MBA (एमबीए) फुल फॉर्म | MBA का Full Form

मित्रों नमस्कार, आज हम बात करने जा रहे हैं MBA के बारे में। आपने अक्सर अपने आस पास कभी न कभी एमबीए के बारे में सुना ही होगा और यह भी देखा होगा की हर जगह कहीं न कहीं MBA प्रोफेशनलस की डिमांड है। वैसे तो हमारे भारत में बहुत से प्रकार के करियर कोर्स हैं जिनमें से एक एमबीए है जो आपके बेहतरीन करियर स्कोप के लिए एक अच्छा कोर्स हो सकता है यदि आपके कोई मित्र या साथीगण Business की पढ़ाई कर रहें हैं तो उनसे आपने जरूर यह कहते सुना होगा की अगर आपको कॉर्पोरेट वर्ल्ड में एक अच्छी जॉब या किसी मल्टीनैशनल प्राइवेट कम्पनी में हाई पेइंग सैलरी पैकेज चाहिए है तो आपको MBA करना चाहिए। आगे आर्टिकल में आप MBA Full Form, MBA से संबंधित योग्यताएँ, कॉलेजस, करियर स्कोप आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे तो कृपया आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

MBA (एमबीए) फुल फॉर्म | MBA का Full Form
MBA (एमबीए) फुल फॉर्म | MBA का Full Form

MBA की Full Form – क्या है MBA ?

MBA एक तरह का Business प्रोफेशनल पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है। जिसकी फुल फॉर्म होती है “Master of Business Administration” एमबीए के कोर्स की शुरुआत दुनिया में सबसे पहले सन 1881 में अमेरिका के “द व्हार्टन स्कूल” से हुई जिसके बाद एमबीए का कोर्स अमेरिका के अन्य विश्वविद्यालयों में पढ़ाया जाने लगा। बाद में एमबीए की लोकप्रियता को देखते हुए यह कोर्स दुनिया भर के कॉलेजस में पढ़ाया जाने लगा। एमबीए कोर्स में स्टूडेंट्स को बिजनस के व्यावहारिक और प्रभावी रणनीतियों के बारे में पढ़ाया जाता है जिससे उनके अंदर ग्रुप डिस्कसन, टीम वर्क, सोशल इंटरेक्शन, सॉफ्ट स्किल आदि की एबिलिटी पैदा हो सके क्योंकि किसी Business को अच्छे और सुचारु रूप से चलाने के लिए MBA ग्रेजुएट्स छात्र के अंदर यह योग्यता होना जरूरी है। आपको बता दें की MBA के कोर्स की अवधि 2 वर्ष की होती है।

MBA एड्मिशन के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षायेँ

यदि आप किसी अच्छे कॉलेज से MBA करना चाहते हैं तो आप भारत में होने वाली विभिन्न MBA प्रवेश परीक्षाओं में भाग लेकर एमबीए कोर्स के एड्मिशन ले सकते हैं। एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स का पर्सनल इंटरव्यू भी लिया जाता है।देश और दुनिया में होने वाली कुछ एमबीए प्रवेश परीक्षाओं की लिस्ट इस प्रकार है –

  1. CAT – Common Admission Test 
  2. IIFT – Indian Institute of Foreign Trade
  3. MAT – Management Aptitude Test
  4. XAT – Xavier Aptitude Test
  5. NMAT/NMIMS – Narsee Monjee Institute of Management Studies (NMIMS) Management Aptitude Test.
  6. GMAT – Graduate Management Admission Test
  7. CMAT – Common Management Admission Test
  8. SNAP – Symbiosis National Aptitude Online Test
  9. KIITEE – Kalinga Institute of Industrial Technology Entrance Exam
  10. MBS – Mumbai Business School Entrance Exam
  11. APIME – Asia Specific Institute of Management Exam
  12. IGNOU OPENMAT – Open Management Admission Test

MBA के लिए योग्यता :-

एमबीए के कोर्स में एड्मिशन के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए –

  • एमबीए करने के लिए आपके पास देश के किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज/यूनिवर्सिटी से 50% अंकों के साथ किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन किया हुआ होना चाहिए। सरकारी कॉलेजस में आरक्षित वर्ग के स्टूडेंट्स के लिए एमबीए कोर्स के एड्मिशन में 5% की छूट का प्रावधान रखा गया है।

MBA के कोर्स के प्रकार :-

मुख्यतः एमबीए का कोर्स तीन प्रकार से किया जाता है यहाँ हम आपको तीनों की जानकारी दे रहें हैं –

1- Executive एमबीए :- यह कोर्स उन लोगों के लिए होता है जो एक बहुत बड़ी प्रतिष्ठित कंपनी में 3 साल से अधिक का कार्य अनुभव ले चुके हैं। Executive एमबीए कोर्स की अवधि 1 से 2 साल की होती है। इस कोर्स को करने के बाद आप किसी कम्पनी के M.D और C.E.O आदि पदों के लिए योग्य हो जाते हैं।

