PG Full Form – पीजी का फुल फॉर्म क्या है?

आजकल के समय में हर एक व्यक्ति एजुकेटेड है शिक्षा का स्तर बहुत ही उच्च है। भविष्य में अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए लोग अनेक प्रकार के कोर्स करते है ,जिससे उनकी एजुकेशन भी पूरी हो जाये और साथ ही साथ अच्छी नौकरी प्राप्त कर सके। पीजी शब्द तो आपने बहुत लोगो से सुना ही होगा आखिर पीजी होता क्या है। अधिकतर छात्र-छात्राए एजुकेशन पूरी करने के लिए पीजी क्यों करते है, पीजी पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है ग्रेजुएशन की शिक्षा पूरी करने के बाद विद्यार्थी पोस्ट ग्रेजुएशन करते है। आज हम आपको बताने जा रहे है पीजी क्या होता है, पीजी की फुल फॉर्म (PG Full Form) क्या होती है, कितनी अवधि का होता है किन किन विषयो से आप पीजी कर सकते है।

डीएमएलटी का फुल फॉर्म क्या है | DMLT (डीएमएलटी) कोर्स क्या होता है

PG Full Form - पीजी का फुल फॉर्म क्या है?

पीजी करने के लिए बेस्ट कॉलेज कौन-कौन से है पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए छात्र -छात्राओ को एडमिशन किस बेसेस पर दिया जाता है। तो आइये जानते है पीजी से सम्बंधित सभी जानकारी अगर आप भी जानने के इच्छुक है तो आप हमारे साथ आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहे जिससे आपको जानकारी मिल सके और आप अगर करे तो आपको इस विषय में जानकारी रहे ,साथ ही साथ आप जानकारी दूसरे के साथ सांझा कर सके।

पीजी की फुल फार्म – PG Full Form

पीजी का पूरा नाम पोस्ट ग्रेजुएशन है पोस्ट ग्रेजुएशन को हिंदी में स्नातककोर कहा जाता है ग्रेजुएशन करने के बाद किया जाता है। पोस्ट ग्रेजुएशन किया जाता है पोस्ट ग्रेजुएशन को मास्टर डिग्री होती है पीजी करने के बाद आप एक अच्छी जॉब भी कर सकते है।

  • P – Post (पोस्ट)
  • G – Graduate (ग्रेजुएट)

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कौन कौन कर सकते है

सभी ग्रेजुएटेड स्टूडेंट्स पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते है अगर आपने किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया है तो आप पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए आप आसानी से अप्लाई कर सकते है।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लाभ

आइये अब हम आपको बताने जा रहे है पोस्ट ग्रेजुएशन करने के क्या क्या लाभ है अगर आप भी जानने के इच्छुक है तो नीचे दी गए प्वाइंट्स को ध्यानपूर्वक देखे जिससे आपको जानकारी मिल सके।

  • ग्रेजुएशन करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन करने से आपकी एजुकेशन की वेल्यू बढ़ जाती है।
  • पोस्ट करने के बाद आपको अच्छे जॉब के अवसर मिलते है और आप एक अच्छी जॉब सकते है।
  • पीजी करने के बाद आप पीएचडी भी कर सकते है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आप बीएड भी कर सकते है।
  • पीजी करने के बाद एजुकेशन के बेसेस पर आपको सैलरी अच्छी दी जाती है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन होने की वजह से आप किसी भी कम्पनी में इंटरव्यू के दौरान आप हाई सैलरी की डिमांड रख सकते है।

इस प्रकार के लाभ आपको पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद मिलते है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स की समयावधि

पोस्ट ग्रेजुएशन को मास्टर डिग्री कहते है पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स 2 साल का होता है 2 साल के अंतराल मेंआपकी ,मास्टर डिग्री कम्प्लीट हो जाती है।

Post Graduation Course

पोस्ट ग्रेजुएशन के अंतर्गत कौन कौन से कोर्स आते है पोस्ट ग्रेजुएशन के अंतर्गत आने वाले कोर्सो की जानकारी के लिए नीचे दी गयी है जानने के लिए नीचे दी गयी लिस्ट को जरूर देखे।

  • मास्टर आफ आर्ट्स
  • मास्टर ऑफ लॉ इन साइबर लॉ एन्ड एलएलएम
  • मास्टर ऑफ़ साइंस
  • मास्टर इन होटल मैनेजमेंट ट्यूरिज्म
  • मास्टर ऑफ़ हेल्थ साइंस
  • मास्टर ऑफ आर्किटेक्चर
  • मास्टर आफ ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • मास्टर आफ ट्यूरिज्म एडमिनिस्ट्रेशन
  • मास्टर आफ लाइब्रेरी साइंस
  • मास्टर आफ कम्युनिकेशन जर्नलिस्म
  • मास्टर आफ ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • मास्टर आफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन आदि

मास्टर डिग्री किन किन सब्जेक्ट्स से कर सकते है।

आप मास्टर डिग्री करने के लिए किन किन सब्जेक्ट्स से कर सकते है।

  • केमिस्ट्री
  • बॉटनी
  • जियोलॉजी
  • मेथ्स
  • इकोनॉमिक्स
  • हिस्ट्री
  • पोलटिकल
  • हिंदी
  • इंग्लिश
  • हिस्ट्री
  • जियोग्राफी
  • योगा आदि।

इन इन सब्जेक्टो से आप पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते है अगर आप भी मास्टर डिग्री लेना चाहते है तो आप इन- इन विषयो से मास्टर डिग्री आसानी से ले सकते है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कहाँ से कर सकते है

