PPT Full Form in Hindi – पीपीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

PPT Full Form in Hindi :- पीपीटी का फुल फॉर्म पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन है। पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन को प्रतिपादन के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जो आमतौर पर कॉर्पोरेट मीटिंग्स में शैक्षिक उद्देश्यों जैसे प्रशिक्षण, इंडक्शन आदि के लिए उपयोग किया जाता है और यहां तक ​​कि छात्रों द्वारा अपने हाई स्कूल, कॉलेज प्रोजेक्ट और असाइनमेंट बनाने के लिए भी उपयोग किया जाता है और ये व्यक्तिगत सोर्सिंग और संयोजन द्वारा तैयार किए जाते हैं। MS PowerPoint सॉफ़्टवेयर की सहायता से एक साथ स्लाइड करता है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से पीपीटी पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन से संबंधी जानकारी को साझा करने जा रहे है। अतः PPT से संबंधी सभी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

PPT Full Form in Hindi – पीपीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?
PPT Full Form in Hindi – पीपीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीपीटी क्या है ? What is PPT?

PPT का पूरा नाम Powerpoint Presentation है जिसे हिंदी में पावरप्वाइंट प्रस्तुति के नाम से जाना जाता है। यह एक सॉफ्टवेयर माइक्रोसॉफ्ट का महत्वपूर्ण भाग है। यह फाइल को टेक्स्ट इमेज, शेप आदि की सहायता से किसी वस्तु या विषय को समझाने के लिए बनाया जा सकता है। Powerpoint में PPT फाइल को Impressive बनाने के लिए हमे कई डिवाइस दिए जाते है। जिससे कोई भी व्यक्ति एक बेहतर पीपीटी पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन को तैयार कर सकते है। पावर पॉइंट के आलावा पीपीटी फाइल को अनेक सॉफ्टवेयर के साथ एडिट किया जा सकता है।

डीएम का फुल फॉर्म क्या होता है

पीपीटी के कार्य

पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है और वह भी कई तरह से कंपनियों, शैक्षणिक संस्थानों और सरकारी संस्थानों द्वारा एक डिजिटल स्लाइड-शो की पेशकश के उद्देश्य से जो और भी आकर्षक है और नियोजित श्रोतागणों को Desired संदेश के साथ सही ढंग से वितरित करने में मदद करता है। और वह जानकारी जो भिन्न प्रकार से वास्तविक में कठिन होती है। पीपीटी एक प्रस्तुति को बढ़ाने में मदद करता है, और यही कारण है कि प्रस्तुतकर्ता अक्सर अन्य उपलब्ध विकल्पों पर इन्हें पसंद करते हैं। पीपीटी का कार्य images या graphs को प्रदर्शित करना और महत्वपूर्ण पहलुओं और विगत संदेश पर श्रोतागण का ध्यान Attracted करना है।

पीपीटी के Parts (PPT Full Form in Hindi – पीपीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?)

