NCERT की फुल फॉर्म क्या है? NCERT Full Form in Hindi

हमारे देश के अधिकतर विद्यालयी शिक्षा पाठ्यक्रम के लिए एनसीईआरटी (NCERT) द्वारा डिजाईन किताबों को लागू किया गया है। इसके अतिरिक्त सीबीएसई द्वारा भी सभी स्कूलों में एनसीईआरटी (NCERT) द्वारा निर्धारित की गयी किताबो को अनिवार्य किया गया है। ऐसे में अधिकतर छात्रों के मन में यह सवाल आता होगा की NCERT की फुल फॉर्म क्या है? इसके अतिरिक्त विभिन प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करने वाले छात्रों द्वारा भी NCERT Book के माध्यम से तैयारी की जाती है ऐसे में सभी छात्रों को यह जानना आवश्यक है की NCERT की फुल फॉर्म क्या होती है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की NCERT की फुल फॉर्म क्या है (NCERT Full Form in Hindi) तो चलिए शुरू करते है।

ईस्वी (AD) और ईसा पूर्व (BC) क्या है ? AD-BC full form in hindi

NCERT Full Form
NCERT Full Form in Hindi

NCERT Full Form in Hindi

एनसीईआरटी (NCERT) की फुल-फॉर्म National Council of Educational Research and Training (नेशनल काउंसिल ऑफ़ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग) है जिसका हिंदी में अर्थ होता है राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद्। एनसीईआरटी (NCERT) भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के अधीन एक स्वायत संस्था है जिसके मुख्य कार्य सरकार को शिक्षा सम्बंधित विषयो पर सहायता एवं सुझाव देना है। इस प्रकार से आप समझ गए है की एनसीईआरटी (NCERT) की फुल-फॉर्म National Council of Educational Research and Training (नेशनल काउंसिल ऑफ़ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग) होता है।

NCERT की स्थापना एवं कार्य

NCERT (National Council of Educational Research and Training) की स्थापना भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा 27 जुलाई 1961 को एक स्वायत संस्थान के रूप में की गयी थी। एनसीईआरटी (नेशनल काउंसिल ऑफ़ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग) द्वारा अपना कार्य 1 सितम्बर 1961 से शुरू किया गया। यह संस्थान केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वायत संस्थान के रूप में कार्य करती है जिसका मुख्य कार्य केंद्र एवं राज्य सरकार को शिक्षा सम्बंधित विषयो पर सहायता देना, शिक्षा हेतु नीति-निर्धारण, शिक्षा क्षेत्र में आवश्यक कदम उठाये जाने हेतु दिशानिर्देश और शिक्षा कार्यक्रमो की समीक्षा करना है। इसके अतिरिक्त यह संस्था शिक्षा क्षेत्र में अनुसन्धान एवं ट्रेनिंग के लिए भी जिम्मेदार संस्थान है। एनसीईआरटी (NCERT) का ध्येय वाक्य विद्यया अमृतमश्नुते है जो की ईशा उपनिषद से लिया गया है।

NCERT सम्बंधित मुख्य बिंदु

एनसीईआरटी (NCERT) की स्थापना देश में प्राथमिक शिक्षा व्यवस्था हेतु नीति-निर्धारण एवं सरकार को शिक्षा सम्बंधित मामलो पर सलाह देने के लिए किया गया है। एनसीईआरटी (NCERT) द्वारा कक्षा एक से बारहवीं तक के लिए पुस्तकों को डिजाईन किया जाता है जो की राष्ट्रीय स्तर पर लागू है। सीबीएसई के अतिरिक्त कई अन्य राज्य सरकार द्वारा भी एनसीईआरटी पाठ्यक्रम को लागू किया गया है। एनसीईआरटी द्वारा डिजाईन की गयी पुस्तकों के आधार पर देश में विभिन प्रतियोगी परीक्षाओ से प्रश्न पूछे जाते है ऐसे में अध्ययन के लिए यह पुस्तके बहुत महत्वपूर्ण है।

NCERT फुल-फॉर्म सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

NCERT की फुल फॉर्म क्या होती है ?

एनसीईआरटी (NCERT) की फुल-फॉर्म National Council of Educational Research and Training (नेशनल कौंसिल ऑफ़ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग) है जिसका हिंदी में अर्थ होता है राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद्।

एनसीईआरटी (NCERT) की स्थापना कब की गयी ?

एनसीईआरटी (NCERT) की स्थापना 27 जुलाई 1961 को भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वायत संस्थान के रूप में की गयी थी।

एनसीईआरटी (NCERT) का मुख्यालय कहाँ है ?

एनसीईआरटी (NCERT) का मुख्यालय नयी-दिल्ली में है।

एनसीईआरटी (NCERT) का मुख्य कार्य क्या है ?

एनसीईआरटी (NCERT) का मुख्य कार्य केंद्र और राज्य सरकारों को शिक्षा सम्बंधित मामलो में सलाह देना है। इसके अतिरिक्त यह संस्था शिक्षा नीति-निर्धारण एवं पाठ्यपुस्तकों के डिजाईन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

Leave a Comment