नरेगा मेट कैसे बने- Narega Met Kaise Bane Form Apply नरेगा मेट क्या है नरेगा में मेट कैसे बने

नरेगा मेट कैसे बने :- दोस्तों आज हम बात करने जा रहें हैं, नरेगा यानी (नेशनल रूरल महात्मा गाँधी रूरल एम्प्लॉयमेंट गॅरंटी अधिनियम 2005) के अंतर्गत कार्य करने वाले श्रमिकों के कार्यों का व्यवस्थित ढंग से निरिक्षण करने के लिए आरम्भ किए गए पद की, जिसे नरेगा मेट के नाम से जाना जाता है। नरेगा योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा श्रमिकों के साथ-साथ उनके कार्यों की देख-रेख करने के लिए नरेगा मेट की भर्ती करवाती है, इस नरेगा मेट पद के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के (पुरुष एवं महिलाएँ) वह सभी बेरोजगार नागरिक जिनकी शैक्षणिक योग्यता कम से कम हाई स्कूल पास हैं, वह सभी सरकार द्वारा जारी इस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। नरेगा मेट पद के लिए नागरिक किस प्रकार आवेदन कर सकेंगे और मेट बनने के लिए इसकी क्या पात्रता व दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, इससे जुडी सभी जानकारी आवेदक हमारे लेख के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे।

नरेगा-मेट-कैसे-बने

नरेगा मेट कैसे बने : Details

आर्टिकल नरेगा मेट कैसे बने
पद का नाम Narega Met
शुरुआत की गई केंद्र सरकार द्वारा
साल 2021
आवेदन ऑफलाइन
योजना के लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिक
उद्देश्य बेरोजगार व शिक्षित नागरिकों को उनकी
शैक्षणिक योग्यता के आधार पर
मेट के पद पर भर्ती करना

Narega Met क्या है ?

जैसा की आप सब जानते हैं की नरेगा योजना के अंतर्गत देश के आर्थिक रूप से कमजोर बेरोजगार श्रमिकों को सरकार द्वारा रोजगार प्रदान किया जाता है, जिसके लिए उन्हें श्रमिक कार्ड भी जारी किए जाते हैं। जसके तहत इन मजदूरों के किए गए कार्यों का पूरा रिकॉर्ड रखने और श्रमिकों को वर्ष के 100 दिन रोजगार उपलब्ध हुआ है या नहीं इन सबकी जिम्मेदारी के लिए सरकार द्वारा मेट को रखा गया है। नरेगा मेट श्रमिकों से ऊपर का पद होता है जिनका कार्य मजदूरों को सुपरवाइज़ करना होता है, इनके अंतर्गत 30 से 40 मजदूरों के समूह को रखा जाता है। जिसके तहत नरेगा मेट द्वारा मजदूरों को सुपरवाइज़ कर उन्हें उनके जॉब कार्ड के आधार पर रोजगार जारी करवाता है, साथ ही उनके प्रतिदिन किए गए कार्य की हाजरी लगाकर उनके कार्य को रजिस्टर में ऐड किया जाता है। इसके लिए सरकार मेट को श्रमिकों से ज्यादा आय प्रदान करवाती है।

नरेगा मेट के पद के लिए देश के सभी ग्रामीण क्षेत्रों के धारक महिलाओं, विकलांगों, सामान्य, एससी, एसटी, अन्य पिछड़ा वर्ग, गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले नरेगा से पंजीकृत नागरिक जॉब कार्ड को सरकार द्वारा प्राथमिकता दी जाएगी जिसके अंतर्गत इन पदों पर आवेदन के लिए नागरिक अपने ग्राम पंचायत के माध्यम से आवेदन पर इन पदों के लिए आवेदन कर सकेंगे जिसमे नागरिकों की शिक्षा व कार्य की कौशलता के आधार पर इनकी सूची बनाकर इनका चयन करेगी, जिनमे एक ग्राम पंचायत में 16 मेट यानी 8 महिलाओं व 8 पुरुषों का चयन किया जाएगा, और उन्हें कार्य निरक्षण के पदों पर तैनात किया जाएगा।

