Mera Desh Bharat Par Nibandh | 10 lines Essay on Mera Desh Bharat | Mera Desh Essay in Hindi

आप सब यह तो जानते ही है की हमारा भारत देश कितना विशाल और महान है। भारत देश को हिन्दुस्तान, इंडिया,के नाम से भी जाना जाता हैं। आप सभी लोगो ने अपने जीवन में हमारे भारत देश के बारे में बहुत सी बातें जानने को मिली होंगी और यहाँ तक की हम सभी लोगो को अपने को स्कूल और कॉलेज के समय में हमारे देश के बारे में बहुत सी बातें बताई भी होंगी और तो और हम सभी ने स्कूल व कॉलेज में Mera Desh Bharat Par Nibandh तो लिखा ही होगा। तो अगर आपको भी मेरा भारत देश महान पर निबंध में दिलचस्पी हैं तो उसके लिए आज हमने इस लेख के माध्यम से यह बताया हैं की मेरा भारत देश पर निबंध किस प्रकार लिखे तो अगर आप भी इसके बारे में जानने के लिए इच्छुक हैं तो उसके लिए आपको इस लेख को ध्यानपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा ताकि आप भी मेरा देश भारत पर निबंध लिख सकें

Mera Desh Bharat Par Nibandh
Mera Desh Bharat Par Nibandh

इसको भी पढ़े :- Essay on My School in Hindi – मेरा विद्यालय पर निबंध हिंदी में

Mera Desh Bharat Par Nibandh

प्रस्तावना – Mera Desh Bharat एक बहुत ही महान देश हैं और हम सभी भारत देश के नागरिकों को इस बात पर बहुत गर्व होता है की हमने इस देश में जन्म लिया है। हमारा देश भारत पहल अंग्रेजों का गुलाम था और फिर 15 अगस्त 1947 को हमारा देश अंग्रेजो की गुलामी से आजाद हो चूका था। हमारा भारत देश एक बहुत ही खूबसूरत देश हैं जहाँ पर देश के हर एक व्यक्ति एवं हर एक बच्चे के अंदर देश के प्रति प्रेम एवं देश के प्रति जान न्योछावर करने की हिम्मत हैं। हमारे देश की हर एक चीज में कुछ न कुछ खासियत है। जैसे की हमारे देश की मिटटी में भी कुछ ख़ास बात है हमारे देश की मिट्टी में एक अलग एहसास और एक अलग ही सुगंध है। हमारे इस भारत देश में बहुत सी ऐसी चीजे हैं जो की हमारे देश को बाकी देशों से भिन्न बनाती हैं। जैसे की – भारत को पूरे विश्व का सबसे बड़ा लोकतन्त्र देश बताया जाता हैं।

भारत देश के पास पूरे विश्व में सबसे बड़ा डाक का नेटवर्क है और केवल यह ही नहीं भारत विश्व का दूसरा ऐसा देश जिसकी जनसँख्या विश्व में सबसे अधिक हैं आदि भारत में ऐसी बहुत सी चीजें है जो इसको बाकी सभी देशों से अलग बनाती हैं। भारत में सभी प्रकार के एवं धर्म के लोग निवास करते हैं और भारत हर में किसी धर्म को मान्यता प्रदान की गयी हैं।

भारत की विशेषताएं – सभी देशों की अपनी अपनी विशेषताएं होती हैं। ऐसे ही भारत की भी बहुत सी विशेषताएं हैं। जैसे की भारत में ताज महल स्थित है जो की दुनिया के सात अजूबों में से ही एक हैं। भारत का संविधान विश्व में सबसे बड़ा संविधान हैं और हमारा देश इतना खूबसूरत है की विदेशी लोग जब भारत घूमने के लिए आते हैं तो वह यहाँ की सुंदरता से मंत्रमुग्ध हो जाते हैं और फिर उनका इस देश को छोड़कर जाने का मन नहीं होता। हमारे इस देश में सभी को बराबरी का प्रदान किया गया हैं। भारत में सभी प्रकार के लोग निवास करते हैं हैं अलग धर्म के परन्तु उन सभी को एक सामान माना जाता हैं।

