कौन सा नारा किसने दिया | Kaun Sa Nara Kisne Diya (Slogan)

कौन सा नारा किसने दिया:- तो दोस्तों जैसा की आप सभी यह तो जानते ही होंगे की भारत को आजाद हुए 75 वर्ष बीत चुके है। आज से करीब 75 वर्ष पूर्व हमारा भारत देश अंग्रेजों का गुलाम था। जिनसे आजादी दिलाने में हमारे देश के बहुत से लोगो का हाथ था जिनको क्रांतिकारी भी कहा जाता था। हमारे देश के बहुत से क्रांतिकारियों की मदद से ही हमारा देश आज आजाद हो पाया है। क्रांतिकारियों ने इस देश को आजादी दिलाने के लिए बहुत से आंदोलन किये है ताकि हमारा देश आजाद हो सके। इन क्रांतिकारियों के द्वारा बहुत से नारे भी दिए गए है जो की भारत की आजादी के समय लोग इन नारों का प्रयोग करते थे जैसे की – तुम मझे खून दो में तुम्हे आजादी दूंगा जिस प्रकार यह नारा सुभाष चंद्र बोसे ने दिया है उसी प्रकार बहुत से लोगो द्वारा नारे दिए गए है।

भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा? आइए हिंदुस्तान के 7 नामों इतिहास को जानते हैं 

कौन सा नारा किसने दिया | Kaun Sa Nara Kisne Diya (Slogan)
कौन सा नारा किसने दिया

इसलिए आज हम आप सभी को इस लेख की मदद से कुछ ऐसे नारों के बारे में बताने वाले है जो की बहुत मशहूर नारे है और उसके साथ साथ हम यह भी बताने वाले है की कौनसा नारा किसने दिया है। तो दोस्तों अगर आप कुछ ऐसे ही नारो के बारे में जानना चाहते है और यह जानना चाहते हैकि कौनसा नारा किसने दिया है तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख को पढ़ने के बाद ही आप जान सकेंगे की कौनसा कानून किसने दिया है आदि जैसी जानकारी तो दोस्तों अगर आप भी यह जानना चाहते हो तो कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े।

इसको भी अवश्य पढ़े :- भारत की खोज किसने की?

कौनसा नारा किसने दिया | Who gave the slogan

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर बताने वाले है की कौनसा नारा किसने दिया था। तो अगर आप भी यह सब जानना चाहते हो तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत ता पढ़ना होगा ताकि आप भी यह जानकारी प्राप्त कर सके।

1. जय जवान जय किसान

तो दोस्तों ने यह नारा कभी न कभी तो सुना ही होगा। यह नारा हमारे देश के ही एक क्रांतिकारी के द्वारा दिया गया था जिनका नाम लाल बहादुर शास्त्री जी था उस समय यह भारत देश के आपातकालीन प्रधानमंत्री थे। यह नारा उन्होंने 1965 में हो रहे भारत व पाकिस्तान के बीच हो रहे युद्ध के दौरान दिया था।

2. मारो फिरंगी को

तो दोस्तों इस नारे के बारे में भी आप सभी जानते ही होंगे मारो फिरंगी को का यह नारा मंगल पांडेय जी ने दिया था। इनको आज भी देश का सबसे पहला क्रांतिकारी माना जाता है। यह नारा मंगल पांडेय जी द्वारा इसलिए दिया गया था ताकि देश में हो रहे अंग्रेजो के जुल्मों से भारत के नागरिकों के दिल में भी क्रांति की भावना जगे।

3. वंदे मातरम्

इस मशहूर नारे के बारे में देश का हर एक नागरिक जानता है। इस मशहूर नारा वंदे मातरम् बंकिम चंद्र चटर्जी के द्वारा दिया गया था। यह एक नारा ही नहीं बल्कि यह भारत देश का राष्ट्रिय गीत भी है।