नरेगा मेट द्वारा किए जाने वाला कार्य

नरेगा मेट पदों पर चयनित नागरिकों को दिए जाने वाले कार्य की जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • देश के जिन भी नागरिकों को नरेगा मेट के लिए चयनित किया जाएगा, उनकी जिम्मेदारी मजदूरों को कार्य आवंटित कर उनके द्वारा किए जाने वाले कार्य का निरक्षण करना है।
  • नरेगा मेट का कार्य प्रतिदिन स्थल पर आने वाले श्रमिकों की हाजरी लगाना है।
  • नरेगा मेट के अंतर्गत कार्य करने वाले 40 श्रमिकों के समूह को मेट द्वारा 5-5 के समूह में बाँटकर उन्हें कार्य प्रदान किया जाएगा।
  • श्रमिकों को दिए जाने वाले कार्य पर उन्हें प्रोत्साहन देकर उन्हें वर्ष के 100 दिन कार्य दिए जाने की पूरी जिम्मेदारी भी नरेगा मेट की ही होगी।
  • कार्य स्थल पर आने वाले श्रमिकों के पास उनके श्रम कार्ड है या नहीं इसकी जाँच भी मेट को करनी होगी, जिनके पास नरेगा जॉब कार्ड नहीं होंगे उन्हें कार्य प्रदान नहीं किया जाएगा।
  • मेट को श्रमिकों द्वारा किये गए कार्य को समय पर पूरा हो जाने के बाद घर जाने से पूर्व उनकी हाजरी लगाने का कार्य करना होगा।
  • श्रमिकों द्वारा कार्य से संबंधित शिकायतों का निवारण कर उन्हें कार्य में प्रोत्साहन देने का कार्य भी मेट का होगा।
  • यदि श्रमिक द्वारा समय से पहले कार्य पूरा कर लिया जाता है, तो नरेगा मेट उसके कार्य की जाँच कर लेने के बाद उसे छुट्टी दे सकते हैं।
  • कार्य स्थल पर श्रमिकों के लिए बैठने व साफ़ एवं स्वच्छ पीने के पानी की व्यवसाय करवाना भी मेट के लिए आवश्यक होता है।
  • मेडिकल फैसिलिटी जैसी सुविधा की व्यवस्था करवाने की भी जिम्मेदारी मेट की होती है।

Narega Met बनने के लाभ

इस पद के लिए आवेदन करने वाले नागरिकों को दिए जाने वाले लाभ की जानकारी आवेदक यहाँ से प्राप्त कर सकेंगे।

  • मेट के पद हेतु आवेदक करने वाले नागरिकों का चयन उनकी शैक्षणिक योग्यता व पात्रता के आधार पर किया जाएगा।
  • नरेगा मेट पद के लिए चयनित नागरिकों को किसी तरह का श्रमिक कार्य नहीं करना होगा।
  • मेट का कार्य केवल श्रमिकों के कार्यों को सुपरवाईज करना और बैठकर लिखने-पढ़ने जैसे हाजरी लगाना प्रतियेक श्रमिक को दिए गए कार्य की जानकारी आदि दर्ज करना होगा।
  • देश के बेरोजगारी की समस्या से परेशान आर्थिक रूप से कमजोर बेरोजगार शिक्षित नागरिकों को उनकी योग्यता के आधार पर रोजगार प्राप्त हो सकेगा।
  • चयनित नागरिक मेट के रूप में कार्य करके श्रमिक कार्य से ज्यादा वेतन अर्जित कर सकेंगे।

नरेगा मेट कैसे बने (पात्रता)

नरेगा मेट पद में आवेदन करने के लिए आवेदकों को इसकी पात्रता को पूरा करना आवश्यक होता है, जिसे पूरा करने वाले नागरिकों ही पद के लिए आवेदन के पात्र होंगे जिसकी जानकारी आवेदक यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

  • नरेगा मेट पद के लिए आवेदक नागरिक भारतीय निवासी होने चाहिए।
  • आवेदक का बैंक में खाता होना आवश्यक है, जो उनके आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • नरेगा मेट बनने के लिए आवेदक नरेगा में पंजीकृत होने चाहिए और उनके पास उनका जॉब कार्ड होना आवश्यक होना चाहिए।
  • आवेदक की शैक्षणिक योग्यता कम से कम हाईस्कूल पास होनी आवश्यक है।
  • आवेदक नागरिक यदि किसी सरकारी नौकरी या किसी भी तरह के रोजगार से जुड़े हैं तो वह इस पद के लिए आवेदन करने के पात्र नहीं होंगे।
  • नरेगा मेट बनने के लिए आवेदक यदि ग्रामीण क्षेत्र से शहरी क्षेत्र में चले गए हैं तो वह आवेदन के पात्र नहीं होंगे।

