राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023: एप्लीकेशन फॉर्म, पात्रता व पंजीकरण प्रक्रिया

भारत एक कृषि प्रधान देश है ऐसे में किसानो के लिए खेती के साथ-साथ दुधारू पशुओ को रखना भी जरूरी होता है जिससे उन्हें खेती के लिए खाद मिल सके साथ ही किसानो की आय बढ़ाने में भी दुधारू पशु महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। केंद्र सरकार द्वारा भी दुधारू पशुओ के संरक्षण और संवर्धन के लिए राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 शुरू की गयी है जिसके माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा देशी नस्ल के दुधारू पशुओं का संरक्षण और संवर्धन को प्रोत्साहन देने के लिए कार्यक्रम चलाये जा रहे है। साथ ही इस मिशन के तहत सरकार द्वारा स्वदेशी पशुओ की नस्ल में वैज्ञानिक तरीके से अनुवांशिकी द्वारा सुधार किये जाने का भी लक्ष्य रखा गया है ताकि वे किसानो को आय बढ़ाने का बेहतर स्रोत साबित हो।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना ऑनलाइन आवेदन

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2022, Registration process
Rashtriya Gokul Mission

आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 क्या है, इसका उद्देश्य, लाभ, पात्रताएँ और जरुरी दस्तावेजो के बारे में। इसके अलावा आप इस योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया से भी अवगत होंगे। केंद्र सरकार द्वारा लगातार देशी नस्ल के दुधारू पशुओं पर ध्यान दिया जा रहा है ऐसे में राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के तहत सरकार द्वारा देशी नस्ल के दुधारू पशुओ को संरक्षण देने के लिए कार्ययोजना बनायीं गयी है।

Rashtriya Gokul Mission 2023 , से सरकार द्वारा दुधारू पशुओं की नस्ल सुधार करके उनकी दूध उत्पादन क्षमता को बढ़ाया जा रहा है ताकि देश में दूध की बढ़ती डिमांड को पूरी करने के साथ-साथ डेरी उत्पादन को भी बढ़ावा दिया जा सके। सरकार द्वारा अब इस योजना का दायरा बढ़ाते हुए इसे वर्ष 2026 तक जारी रखने का फैसला लिया है साथ ही इसके लिए सरकार द्वारा 2400 करोड़ रुपए का बजट भी जारी किया गया है।

Rashtriya Gokul Mission 2023, Highlights

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के तहत मुख्य बिंदुओं को नीचे दी गयी टेबल के माध्यम से दर्शाया गया है।

योजना का नाम राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023
उद्देश्य भारतीय नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा देना
शुरू की गयी केंद्र सरकार देश
लाभ देश नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा मिलेगा, दुग्ध उत्पादन में वृद्धि
लाभार्थी पूरे देश के पात्र नागरिक
मुख्यवैज्ञानिक विधि द्वारा अनुवांशिकी में सुधार कर उच्च-नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा
क्रियान्वयन विभाग मत्स्यपालन,पशुपालन और डेयरी विभाग
भागराष्ट्रीय पशुधन विकास योजना के तहत संचालित
आधिकारिक वेबसाइट https://dahd.nic.in/

Rashtriya Gokul Mission उद्देश्य

केंद्र सरकार द्वारा देश के देशी नस्ल के दुधारू पशुओ को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय गोकुल मिशन की शुरुआत वर्ष 2014 में की गयी थी। इसके तहत सरकार द्वारा देशी नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा देने और इनके संरक्षण के लिए विभिन कार्यक्रम संचालित किये जा रहे है साथ ही इनके संवर्धन और दुग्ध उत्पादन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए इनकी अनुवांशिकी में भी सुधार किया जा रहा है। इसके तहत सरकार द्वारा वर्ष 2026 तक के लिए 2400 करोड़ रुपए का बजट जारी किया गया है।

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 केंद्र सरकार द्वारा संचालित अम्ब्रेला स्कीम राष्ट्रीय पशुधन विकास योजना के तहत संचालित की जा रही है जिसके तहत सरकार द्वारा दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के साथ-साथ उच्च नस्ल के दुधारू पशुओ को बढ़ावा देना भी है ताकि वे ना सिर्फ देश की बढ़ती दूध की मांगो को पूरा कर सके बल्कि उनमे रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी उच्च किस्म की हो। इस योजना से किसानो की आय भी बढ़ेगी साथ ही में देश में डेयरी सेक्टर की भी बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा इससे देश की महिलाओ को आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी क्यूंकि देश में दुधारू पशुओं के पालन में महिलाओं की भागीदारी 70 फीसदी है।

योजना के लाभ

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के तहत सरकार द्वारा किसानो और आर्थिक रूप से कमजोर पशुपालक परिवारों को शामिल किया गया है ताकि उन्हें दुधारू पशुओ के पालन को बढ़ावा दिया जा सके जिससे उनकी आय में वृद्धि होगी। इसके मुख्य लाभ इस प्रकार है।

  • घरेलू नस्ल के दुधारू पशुओं का संरक्षण और संवर्धन किया जायेगा जिससे उन्हें बढ़ावा मिलेगा।
  • आधुनिक तकनीकों का उपयोग करके उच्च-नस्ल के पशुओ को कृत्रिम गर्भाधान द्वारा बढ़ावा दिया जायेगा।
  • घरेलू नस्ल के पशुओं की नस्ल में अनुवांशिकी द्वारा सुधार कर इनकी नस्ल को बेहतर बनाया जायेगा।
  • उच्च-नस्ल के पशुओ द्वारा दूध उत्पादन में वृद्धि होगी जिससे किसानो की आय दुगुनी होगी।
  • देश में दूध डिमांड को पूरा किया जा सकेगा साथ ही डेयरी सेक्टर को भी बढ़ावा मिलेगा।
  • योजना के संचालन में गोपाल-ग्रामों की स्थापना की जाएगी जिससे लोग भी दुधारू पशुपालन हेतु प्रोत्शाहित होंगे।
  • स्वदेशी नस्ल के पशुओ को बढ़ावा मिलने से लोगो को उच्च-क्वॉलिटी का दूध भी प्राप्त होगा।
  • चूँकि देश में पशु-पालन में 70 फीसदी कार्यशक्ति महिलाओं की है इसलिए इस मिशन से महिलाओ की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।

ये है आवश्यक पात्रताएं

Rashtriya Gokul Mission 2023 के तहत सरकार द्वारा निम्न पात्रताएं निर्धारित की गयी है। अगर आप इन मानकों को पूरा करते है तो ही इस योजना में आवेदन कर सकते है।

  • आवेदक को भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक दुधारू पशुपालक या छोटी जोत से सम्बंधित किसान ही होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए तभी वह इस योजना में आवेदन का पात्र है।
  • सिर्फ वही लोग इस योजना में आवेदन कर सकते है जो सरकार द्वारा निर्धारित की गयी पात्रताओं को पूरा करते है।

ये है जरूरी दस्तावेज

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के तहत आवेदन करने के लिए आवेदकों के लिए जरुरी दस्तावेजो की सूची इस प्रकार है।

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • इनकम सर्टिफिकेट
  • आयु प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023, ऐसे करे आवेदन

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के क्रियान्वयन के लिए सरकार द्वारा राज्यों के पशुधन विकास विभाग, राज्य दुग्ध संघ और पशुधन से सम्बंधित अन्य एजेंसीज को अधिकृत किया गया है। इस योजना में आवेदन करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करे।

  • सबसे पहले सरकार द्वारा अधिकृत एजेंसी जैसे पशुधन विभाग या डेरी विभाग द्वारा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त कर ले।
  • इसके बाद फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारिया अच्छे से दर्ज करे।
  • साथ ही माँगे गए सभी जरूरी दस्तावेजों को भी संलग्न कर दे।
  • इसके बाद आप इस फॉर्म को सम्बंधित विभाग में जमा कर सकते है।

इन आसान से स्टेप्स से आप राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के अंतर्गत आवेदन कर सकते है। आप चाहे तो सरकार द्वारा अधिकृत एजेंसियो के अधिकारियो के माध्यम से भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।

Rashtriya Gokul Mission कार्यसंचालन

राष्ट्रीय गोकुल मिशन 2023 के तहत सरकार द्वारा योजना सञ्चालन के लिए क्रियान्वयन समितियों Implementing Agencies (IAs) के माध्यम से योजना को पूरे देश में संचालित किया जा रहा है। इसके लिए सरकार द्वारा भारतीय नस्ल के पशुओ को बढ़ावा देने, कृत्रिम गर्भाधान केंद्र, स्किल डेवलपमेनट, किसान जागरूकता और खोज और अनुसंधान जैसे कार्यक्रमों पर ध्यान दिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सरकार द्वारा IVF माध्यम से पशु गर्भाधान करवाने पर किसान को 5000 रुपए की आर्थिक सहायता भी दी जाती है। इस योजना में ब्रीड मल्टीपिकेशन फार्म  (Breed multiplication farm) के तहत भी आर्थिक सहायता का प्रावधान रखा गया है।

राष्ट्रीय गोकुल मिशन से सम्बंधित महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब (FAQ)
राष्ट्रीय गोकुल मिशन क्या है ?

राष्ट्रीय गोकुल मिशन केंद्र सरकार द्वारा देश में भारतीय नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा देने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ाने के लिए शुरू की गयी है। इसके तहत सरकार द्वारा पशुपालको और किसानो को शामिल किया गया है।

इस योजना से क्या लाभ होगा ?

इस योजना से सरकार द्वारा देशी नस्ल के दुधारू पशुओं को बढ़ावा दिया जायेगा जिससे की दूध उत्पादन में वृद्धि होगी साथ ही अनुवांशिकी द्वारा पशुओं की उच्च-नस्ल का विकास किया जायेगा। इस योजना के द्वारा महिलाओं की आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी।

राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत आवेदन करने का प्रॉसेस क्या है ?

इस योजना में आवेदन करने के लिए आर्टिकल में दिए गए स्टेप्स को फॉलो करे। इन चरणों को फॉलो करके आप आसानी से राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत आवेदन कर सकते है।

योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

राष्ट्रीय गोकुल मिशन की आधिकारिक वेबसाइट https://dahd.nic.in/ है। इस वेबसाइट के माध्यम से योजना सम्बंधित अन्य जानकारियाँ भी प्राप्त की जा सकती है।

Leave a Comment

Join Telegram