

महोदय

सविनय नम्र निवेदन इस प्रकार से है की घर पर बहुत आवश्यक कार्य होने के कारण मैं विद्यालय आने में असमर्थ हूँ। अतः मुझे आज दिनाँक 10/06/2021 को एक दिन का अवकाश देने की कृपा करे। मैं आपके विद्यालय का कक्षा 12A का छात्र हूँ।

धन्यवाद

आपका आज्ञाकारी शिष्य
छात्र नाम – राजू सैनी
कक्षा – 12A
रोल नंबर – 22

इस प्रकार से आपने इस लेख के माध्यम से स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र कैसे लिखें, इसे प्रभावशाली ढंग से कैसे लिखा जाता है ये सभी जानकारी प्राप्त की और विभिन उदाहरणों से यह भी सीखा की स्कूल में अलग अलग मौको पर किस प्रकार से छुट्टी हेतु आवेदन लिखा जाता है।

ऐसे ही जानकारियों के लिए हमारी वेबसाइट crpfindia.com को बुकमार्क करके रखें

Leave a Comment