(रजिस्ट्रेशन) मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता सूची

कोरोना के कारण देश में लाखो बच्चो ने अपने अभिभावकों को खोया है। उत्तर-प्रदेश में भी ऐसे बच्चो की संख्या हजारो में है जिन्होंने कोरोना के कारण अपने माता-पिता या दोनों में से किसी एक को खोया है। अभिभावकों की मृत्यु के कारण इनके सामने पढ़ाई से लेकर अन्य कई आर्थिक समस्याऐं खड़ी हुई है। अब उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा ऐसे बच्चो जिनके माता-पिता या दोनों में से एक अभिभावक की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है को राहत पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 शुरू की गयी है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा इन अनाथ बच्चो को हर माह 4000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी साथ ही उनकी पढ़ाई से लेकर अन्य खर्चे भी प्रदेश सरकार द्वारा वहन किये जायेंगे। बच्चो के कोई अभिभावक ना होने की स्थिति में सरकार द्वारा राजकीय बाल-गृह में बच्चो का पालन-पोषण किया जायेगा। आज के लेख के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 (UP CM Bal Sewa Yojana) क्या है ? इस योजना का उद्देश्य, लाभ, पात्रता क्या है साथ ही इस लेख के माध्यम से इस योजना से आवेदन करने की प्रक्रिया से भी अवगत होंगे।

UP CM Bal Sewa Yojana
UP CM Bal Sewa Yojana

उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के अनाथ बच्चो को सहारा देने के लिए UP CM Bal Sewa Yojana शुरू की गयी है। इस योजना के अंतर्गत कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान करने और उनकी पढ़ाई सहित अन्य खर्चे पूरे करने के लिए सरकार द्वारा प्रतिमाह 4,000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। योजना में अगर किसी बच्चे के दोनों अभिभावक कोरोना के कारण काल-कलवित हुये है और बच्चे का कोई सँरक्षक नहीं है तो ऐसी स्थिति में बच्चे का पालन पोषण राजकीय बाल-गृह में किया जायेगा। साथ ही उन्हें अटल आवासीय विद्यालय में प्रवेश भी दिया जायेगा। अवयस्क अनाथ बालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ-साथ अलग से आवासीया सहायता भी प्रदान की जाएगी साथ ही बालिकाओं की शिक्षा हेतु कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय के माध्यम से उनकी शिक्षा-दीक्षा भी पूरी करवाई जाएगी। योजना में बालिकाओ की शादी होने पर 101000 रुपए की आर्थिक सहायता का प्रावधान भी रखा गया है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022, Highlights

यहाँ दी गयी टेबल के माध्यम से आपको मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 (UP CM Bal Sewa Yojana) से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदुओं की जानकारी प्रदान की गयी है।

योजना का नाम मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022
योजना का उद्देश्य कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो को आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाना
शुरू की गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
वर्ष 2022
सम्बंधित राज्य उत्तर-प्रदेश
लाभार्थी उत्तर-प्रदेश के अनाथ बच्चे
क्रियान्वयन विभाग महिला एवं बाल-विकास विभाग
आधिकारिक वेबसाइट जल्द जारी की जाएगी (will be Launched Soon )
आवेदन का माध्यम ऑनलाइन/ऑफलाइन

UP CM Bal Sewa Yojana, उद्देश्य

कोरोना के कारण पूरे देश में लाखों बच्चो ने अपने माँ-बाप को खोया है जिसमे से एक बहुत बड़ा नंबर प्रदेश के बच्चो का भी है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबित भी प्रदेश के हजारो बच्चों ने अपने माँ-बाप या दोनों अभिभावकों में से किसी एक को खोया है ऐसे में इनके सामने पढ़ाई सहित अन्य खर्चो को लेकर आर्थिक संकट पैदा हो गया है। इन अनाथ बच्चो को आर्थिक सहायता देने के लिए और इनकी पढाई सहित अन्य खर्चे पूरे करने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 (UP CM Bal Sewa Yojana) शुरू की गयी है। इस योजना का शुभारंभ प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा वर्ष 2021 में किया गया था। योजना के तहत सरकार द्वारा अनाथ बच्चो को हर महीने 4000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जो की डीबीटी के माध्यम से पात्र बच्चे के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी। साथ ही इस योजना के तहत जिन बच्चो को कोई सँरक्षक नहीं है उन्हें सरकार द्वारा राजकीय बाल-गृहों में सँरक्षण दिए जायेगा साथ ही बच्चो की पढ़ाई का खर्च भी सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। इसके तहत सरकार द्वारा ऐसे बच्चो को अटल आवासीया विद्यालयों के माध्यम से प्रवेश दिए जायेगा।

