LBW full form in hindi | एलबीडबल्यू क्या होता है

दोस्तों हमारे इस देश के साथ साथ दुनियाभर में क्रिकेट के बहुत से शौक़ीन लोग होते है। जिनको क्रिकेट देखना काफी पसंद होता है। वैसे तो दुनियाभर में बहुत से खेल खेले जाते है। लेकिन भारत के लोगो को अधिकतर क्रिकेट देखना पसंद होता है। दोस्तों अगर आप भी उन्ही में से एक है। जिनको क्रिकेट देखना पसंद है तो आप सभी क्रिकेट के अधिकतर नियमों के बारे में तो जानते ही होंगे। क्योंकि हर किसी खेल के अपने अपने अलग नियम होते है। तो दोस्तों अगर आप क्रिकेट के बारे में जानते है तो आप सभी ने कभी न कभी एलबीडबल्यू का नाम तो सुना ही होगा। तो क्या आप इसकी फुल फॉर्म जानते है। अगर नहीं तो आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है। क्योंकि आज हम आप सभी को हमारे इस लेख में LBW full form in hindi के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले है।

LBW full form in hindi
LBW full form in hindi | एलबीडबल्यू का इतिहास एवं नियम यहाँ जाने

तो दोस्तों क्या आप भी LBW full form in hindi के बारे में जानना चाहते है। तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा। क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकारी प्रदान की हुई है। जिसको पढने से ही आप इसके बारे में जान सकोगे। इसलिए दोस्तों कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक अवश्य पढ़े व इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करें।

यह भी पढ़िए :- Mankading क्‍या है- मांकडिंग नियम

यहाँ भी देखें -->> क्विज खेलकर इनाम कमाएं

Article Contents

LBW full form in hindi

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर एलबीडबल्यू की फुल फॉर्म बताने वाले है। तो अगर आप भी एलबीडबल्यू की फुल फॉर्म जानना चाहते है। तो कृपया कर दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़े।

  • LBW Full Form – Leg Before Wicket
  • LBW full form in hindiलेग बिफोर विकेट

LBW क्या होता है ?

तो दोस्तों जैसा की हमने आप सभी को बताया है की एलबीडबल्यू की फुल फॉर्म Leg before wicket होती है। आप सभी को यह भी बतादे की एलबीडबल्यू को पगबाधा के नाम से भी जाना जाता है। आपको बतादे की यह क्रिकेट के अंदर बैट्समैन को आउट करने का तरीका होता है। बॉलिंग कर रही टीम एलबीडबल्यू करने के पश्चात अंपायर से अपील कर सकती गई। उसके बाद अगर बैट्समैन आउट है तो फिर अंपायर बैट्समैन को आउट घोषित कर देता है। इस प्रक्रिया में अगर बॉल विकेट के सामने आती है और विकेट के आगे बैट्समैन का leg यानि के पैर आजाता है या फिर बल्लेबाज के द्वारा उसके शरीर के द्वारा बॉल रोक दी जाती है। तो ऐसी स्थिति में अंपायर बैट्समैन को आउट घोषित कर देता है।

आप सभी को यह बतादे की अगर अंपायर को ऐसा लगता है की बैटमैन आउट नहीं है तो वह एक बार थर्ड अंपायर की भी मदद लेता है। जिसके पश्चात उस बॉल को स्लो मोशन में देखा जाता है और यह चेक किया जाता है की बैट्समैन आउट है की नहीं। तब जाकर बैट्समैन आउट होता है। लेकिन दोस्तों आप सभी को यह भी बतादे की LBW से बैट्समैन को आउट करने के लिए भी कुछ नियम होते है। जिनके बारे में हमने इस लेख में जानकारी प्रदान की गयी है। जिसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

यह भी पढ़े :- Duck worth luis rule in cricket:

LBW के नियम

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते है की क्रिकेट बहुत वर्षों पुराना खेल है। जिसको काफी पहले से खेला जाता है। आपको बतादे की पहले के समय में बैट्समैन बॉल को अपने पैर या फिर शरीर की मदद से बॉल को विकेट पर लगने से बचा लेते थे लेकिन सं 1774 में एलबीडबल्यू का नियम बनाया गया। जिसके पश्चात अगर बल्लेबाज विकेट पर बॉल को लगने से रोकने के लिए अपने शरीर के किसी अंग का उपयोग करता है। तो उसको आउट करार दिया जाता है। इसके साथ साथ एलबीडबल्यू के कुछ अन्य नियम भी होते है। जिसके बारे में निचे जानकारी प्रदान की गई है। इसलिए जानकारी को ध्यान से पढ़े।

LBW के नियम कुछ इस प्रकार है :-

  • हाथ को छोडकर अगर बल्लेबाज के शरीर का कोई भी हिस्सा बॉल को विकेट पर लगने से रोकता है। तो ही बैट्समैन को आउट घोषित किया जाता है।
  • अगर गेंद लेग स्टंप से बाहर टप्पा खाती है। तो बैट्समैन आउट नहीं माना जाएगा।
  • अगर बॉल बैट से टच होकर लगती है तो बैट्समैन आउट नहीं माना जाता है।
  • अगर गेंदबाज के द्वारा नो बॉल करवाई गयी है। तो बल्लेबाज आउट नहीं माना जाएगा।
  • अगर बॉल बल्लेबाज के शरीर के किसी भी अंग से न टकराये तो बॉल सीधा विकेट पर लगनी चाहिए।
  • अगर बॉल बल्लेबाज के हाथ से टकराकर विकेट पर लगती है। तो भी आउट नहीं माना जायेगा।

यह भी पढ़े :- सुपर ओवर (Super Over) क्या है

LBW का इतिहास

दोस्तों अगर बात एलबीडबल्यू के इतिहास की करें तो यह काफी पुराना है। लेग बिफोर विकेट को सन 1774 में लागू किया गया था। इसको लागु करने के पीछे बहुत इ कारण थे। उनमे से एक यह भी था की बैट्समैन अपना पूर्ण विकेट को कवर करके खेलता है। जिसके कारण गेंदबाज को बल्लेबाज को आउट करने में काफी कठिनाई होती थी क्योंकि बल्लेबाज का शरीर बॉल को विकेट पर लगने से रोक लेता था। इसलिए इसी बात को ध्यान में रखते हुए। यह नियम बनाया गया की अगर बल्लेबाज जानबूझकर बॉल को विकेट पर लगने से रोकने के लिए अपने शरीर के किसी भी अंग का उपयोग करता है। तो ऐसे में बल्लेबाज को आउट घोषित कर दिया जाएगा।

LBW full form in hindi से सम्बंधित प्रश्न व उनके उत्तर

एलबीडबल्यू की फुल फॉर्म क्या है ?

LBW Full Form – Leg Before Wicket
LBW full form in hindiलेग बिफोर विकेट

LBW क्या होता है ?

इस प्रक्रिया में अगर बॉल विकेट के सामने आती है और विकेट के आगे बैट्समैन का leg यानि के पैर आजाता है या फिर बल्लेबाज के द्वारा उसके शरीर के द्वारा बॉल रोक दी जाती है। तो ऐसी स्थिति में अंपायर बैट्समैन को आउट घोषित कर देता है।

एलबीडबल्यू का कब लागु किया गया था ?

लेग बिफोर विकेट को सन 1774 में लागू किया गया था।

LBW को किस अन्य नाम से जाना जाता है ?

:LBW को पगबाधा के नाम से भी जाना जाता है।

Leave a Comment

Join Telegram