मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना ऑनलाइन आवेदन, पंजीकरण स्टेटस, (કિસાન સહાય)

Gujarat Kisan Sahay Yojana Online Form | मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना पंजीकरण स्टेटस
Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Gujarat online Apply

प्रत्येक राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर कई कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है इन योजनाओं का लाभ राज्य की जनता को आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान किया जाता है। नागरिकों को उनकी आर्थिक, सामाजिक, शारीरिक स्थिति के अनुसार योजनाओं का लाभ प्रदान किया जाता है। गुजरात सरकार द्वारा भी नागरिकों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलायी जा रही हैं जिनमे से एक योजना का नाम मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना है। इस योजना को गुजरात के तात्कालिक मुख्यमंत्री विजय रुपानी जी द्वारा चलाया गया था। Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana के अंतर्गत राज्य के किसानों को प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़ ,तेज बारिश,ओलावृष्टि आदि के कारण फसल पर हो रहे नुकसान की भरपाई के लिए वित्तीय सहायता के रूप में मुआवजा प्रदान किया जायेगा।

Mukhyamantri kisan sahay yojana
Mukhyamantri kisan sahay yojana ऑनलाइन आवेदन ,पंजीकरण स्टेटस

आज के इस लेख के माध्यम से हम सभी किसान भाईयों को सीएम किसान सहाय योजना क्या है? गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?,योजना का लाभ ,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज, योजना की स्थिति (status) आदि के बारे में सरल भाषा में विस्तार से बताने जा रहे हैं। अतः पाठकों से अनुरोध है योजना के बारे में यदि आप पूरी जानकारी लेना चाहते हैं,तो आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना क्या है ?

जैसे की नाम से ही आप जान गए होंगे की यह योजना विशेष रूप से किसानों की सहायता के लिए गुजरात राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही है ,जिसकी शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री जी के द्वारा 10 अगस्त 2020 को किसानों को आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से की गयी थी। Mukhyamantri Kisan Sahay Scheme के माध्यम से राज्य के सभी पंजीकृत किसानों को प्राकृतिक आपदा से कारण फसल के नुकसान की भरपाई के लिए मुआवजा राशि प्रदान की जाती है।

किसान सहाय योजना के अंतर्गत यदि राज्य के किसानों की फसल (कृषि उपज) को 33 % से 60 % तक का नुकसान प्राकृतिक आपदा के कारण हुआ है, तो ऐसी स्थिति में एक किसान को अधिकतम 4 हेक्टेयर के लिए 20,000 रुपये प्रति हेक्टेयर का मुआवज़ा दिया जाता है तथा 60 प्रतिशत या इससे अधिक फसल को नुकसान पहुंचने की स्थिति में किसान भाईयों को अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए 25,000 रुपये प्रति हेक्टेयर का मुआवज़ा प्रदान किया जाता है। इन मुआवजा राशि का लाभ उन सभी किसान भाईयों को होगा जिन्होंने मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत अपना पंजीकरण कराया है।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana

आर्टिकल संक्षिप्त विवरण
आर्टिकल मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ,पंजीकरण स्टेटस, (કિસાન સહાય)
योजना का नाम मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય)
योजना आरम्भ के द्वारा तात्कालिक मुख्यमंत्री विजय रुपानी 
योजना शुरू की गयी 10 अगस्त 2020 
योजना से सम्बन्धित राज्य गुजरात
लाभार्थी राज्य के किसान भाई
उद्देश्य किसानों को कृषि उपज के नुकसान की भरपाई के लिए मुआवज़ा प्रदान करना
 मुआवज़ा राशि20 हजार से 25 हजार रूपये/हेक्टेयर
गुजरात सरकार की आधिकारिक वेबसाइट gujaratindia.gov.in
योजना की आधिकारिक वेबसाइट जल्द जारी होगी
योजन आवेदन का माध्यम ऑनलाइन /ऑफलाइन
साल 2022

Gujarat Kisan Sahay Yojana का उद्देश्य (કિસાન સહાય )

हम सभी जानते है की प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को कितना बड़ा नुकसान उठाना पड़ता है ,जिसके कारण उन्हें आर्थिक क्षति का सामना करना पड़ता है। अपने दैनिक जीवन को सुचारु रूप से चलाने का एकमात्र साधन उनकी कृषि उपज को कई बार प्राकृतिक आपदा की मार झेलनी पड़ जाती है जिसके कारण उन्हें बड़े स्तर पर नुकसान को झेलना पड़ता है। ऐसी स्थिति में गुजरात सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए ”मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना” एक नई फसल बीमा योजना को चलाया जा रहा है जिसके माध्यम से राज्य के किसानों को कई लाभ प्रदान किये जाते हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री जी द्वारा आरम्भ की गयी Kisan Sahay Yojana नामक नई फसल बीमा का उद्देश्य राज्य के सभी किसान भाईयों को प्राकृतिक आपदा जैसे ओलावृष्टि ,तूफान, बाढ़ आदि के कारण कृषि उपज (फसल) की हानि/नुकसान होने पर मुआवजा प्रदान कर कर उन्हें आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है।

