ISRO Full Form in Hindi — ISRO का फुल फॉर्म क्या है?

तो दोस्तों जैसा की आप सभी यह जानते है की आज के समय में दुनिया विज्ञान के क्षेत्र में बहुत आगे बढ़ चुकी है और डिजिटल भी हो चुकी है। इस दुनिया के साथ साथ भारत भी काफी विकसित हो चुका है। भारत इतना विकसित हो चूका है की आज के समय में भारत भी अपने खुद के बनाये हुए राकेट और उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजने के काबिल है। जिसके लिए उसको किसी भी देश की कोई भी सहायता की आवश्यकता नहीं है। भारत में ऐसे बहुत से स्पेस सेंटर है जो की नई नई चीजों का अविष्कार कर भारत को इस क्षेत्र में और भी आगे बढाती है। भारत का प्रमुख स्पेस रिसर्च सेंटर का नाम है ISRO. तो दोस्तों क्या आप भी ISRO के बारे में जानते है। अगर नहीं तो आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है।

ISRO Full Form in Hindi — ISRO का फुल फॉर्म क्या है?
ISRO Full Form in Hindi

क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख में ISRO के बारे में बहुत सी जानकारी प्रदान करने वाले है जैसे की – ISRO की फुल फॉर्म क्या है ISRO क्या है आदि जैसी जानकारी तो दोस्तों अगर आप सभी भी इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख को पढ़ने के बाद ही आप इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते तो कृपया कर इसे अंत तक पढ़े।

इसको भी अवश्य पढ़े :- PFI की फुल फॉर्म क्या है | What is the full form of PFI

ISRO Full Form | ISRO का फुल फॉर्म क्या है?

  • ISRO full form in English – Indian Space Research Organisation
  • ISRO का फुल फॉर्म हिंदी में – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

ISRO क्या है | What is ISRO?

Indian Space Research Organisation की स्थापना भारत सरकार द्वारा इसलिए की गयी थी ताकि भारत भी अंतरिक्ष सम्बंधित अनुसंधान कर सके। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की स्थापना विक्रम साराभाई जी के द्वारा 15 अगस्त 1969 को की गयी थी। यह संगठन का मुख्य कार्य यह है की यह भारत को अंतरिक्ष से सम्बंधित तकनीक उपलब्ध करवाना है। इसरो भारत के लिए नए नए और भिन्न प्रकार के उपग्रहों को बनाए के कार्य भी करता है जिससे भारत की उन्नति भी होती है। अब तक भी इसरो ने भारत के लिए बहुत सी अलग अलग स्टैलिटे का निर्माण कर चूका है जैसे की – ब्रॉडकास्ट कम्युनिकेश, वेदर फोरकास्ट, ज्योग्राफिक इनफॉरमेशन, डिस्टेंस एजुकेशन, टेलीमेडिसिन, कम्यूनिकेशन आदि।

जिस मकसद से इसरो का निर्माण किया गया था उस उद्देश्य पर इसरो कामयाब हुआ है। वर्तमान समय में इसका मुख्यालय कर्णाटक राज्य के बेंगलुरु में स्थित है। आपको यह भी बता दे की भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने पिछले कुछ सालों में इसने बहुत सी उपब्धियां प्राप्त की है। जैसा की आप सभी जानते होंगे की आज के समय में भारत कम्युनिकेशन के क्षेत्र में और भी बहुत से क्षेत्र में बाकि देशो से काफी आगे बढ़ा रहा है इन सभी के पीछे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ही है। आपको यह भी बता दे की Indian Space Research Organisation विश्व के टॉप 5 अनुसंधानों सेंटर में से एक है।

इसरो का इतिहास

इसरो की स्थापना 15 अगस्त 1969 को विक्रम साराभाई जी के द्वारा की गयी थी। आपको यह भी बता देखी 1966 में विक्रम साराभाई जी को भारत सरकार के द्वारा इनको वैज्ञानिक व तकनिकी क्षेत्र में इनको पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसरो की स्थापना के समय विक्रम साराभाई जी को ही इसरो का चेयरमैन बनाया गया था। उससे पहले 1963 में थुम्बा राकेट के जरिये भारत के पहले राकेट का परीक्षण किया गया। उसके बाद 1975 में इसरो के द्वारा भारत का पहला उपग्रह अंतरिक्ष में भेजा गया जिसका नाम आर्यभट्ट रखा गया। उसके बाद सन 1979 में भारत के इसरो के द्वारा भारत का दूसरा उपग्रह लांच किया गया जिसका नाम भास्कर था।

इसी प्रकार इसरो ने बहुत कामयाबी प्राप्त की और इसी प्रकार से भारत भी इस क्षेत्र में बढ़ोतरी करता गया। उसके बाद 2013 में भारत ने एक ऐसा कार्य कर दिखाया जो की बाकी कोई भी देश नहीं कर पाया था वो यह है की भारत ने मंगल पर मंगलयान भेजा जो की सफल हुआ और इसी प्रकार से भारत विश्व क ऐसा पहला देश बन गया जिसने मंगल पर उपग्रह भेजा। उसके बाद हाल ही में 2019 में भारत ने चंद्रयान – 2 को लांच किया और भारत ने अपने इस चंद्रयान – 2 को बाकी देशों के मुक़ाबले बहुत ही कम खर्च में इसको लांच किया। केवल यह ही नहीं बल्कि और भी बहुत सी ऐसी चीजें है जिससे भारत के इसरो को बहुत कामयाबी प्राप्त हुई जिसकी मदद से भारत भी एक बेहतर देश बन सका है।

भारत में इसरो के केंद्र | ISRO centers in India

तो दोस्तों आप सभी को यह भी बता दे की भारत में इसरो के 6 केंद्र है जिनके बारे में हमने आप सभी को यहाँ पर जानकरी प्रदान की है तो कृपया दी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़े।

  1. Vikram Sarabhai Space Centre (VSSC) Thiruvananthapuram
  2. ISRO Satellite Centre (ISAC) Bangalore
  3. Satishdhavan Space Centre (SDSC-SHAR) Sriharikota
  4. Fluid nodan system Centre (LPSC) at Thiruvananthapuram Bangalore and Mahendragiri
  5. Space use centre (SAC) Ahmedabad and National Remote
  6. Sensing Centre (NRSC) Hyderabad

ISRO से सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर

ISRO का फुल फॉर्म क्या है?

ISRO full form in English – Indian Space Research Organisation
ISRO का फुल फॉर्म हिंदी में – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

ISRO क्या है ?

Indian Space Research Organisation की स्थापना भारत सरकार द्वारा इसलिए की गयी थी ताकि भारत भी अंतरिक्ष सम्बंधित अनुसंधान कर सके। यह संगठन का मुख्य कार्य यह है की यह भारत को अंतरिक्ष से सम्बंधित तकनीक उपलब्ध करवाना है। इसरो भारत के लिए नए नए और भिन्न प्रकार के उपग्रहों को बनाए के कार्य भी करता है जिससे भारत की उन्नति भी होती है।

ISRO की स्थापना कब हुई थी ?

ISRO की स्थापना 15 अगस्त 1969 को हुई थी

ISRO की स्थापना किसके द्वारा की गयी थी और इसके चेयरमैन कौन थे ?

ISRO की स्थापना विक्रम साराभाई जी के द्वारा की गयी और इन्ही को इसरो का चेयरमैन भी बनाया गया था।

इसरो का मुख्यालय भारत में कहाँ पर स्थित है ?

इसरो का मुख्यालय भारत के कर्नाटक राज्य के बेंगलुरु में स्थित है।

Leave a Comment