भारत के अलग अलग हिस्सों में अलग अलग प्रकार के लोग रहते हैं और वह लोग अपनी भाषा का प्रयोग करते हैं और भारत में करीब 22 प्रकार की भाषाएँ बोली जाती हैं परन्तु भारत की राष्ट्र भाषा हिंदी को माना जाता हैं। भारत में विश्व का सबसे पहला विश्वविद्यालय बनाया गया था जिसका नाम था तक्षशिला। इस जगह पर विद्वान चाणक्य ने अपनी शिक्षा प्राप्त की थी। तक्षशिला में विद्यार्थी दूर दूर से शिक्षा प्राप्त करने आते थे। भारत में पहले से ही बहुत बुद्धिमान व्यक्ति थे जिनमे से एक का नाम है आर्यभट्ट। आर्यभट्ट जी के द्वारा ही शून्य की खोज की गयी थी जिसके बिना गणित असंभव है।

भारत से ही योग का प्रचलन शुरू हुआ था। क्योंकि योग के बारे में ऋग्वेद के समय से ही चलता रहा हैं। और केवल यह ही नहीं अगर आज के समय में हम मीलों का सफर बड़े ही आसानी से कुछ हिओ घंटों में तय कर लेते हैं वो एयरोप्लेन की मदद से भारत में ही पहली विमान का अविष्कार किया गया था। परन्तु पहला विमान बनाने का दर्जा राइट ब्रदर्स को दिया गया है लेकिन ऐसा नहीं हैं। यह ही नहीं विश्व की सबसे पहली पुस्तक ऋग्वेद को बताया गया है जो की भारत के महँ ऋषि श्री व्यास जी के द्वारा लिखी गयी थी।

भारत की भौगोलिक स्थिति – अगर क्षेत्रफल के मुताबिक़ देखा जाए तो भारत विश्व का सातवा सबसे बड़ा देश हैं। Mera Desh Bharat का क्षेत्रफल 3,287,263 square kilometres (1,269,219 sq mi). है। भारत देश उत्तर से दक्षिण दिशा ता भारत की लम्बाई करें 3214 किलोमीटर है और पूर्व से पश्चिम की ओर तक भारत की लम्बाई 2933 किलोमीटर तक के करीब हैं। भारत का माथा कश्मीर को बताया जाता है और कश्मीर को भारत का मुकुट भी कहा जाता है। भारत की स्थल सीमा की लम्बाई करीब 15,200 किलोमीटर है। अगर देखा जाए तो भारत के पास पूरे विश्व का करीब 2.4% भू भाग है।

भारत में मनाये जाने वाले त्यौहार – भारत में कई प्रकार के लोग रहते हैं और सभी के अपने अपने त्यौहार होते है। भारत में लगभग हर माह बहुत से त्यौहार मनाये जाते हैं। यहाँ पर हर त्यौहार को बड़ी ही धूम धाम से मनाया जाता है। और इन सभी त्योहारों में लोग एक दूसरे से मिलते हैं और आपस में मिल झूलकर खुशियां बांटते हैं। हिन्दुओं के बहुत से त्यौहार होते हैं जैसे की –

माहत्यौहार के नाम
जनवरीनव वर्ष,गणतंत्र दिवस,लोहड़ी,थाईपुसम,पोंगल,मकर संक्रांति
फ़रवरीभोगाली बिहु,वसंत पंचमी/सरस्वती पूजा (विश्वकर्मा जयंती)
मार्चमहाशिवरात्रि,नवरोज़,होलिका दहन,होली,चैत्र नवरात्रि
गुडी पर्व।ऊगड़ी/तेलुगू नया साल,गणगौर पर्व,महावीर जयन्ती,हनुमान जयंती,
रामनवमी,पास ओवर,गुडफ्राइडे,ईस्टर
अप्रैल / मईगुरु पूर्णिमा,बुद्ध जयंती,बैशाखी,रंगाली बिहू,विशु,
अक्षय तृतीया/महर्षि परशुराम जयंती
जूनतीज,रथयात्रा
जुलाई / अगस्तनागपंचमी, रक्षा बंधन
अगस्त/सितम्बरजन्माष्टमी,स्वतंत्रता दिवस,खोरदाद साल,गणेश चतुर्थी
राखी-पूर्णिमा,ओणम,पर्यूषण,पटेटी (पारसी)
सितम्बर /अक्टूबरदशहरा/दुर्गापूजा/नवरात्रि,शरद पूर्णिमा
अक्टूबर/नवंबरकरवा चौथ,देव प्रबोधिनी एकादशी,धनतेरस,दीपावली
गोवर्धन पूजा,यम द्वितीया (भाई दूज),गुरु पर्व,छठ पूजा
दिसंबरक्रिसमस,लोसर (यहूदि)
Mera Desh Bharat में मनाये जाने वाले त्यौहार