4. जय जगत

क्या आप इस नारे के बारे में जानते है अगर नहीं तो चिंता मत कीजिये। आपको यह भी बता दे की जय जगत का यह नारा विनोबा भावे के द्वारा दिया गया था। विनोबा भावे भी भारत के सबसे मशहूर स्वतंत्रता सेनानी में से एक थे। विनोबा भावे भी एक सामाजिक कार्यकर्त्ता थे व वह भी गाँधी जी के आदर्शों पर चलते थे।

5. कर मत दो 

कर मत दो – इस मशहूर नारे के बारे में भी आपने सुना ही होगा। इस नारे को सरदार बल्लभभाई पटेल जी के द्वारा दिया गया था। आपको यह बता दे की सरदार बल्लभभाई पटेल को लोहपुरुष यानि के Ironman ऑफ़ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है। इन्होने यह नारा 1928 में गुजरात में हुए एक किसान आंदोलन के वक़्त दिया था।

6. संपूर्ण क्रांति

यह नारा भी काफी मशहूर नारा है। यह केवल नारा ही नहीं है बल्कि यह एक विचार है जिसको जयप्रकाश नारायण जी ने दिया था। यह जयप्रकाश नारायण जी का नारा व विचार था। इस नारे का प्रयोग इन्होने इंदिरा गाँधी की सरकार के समय किया था। इन्होने इस नारे का प्रयोग इंदिरा गाँधी जी की सरकार का तख्ता पलटने के लिए किया था।

7. विजय विश्व तिरंगा प्यारा

इस नारे के बारे में भी आप सभी जानते होंगे की यह केवल एक नारा ही नहीं बल्कि यह एक गीत भी है जो की देश भक्ति गीत है और यह गीत बहुत लोगो को प्रिय है। इस मशहूर नारे का प्रयोग श्यामलाल गुप्ता पार्षद ने किया था। यह बहुत ही प्रिय गीत है जिसके कारण भारत के बहुत से नौजवानो में देश भक्ति जगाने की शक्ति है।

8. जन गण मन

इसके बारे में भी देश का हर एक नागरिक जानता है की यह न केवल एक नारा है बल्कि यह भारत देश का राष्ट्रिय गान भी है। तो अब आपको यह भी बता दे की इस नारे को और इस गीत का निर्माण भारत के जाने माने व्यक्ति श्री रविंद्रनाथ टैगोर जी ने इसका निर्माण किया था और उन्होंने इसको सर्वप्रथम 27 दिसंबर 1911 कोलकाता के कांग्रेस सेशन में गाय था।

9. स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है

यह भी एक बहुत ही मशहूर नारा है। स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है यह नारा बाल गंगाधर तिलक जी के द्वारा दिया गया था। वैसे यह पूर्ण नारा यह है की स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और हम इसे लेकर रहेंगे यह पूर्ण नारा है। इस नारे ने अंग्रेजों की नाक में दम कर दिया था। आपको यह भी बता दे की बाल गंगाधर तिलक जी ने यह नारा मराठी भाषा में दिया था जो कुछ इस प्रकार था स्वराज्य हा माझा जन्मसिद्ध हक्क आहे आणि तो मी मिळवणारच

10. इंकलाब जिंदाबाद

भगत सिंह जी के नाम से तो देश का हर एक नागरिक वाकिफ होगा क्योंकि उनको किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उनका नाम हर कोई जानता है। उनके महँ कार्यों के बारे में भी हर कोई जनता है। इंकलाब जिंदाबाद का यह मशहूर नारा भी भगत सिंह जी ने ही दिया था। भगत सिंह जी ने इस नारे का प्रयोग 8 अप्रैल 1929 को दिल्ली असेंबली के दौरान केवल एक आवाज वाले बम को फोड़ते हुए किया था।

11. करो या मरो

इस नारे के बारे में भी आप सभी हिओ जानते होंगे की इस नारे यानि के करो या मारो का नारा राष्ट्रपिता श्री महात्मा गाँधी जी के द्वारा दिया गया है। इस नारे को महात्मा गाँधी जी के द्वारा 8 अगस्त 1942 को बॉम्बे में हो रहे एक आंदोलन के वक़्त दिया था। उन्होंने इस नारे का प्रयोग आंदोलन में भाषण देने से पूर्व प्रयोग किया था।