2- Regular एमबीए :- यह कोर्स एक तरह का फुल टाइम MBA कोर्स है जिसके लिए आपके पास किसी भी स्ट्रीम से 50 % अंकों के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री होना अनिवार्य है। इस तरह के MBA कोर्स की अवधि 2 से 3 साल की होती है। रेगुलर एमबीए कोर्स के बाद आप एमबीए के अलग – अलग क्षेत्रों में विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं।

MBA (एमबीए) कोर्स में किए जाने वाली विशेषज्ञता (Specializations) :-

Regular एमबीए कोर्स के 1 साल के बाद आप अंतिम 2 सालों में विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता कर सकते हैं जिनकी लिस्ट हमने यहाँ दी है –

  • MBA in Banking & Financial Services
  • MBA in Marketing
  • MBA in HR (human resource)
  • MBA in digital marketing
  • MBA in International Business
  • MBA in Information technology
  • MBA in business analytics
  • MBA in Healthcare Management
  • MBA in Rural
  • MBA in Family Business
  • MBA in Agri Business
  • MBA in Sustainability Management
  • MBA in Entrepreneurship
  • MBA in Energy Management
  • MBA in Dual Country Program
  • MBA in Big Data Analytics/ Data Science
  • MBA in Retail Management
  • MBA in Pharmaceutical Management
  • MBA in Operations Management

3- Correspondence एमबीए :- MBA correspondence एक तरह का डिस्टेंस लर्निंग कोर्स है जिसे आप घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से कर सकते हैं । यह कोर्स उन लोगों के लिए है जो किसी अन्य कोर्स की पढ़ाई कर रहे हैं या कोई जॉब करते हैं या किसी अन्य कारणों से रेगुलर एमबीए नहीं कर सकते । इस कोर्स में आपको घर पर रहकर पढ़ाई करनी होती है और परीक्षा केंद्रों पर आ कर या ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा देनी होती है। Correspondence एमबीए कोर्स की अवधि 1 से 2 साल तक होती है ।

MBA करने हेतु इंडियन टॉप कॉलेजस :-

यहाँ हम आपको एमबीए करने के लिए भारत में स्थित टॉप कॉलेजस की लिस्ट दे रहे हैं आप अपने अनुसार देश के किसी भी अच्छे इंस्टिट्यूट से एमबीए कर सकते हैं –

S. No.इंडियन टॉप एमबीए Colleges / Universities
1 TAPMI Manipal
2IIFT Delhi
3MDI Gurgaon
4IMI New Delhi
5Symbiosis Institute of International Business (SIIB) Pune
6IMT Ghaziabad
7Indian Institute of Management Ahmadabad
8XLRI: Xavier School of Management – Jamshedpur
9VIT वेल्लोर
10आईआईएम कोलकाता

MBA करने हेतु वर्ल्ड के टॉप कॉलेजस :-

क्रम
संख्या
वर्ल्ड के टॉप एमबीए Colleges / Universities
1Harvard Graduate School of Business, US
2Stanford Business School, US
3INSEAD, Paris
4The Wharton School at the University of Pennsylvania
5University of Chicago Booth School of Business, US
6London Business School, UK
7HEC Paris
8MIT Sloan School of Management, US
9IE Business School, Spain
10Columbia Business School, US

MBA करने के बाद सैलरी :-

भारत में एक अच्छे कॉलेज से एमबीए करने के बाद स्टूडेंट्स को औसतन लगभग 3 लाख से 30 लाख रुपये प्रति वर्ष का सैलरी पैकेज मिल जाता है। सैलरी के कम या अधिक होना आपके कोर्स की विशेषज्ञता पर निर्भर करता है अलग – अलग एमबीए (Specializations) कोर्स के लिए सैलरी भी अलग – अलग हो सकती है। वहीं दुनिया की बात करें तो एमबीए करने वाले स्टूडेंट्स को ऐवरेज 20 लाख से 80/90 लाख रुपये प्रति वर्ष का सैलरी पैकेज मिल जाता है। एमबीए ग्रेजुएट्स को नौकरी देने में सबसे आगे अमेरिका फिर उसके बाद इंग्लैंड का नंबर आता है।

MBA करने के बाद कैरियर स्कोप :-

MBA करने के बाद आप निम्नलिखित क्षेत्रों में अपना एक अच्छा कैरियर बना सकते हैं –

  • Management
  • Human Resources
  • Marketing
  • Finance
  • Accounting
  • Sales
  • Brand Manager
  • Marketing Manager
  • Market Research Analyst
  • Product Manager
  • Media Planner
  • Internet Marketing Manager
  • Accounting Manager
  • Risk and Insurance Manager
  • Treasurer
  • Finance Manager

आशा करते हैं की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा । हमें लगता है हमारे इस आर्टिकल ने आपके MBA कोर्स के बारे में सभी प्रश्नों के उत्तर दे दिए होंगे अन्य किसी डाउट या प्रश्न के लिए आप कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर पूछ सकते हैं । धन्यवाद

Leave a Comment