वही अवयस्क बालिकाओ को भी सरकार द्वारा कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय के माध्यम से प्रवेश दिया जायेगा। इसके अतिरिक्त उतर-प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना में उन अनाथ बच्चों जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के इतर अन्य कारणों से हुई है उन्हें भी शामिल किया गया है ताकि कोई भी अनाथ बच्चा आर्थिक सहायता से वंचित ना रहे। योजना के तहत लड़कियों की शादी के अवसर पर 101000 रुपए के आर्थिक सहायता का प्रावधान भी रखा गया है। वही स्कूल में अध्ययनरत बच्चो को निशुल्क टेबलेट और लैपटॉप भी उपलब्ध करवाया जायेगा ताकि उन्हें पढ़ाई सम्बंधित कामो में सहायता मिले। हालाँकि अगर कोई बच्चा 10 वर्ष के कम उम्र का है तो इस स्थिति में योजना की धनराशि बालक के सँरक्षक के खाते में भेजी जाएगी।

ये है योजना के लाभ

UP CM Bal Sewa Yojana से प्रदेश के अनाथ बच्चो को हर माह आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त योजना के मुख्य लाभ इस प्रकार है।

  • कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो को सरकार द्वारा हर माह 4000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • बच्चो की पढ़ाई-लिखाई से लेकर अन्य खर्चे भी सरकार द्वारा वहन किये जायेंगे।
  • अनाथ बालिकाओ की शादी होने पर 1 लाख रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • जिन बच्चो का कोई सँरक्षक नहीं है उन्हें सरकार द्वारा राजकीय बाल-गृह में आश्रय दिया जायेगा।
  • पात्र बच्चो को अच्छी शिक्षा देने के लिए आवासीया सहायता और आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • बच्चो को अटल आवासीया विद्यालयों के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जाएगी।
  • बालिकाओं को कस्तूरबा गाँधी बालिका स्कूलों के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जाएगी।

इस स्थिति में भी मिलेगा लाभ

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 के तहत उतर-प्रदेश सरकार द्वारा अब इस योजना में ऐसे बच्चो को भी शामिल किया गया है जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना से ना होकर अन्य कारणों से हुई है। इससे प्रदेश के सभी अनाथ बच्चो को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता का लाभ प्रदान किया जायेगा। सरकार द्वारा इस योजना में कोरोना के कारण मृत्यु को ही योजना के लिए पात्रता माना गया है लेकिन अब सरकार ने इस प्रावधान में कुछ संशोधन किये है।

अब इसमें ऐसे बच्चो को भी शामिल किया जायेगा जिनके अभिभावकों को मृत्यु पोस्ट-कोविड के कारण हुई हो। अगर किसी बच्चे के अभिभावक की कोरोना रिपोर्ट (RT-PCR Report) नेगेटिव आई है किन्तु कोरोना के बाद (Post-Covid) जटिलताओं के कारण उनकी मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में भी बच्चे को योजना का लाभ दिया जायेगा। साथ ही गोद लिए हुये अभिभावकों या सँरक्षक की मृत्यु होने पर भी बच्चे की समान लाभ दिया जायेगा।

ये है जरुरी पात्रताएँ

UP CM Bal Sewa Yojana के तहत सरकार द्वारा निम्न पात्रताएँ निर्धारित की गयी है।

  • आवेदक उतर-प्रदेश राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • बच्चे के माता-पिता की मृत्यु कोरोना के संक्रमण के कारण हुई हो।
  • बच्चो के माता-पिता में किसी एक की मृत्यु मार्च 2020 से पूर्व होने पर और दूसरे की कोरोना काल के दौरान होने पर भी बच्चे की योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • गोद लिए बच्चे भी अपने अभिभावक को खोने पर इस योजना के पात्र है इसके अतिरिक्त किसी के संरक्षण में रहने वाले बच्चे भी अभिभावकों को मृत्यु होने पर योजना में आवेदन कर सकते है।
  • अगर घर के कमाऊ सदस्य (अभिभावकों में से) की मृत्यु कोरोना के कारण हो जाती है तो बच्चे को योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • परिवार के मुख्य सदस्य की मृत्यु कोरोना के कारण होने पर जीवित अभिभावक (माता या पिता) या परिवार के अन्य सदस्यों की कुल आय 2 लाख या इससे कम होनी चाहिए।

जरुरी दस्तावेज

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 आवेदन करने के लिए निम्न दस्तावेजों का होना अनिवार्य है।

  • बच्चे का जन्म-प्रमाण पत्र
  • बच्चे का आयु प्रमाणपत्र
  • निवास प्रमाणपत्र
  • माता-पिता का मृत्यु प्रमाणपत्र
  • अभिभावकों के साथ बच्चे की नवीनतम फोटो
  • कोविड के कारण माता-पिता या जो भी अभिभावक मृत हुआ है का मृत्यु प्रमाणपत्र (इसमें पोस्ट-कोविड से मृत्यु को भी शामिल किया गया है)
  • बच्चे के शिक्षण सम्बंधित सर्टिफिकेट
  • बालिका के विवाह हेतु शादी सम्बंधित अभिलेख जैसे :- शादी का कार्ड, बालिका का आयु प्रमाणपत्र, अन्य जरूरी दस्तावेज
  • बालिका की अभिभावकों के साथ नवीनतम फोटोग्राफ