मुस्लिम के कुछ त्यौहार के नाम इस प्रकार हैं

  • बारावफ़ात
  • ईद-उल-फितर/रमजान ईद
  • ईद-उल-जुहा
  • शब-ए-बारात
  • चेहल्लुम
  • मीलाद उन-नबी
  • मुहर्रम
  • जुमातुल विदा

भारत की जनसँख्या – अगर जनसँख्या के मुताबिक़ देखा जाएँ तो भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश हैं पहले स्थान पर चीन हैं। भारत में हर 10 वर्ष के बाद जनगणना की जाती हैं। भारत की जनसँख्या अगर 2020 तक 138 करोड़ हैं। भारत को अपनी जनसँख्या को नियंत्रित करने की आवश्यकता हैं। क्योंकि अधिक जनसँख्या होने के कारण देश को बहुत सी मुश्किलों से गुजरना पड़ता हैं। अधिक जनसँख्या होने के कारण किसी भी देश या फिर राज्य की बढ़ोतरी में बाधा डालती हैं। भारत देश की जनसँख्या अधिक होने के कारण भारत की आर्थिक स्थिति को काफी नुकसान होता हैं। किसी भी देश में सधिक जनसँख्या होने के कारण उस देश को बहुत सी गंभीर समस्याओं का सामना करना पढता है जैसे की – बेरोजगारी, खाद्य समस्या, कुपोषण, प्रति व्यक्ति आय, गरीबी, मकानों की कमी, महंगाई, कृषि विकास में बाधा, बचत एवं पूंजी में कमी, शहरी क्षेत्रों में घनत्व।

आजकल हमारे देश में अधिक जनंख्या की वजह से हमरे देश में सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी। हमारे इस देश में आजकल लोगो को खास कर की युवाओं को सबसे ज्यादा बेरोजगारी का सामना करना पढ़ रहा है। जैसा की आप जानते होंगे की भारत एक कृषि भूमि हैं और हमारे देश की इस बढ़ती जनसँख्या के कारण लोगो को जगह की समस्या हो रही है जिसके कारण लोग उपजाऊ जमीन पर भी घर बना रहे हैं जिसके कारण खेती के लिए जगह की कमी पढ़ रही है और सभी चीजों में महंगाई भी बढ़ रहीं हैं।

S.Noभारत के राज्यों के नामअनुमानित जनसँख्याS.Noभारत के राज्यों के नामअनुमानित जनसँख्या
1उत्तर प्रदेश19,98,12,34118पुदुचेरी12,47,953
2महाराष्ट्र11,23,74,33319मिजोरम10,97,206
3बिहार10,40,99,45220चण्डीगढ़10,55,450
4पश्चिम बंगाल9,12,76,11521सिक्किम6,10,577
5आंध्र प्रदेश8,45,80,77722अंडमान निकोबार द्वीपसमूह3,80,581
6मध्य प्रदेश7,26,26,80923दादरा एवं नागर हवेली3,43,709
7तमिलनाडु7,24,47,03024दमन एवं दीव2,43,247
8राजस्थान6,85,48,47325लक्षद्वीप64,473
9कर्नाटक6,10,95,29726गुजरात6,04,39,692
10उत्तराखण्ड1,00,86,29227ओडिशा4,19,74,218
11हिमाचल प्रदेश68,64,60228केरल3,34,06,061
12त्रिपुरा36,73,91729झारखण्ड3,29,88,134
13मेघालय29,66,88930असम3,12,05,576
14मणिपुर27,27,74931पंजाब2,77,43,338
15नागालैंड19,78,50232छत्तीसगढ़2,55,45,198
16गोवा14,58,54533हरियाणा2,53,51,462
17अरुणाचल प्रदेश13,83,72734दिल्ली1,67,87,941
35जम्मू-कश्मीर1,25,41,302
Mera Desh Bharat की जनसँख्या

