(PKVY) परम्परागत कृषि विकास योजना 2021: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन

परम्परागत कृषि विकास योजना की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा देश के सभी किसानों को ध्यान में रखकर लायी गयी है। ये योजना Soil Health Management Scheme का एक भाग है जिस के माध्यम से देश के सभी किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। इस के लिए सरकार किसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। इस योजना में कृषि के विकास हेतु पारम्परिक ज्ञान और आधुनिक विज्ञान के माध्यमों के मिश्रण से जैविक खेती के एक स्थायी मॉडल की स्थापना करने का प्रयास किया जाएगा। आज इस लेख में हम आप को परम्परागत कृषि विकास योजना के बारे में बताएंगे। योजना से होने वाले लाभ और इसकी विशेषताएं , इसमें पंजीकरण और इस हेतु दस्तावेज़ इत्यादि के बारे में जानकारी देंगे। कृपया जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

परंपरागत कृषि विकास योजना

परम्परागत कृषि विकास योजना 2021

जैसे की अभी हमने जाना की Paramparagat Krishi Vikas Yojana के माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। जैविक खेती को करने के लिए किसानों को 36 माह / 3 वर्ष के लिए 50000 रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। आप को बता दें की इनमे से 31000 रूपए प्रति हेक्टेयर जैविक कीटनाशक , जैविक उर्वरक और बीजों के लिए प्रदान किये जाते हैं। मूल्यवर्धक और विपरण के लिए 8800 रूपए प्रति हेक्टेयर प्रदान किया जाएगा। योजना के लिए 4 वर्षों में लगभग 1197 करोड़ रूपए की धनराशि खर्च की जा चुकी है।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2021 highlights

योजना का नाम परम्परागत कृषि विकास योजना
सम्बंधित विभाग /मंत्रालय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय , भारत सरकार
उद्देश्य जैविक खेती को बढ़ावा देने हेतु आर्थिक सहायता करना
लाभार्थी देश के किसान
योजना का प्रकार केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित
वर्तमान वर्ष 2021
आधिकारिक वेबसाइट https://pgsindia-ncof.gov.in/

परम्परागत कृषि विकास योजना का उद्देश्य

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2021 को केंद्र सरकार ने होने देश के कृषि क्षेत्र और सभी किसानों की बेहतरी के लिए लाया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार किसानो को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेगी। जैविक खेती से मिटटी की उर्वरता बढ़ती है। अच्छी गुणवत्ता वाली मिटटी के लिए किसानों को अतिरिक्त रसायन या कीटनाशकों का इस्तेमाल करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी । इस से जो भी उत्पादन होगा वो रसायन और कीटनाशक मुक्त होगा। साथ ही स्वास्थ्य के लिए सबसे उत्तम और पौष्टिक होगा।

इस योजना के माध्यम से सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल करेगी। जैविक कृषि प्रणालियों के इस्तेमाल से किसानों की लागत कम करने का प्रयास किया जाएगा जिस से उनकी शुद्ध आय में बढ़ोतरी हो।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2021 benefits

  • इस योजना के माध्यम से सभी किसान जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित होंगे
  • PKVY के माध्यम से मिट्टी की गुणवत्ता अच्छी होगी और उर्वरता बढ़ेगी।
  • कृषि क्षेत्र में इस योजना के माध्यम से किसानो की आय भी बेहतर होगी।
  • इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि सीधे किसानों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से जाएगी।
  • 31 हज़ार रूपी की धनराशि जैविक उर्वरकों , बीजों और कीटनाशकों हेतु किसानों को प्रदान की जाएगी।
  • 8800 रूपए मूल्यवर्धन एवं वितरण के लिए प्रदान किये जाएंगे।

PKVY की पात्रता और दस्तावेज़

इस योजना का लाभ लेने के लिए आप को PKVY में आवेदन करना होगा। इस के लिए आप को योजना के तहत निर्धारित कुछ पात्रता शर्तें और दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। हम आगे इस बारे में आप को जानकारी दे रहे हैं। कृप्या आवेदन से पूर्व आप इस जानकारी को अवश्य पढ़ लें।

  • योजना के तहत आवेदन करने वाला किसान वर्ग से ही होना चाहिए।
  • आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  • इस योजना में आवेदन करने वाले की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाइये।

दस्तावेज़ :

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र / जन्म प्रमाण पत्र
  • पससपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक खाता विवरण

परम्परागत कृषि विकास योजना में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