अब हम आपको बताने जा रहे है पोस्ट ग्रेजुएशन आप कहाँ से कर सकते है।

  • पोस्ट ग्रेजुएशन आप किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ले सकते है।
  • अगर पीजी के साथ साथ जॉब करते है तो आप इस स्थिति में आप ओपन यूनिवर्सिटी से आप पीजी कर सकते है यह आपके लिए एक बेहतरीन ऑप्शन है।

पीजी करने के बाद नौकरी के अवसर

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट आफिस में नौकरी कर सकते है पीजी करने के बाद आप किसी भी प्राइवेट स्कूल में टीचर की जॉब कर सकते है।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए एडमिशन किस बेसेस पर होता है

फॉर्म अप्लाई करने के बाद स्टूडेंट्स की मेरिट लिस्ट लगवाई जाती है मेरिट लिस्ट के बेसेस में जिन छात्र छात्राओं को नाम आता है उन्हें पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन दिया जाता है किसी- किसी कॉलेज में छात्र छात्राओं के इंट्रेंस एग्जाम करवाये जाते है और इंट्रेंस एग्जाम के बेसेस पर मेरिट लिस्ट बनाई जाती है उस आधार पर पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए छात्र छात्राओं को एडमिशन दिया जाता है।

मास्टर डिग्री करने के लिए बेस्ट कॉलेज के नाम की जानकारी

अब हम आपको मास्टर डिग्री करने के लिए बेस्ट कॉलेजेस की लिस्ट बताने जा रहे है आप इन कॉलेजेस में दाखिला ले सकते है।

  • इंडियन इंस्टीटयूड आफ टेक्नोलॉजी दिल्ली खरकपुर रूडकी
  • मणिपाल कॉलेज आफ डेंटल साइंस
  • इंस्टीटयूड ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग एंड न्यूट्रिशन
  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमेन
  • इण्डियन इंस्टीटयूड ऑफ़ मास कॉम्युनिकेशन
  • टाटा इंस्टीटयूड ऑफ मेडिकल साइंस
  • नेशनल लाव स्कूल ऑफ़ इण्डिया यूनिवर्सिटी
  • ऑल इण्डिया इंस्टीटयूड ऑफ मेडिकल साइंस
  • श्री राम कॉलेज आफ कॉमर्स
  • नेशनल इंस्टीटयूड ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी

PG की अन्य फुल फॉर्म की जानकारी

  • पीजी -पेइंग गेस्ट
  • पीजी -पर्शनल गारंटी
  • पीजी -प्रोपलीन ग्लाइकोज

पीजी – पेइंग गेस्ट – पीजी का प्रयोग अधिकतर स्टूडेंट्स करते है जो शिक्षा लेने के लिए घर से दूर रहते है पेइंग गेस्ट रूम होता है जिसमे पीजी में रहने वाले स्टूडेंट्स को खाने -पीने रहने की सुविधा प्रदान की जाती है साथ ही साथ आपको पीजी का किराया मंथली देना पड़ता है।

PG -पर्सनल गारंटी होता है पर्सनल गारंटी बैंकिंग के फील्ड से सम्बंधित है।

पीजी – प्रोपलीन ग्लाइकोज एक केमिकल है। प्रोपलीन ग्लाइकोज का प्रयोग को कॉस्मेटिक में उपयोग किया जाता है। अधिकतर कॉस्मेटिक में प्रोपलीन ग्लाइकोज का यूज होता है जैसे- सीरम ,कोल्ड क्रीम आदि लेकिन प्रोपलीन ग्लाइकोज के कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है।

आशा करते है आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको काफी पसंद आयी होगी।आर्टिकल के माध्यम से आपको सभी जानकारी मिली होगी ,आपको पता चल ही गया होगा पीजी की फुल फॉर्म क्या होती है। अगर आप इस आर्टिकल से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप हमे कमेंट सेक्शन में जरूर बताये जिससे आपको जानकारी मिल सके।

PG Full Form से जुड़े सम्बंधित प्रश्न उत्तर

पीजी की फुल फॉर्म क्या है

पीजी का पूरा नाम पोस्ट ग्रेजुएशन है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कौन कौन कर सकता है ?

ग्रेजुएशन करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन की जाती है।

पीजी किन किन विषयो से की जाती है ?

केमिस्ट्री, बॉटनी, जियोलॉजी, मेथ्स, इकोनॉमिक्स हिस्ट्री, पोलटिकल, हिंदी, इंग्लिश, हिस्ट्री, जियोग्राफी, योगा आदि विषयो से की जाती है।

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए आपकी पर्सेंटेज कितनी होनी चाहिए ?

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए आपकी कम से कम 50 प्रतिशत होनी आवश्यक है जिससे आप पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकेंगे।

पीजी की अन्य फुल फार्म क्या है ?

पीजी की अन्य फुल फॉर्म पेइंग गेस्ट,पर्शनल गारंटी,प्रोपलीन ग्लाइकोज है।

पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन किस बेसेस पर किया जाता है ?

पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन मेरिट बेसेस पर या इंट्रेंस एग्जाम के मेरिट पर किया जाता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स कितने वर्षो का होता है ?

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स 2 वर्ष का होता है। 2 वर्षो के अंतराल में आपकी पोस्ट ग्रेजुएशन पूरी की जाती है।

यह भी पढ़े :-

Leave a Comment