भारत की संस्कृति – बताया यह जाता हैं की भारत की संस्कृति सबसे पुरानी है। भारत की संस्क्रृति करीब 5000 साल पुरानी हैं और केवल यह ही नहीं भारत की संस्कृति को आज के समय में भी विश्व की सब महान संस्कृति माना जाता हैं। भारत के अलग अलग इलाकों में अलग अलग संस्कृति वाले लोग रहते हैं, और हर कोई व्यक्ति अपनी संस्कृति का बहुत सम्मान करते हैं। संस्कृति में बहुत सी चीज आती है जैसे की – व्यक्ति की खाने की आदत, धर्म, बोल चाल, रहन-सहन, व्यक्ति का किसी और के प्रति व्यवहार, त्यौहार, संगीत, डांस आदि जैसी बहुत सी चीजों को संस्कृति भी कह सकते हैं। अगर देखा जाएँ तो भारत तो भारत की हिन्दुओं और बुद्ध धर्म की जन्मभूमि के नाम से भी जाना जाता हैं।

Mera Desh Bharat
National Flag

आज के समय में भी भारत देश में भारत में अधिकतर हिन्दू ही पाएं जातें हैं इसलिए इस को हिन्दुस्तान के नाम से भी जाना जाता हैं। भारत देश की सबसे बड़ी खासियत यह हैं की यहाँ पर सभी प्रकार के यानि के अलग जाती के अलग धर्म के लोग आपस में मिल झूल कर रहते हैं। इस देश के लोग ऍबे अपने त्यौहार अपने तरीके से मनाते हैं। सभी लोग अपनी सभयता को अपने बच्चों को भी सिखाते हैं और वह इसी प्रकार से अपनी संस्कृति को अपनी नयी पीड़ी को सौंप देते हैं।

भारत का राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) – भारत का राष्ट्रीय ध्वज का नाम तिरंगा हैं। तिरंगे में तीन रंगों का प्रयोग किया गया हैं और इस तिरंगे के बीच में एक अशोक चक्र हैं। इस तिरंगे में सबसे ऊपर गहरा केसर (dark saffron) रंग का प्रयोग किया गया हैं, यह रंग त्याग और बलिदान का प्रतीक माना जाता हैं तिरंगे के बीच में सफ़ेद रंग है जो की शांति,एकता और सच्ची को दर्शाता हैं और इस हमारे तिरंगे में सबसे निचे हरा रंग हैं जो की विश्वास और उर्वरता‘ का प्रतीक हैं। और तिरंगे के बीच में अशोक चक्र भी हैं जिसके अंदर 24 तीलियाँ होती हैं। अशोक चक्र को भारत के महान राजा अशोक सम्राट के शिलालेखों से लिया गया हैं।

Ashok Sthambh
अशोक स्तम्भ

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह – भारत का राष्ट्रीय चिन्ह को अशोक स्तम्भ कहा जाता हैं। अशोक स्तम्भ को मौर्या साम्राज्य के राजा अशोक सम्राट ने एक स्तम्भ बनवाया था इसको वही से लिया गया हैं। इस चिन्ह को 26 जनवरी 1950 में अपनाया गया था। इस दिन भारत को गणराज्य घोषित किया गया था। इस स्तम्भ के निचे सत्यमेव जयते भी लिखा गया हैं। जिसका मतलब होता हैं सत्य की हमेशा ही जीत हो।

भारत का राष्ट्रीय गान – भारत का राष्ट्रीय गीत राष्ट्रीय गान हैं। राष्ट्रीय गान को भारत के मशहूर लेखक श्री रविन्द्र नाथ टैगोर द्वारा लिखा गया था। राष्ट्रिय गान को 24 जनवरी 1950 को भारत की संविधानिक सभा के द्वारा इसको अपनाया गया था। राष्ट्रीय गान को प्रथम बार 27 दिसंबर 1911 को कॉग्रेस के कलकत्ता के सत्र में गाया गया था। हमारे राष्ट्रिय गान को गाने में 52 सेकंड का समय लगता हैं।

जन-गण-मन अधिनायक जय हे,
भारत भाग्य विधाता!
पंजाब-सिंध-गुजरात-मराठा,
द्राविड़-उत्कल-बंग
विंध्य हिमाचल यमुना गंगा,
उच्छल जलधि तरंग
तव शुभ नामे जागे,
तव शुभाशीष मागे
गाहे तव जय गाथा।
जन-गण-मंगलदायक जय हे,
भारत भाग्य विधाता!
जय हे! जय हे! जय हे!
जय जय जय जय हे!