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना से मिलने वाले लाभ एवं विशेषताएं

योजना के माध्यम से सभी पंजीकृत किसानों को निम्नलिखित लाभ प्राप्त होंगे –

  1. राज्य के सभी किसान इस योजना का लाभ ले सकेंगे।
  2. किसान फसल सहायता योजना के अंतर्गत लगभग 56 लाख किसानों को इसका लाभ प्राप्त होगा।
  3. इस योजना के माध्यम से राज्य के जिन क्षेत्रों में प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, बेमौसम बारिश, भूस्खलन,ओलावृष्टि आदि के कारण फसलों का नुकसान पहुंचा है। ऐसे सभी किसानों को इस नुक्सान की भरपाई के लिए मुआवजा प्रदान किया जाता है।
  4. Gujarat Kisan Sahay Yojana एक प्रकार की क्रॉप इंश्योरेंस स्कीम (फसल बीमा योजना )है जिसके माध्यम से किसान भाईयों को उनके द्वारा उगाई गयी फसलों पर इंश्योरेंस दिया जाता है।
  5. kisan sahay yojana के अंतर्गत यदि किसी किसान की कृषि उपज का लगभग 33 प्रतिशत से लेकर 60 प्रतिशत तक प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हुआ है ,तो उस किसान को प्रति हेक्टेयर 20 हजार रूपये तक की आर्थिक सहायता मुआवजे के रूम में प्रदान की जाएगी।
  6. योजना के अंतर्गत ऐसे किसान जिनकी फसल का 60 प्रतिशत से अधिक का नुकसान हुआ है उन्हें 25000 रूपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से मुआवज़ा राशि प्रदान की जाएगी।
  7. योजना का लाभ लेकर किसान आर्थिक रूप से ससक्त हो सकेंगे तथा बिना परेशानी के निश्चिन्त होकर अपनी कृषि कार्य को कर सकेंगे।
  8. योजना का लाभ यह होगा की अब किसानों को खेती कार्य छोड़ किसी अन्य व्यवसाय में पलायन नहीं करना पड़ेगा।
  9. फसल के नुकसान से तंग आकर कई किसान आत्महत्या करने लगते हैं इस योजना के माध्यम से किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिससे वह बिना किसी मानसिक परेशानी के अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकेंगे।
  10. प्राकृतिक आपदा से कृषि उपज को होने वाले नुक्सान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी जिससे किसानों को किसी से कर्ज लेने की आवश्यकता नहीं होगी और वह अपना कार्य पुनः सुचारु ढंग से कर सकेंगे।

गुजरात सीएम किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય) पात्रता शर्तें

Gujarat Kisan Sahay Yojana का लाभ लेने के लिए किसानों को कुछ पात्रता शर्तों को पूरा करना होगा –

  • उम्मीदवार किसान को योजना का लाभ लेने के लिए गुजरात राज्य का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • ऐसे किसान जिनकी फसल 33 प्रतिशत से 60 प्रतिशत तक प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हुई है उन किसानों को योजना के माध्यम से लाभ दिया जा सकेगा।
  • मान्यता प्राप्त किसान –वे सभी किसान जो राज्य में मान्यता प्राप्त हैं ( वन अधिकार अधिनियम के अनुसार 8-ए धारक खाता रखने वाले किसान ) वह इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • उम्मीदवार किसान को इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करने पर पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य होगा।

CM Kisan Sahay Yojana के लिए जरुरी कागजात/ दस्तावेज (Important documents)

किसान सहाय योजना में यदि किसान भाई आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको आवेदन करते समय कुछ जरुरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। मुख्यमंत्री किसान सहायता योजना में आवेदन के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी ?(important documents for Gujarat Kisan Sahay scheme) आईये जानते है –

आधार कार्डजमीन संबंधी दस्तावेज
आवेदक का मूल/ स्थायी निवास प्रमाण पत्रपहचान पत्र
बैंक अकाउंट नंबरपासपोर्ट साइज फोटो
प्राधिकरण द्वारा जांचे जाने वाले 8-ए अकाउंट के डॉक्‍युमेंट्स जमा करने होंगे।आवेदक का मोबाइल नंबर

सीएम किसान सहाय योजना के अंतर्गत किन परिस्थितियों में सहायता राशि दी जाएगी ?

गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2022 के अंतर्गत किसान भाईयों को निम्नलिखित परिस्थितियों में मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी –

1. सूखा पड़ने की स्थिति पर

यदि राज्य के किसी जिले में सूखा पड़ा है जिकी मार किसानों की कृषि उपज को झेलनी पड़ी है तो ऐसी स्थिति में किसान भाई मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत लाभ ले सकते हैं। किसान भाईयों को यह ध्यान देना है कि सूखा पढ़ने की स्थिति तभी मानी जा सकेगी जब उस जिले में 10 इंच से कम बारिश हुई हो या मानसून के समय बारिश न हुई हो।

2. भारी वर्षा होने की स्थिति पर

यदि राज्य के किसी जिले में भारी बारिश/वर्षा हुयी है जिसके कारणवश किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा है तो इस स्थिति में मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत मुआवजा राशि का लाभ लिया जा सकता है। यदि राज्य के किसी जिले में 35 इंच या फिर 48 घंटे तक लगातार बारिश हुई हो तो ही इस स्थिति में भारी वर्षा की स्थिति मानी जाएगी।

3. बेमौसम बारिश होने की स्थिति पर

बेमौसम बरसात के कारण यदि किसी जिले में किसानों की फसल को क्षति पहुंची है तो इस परिस्थिति में मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसान सहायता राशि का लाभ ले सकेगा। बेमौसम बरसात की स्थिति तभी मानी जा सकेगी जब उस जिले में 15 अक्टूबर से लेकर 15 नवंबर तक 50 मिलीमीटर से अधिक बारिश 48 घंटे तक हुयी हो।

mukhyamantri Kisan Sahay Yojana Gujarat online Apply (MKSY ऑनलाइन आवेदन)

यदि आप भी गुजरात राज्य के किसान हैं और मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत मिलने वाले मुआवजे का लाभ लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले Mukhyamantri Kisan Sahay Scheme के तहत आवेदन करना होगा तभी आप इसका लाभ ले सकेंगे। यदि आप इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए थोड़ा इंतज़ार करना पड़ सकता है क्यूंकि गुजरात राज्य सरकार द्वारा अभी इस योजना के लिए पोर्टल को लांच नहीं किया गया है। गुजरात सरकार जल्द ही इस योजना के लिए आवेदन आमंत्रित करेगी जिसकी सूचना आपको हमारे इस लेख के माध्यम से प्राप्त हो जाएगी। मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना में सरकार जल्द ही अपनी आधिकारिक वेबसाइट शुरू करने वाली है जिसके बाद आप ऑनलाइन पोर्टल से आवेदन कर इसके तहत मिलने वाली सहायता राशि का लाभ ले सकेंगे।फिलहाल किसान भाई किसान सहाय योजना के लिए ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करके इसका लाभ ले सकते हैं।

MKSY के लिए ऐसे करें ऑफलाइन आवेदन –

किसान मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना में पंजीकरण हेतु किसान भाईयों को अपने निकटवर्ती ई ग्राम केंद्र पर जाना होगा जहाँ पर आपको अपने साथ आवश्यक दस्तावेजों को साथ ले जाना है जिसके बाद आप वहां पर इस योजना के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं। फिलहाल यह सुविधा खरीफ सीजन की फसलों के लिए उपलब्ध कराई गयी है।

MKSY के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

सीएम किसान सहाय योजना क्या है ?

गुजरात राज्य सरकार की यह योजना राज्य के किसानों के लिए है। इस योजना के माध्यम से किसानों की फसल जो की प्राकृतिक आपदा के कारण खराब हुयी है उसपर किसानों को मुआवज़ा प्रदान करना है।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

योजना की आधिकारिक वेबसाइट को जल्द ही जारी किया जायेगा।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana में आवेदन के लिए किन दस्तावेज की आवश्यकता होगी ?

MKSY scheme Gujarat में आवेदन के लिए आपको आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, स्थायी निवास प्रमाण पत्र , मोबाइल नंबर , बैंक खाता नंबर की आवश्यकता होगी।

किसान सहाय योजना गुजरात में आवेदन कैसे करें ?

योजना में आवेदन करने के लिए आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को साथ लेकर निकटवर्ती ई ग्राम केंद्र में जाना होगा। जहाँ से आप इस योजना के लिए अपना पंजीकरण करा सकेंगे।

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana में कितना मुआवज़ा मिलता है ?

योजना के अंतर्गत ऐसे किसान जिनकी फसल 33 फ़ीसदी से लेकर 60 फ़ीसदी तक खराब हो चुकी है उन्हें 20 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर तथा 60 फ़ीसदी से अधिक होने पर 25 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर प्राप्त होता है।

Leave a Comment