LOVE Full Form in Hindi | लव (Love) क्या होता है

Full form of Love – लव फुल फॉर्म – लव जिसे हिंदी में हम प्यार, मोहब्बत, स्नेह, प्रेम आदि कहते है। अपने ये शब्द काफी सुना होगा फिल्मों में , लोगों से अपने दोस्तों से आदि। हम सब की जिंदगी में किसी न किसी तरीके से लव होता ही है अब चाहे वो इंसान से हो या जानवर से भी। तो क्या आप जानते है की लव की परिभाषा क्या है ?

आप सब भी जानना चाहते होंगे की love- लव की परिभाषा क्या है, इसका क्या मतलब होता है , ये क्यों बोला जाता है आदि। ये सब जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़े।

Full form of Love - लव का फुल फॉर्म क्या है
Full form of Love – लव का फुल फॉर्म क्या है

LOVE full form – लव का FULL FORM

हर किसी के लिए हर शब्द की अलग अलग फुल फॉर्म होती है वैसे ही LOVE- लव की कई सारी फुल फॉर्म है जो नीचे लेख में दी गई है। –

  • लव की पहली फुल फॉर्म :-
    •  love – Life’s Only Valuable Emotion.
    • इसका हिंदी अर्थ हैं – जीवन का एकमात्र मूल्यवान भावना।
  • लव की दूसरी फुल फॉर्म :-
    • love –  Long Lasting Original Valuable Emotion.
    • इसका हिंदी अर्थ – लंबी स्थायी मूल मूल्यवान भावना। 
  • लव की तीसरी फुल फॉर्म :-
    • love -Lake of sorrow Ocean of tears Valley of death End of life.
    • इसका हिंदी अर्थ – दुःख की झील आँसुओं की घाटी, मौत की घाटी जीवन का अंत। 
  • लव की चौथी फुलफॉर्म:-
    • love –  Loss Of Valuable Education.
    • इसका हिंदी अर्थ -मूल्यवान शिक्षा का नुकसान। 
  • लव की पांचवी फुल फॉर्म :-
    • love -Life Of Very Emotional Person. 
    • इसका हिंदी अर्थ – बहुत भावनात्मक व्यक्ति का जीवन। 
  • लव की छठी फूल फॉर्म :-
    • love – Land of sorrow Ocean of Tears Valley of death End of life.
    • इसका हिंदी अर्थ है – जीवन के अंत के आँसू, घाटी के दुःख महासागर की भूमि। 

LOVE – लव क्या है ?

loveलव प्यार भावना , विश्वास तथा व्यव्हार का एक जटिल समूह है , जो किसी दूसरे इंसान या किसी वस्तु के लिए होता है। प्यार सिर्फ इंसानों तक ही सीमित नहीं है , देखा जाए तो प्यार जानवरों से चीजों से और किसी ईमारत से भी हो सकता है। देखा जाए तो प्यार अपने भगवान से हो सकता ही तो किसी को ताजमहल से भी होगा। love के कई नाम है , हिंदी और उर्दू में भी कई अलग नामों से बुलाया जाता है, इन नामो को लव के पर्यायवाची भी कहा जाता है। कुछ जाने माने पर्यायवाची है –प्रेम, प्यार, इश्क, स्नेह, लगाव , अनुरुक्ति, मोहब्बत, लाग आदि। यह एक आनंदमय और सुखद एहसास है जो इंसान द्वारा व्यक्त किया जाता है। प्रेम से सब कार्य अच्छे से किये जा सकतें है।

Love (प्यार) कितने प्रकार का होता है

सभी लोगों ने प्यार को खुद से डिफाइन किआ हुआ है जिसके साथ प्यार में जैसा होता है वे उसको उसी प्रकार से डिफाइन कर देता है , प्यार का समाज पर बहुत असर पड़ता है तो समाज ने भी प्यार को अलग अलग तरीकों से बताया है।

तो जो समाज और देश में प्यार को लेकर मिथ प्रचलित है , या किस प्रकार उनका वर्गीकरण किया गया है उसके बारे में बताते हैं।

  1. प्यार करने वाले पागल होते हैं – प्यार करने वाले हर समय उसी के बारे में सोचा करते है जिससे वो प्यार करते हैं , इसलिए प्यार करने वाले लोगों को सब लोग पागल मानते हैं। लेकिन मेरा मानना है की प्यार करने वाले कभी पागल नहीं होते।
  2. प्यार अंधा होता है – लव करने वाले लोग समाज में चल रही कुरीतियों के बारे में परवाह नहीं करते ,न ही समाज द्वारा बनाए गए नियमों की , इसलिए समाज में लोग कहते है की प्यार अंधा होता है।
  3. सच्चा प्यार , झूठा प्यार –अगर प्यार में विश्वास डगमगा जाता है, तो जितना भी प्यार-प्यार कर ले, उसका फिर मतलब नहीं रह जाता। जिसका प्यार कोई मुकाम हासिल कर लेता है, उनके लिए प्यार सच्चा है और जिसका नहीं उनके लिए प्यार उनकी असफलता के झूठ की निशानी बन जाता है। प्यार हमेशा विश्वास पर टिका होता है।

ANM Full Form In Hindi | ANM की फुल फॉर्म क्या है ?

Full form of Love – लव का फुल फॉर्म से जुड़े कुछ प्रश्न / उत्तर

LOVE की क्या परिभाषा है ?

LOVE –Life’s Only Valuable Emotion.

लव के क्या पर्यायवाची है ?

प्रेम , इश्क़ , प्यार , मोहब्बत , स्नेह आदि।

लव कितने प्रकार का होता है ?

इसके बारे में जानकारी के लिए ऊपर लेख में पड़ सकतें है।

क्या लव की अन्य परिभाषा है ?

जी हाँ , आप लव की अन्य परिभाषा ऊपर लेख में पड़ सकतें है।

यह भी पढ़े:-

Leave a Comment