Ruk Jana Nahi Scheme: एमपी बोर्ड के फेल छात्र भी होंगे पास, जानें क्या है तरीका

स्कूल शिक्षा विभाग, मध्यप्रदेश द्वारा 29 अप्रैल 2022 को एमपी बोर्ड परीक्षा के परिणाम जारी कर दिये गये है। परीक्षा परिणाम से पूर्व राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा छात्रों को परीक्षा परिणाम सम्बंधित सन्देश जारी किया गया है। सन्देश के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा सफल छात्रों को बधाई सन्देश दिया गया है साथ ही इस मौके पर उन्होंने परीक्षा में असफल छात्रों को निराश ना होने की सलाह दी है। साथ ही असफल हुये छात्रों को सफलता के लिए पुनः प्रयास करने हेतु भी प्रेरित किया। हालांकि जिन छात्रों का परीक्षा परिणाम सही नहीं रहा है वे राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विशेष योजना रुक जाना नहीं योजना के माध्यम से परीक्षा में बैठकर उत्तीर्ण हो सकते है। चलिये जानते है कैसे

पुन पास करवाएगी Ruk Jana Nahi Scheme

एमपी बोर्ड परीक्षा में अनुतीर्ण हुये छात्र सरकार द्वारा संचालित की जाने वाली रुक जाना नहीं योजना के माध्यम से पुनः उत्तीर्ण हो सकते है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इस सम्बन्ध में ट्वीट करते हुये जानकारी दी है जिसमे उन्होंने छात्रों को असफल होने पर निराश और हताश ना होने की सलाह दी। ट्वीट के माध्यम से मुख्यमंत्री द्वारा असफल छात्रों को Ruk Jana Nahi Scheme के बारे में भी जानकरी दी गयी जिसके माध्यम से छात्र दोबारा परीक्षा देकर पास हो सकते है जिससे की उनका साल भी खराब नहीं होगा।

रुक जाना नहीं योजना से छात्रों को मिलेगा लाभ

रुक जाना नहीं योजना की शुरुआत स्कूल शिक्षा विभाग, मध्यप्रदेश शासन द्वारा वर्ष 2016 में की गयी था। इस योजना के माध्यम से अनुतीर्ण छात्रों को दुबारा फेल हुये सब्जेट में परीक्षा देने के मौका मिलता है जिससे की वे दुबारा पास हो सके। इस योजना को सरकार द्वारा छात्रों की शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया है ताकि उत्तीर्ण होने पर छात्र स्कूल ड्रापआउट ना करे। इसके लिए छात्र ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते है जिसके लिए उन्हें निर्धारित शुल्क भी अदा करना पड़ेगा।

ऐसे कर सकते है आवेदन

जो भी छात्र बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हुये है और पुनः पेपर देने के इच्छुक है वे स्कूल शिक्षा बोर्ड, मध्यप्रदेश शासन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। सरकार द्वारा वर्ष में 2 बार रुक जाना नहीं योजना के अंतर्गत परीक्षाओ का आयोजन करवाया जाता है ऐसे में छात्र अपने परीक्षा परिणाम को सुधार सकते है। पेपर आयोजित करने के बाद बोर्ड द्वारा ऑनलाइन माध्यम से ही परीक्षा परिणाम घोषित किये जायेंगे।

Leave a Comment