12. जय हिंद

जय हिन्द नारे का प्रयोग तो आज भी हर कोई व्यक्ति करता है क्योंकि यह नारा एक देशभक्ति नारा है जिसको भारत का हर एक नागरिक बोलना पसंद करता ही इस देशभक्ति नारे का प्रयोग सबसे पहले सुभाषचंद्र बोस जी के द्वारा किया गया था। इस नारे का मतलब यह होता है कि भारत की विजय। इसका अर्थ यह ही है।

13. पूर्ण स्वराज

पूर्ण स्वराज भी एक ऐसा नारा है जिसके बारे में हमें आपको बताने की आवश्यकता नहीं है मगर फिर भी आप सभी को बता दे की इस नारे का प्रयोग सर्वप्रथम भारत के पहले प्रधानमंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू जी के द्वारा किया गया था। इन्होने इस नारे का प्रयोग 31 दिसम्बर 1929 भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का वार्षिक अधिवेशन जो की लाहौर में आयोजित किया गया था वहां पर इन्हों इसका प्रयोग वहीँ पर किया था।

14. तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा 

इस नारे के बारे में भी भारत का लगभग हर एक नागरिक जानता होगा की तुम मझे खून दो में तुम्हे आजादी दूंगा का नारा श्री सुभाषचंद्र बोस जी ने दिया था। उन्होंने इस नारे का सर्वप्रथम प्रयोग 4 जुलाई 1944 को बर्मा में किया था। यह एक ऐसा नारा है जिसकी वजह से भारत के हर एक नागरिक के अंदर देशभक्ति की भावना जाग जाती है।

15. सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा

जैसा की आप सभी यह भी जानते भी एक गीत है जिसको नारा भी कहा गया है। परन्तु यह गीत व नारा एक बहुत ही प्रिय है जो की हर एक देश वासी को पसंद है। यह नारा भारत के मशहूर कवि, बैरिस्टर और दार्शनिक जी नेदिया है जिनका नाम मोहम्मद इकबाल है। यह नारा मोहम्मद इक़बाल के द्वारा  1905 में लिखा गया था और इस नारे का सर्वप्रथम प्रयोग लाहौर के एक सरकारी कॉलेज में किया गया था। यह एक बहुत ही प्रिय गीत है।

2022 में जारी विभिन्न सूचकांक और भारत की रैंक | List Of Index Ranking 2022

कौन सा नारा किसने दिया से सम्बंधित कुछ प्रश्न

भारत का ऐसा कौनसा गीत है जो की राष्ट्रिय गीत भी है और है उसका नाम बताइये और किसने लिखा है ?

इस मशहूर नारे के बारे में देश का हर एक नागरिक जानता है। इस मशहूर नारा वंदे मातरम् बंकिम चंद्र चटर्जी के द्वारा दिया गया था। यह एक नारा ही नहीं बल्कि यह भारत देश का राष्ट्रिय गीत भी है।

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा- यह नारा किसके द्वारा दिया गया है ?

यह केवल एक नारा ही नहीं बल्कि यह एक गीत भी है जो की देश भक्ति गीत है और यह गीत बहुत लोगो को प्रिय है। इस मशहूर नारे का प्रयोग श्यामलाल गुप्ता पार्षद ने किया था। यह बहुत ही प्रिय गीत है जिसके कारण भारत के बहुत से नौजवानो में देश भक्ति जगाने की शक्ति है।

जय जवान जय किसान का नारा किसने दिया था ?

यह नारा हमारे देश के ही एक क्रांतिकारी के द्वारा दिया गया था जिनका नाम लाल बहादुर शास्त्री जी था उस समय यह भारत देश के आपातकालीन प्रधानमंत्री थे।

इंकलाब जिंदाबाद नारा किसके द्वारा दिया गया है ?

इंकलाब जिंदाबाद क नारा भरता के मशहूर क्रांतिकारी श्री भगत सिंह के द्वारा दिया गया है।

Leave a Comment

Join Telegram