निपुण भारत 2022 – निपुण भारत मिशन, कार्यान्वयन प्रक्रिया, नई गाइडलाइन्स पीडीएफ

जैसा की आप सभी को पता हैं की शिक्षा किसी भी देश को उन्नति की ओर बढाती हैं। इसलिए शिक्षा किसी भी देश और हर किसी नागरिक के लिए आवश्यक हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार देश के नागरिकों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करती रहती हैं। और कई प्रकार की योजनाएं भी जारी करती हैं जिसकी मदद से शिक्षा का स्तर बेहतर हो सके। और इन योजनाओ की मदद से छात्र शिक्षा के लिए प्रोत्साहित हो सके। और ज्यादा से ज्यादा नागरिक शिक्षित हो सके। सरकार ने शिक्षा से ही जुडी एक योजना की शुरुआत की हैं जिसका नाम हैं निपुण भारत योजना 2022 जिसकी शुरुआत केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा की गयी हैं।

यह भी देखे :- नेशनल एजुकेशन पालिसी (नई शिक्षा नीति)

निपुण भारत 2022

बता दें की साल 2020 में लायी गयी शिक्षा नीति के बेहतर क्रियान्वयन के लिए ही NIPUN Bharat Yojana की शुरुआत की गयी हैं। अगर आप निपुण भारत योजना 2022 के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया करके इस लेख को ध्यान से पढ़े। जैसे की – निपुण भारत योजना क्या हैं ? निपुण भारत 2022 योजना के क्या उद्देश्य हैं ? विशेषतायें और निपुण भारत योजना की शुरुआत कब हुई ? कई अन्य जानकारी इस लेख द्वारा प्राप्त करवाई जायेगी।

Highlights of NIPUN Bharat Yojana 2022

योजना का नाम निपुण भारत (NIPUN Bharat Yojana)
मंत्रालय शिक्षा मंत्रालय
आधिकारिक वेबसाइट education.gov.in
लाभार्थी 3-9 वर्ष तक के बच्चे
सम्बंधित विभाग स्कूल और शिक्षा विभाग
शुरुआत कब हुई 5 जुलाई 2021

निपुण भारत 2022 : NIPUN Bharat Yojana 2022

इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा की गयी हैं। क्योकि इसकी मदद से शिक्षा के क्षेत्र में बहुत विकास होगा इसलिए ही निपुण भारत योजना की शुरुआत की गयी हैं। निपुण भारत योजना की शुरुआत 5 जुलाई 2021 में की गयी हैं। NIPUN Bharat Yojana का पूरा नाम (National Initiative For Proficiency in with Understanding and Numeracy) हैं। इस योजना के दौरान जो बच्चे प्री स्कूल में है उन बच्चो की शिक्षा की बुनियाद को मजबूत बनाना हैं। और इसके लिए सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में इस योजना के मुताबिक सहयोग प्रदान करेंगे। इस योजना का सञ्चालन स्कूल व शिक्षा विभाग द्वारा किया जाएगा।

इस योजना के मुताबिक़ सभी बच्चे जो 3 ग्रेड में पढ़ रहे हैं उन्हें कक्षा के आखिर तक बुनियादी साक्षरता और संख्यात्मकता में निपुण बनाना है। जिसकी मदद से उन्हें 2026-2027 तक पढ़ने व लिखने में अंक गणित करने की क्षमता प्राप्त हो। क्योकि अगर बच्चों को शुरूआती कक्षा में ही पढ़ने व लिखने में दिक्कत होगी तो आगे जाके बच्चे को बहुत दिक्कतों का सामना करना पडेगा। इसलिए बुनियादी शिक्षा मजबूत होने की वजह से उनको आगे जाके कोई दिक्कत नहीं उठानी पड़ेगी। और अच्छे से समझ सकेंगे। इस योजना यानि निपुण भारत योजना को भारत सरकार द्वारा हर राज्य में लागू कर दिया जाएगा। इस योजना की शुरुआत देश में आयी नयी शिक्षा नीति को अमल करने के लिए हुआ हैं।

निपुण भारत 2022 के उद्देश्य

सरकार द्वारा चलाई गयी निपुण भारत योजना का मुख्या उद्देश्य ये है की तीसरी कक्षा तक के बच्चो को शिक्षा के लिए प्रोत्साहन दे और आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक के ज्ञान को छात्रों के अंतर्गत विकसित करना हैं। इस योजना के माध्यम से साल 2026-27 तीसरी कक्षा के अंत तक छात्र को पढ़ने,लिखने एवं अंकगणित को सीखने की क्षमता प्राप्त होगी। इस योजना के माध्यम से बच्चे समय से आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक का ज्ञान प्राप्त कर सकेंगे और उनका शारीरिक और मानसिक विकास भी होगा। इस योजना यानि निपुण भारत योजना का संचालन शिक्षा विभाग द्वारा किया जाएगा। यह योजना स्कूली शिक्षा कार्यक्रम समग्र शिक्षा का ही एक हिस्सा होगी। इस योजना की शुरुआत नयी शिक्षा नीति के अनुसार की गयी हैं। इस योजना की मदद से बच्चे संख्या ,माप और आकार के क्षेत्र को तर्क को भी समझ पाएंगे।

आधारभूत साक्षरता तथा संख्यात्मकता क्या होती हैं ?