पीपीटी के मुख्य भाग इस प्रकार निम्नवत हैं।

  • Customizable Slides – यह पावरपॉइंट प्रस्तुति की सबसे अच्छी विशेषताओं में से एक है। यह अनुकूलन योग्य स्लाइड के साथ आती है। यह टेम्पलेट कि रंग योजनाओं के साथ जो पूर्व निर्धारित हैं लेकिन उन उपयोगकर्ताओं द्वारा भी अनुकूलित किया जा सकता है जो अपने व्यक्तिगत विषयों के साथ आने के तत्पर हैं। उपयोगकर्ता अपनी स्लाइड में ध्वनियाँ, एनिमेशन, पूर्व-रिकॉर्डेड विवरण आदि भी जोड़ सकते हैं ताकि उसमें आकर्षक Factor उत्पन हो सके जिससे सूचित दर्शकों की पूर्ति हो सके।
  • Mobile-Friendly – पॉवरपॉइंट प्रेजेंटेशन अब मोबाइल फ्रेंडली भी हो गए हैं। पहले पीपीटी केवल कंप्यूटर और लैपटॉप के लिए थे, लेकिन डिजिटलीकरण और स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं की बढ़ती संख्या के साथ, वे अब विंडोज, iOS और android के साथ-साथ टैबलेट उपयोगकर्ताओं के लिए विभिन्न ऐप हैं, जो पीपीटी को स्मार्टफोन पर भी एक्सेस करने योग्य बनाता है। इसका मतलब यह है कि उपयोगकर्ता डेस्कटॉप या लैपटॉप तक बिना पहुंचे ही जहां चाहें पीपीटी का उपयोग कर सकते हैं। सॉफ्टवेयर अब एक ही समय में पोर्टेबल और समान रूप से कार्यात्मक है, जो प्रस्तुतकर्ताओं को targeted दर्शकों के सामने संबोधित करने से पहले पीपीटी बनाने और Rehearsal करने में सक्षम बनाता है।
  • Focused Presentation-पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन की एक और सबसे अच्छी विशेषता यह है कि यह फोकस्ड प्रेजेंटेशन को सक्षम बनाता है जहां यूजर target audience के सामने बहुत आसानी से आत्मविश्वास के साथ विचारों और स्वरुप को सामने रख सकते हैं। प्रोजेक्टर पीपीटी को बड़ी स्क्रीन पर प्रदर्शित करता है जबकि presenter अपने नोट्स और अगली स्लाइड्स को अपने लैपटॉप पर देख सकता है।
  • Important Points-के माध्यम से प्रस्तुतकर्ता, पीपीटी की सहायता से, दर्शकों का प्रतिनिधित्व करते समय महत्वपूर्ण तथ्यों पर बल दे सकते हैं। प्रस्तुतकर्ता एप्लिकेशन की ज़ूम सुविधा का उपयोग करके ज़ूम आउट कर सकते हैं और जहां कहीं भी आवश्यक हो, segment पर ज़ूम इन करके लक्षित दर्शकों के लिए अपनी प्रस्तुतियों को अधिक दिलचस्प और मनमोहक बना सकते हैं।
  • Shared Projects– के अंतर्गत उपयोगकर्ता अपने पीपीटी को save कर सकते है। Shared Projects अन्य उपयोगकर्ताओं के खाते को सुगम बनाने में मदद करता है। प्रस्तुतकर्ता अपने पीपीटी को क्लाउड के माध्यम से भी Share कर सकते हैं, जहां वे अपने सहयोगियों के साथ उसी के लिंक को शेयर कर सकते हैं।

पीपीटी के उपयोग

  • Making Tutorials– के अंतर्गत छात्रों, कर्मचारियों और प्रशिक्षुओं को प्रशिक्षित और शिक्षित करने के लिए दुनिया भर में पीपीटी का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। पीपीटी का उपयोग ट्यूटोरियल और वर्कशीट तैयार करने के उद्देश्य से किया जाता है। इन ट्यूटोरियल्स को प्रिंट भी किया जा सकता है और भविष्य के संदर्भ के लिए छात्रों को प्रदान किया जा सकता है।
  • Digital Portfolio– के तहत पीपीटी artists को एक पेशेवर डिजिटल पोर्टफोलियो बनाने में मदद कर सकते हैं जहां वे अलग-अलग स्लाइड का उपयोग कर सकते हैं जिसमें उनके काम को प्रदर्शित करने के लिए ग्राफिक्स और images शामिल हैं। डिजिटल पोर्टफोलियो कलाकारों को अपने ग्राहकों के साथ ईमेल के माध्यम से इसे साझा करने में भी सक्षम बनाएगा।
  • Slide Show of Photos– के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को भी फ़ोटो का एक स्लाइड शो के लिए PPTs उपयोग कर सकते हैं, इस स्लाइड के तहत वह एक साथ क्लब और एक डिजिटल एल्बम बना सकते हैं और स्वयं को बढ़ावा देने जैसे उद्देश्यों के लिए ही उपयोग कर सकते हैं।
  • Creating Animation-उपयोगकर्ता पीपीटी की मदद से एनिमेशन भी बना सकते हैं और ध्वनि, संगीत और अपनी पसंद के impacts को भी जोड़कर इसे और अधिक Specific बना सकते हैं।