Narega Met बनने के लिए आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

इस पद के लिए आवेदन हेतु आवेदक के पास सभी दस्तावेज होने आवश्यक हैं, जिसकी जानकारी आवेदक यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं।

1. आवेदक का आधार कार्ड 5. बैंक की पासबुक
2. निवास प्रमाण पत्र 6. पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
3. नरेगा जॉब कार्ड 7. मोबाइल नंबर
4. हाई स्कूल प्रमाण पत्र 8. आवेदन फॉर्म

नरेगा मेट के लिए आवेदन प्रक्रिया

देश के जो भी ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक नरेगा मेट की पात्रता को पूरा करते हैं और वह इसके लिए आवेदन करना चाहते हैं तो वह अभी फिलहाल ऑफलाइन ही आवेदन कर सकेंगे क्योंकि अभी मेट के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है, इसके लिए ऑफलाइन आवेदन हेतु आवेदक दी गई प्रक्रिया को फॉलो कर सकते हैं।

  • आवेदक को सबसे पहले अपने ग्रामीण क्षेत्र के गर्म पंचायत में जाना होगा।
  • यहाँ से उन्हें ग्राम सेवक या सरपंच से नरेगा मेट का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • फॉर्म लाना के बाद आपको उसमे पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका नाम, पता, आयु, शैक्षणिक योग्यता आदि दर्ज करनी होगी।
  • फॉर्म में सारी जानकारी भर लेने के बाद आपको उसमे माँगे गए सभी दस्तावेजों को फॉर्म अटैच कर लेना होगा।
  • जिसके बाद आपको अपने फॉर्म को ग्राम पंचायत या समिति में ही जमा करवा देना होगा।
  • फॉर्म जमा कर लेने के बाद आपको अपने गावँ के 40 श्रमिकों की सूची तैयार करनी होगी जो आपके अंतर्गत कार्य करेंगे।
  • इसके लिए आपको उन सभी श्रमिकों के जॉब कार्ड नंबर व डिटेल्स और उनकी सूची को उसी ग्राम पंचायत कार्यालय में जमा करवा देनी होगी।
  • जिसके बाद कार्यालय द्वारा आपके दस्तावेजों की पूरी जाँच हो जाने के बाद आपकी मेरिट सूची तैयार की जाएगी और आपका चयन हो जाने के बाद आपको नरेगा मेट पद पर रोजगार प्रदान कर दिया जाएगा।

नरेगा मेट कैसे बने से जुड़े प्रश्न/उत्तर

Narega Met क्या है ?

नरेगा मेट एक पद है, जिसे केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है, जिसका कार्य श्रमिकों द्वारा किए जाने वाले कार्य का निरक्षण करना हैं।

नरेगा मेट में आवेदन के लिए ऑनलाइन वेबसाइट क्या है ?

नरेगा मेट में आवेदन के लिए अभी आवेदक केवल ऑफलाइन ही आवेदन कर सकेंगे, इसके लिए अभी ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है।

इस पद के लिए कौन से नागरिक आवेदन के पात्र होंगे ?

इस पद के लिए देश के सभी ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर बेरोजगार नागरिक जिनके पास कोई रोजगार नहीं है और वह नरेगा से पंजीकृत है साथ ही उनकी शैक्षणिक योग्यता कम से कम हाई स्कूल पास है वह सभी इसके लिए आवेदन कर सकेंगे।

नरेगा मेट श्रमिकों को किस प्रकार कार्य प्रदान करेगा ?

नरेगा मेट के अंतर्गत 40 श्रमिकों को रखा जाएगा, जिन्हे वह पाँच-पाँच के समूह में बाटकर उन्हें कार्य प्रदान करेंगे और जहाँ समहू नहीं बन पाते या श्रमिक रह जाते हैं उन्हें मेट अपने अनुसार कार्य प्रदान करते हैं।

सरकार द्वारा नरेगा मेट को कितना वेतन प्रदान किया जाता है ?

नरेगा मेट को प्रदान किये जाने वाला वेतन सभी राज्यों में अलग-अलग प्रदान किया जाता है, जो वहाँ के श्रमिकों को दिए जाने वाले वेतन से अधिक होता है।

नरेगा मेट में आवेदन के लिए कहाँ जाना होगा ?

नरेगा मेट में आवेदन के लिए आवेदक नागरिक अपने ग्राम पंचायत या समिति कार्यालय में जाकर आवेदन फॉर्म प्राप्त कर आवेदन कर सकेंगे।

नरेगा मेट कैसे बने से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और हमे उम्मीद है की यह जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी होगी, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment