RTI का फुल फॉर्म क्या है ? RTI Full Form in Hindi – आर.टी.आई क्या है

RTI का फुल फॉर्म :- 12 अक्टूबर, 2005 को भारत की संसद द्वारा एक ऐसा एक कानून पारित हुआ जिसके माध्यम से देश का कोई भी नागरिक सरकार से कोई भी सूचना मांग सकता है, कहाँ सरकार ने कितना खर्चा किया, किसको नौकरी मिली, किन विकास कार्यों के लिए कितना बजट जारी हुआ या किसी कार्य से सम्बंधित दस्तावेजों का निरीक्षण कर सकते है, इसके लिए आपको एक निर्धारित प्रारूप में आवेदन देना होता है साथ ही कुछ शुल्क भी जमा करना पड़ता है जिसे आप पोस्टल ऑर्डर के माध्यम से जमा करवा सकते हैं। इस कानून को साधारणतः हम RTI नाम से जानते हैं, आज यहां हम RTI की फुल फॉर्म (RTI Full Form in Hindi) और उससे सम्बंधित जानकारी देने वाले हैं।

RTI का फुल फॉर्म क्या है ? RTI Full Form in Hindi आर.टी.आई क्या है
RTI का फुल फॉर्म क्या है ? RTI Full Form in Hindi आर.टी.आई क्या है

RTI का फुल फॉर्म क्या है ?

RTI की फुल फॉर्म है RIGHT TO INFORMATION (राइट टू इनफार्मेशन) इसका मतलब है सूचना का अधिकार। सूचना का अधिकार अधिनियम भारत की संसद द्वारा पारित कानून है, जो 12 अक्टूबर, 2005 को लागू हुआ, इसीलिए इसे सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 कहा जाता है।

RTI क्या है ? सूचना का अधिकार

RTI (RIGHT TO INFORMATION ) सुचना का अधिकार भारत संविधान के ARTICLE 19 (1) (a ) के तहत एक FUNDAMENTAL RIGHT है। यह भारत के नागरिको को हर तरफ की INFORMATION के लिए अनुरोध करने का RIGHT देता है जो GOVERNMENT OFFICIALS के CONTROL में रहता है। RTI (RIGHT TO INFORMATION) भारत के लोगो को निरिक्षण का अधिकार देता है भारत के लोग सरकारी कार्यो का निरिक्षण कर सकते है , उनकी फाइल्स की जांच कर सकते है , और सरकारी दसतावेजो की COPIES भी ले सकते है। स्वंत्रता सुचना एक्ट 2002 को बदलने के लिए संसद के एक एक्ट RTI (RIGHT TO INFORMATION ) की शुरुवात 2005 में की गई थी। संसद द्वारा 15 JUNE 2005 को इस कानून को पारित किया गया था और 12 OCTOBER 2005 से लागू कर दिया गया था। भारत के सभी राज्यों, प्रदेशो में यह लागू होता है बस जम्मू और कश्मीर में लागू नहीं किया गया है। अगर किसी सरकारी विभाग से सुचना मांगी गई है तो उस सरकारी विभाग को 30 दिन के अंदर RTI का जवाब देना होगा। भारतीय संविधान द्वारा भारत के हर नागरिक को सुचना का अधिकार प्रदान किया गया है। देश का हर एक नागरिक किसी न किसी प्रकार टैक्स भरता है इसलिए उसके पास अधिकार है की सरकारी हो रहे कामो का पता लगा सके की उनके द्वारा भरे जाने वाले टैक्स का उपयोग हो रहा है या दुरूपयोग। देश में बढ़ते भ्रष्टाचार के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार है RTI ACT इसके माध्यम से कोई भी अपने अधिकारों की मांग कर सकता है।

RTI (RIGHT TO INFORMATION ) से क्या लाभ है ?

RTI जनता के लिए ही बनाया गया है और देश की जनता को बहुत सारे लाभ प्राप्त होते है RTI के तहत। कुछ विशेष लाभों के बारे में आपको नीचे लेख में बताया जाएगा।

  • RTI के अंतर्गत नागरिको से जुड़ी किसी भी सरकारी जरूरत के काम जैसे बिजली , पानी , सड़क आदि के बजट उपयोग से सम्बंधित सभी जानकारी प्राप्त की जा सकती है और संगठन से पूरा विवरण लिया जा सकता है।
  • देश का कोई भी व्यक्ति हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ RTI के अंतर्गत शिकायत कर सकता है।
  • RTI द्वारा सभी नागरिको के लिए सरकार के प्रति TRANSPARENCY बानी रहती है।
  • आम व्यक्ति के अधिकारों की RTI द्वारा रक्षा की जाती है।
  • सरकारी संस्थानों से अब किसी भी तरह के तथ्य की जानकारी RTI द्वारा प्राप्त की जा सकती है।
  • सरकारी प्रोजेक्ट्स में कितना बजट आया है, उसमे से कितने की लागत हुई है , कही भ्रष्टाचार तो नहीं हो रहा है यह सब RTI के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति जानकारी प्राप्त कर सकता है।
  • RTI के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति अपने निजी जीवन से जुडी किसी भी जरुरत की जानकारी ले सकता है जैसे पेंशन की जानकारी , प्रोविडेंट फंड की जानकारी , पासपोर्ट , आधार कार्ड , पैन कार्ड , टैक्स की जानकारी मांग सकते है।
  • RTI के अंतर्गत सभी सरकारी संसथान , राज्य सरकार , केंद्रीय सरकार , कॉलेज , स्कूल्ज , हॉस्पिटल्स ,बैंक , रेलवे , पोस्ट ऑफिस , BSNL , इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड इत्यादि आते है।

RTI के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

  • RTI के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट https://rtionline.gov.in/ पर जाए।
  • अब आपको RTI के ऑप्शन पर क्लिक करे और फिर APPLY ONLINE FORM भरना है।
  • अब फॉर्म भरने के बाद आप सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करे।
  • अब आपको RTI के लिए माँगा गया शुल्क जमा करना है।
  • इस प्रकार आप RTI के लिए आवेदन कर पाएगे।

RTI के लिए ऑफलाइन आवेदन कैसे करे ?

  • अगर आपको RTI ऑफलाइन अप्लाई करना है तो आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर फॉर्म डाउनलोड करना पड़ेगा।
  • अब आपको RTI अप्लाई करने के लिए स्वयं आवेदन पत्र लिखना होगा।
  • अब आवेदन पत्र को पोस्टल आर्डर के जरिये सम्बंधित कार्यालय में भेजे जहा से आपको जानकारी लेनी हो। अब 30 दिन के अंतर्गत आपको जवाब मिल जाएगा।

(RTI ऍप्लिकेशन फॉर्म फॉर्मेट यहां से डाउनलोड करें)

RTI की फुलफॉर्म क्या है ?

RTI की फुलफॉर्म RIGHT TO INFORMATION है, और हिंदी में इसको सुचना का अधिकार कहते है।

RTI ऑफलाइन आवेदन के बाद कितने समय में जवाब प्राप्त होता है ?

RTI आवेदन करने के बाद आपको 30 दिन के अंतर्गत जवाब प्राप्त हो जाता है।

RTI कानून कब लागू हुआ था ?

12 OCTOBER 2005 को लागू।

RTI का अधिकार किसको है ?

RTI का अधिकार देश के हर एक नागरिक को है।

यह भी जानें :-

Leave a Comment