Features of PPT पीपीटी की विशेषताएँ

  • Slide
  • Design Template
  • Picture
  • Shapes
  • Animation
  • Video
  • Transition

पीपीटी कैसे बनाये ?

  • PPT बनाने के लिए व्यक्ति को अपने Pc में Microsoft Power point को ओपन करना होगा।
  • अगले पेज में व्यक्ति को नई फाइल का चुनाव करने के लिए blanck Presentation के ऑप्शन में क्लिक करना है।
  • इसके पश्चात design template नई प्रस्तुति संवाद बॉक्स में, “डिजाइन टेम्पलेट पर क्लिक करना है।
  • अब व्यक्ति इस बॉक्स में अपने पसंद की डिजाइन को चुन सकते है।
  • slide design का चयन करने के बाद व्यक्ति को New Presentation” Dialog Box में “Color Schemes” का चयन करना है।
  • इस टेम्पलेट के लिए अपनी पसंद के रंग का चुने।
  • इसके पश्चात व्यक्ति को text add करने के लिए Click To Add Content के ऑप्शन का चयन करना है।
  • इस ऑप्शन का चयन करने के बाद आप इमेज भी ऐड कर सकते है।
  • इसके बाद new window खुल जाएगी। यहाँ picture को ब्रॉउज किया जा सकता है। ब्राउज करने के बाद पिक्चर में क्लिक करना है करना है। इसके पश्चात insert के विकल्प को चुने।
  • picture में क्लिक करते ही picture का आकार बदल जायेगा।
  • अब आपको picture के पास में दिए गए छोटे छोटे बॉक्स में क्लिक करना है।
  • इसके बाद अपनी इच्छा के अनुसार picture को ड्रैग करें।
  • सभी प्रक्रिया पूरी होने के पश्चात पॉवरपॉइंट प्रेजेंटेशन बनाने के बाद file को सेव करें।
  • इस तरह से पीपीटी तैयार हो जाएगी।

PPT की अन्य Full Forms – पीपीटी के अन्य फुल फॉर्म PPT Full Form

  • PPT – Parts Per Thousand
  • PPT – Program Performance Test
  • PPT – Power Point Presentation
  • PPT – People Process Technology
  • PPT – Planning And Placement Team
  • PPT – Post Production Test
  • PPT – Pre Placement Talk
  • PPT – Probabilistic Polynomial Time
  • PPT – Pulsed Plasma Thruster
  • PPT – Project Progress Tracking
  • PPT – Program Planning Team
  • PPT – Processing Program Table
  • PPT -Parts Per Trillion
  • PPT – Production Prove-Out Test

PPT Full Form in Hindi – पीपीटी का फुल फॉर्म से संबंधित प्रश्न उत्तर

पीपीटी का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीपीटी का फुल फॉर्म पावरपॉइंट प्रेजेंटेशन है।

PPT कैसे बनाया जाता है ?

माइक्रोसॉफ्ट के ऑफिस सॉफ्टवेयर से PPT बनाया जाता है।

PowerPoint Presentation को हिंदी में क्या कहा जाता है ?

PowerPoint Presentation को हिंदी में पावर पॉइंट प्रदर्शन कहा जाता है।

पीपीटी के उपयोग किस प्रकार किये जाते है ?

ट्यूटोरियल बनाना , डिजिटल पोर्टफोलियो ,तस्वीरों का स्लाइड शो ,एनिमेशन बनाने के लिए पीपीटी का उपयोग किया जाता है।

यह भी जानें :-

Leave a Comment