आधारभूत साक्षरता तथा संख्यात्मकता उस कौशल तथा रणनीति को कहते है जिसकी मदद से छात्र पढ़ने ,लिखने,व बोलने और व्याख्या करने में सक्षम होते हैं। जिससे सभी छात्र और छात्राओं को भाषा और संख्यात्मकता ज्ञान प्राप्त होगा। और संख्यात्मकता संख्यात्मक विधियों और विश्लेषण का उपयोग करके प्रतिदिन की समस्याओं को हल करने की क्षमता रखेगा। इसी ज्ञान के आधार पर विद्यार्थी आगे की शिक्षा को आसानी से प्राप्त/समझ सकेंगे। और विद्यार्थिओं का मानसिक विकास भी होगा। इनके कई प्रकार हैं जैसे :-

संख्यात्मक आधारभूत साक्षरता
1.पूर्व संख्या अवधारणाएं मौखिक पठान प्रवाह
2.मापन लेखन शब्दावली
3.पैटर्न प्रिंट के बारे में अवधारणा
4.नंबर एंड ऑपरेशन ऑन नंबर डिकोडिंग
5.डाटा हैंडलिंग कल्चर ऑफ़ रीडिंग

NIPUN Bharat Mission के भाग

निपुण भारत योजना को सरकार द्वारा 17 भागों में बांटा गया हैं जो कुछ इस प्रकार हैं :-

  • परिचय
  • मूलभूत संख्यामकता और गणित कौशल
  • मूलभूत भाषा और साक्षरता को समझना
  • लर्निंग असेसमेंट
  • शिक्षण अधिगम प्रक्रिया :शिक्षक की भूमिका
  • योग्यता आधारित शिक्षा की और स्थानांतरण
  • स्कूल की तैयारी
  • मिशन की सामरिक योजना
  • शिक्षा और सीखना :बच्चो की क्षमता और विकास पर ध्यान
  • मिशन अमल में विभिन्न हितग्रहिओं की भूमिका
  • SCERT और DIET के माध्यम से शैक्षणिक साहित्य
  • दीक्षा का लाभ उठाना ,डिजिटल संसाधनों का भण्डार
  • निगरानी और सूचना प्रौद्योगिकी ढांचा
  • मिशन की स्थिरता
  • माता पिता एवं सामुदायिक जुड़ाव
  • अनुसन्धान मूल्यांकन एवं दस्तावेज करण की आवश्यकता

निपुण भारत के हितधारक :-

  1. सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE)
  2. सेंट्रल स्कूल आर्गेनाईजेशन
  3. राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश
  4. स्टेट कॉउन्सिल ऑफ़ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग
  5. डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन अफसर एंड ब्लॉक एजुकेशन अफसर
  6. ब्लॉक रिसर्च सेंटर तथा क्लस्टर रिसोर्सेज सेंटर
  7. डिस्ट्रिक्ट इंस्टिट्यूट ऑफ़ एजुकेशन एंड ट्रेनिंग
  8. कम्युनिटी एंड पैरेंट
  9. सेंट्रल स्कूल आर्गेनाईजेशन
  10. मुख्या शिक्षक
  11. गैर सरकारी संगठन
  12. सिविल सोसाइटी आर्गेनाईजेशन
  13. प्राइवेट स्कूल

निपुण भारत योजना की विशेषताएं

  • 3 से 9 वर्ष तक के बच्चो की सीखने की जरूरतों को पूर्ण किया जायेगा।
  • इसकी मदद से बच्चे सही से लिख ,पढ़,और बोल सकेंगे।
  • साक्षरता एवं संख्यात्मक के ज्ञान मिलेगा जिससे उनका मानसिक विकास भी होगा।
  • शिक्षकों को बुनियादी भाषा के विकास के लिए हर बच्चे की साक्षरता और संख्यात्मक कौशल पर ध्यान देंगे जिससे बच्चे कम गलती करेंगे और ठीक से लिखेंगे और सीख सकेंगे।
  • बच्चे हर चीज को जल्द से जल्द सीख सकेंगे और कोई बच्चा पीछे नहीं छूटेगा और सब साथ में सीखेंगे।
  • सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में राष्ट्रीय -राज्य-जिला-ब्लॉक-स्कूल स्तर पर पांच स्तरीय कार्यान्वयन तंत्र स्थापित किया जाएगा।
  • बच्चो को शिक्षा की और बढ़ावा मिलेगा।
  • सक्षम वातावरण का निर्माण किया जाएगा।

निपुण भारत योजना की कार्यान्वयन प्रक्रिया :-

NIPUN Bharat 2022 की शुरुआत देश में लागू किये जाने वाली शिक्षा नीति के बेहतर क्रियान्वयन के लिए किया गया। इस मिशन को देश के सभी जगह जारी किया जाएगा। इस योजना के लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में 5 स्तरीय तंत्र की स्थापना की जायेगी जिसके अंतर्गत राष्ट्रिय,राज्य,जिला,ब्लॉक,और स्कूल स्तर पर इसका संचालन किया जाएगा। इस योजना का सञ्चालन शिक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। इस मिशन के अंतर्गत 3-9 वर्ष के बच्चों की शिक्षा पर ध्यान दिया जाएगा। और उन्हें अच्छी शिक्षा प्रदान की जायेगी जिससे उनकी पढाई की नीव मजबूत हो जायेगी और उन्हें आगे जाकर पढाई में कोई कठिनाई नहीं होगी। इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2026-27 तक का लक्ष्य रखा गया हैं। इस योजना के अंतर्गत प्री स्कूल 1,प्री स्कूल 2 ,और प्री स्कूल 3 के बाद ग्रेड 1,ग्रेड 2 और ग्रेड,3 की कक्षाये होंगी। इन छात्रों को इन कक्षाओं के दौरान भाषा और गणित की बेहतर ज्ञान दिया जाएगा।

निपुण भारत के कार्यान्वयन के लिए जारी किया गया बजट

केंद्र सरकार द्वारा निपुण भारत योजना की शुरुआत की गयी। नयी शिक्षा नीती के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए की गयी हैं। इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने अच्छा खासा बजट जारी किया हैं। केंद्र सरकार ने NIPUN Bharat Mission के सफलता पूर्वक कार्यान्वयन हेतु राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को देश भर में समग्र शिक्षा योजना के तहत 2688.18 करोड़ रूपए प्रदान करने की मंजूरी दी हैं ये रकम आधारभूत चरण हेतु विभिन्न उपायों को लागू करने के लिए हैं। जिसकी मदद से बच्चों को बुनियादी शिक्षा प्रदान की जाएगी और वो आगे की पढाई के लिए तैयार हो सकेंगे। ताकि सरकार का यह लक्ष्य 2026-27 तक पूर्ण हो जाए।

निपुण भारत योजना गाइडलाइन्स कैसे डाउनलोड करें :-

  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट education.gov.in पर जाना होगा।
  • उसके बाद आपको Guideline for “National Initiative for Proficiency in Reading with Understanding and Numeracy (NIPUN BHARAT) के लिंक पर क्लिक करना होगा। NIPUN Bharat Yojana
  • उसपर क्लिक करने के बाद आपके सामने PDF में पेज का एक ऑप्शन होगा।
  • इस पेज पर आप योजना से जुडी जानकारी व गाइडलाइन्स भीदेख सकते हैं।
  • अब आपको इसे डाउनलोड करने के लिए डाउनलोड के बटन पर टच करना होगा।
  • इस तरह आपके द्वारा निपुण भारत योजना गाइडलाइन्स को सफलतापूर्वक डाउनलोड कर दिया जाएगा।
निपुण भारत योजना के अंतर्गत कौनसी कक्षाएं शामिल हैं ?

निपुण भारत योजना के अंतर्गत प्री स्कूल 1, प्री स्कूल 2 और प्री स्कूल 3 (बाल वाटिका) के बाद ग्रेड 1, ग्रेड – 2 और ग्रेड 3 की कक्षायें शामिल हैं।

NIPUN Bharat Yojana 2022 का पूरा नाम क्या हैं ?

NIPUN Bharat Yojana 2022 का पूरा नाम (National Initiative For Proficiency in Reading with Understanding & Numeracy) हैं।

निपुण भारत योजना की शुरुआत कब और किसके द्वारा की गयी ?

निपुण भारत योजना की शुरुआत 5 जुलाई 2021 में शिक्षा मंत्रालय द्वारा की गयी।

निपुण भारत योजना का मुख्या लक्ष्य क्या हैं ?

निपुण भारत योजना का मुख्या लक्ष्य प्री -स्कूल के छात्रों को आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मक ज्ञान प्रदान कर उन्हें लिखना , पढ़ना व अंकगणित करने की क्षमता में वर्ष 2026-27 तक बढ़ावा देना हैं।

निपुण भारत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार ने कितना बजट किया हैं ?

निपुण भारत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार ने 2688.18 करोड़ रुपये का बजट जारी किया हैं।

Leave a Comment