NSS Full Form in Hindi – एनएसएस क्या है

मित्रों नमस्कार, दोस्तों आप सब पाठकों में से किसी न किसी ने अपने कॉलेज या स्कूल में NSS के द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों में हिस्सा लिया होगा। आज का आर्टिकल हम उन लोगों के लिए लेकर आए हैं जो National Service Scheme के बारे में नहीं जानते हैं या उन्हें इसके बारे में बहुत कुछ थोड़ी जानकारी है। आपको बता दें की NSS एक समाज सेवी शैक्षिक संगठन है जिसके द्वारा देश के विश्वविद्यालयों और स्कूलों में अनेक प्रकार जागरूक अभियानों को आयोजित कर युवाओं को समाज में उनके कर्तव्यों के प्रति शिक्षित व जागरूक किया जाता है। यदि आपके मन में NSS के प्रति कोई प्रश्न है जैसे की यह संस्था क्या है, NSS Full Form, NSS कैसे काम करती है तो आज के इस आर्टिकल में हम आपके इन्हीं सवालों के जवाब लेकर आए हैं। आपसे अनुरोध है की NSS से संबंधित सभी जानकारियों के लिए आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

NSS Full Form in Hindi – एनएसएस क्या है
NSS Full Form in Hindi – एनएसएस क्या है

NSS Full Form in Hindi

एन एस एस को हिन्दी में “राष्‍ट्रीय सेवा योजना” और इंग्लिश में “National Service Scheme” के नाम से जाना जाता है। हम आपको यहाँ बताते चलें की NSS भारत सरकार के युवा मामले एवं खेल मंत्रालय के द्वारा संचालित एक जागरूक अभियान है।जिसका उद्देश्य देश के युवाओं को सामाजिक सेवा की गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना और युवाओं के अंदर एक सकारात्मक और अच्छे व्यक्तित्व का विकास करना। जो भी विद्यार्थी NSS को जॉइन करते हैं उन्हें पर्यावरण सुरक्षा, स्वास्थ एवं स्वछता, आपातकालीन स्थिति में प्राकृतिक आपदा के समय पीड़ीत लोगों की सहायता आदि कार्य करने होते हैं। NSS जॉइन करने वाले विद्यार्थियों को एन एस एस स्वयंसेवक कहा जाता है। बहरहाल आपको बताते चलें की वर्तमान में NSS के कुल 40 लाख स्वयंसेवक देश में कार्य कर रहे हैं।

NSS का इतिहास ?

NSS की स्थापना 24 सितंबर 1969 को भारत सरकार में तत्कालीन केंद्रीय शिक्षा मंत्री रहे वी.के.आर.वी. राव जी के द्वारा देश के सभी राज्यों के 37 विश्वविद्यालयों में की गई। उस समय योजना आयोग ने चौथी पंचवर्षीय योजना के दौरान एनएसएस को सभी विश्वविद्यालयों और स्कूलों में लागू करने के लिए 5 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी थी।

NSS की विशेषताएँ :-

  • ग्रामीण युवाओं को कार्य साक्षरता की अनौपचारिक शिक्षा देना।
  • पर्यावरण संवर्धन और संरक्षण संबंधी कार्यक्रम।
  • स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और पोषण से संबंधित जागरूकता अभियान।
  • हर साल विशेष शिविर कार्यक्रम का आयोजन।
  • मौलिक अधिकार, राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत का अध्ययन।
  • राष्ट्रीय और सामाजिक समस्याओं से छात्रों को अवगत कराना।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के स्वयंसेवक के रूप में सामाजिक सेवा।

NSS के प्रतीक (Symbol) बारे में :-

यहाँ हम आपको बताते चलें की NSS के लोगो में जो प्रतीक उपयोग किया गया है वह भारत के उड़ीशा राज्य के पूरी शहर में स्थित प्रसिद्ध कोणांर्क सूर्य मंदिर ( द ब्लैक पैगोड़ा ) के विशाल रथ के पहिये से लिया गया है जिसमें 8 रेखाएँ हैं जो की एक दिन के आठ पहर को प्रदर्शित करती हैं तथा पहिया हमारे जीवन के स्थान और समय की स्थितियों को चित्रित करता है।