भारत का राष्ट्रीय गीत – भारत का राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम हैं। हमारे राष्ट्रीय गीत को 24 January 1950 को भारत की संविधानिक सभा के द्वारा अपनाया गया था। भारत के राष्टीय गीत को पहली बार 1896 में भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के राजनीतिक संदर्भ श्री रबिन्द्र नाथ टैगोर जी के द्वारा गाया गया था। भारत के राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम श्री बंकिम चंद्र चटर्जी जी के द्वारा लिखा गया था।

वन्दे मातरम्।
सुजलाम् सुफलाम्
मलयजशीतलाम्
शस्यश्यामला मातरम्।
वन्दे मातरम्।

शुभ्रज्योत्स्नाम्
पुलकितयामिनीम्
फुल्लकुसुमित
द्रुमदलशोभिनीम्
सुहासिनीम्
सुमधुर भाषिणीम्
सुखदाम् वरदाम्
मातरम्।।
वन्दे मातरम्

भारत का राष्ट्रीय पशु – भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ हैं। बाघ को रॉयल बंगाल टाइगर भी कहा जाता है और इसको हमारा राष्ट्रिय पशु अप्रैल 1973 को घोषित कर दिया गया था। इसको भारत का राष्ट्रीय पशु इसलिए बनाया गया था क्योंकि जिस तरह से बाघ एक बहुत ही ताकतवर और मजबूत जानवर होता है उसी तरह से हमारा देश भी बहुत ताकतवर और मजबूत हैं।

मेरा देश भारत पर 10 लाइन का निबंध

  1. मेरे देश का नाम भारत हैं।
  2. पहले के समय में भारत वर्ष को सोने की चिड़िया के नाम से भी जाना जाता था।
  3. हमारे भारत देश की राजधानी का नाम दिल्ली हैं।
  4. भारत की वित्तीय राजधानी का नाम मुंबई हैं।
  5. हमारा भारत देश अंग्रेजों से 15 अगस्त 1947 को आजाद हो चूका था। इसलिए इस दिन को हमारे देश में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।
  6. 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में हमारा संविधान लागू हुआ था इसलिए इस दिन को गणतंत्र दिवस के नाम से भी जाना जाता हैं।
  7. क्षेत्रफल के अनुसार भारत विश्व का सातवा सबसे बड़ा देश हैं।
  8. भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र देश हैं।
  9. वर्तमान समय में भारत के प्रधान मंत्री जी का नाम श्री नरेंद्र दामोदर दास मोदी हैं।
  10. हम सभी को अपने भारतीय होने पर बहुत गर्व हैं।

Mera Desh Bharat से सम्बंधित प्रश्न और उनके उत्तर

भारत की राष्ट्रभाषा कौनसी हैं ?

भारत की राष्ट्रभाषा हिंदी हैं।

जनसँख्या के मुताबिक़ भारत कौन से स्थान पर हैं ?

जनसँख्या के मुताबिक़ भारत विश्व में दूसरे स्थान पर हैं।

भारत का राष्ट्रीय गीत कौनसा है और उसको किसने लिखा हैं ?

भारत के राष्ट्रीय गीत का नाम वन्दे मातरम हैं और इस गीत को बंकिम चंद्र चैटर्जी के द्वारा लिखा गया हैं।

भारत का क्षेत्रफल कितना हैं और क्षेत्रफल के अनुसार भारत कौनसा देश हैं ?

भारत का क्षेत्रफल 3,287,263 square kilometres है और क्षेत्रफल के अनुसार भारत विश्व का सातवा सबसे बड़ा देश हैं।

भारत का राष्ट्रीय गान किसने लिखा और इसको कब अपनाया गया था ?

भारत का राष्ट्रीय गान श्री रविंद्र नाथ टैगोर जी के द्वारा लिखा गया था और 24 जनवरी 1950 को भारत की संविधानिक सभा के द्वारा इसको अपनाया गया था।

Leave a Comment