PKVY योजना के तहत लाभ लेना चाहते हैं तो आप को इस योजना में पंजीकरण करवाना होगा। इस योजना में पंजीकरण के लिए आप नज़दीकी कृषि कार्यालय में संपर्क करें। इस के अतिरिक्त आप आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से संपर्क करें / contact us के माध्यम से भी पंजीकरण सम्बन्धी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं ।

योजना से सम्बंधित जानकारी के लिए आप को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आगे हम आप को परम्परागत कृषि विकास योजना के बारे में जानकारी देखने की प्रक्रिया बताएंगे। कृपया आप नीचे दिए गए कुछ सरल से स्टेप्स को फॉलो कर के इस योजना से सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • योजना के बारे में जानकारी के लिए आप को सबसे पहले परम्परागत कृषि विकास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। डायरेक्ट लिंक के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं।
  • दिए गए लिंक पर क्लिक करते ही आप आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • होम पेज पर आप को “About PKVY “ पर क्लिक करना होगा। परम्परागत कृषि विकास योजना
  • आप के सामने ड्राप डाउन मेनू में इस परम्परागत कृषि विकास योजना की जानकारी से सम्बन्धित कई विकल्प दिखेंगे।
  • आप इन विकल्पों पर क्लिक करके सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

PKVY पोर्टल पर लॉगिन

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2021 के तहत निर्धारित पोर्टल पर लॉगिन करने के लिए हम यहाँ पूरी प्रक्रिया बता रहे हैं। लॉगिन करने के लिए आप यहाँ बतायी गयी प्रक्रिया को फॉलो कर सकते हैं।

  • सबसे पहले योजना के तहत बनी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ।
  • आप की सुविधा के लिए हमने डायरेक्ट लिंक अपने लेख में उपलब्ध कराया है।
  • लिंक पर क्लिक करते ही आप के सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आप को दाहिने तरफ login का विकल्प दिखाई देगा।
  • इस विकल्प पर क्लिक करते ही आप के सामने लॉगिन सेक्शन खुल जाएगा।
  • यहाँ आप को पूछी गयी जानकारी भरनी होगी। यहाँ आप आवश्यक जानकारी जैसे की यूजर नेम , पासवर्ड और कैप्चा कोड भरेंगे। अंत में आप को लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस तरह से आप की लॉगिन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

संपर्क विवरण देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आप को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे। यहाँ आप दाहिने तरफ contact us के विकल्प को देख सकते हैं ।
  • इस के बाद आप के सामने अगला पेज खुलेगा। यहाँ आप को विभिन्न राज्यों के कॉन्टेक्ट्स डिटेल देखाई देंगे। आप इनमे से अपने राज्य से संबंधित संपर्क विवरण देख सकते हैं। pkvy-yojana

परम्परागत कृषि विकास योजना से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

Paramparagat Krishi Vikas Yojana 2021 क्यों शुरू की गयी ?

इस योजना की शुरुआत किसानों को जैविक खेती करने के लिए प्रोत्साहित की गयी है। जिस से मिटटी की गुणवत्ता बेहतर हो सके और बिना किसी रासायनिक कीटनाशक का इस्तेमाल किये उत्पादकता बढ़ सके। इस से जो भी उत्पादन होगा वो पौष्टिक और रसायन मुक्त होगा।

PKVY के लिए कौन से दस्तावेज़ चाहिए ?

मूल निवास प्रमाण पत्र , आधार कार्ड, राशन कार्ड ,जन्म प्रमाण पत्र ,मोबाइल नंबर, आय प्रमाण पत्र ,आयु प्रमाण पत्र / जन्म प्रमाण पत्र , पससपोर्ट साइज फोटो ,बैंक खाता विवरण जैसे दस्तावेज़ों की आवश्यकता होगी।

इस योजना के तहत कौन सी पात्रता शर्तें रखी गयी हैं ?

आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए।आवेदक की उम्र 18 वर्ष से अधिक होनी चाइये। योजना के तहत आवेदन करने वाला किसान वर्ग से ही होना चाहिए।

परम्परागत कृषि विकास योजना से क्या लाभ हैं ?

इस योजना के माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा मिलेगा और कृषि में होने वाली उत्पादकता भी बढ़ेगी। जो भी उत्पादन होगा वो रसायन मुक्त होगा और खाने में पौष्टिकता भी रहेगी। इसके अतिरिक्त इस से किसानों की आय में भी बढ़ोतरी होगी।

Leave a Comment