NSS के द्वारा की जाने वाली गतिविधियां :-

एन एस एस के द्वारा प्रत्येक वर्ष में दो बार नियमित और वार्षिक विशेष शिविर गतिविधियां आयोजित की जाती हैं जो को दोनों 120 घंटे की अवधि की होती हैं। एन एस एस के अंतर्गत कार्य करने वाले स्वयंसेवक जिन्होंने कम से कम 2 वर्षों तक एनएसएस की सेवा की है और 240 घंटे तक काम किया है उन्हें विश्वविद्यालय से कुलपति के द्वारा हस्ताक्षरित एन एस एस प्रमाण पत्र दिया जाता है। इसी प्रकार NSS के द्वारा वार्षिक विशेष शिविर कार्यक्रम के तहत सामाजिक सेवा और जनहित जागरूक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है । NSS के द्वारा किए जाने कार्य इस प्रकार निम्नलिखित हैं –

  • सफाई एवं स्वच्छता की जागरूकता के लिए शिविर का आयोजन
  • पौधारोपण एवं वनीकरण
  • सामाजिक समस्याओं, शिक्षा और स्वच्छता जैसे मुद्दों के बारे में जागरूकता पैदा करने वाले स्टेज शो या जुलूस
  • जागरूकता रैलियां
  • डॉक्टरों की सहायता से स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन करना
  • सामुदायिक सर्वेक्षण कार्यक्रम
  • साहसिक कार्यक्रम
  • गणतंत्र दिवस परेड शिविर
  • राष्ट्रीय युवा महोत्सव

NSS के द्वारा स्वयंसेवकों को दिए जाने वाले Awards :-

एनएसएस कार्यक्रम में अधिकारियों (पीओ), एनएसएस इकाइयों और विश्वविद्यालयों के द्वारा दिए जाने वाले पुरुस्कार इस प्रकार से हैं-

  • NSS राष्ट्रीय पुरुस्कार
  • राज्य स्तरीय पुरुस्कार
  • यूनिवर्सिटी स्तरीय पुरुस्कार
  • जिला स्तरीय पुरुस्कार
  • कॉलेज स्तरीय पुरुस्कार

NSS के द्वारा दिए गए 1993 से 2017 तक प्राप्तकर्ताओं के पुरस्कारों की सूची देखने के लिए :- यहाँ क्लिक करें

NSS कैसे जॉइन करें

राष्ट्रीय सेवा योजना का एकमात्र उद्देश्य है की देश के युवाओं को सामुदायिक सेवा का अनुभव प्रदान करना है। NSS जॉइन करने के लिए युवाओं को युनीवर्सिटीस और स्कूलों में NSS के भर्ती फॉर्म भरने होते हैं चाहे NSS जॉइन करने वाला छात्र 10वीं का हो या 12वीं , तकनीकी संस्थान, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज या विश्वविद्यालय का। NSS जॉइन करने के लिए किसी खास कोर्स की योग्यता होना आवश्यक नहीं है। किसी भी स्ट्रीम के कोर्स का कोई भी विद्यार्थी NSS को अपनी इच्छानूसार जॉइन करने के लिए स्वतंत्र है।

NSS के संपर्क सूत्र :-

क्रम संख्या एन एस एस से संपर्क करने के लिए कान्टैक्ट संबंधित जानकारियाँ
1एन एस एस की आधिकारीक वेबसाईट nss.gov.in
2राष्ट्रीय सेवा योजना का ध्येय वाक्य (Motto)“मैं नहीं आप”
3सहायता हेतु फोन नंबर 011-23363324
4NSS की आधिकारीक वेबसाईट pankajkumar.singh08@ips.gov.in

आशा करते हैं की आपको हमारा NSS के बारे में यह आर्टिकल पसंद आया होगा और हमारे इस आर्टिकल ने NSS से संबंधित आपके सभी प्रश्नों का उत्तर दिया होगा फिर भी किसी भी डाउट के लिए आप कमेन्ट बॉक्स में हमसे पूछ सकते हैं। धन्यवाद

Leave a Comment