UP CM Bal Sewa Yojana, ऐसे करें आवेदन

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 (UP CM Bal Sewa Yojana) में आवेदन करने के लिए आपको इन स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले अपने ग्रामीण क्षेत्र से सम्बंधित निकाय के जाकर ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, खंड या जिला प्रोबेशन अधिकारी से योजना सम्बंधित फॉर्म प्राप्त कर ले। अगर आप प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में रहते है तो क्षेत्र के सम्बंधित निकाय लेखपाल, तहसील या जिले के प्रोबेशन अधिकारी से योजना का आवेदन पत्र प्राप्त कर ले।
UP CM Bal Sewa Yojana.Online Registration
UP CM Bal Sewa Yojana.Online Registration
  • इसमें मांगी गयी सभी जानकरियाँ जैसे नाम, पता, शैक्षिक योग्यता, और अन्य सभी जरुरी जानकरियाँ दर्ज कर दे।
  • साथ ही आवेदन पत्र के साथ महत्वपूर्ण दस्तावेजों को भी संलग्न कर दे।
  • इसके बाद इसे अच्छे से चेक करने के बाद इसे समबन्धित कार्यालय में जमा करवा दे।

राज्य के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा आवेदन की जाँच 15 दिनों के भीतर पूरी कर पात्र बच्चे का सत्यापन करके और अन्य प्रक्रियाएँ पूरी करके योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा। हालांकि यह ध्यान रखना जरुरी है की योजना में आवेदन बच्चे के माता-पिता की मृत्यु होने के 2 वर्ष के भीतर ही किया जाना चाहिए।

ये है योजना की मुख्य बातें

केंद्र सरकार द्वारा कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन स्कीम योजना का संचालन किया गया था ऐसे में प्रदेश सरकार द्वारा भी इसी तर्ज पर मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 (UP CM Bal Sewa Yojana) का शुभारंभ किया गया है। सरकार द्वारा योजना के संचालन की जिम्मेदारी महिला एवं बाल विकास विभाग, उत्तर-प्रदेश को सौंपी गयी है। कोरोना के कारण अनाथ बच्चो को जल्द से जल्द योजना का लाभ मिल सके इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा 15 दिनों के भीतर ही आवेदन प्रक्रिया को पूरा करने के निर्देश दिए गए है।

योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा अनाथ हुये बच्चो के पालन-पोषण से लेकर पढ़ाई और आवास जैसी सभी मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने के प्रावधान रखे गए है। जानकरी के लिए बता दे की सरकार द्वारा योजना का दायरा उन बच्चो के लिए भी बढ़ाया गया है जिन्होंने किसी अन्य कारण से अपने अभिभावक खोये है। योजना के अंतर्गत अब तक 6,000 से भी ज्यादा बच्चो को चिन्हित किया जा चुका है। अगर बच्चे का कोई संरक्षक है तो इस स्थिति में यह जरुरी है की वह बच्चे का शैक्षिक संस्थान में दाखिला करवाए साथ ही उसे बच्चे की अन्य जरुरतो का भी ध्यान रखा होगा। संरक्षक होने की दशा में योजना की धनराशि संरक्षक के बैंक अकाउंट में भेजी जाएगी।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब (FAQ)

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 क्या है ?

इस योजना को उतर-प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया है। योजना के अंतर्गत कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। साथ ही उनकी पढ़ाई, पालन-पोषण और अवयस्क अनाथ लड़कियों की शादी के लिए भी आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान रखा गया है।

इस योजना के क्या लाभ है ?

इस योजना के द्वारा सरकार द्वारा कोरोना के कारण अनाथ हुये बच्चो के पालन-पोषण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। साथ ही उनकी पढ़ाई से लेकर अन्य प्रकार के खर्चो के लिए भी आर्थिक सहायता का प्रावधान रखा गया है। अनाथ बालिकाओ की शादी पर 101000 रुपए की राशि प्रदान की जाती है।

इस योजना में कैसे आवेदन करे ?

योजना में आवेदन करने के लिए आप ऊपर दिया गया लेख पढ़े। इसमें बताये गए स्टेप्स को फॉलो करके आप आसानी से योजना में आवेदन कर सकते है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 के तहत कितनी आर्थिक सहायता का प्रावधान रखा गया है ?

इस योजना के तहत सरकार द्वारा हर माह पात्र बच्चो के अकाउंट में 4000 रुपए की आर्थिक सहायता भेजी जाएगी। साथ ही पात्र बालिका की शादी होने पर एक लाख रुपए देने का प्रावधान भी रखा गया है।

क्या इस योजना के गोद लिए बच्चे के माता-पिता की मृत्यु की स्थिति में सहायता का प्रावधान है ?

हाँ। सरकार द्वारा योजना में ऐसे बच्चो को भी शामिल किया गया है जो की लीगली गोद लिए गए है। ऐसे बच्चो की माता-पिता की मृत्यु की स्थिति में भी उन्हें योजना का लाभ प्रदान किया जाता है।

Leave a Comment