गोबर-धन योजना 2022: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन स्टेटस (GOBAR- Dhan)

केंद्र सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए समय-समय पर विभिन योजनायें लांच की जाती है। इसी क्रम में सरकार द्वारा गोबर-धन योजना 2022 (GOBAR- Dhan Yojna-2022) शुरू की गयी है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बायोगैस को बढ़ावा दिया जायेगा। योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा मवेशियों के गोबर, कृषि क्षेत्र के अपशिष्ट, घरेलू अपशिष्ट और अन्य बायो-वेस्ट का उपयोग करके इसे बायोगैस, कंप्रेस्ड बायोगैस और ऊर्जा के अन्य रूपों में परिवर्तित करने के लिए बायोगैस प्लांट के निर्माण हेतु आर्थिक और तकनीकी सहायता प्रदान की जाएगी जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में कृषको और ग्रामीण नागरिको की आमदनी में वृद्धि हो सकेगी। साथ ही योजना के तहत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में स्वछता को भी बढ़ावा दिया जायेगा जिससे की स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत सरकार द्वारा निर्धारित लक्ष्यों को पूरा किया जा सके।

GOBAR- Dhan Yojna के माध्यम से सरकार द्वारा सॉलिड वेस्ट और लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट द्वारा बायो-वेस्ट का उपयोग करके स्वच्छ ऊर्जा का बढ़ावा दिया जायेगा जिससे की पर्यावरण को भी लाभ मिल सके। आज के इस लेख के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की गोबर-धन योजना 2022 क्या है ? इस योजना का उद्देश्य, लाभ, पात्रता और आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या-क्या है ? साथ ही लेख के माध्यम से आपको योजना में आवेदन और लॉगिन के प्रोसेस से भी अवगत कराया जायेगा।

गोबर-धन योजना

केंद्र सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को ऊर्जा में आत्मनिर्भर बनाने और बायो-वेस्ट का उपयोग करके ऊर्जा के विभिन रूपों जैसे बायोगैस और उर्वरको में बदलने के लिए GOBAR- Dhan Yojna-2022 शुरू की गयी है। इस योजना का पूरा नाम गैल्वनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो-एग्रो रिसोर्सेज धन योजना (GOBAR- Dhan Yojna) भी है जिसके तहत सरकार द्वारा ठोस और द्रवित अपशिष्टो का प्रबंधन करके ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के नवीन अवसर पैदा किया जायेंगे साथ ही इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्वछता को भी बढ़ावा दिया जायेगा। गोबर-धन योजना के माध्यम से केंद्र द्वारा प्रत्येक जिले में विभिन क्लस्टर का चयन करके इन्हे आर्थिक और तकनीकी सहायता प्रदान की जाएगी जिससे की ग्रामीण क्षेत्रों में उद्यम को भी बढ़ावा दिया जा सके।

इस योजना में सरकार द्वारा विभिन स्वयं सहायता समूहों, कृषि उत्पादक समूहों और दुग्ध उत्पादक समितियों को शामिल किया गया है ताकि योजना के प्रभावी क्रियान्वयन को सुनिश्चित किया जा सके। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में गंदगी और कचरे के कारण होने वाली विभिन प्रकार की बीमारियों को रोकथाम करने में भी मदद मिलेगी।

GOBAR- Dhan Yojna 2022, Highlights

इस टेबल के माध्यम से आपको गोबर-धन योजना 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं की जानकारी प्रदान की गयी है।

योजना का नाम गोबर-धन योजना 2022
योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में स्वछता को बढ़ावा देना, बायो-वेस्ट का मैनेजमेंट
लांच प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा
लाभ ग्रामीण क्षेत्रों की ऊर्जा में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी
वर्ष 2022
लाभार्थी पूरे देश के नागरिक
कार्यक्रम का हिस्सा स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण
नोडल एजेंसी देश के जिले
आधिकारिक वेबसाइट https://sbm.gov.in/
आवेदन का माध्यम ऑनलाइन

GOBAR- Dhan Yojna-2022, उद्देश्य

भारत एक कृषि प्रधान देश है ऐसे में हमारे देश में मवेशियों की आबादी विश्व में सबसे अधिक है। ग्रामीण क्षेत्र में अधिकतर कृषक पशुपालन करते है जिससे की कृषि कार्यो में मदद मिलती है। हालांकि ग्रामीण क्षेत्र में पशुओं के गोबर और अन्य कृषि अपशिष्टो का उपयोग भी विभिन कृषि कार्यो और उर्वरको के निर्माण के लिए किया जाता है परन्तु इसका सही तरह से प्रबंध ना होने के कारण इसका समुचित उपयोग नहीं हो पाता है। एक और जहां पशुओं के गोबर और कृषि अपशिष्टो से ग्रामीण क्षेत्रों में गंदगी बढ़ती है वही दूसरी और इससे पर्यावरण भी दूषित होता है। साथ ही यह अपशिष्ट विभिन प्रकार की विषाणु जनित रोगो को भी बढ़ावा देता है जिससे की ग्रामीण क्षेत्र में नागरिको के स्वास्थ्य पर भी प्रभाव पड़ता है।

इन सभी समस्याओ को दूर करने और ग्रामीण क्षेत्रों में स्वछता को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा GOBAR- Dhan Yojna-2022 शुरू की गयी है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा देश के ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन क्लस्टर में बायोगैस प्लांट स्थापित किये जायेंगे जिससे की मवेशियों के गोबर, कृषि अपशिष्ट, घरो से निकले जैविक कचरे और विभिन प्रकार के बायो-डिग्रेबल उत्पादों को बायोगैस और विभिन फ़र्टिलाइज़र बनाने के लिए यूज़ किया जायेगा। इसके तहत सरकार द्वारा वेस्ट टू वेल्थ (Waste to Wealth) और वेस्ट टू एनर्जी (Waste to Energy) का लक्ष्य रखा गया है ताकि वेस्ट का यूज़ करके रोजगार और ऊर्जा दोनों पैदा की जा सके।

PM Kisan Yojana Apply Online- यहां जाने पूरा प्रोसेस

गोबर-धन योजना 2022 केंद्र सरकार द्वारा संचालित स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण का ही एक भाग है जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों की स्वछता बढ़ाने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के नवीन अवसर भी पैदा होंगे। साथ ही इसके तहत सभी नागरिको को स्वच्छ ऊर्जा भी प्राप्त हो सकेगी।

योजना का क्रियान्वयन

GOBAR- Dhan Yojna-2022 के तहत केंद्र सरकार द्वारा योजना के क्रियान्वयन के लिए डिस्ट्रिक्टस को नोडल एजेंसी के रूप में चिन्हित किया गया है। डिस्ट्रिक्टस को योजना के तहत प्लानिंग, इम्प्लिमेंशन, मॉनिटरिंग और विभिन प्रोजेक्ट के अप्रूवल की जिम्मेदारी दी गयी है। साथ ही जिले अपनी सुविधा के अनुसार योजना के क्रियान्वयन के लिए अलग-अलग मॉडल को अपना सकते है। सरकार द्वारा गोबर-धन योजना 2022 के तहत हर जिले को 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी साथ ही विभिन प्रकार की तकनीक सहायता भी प्रदान की जाएगी ताकि ग्रामीण क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दिया जा सके।

गोबर-धन योजना के क्रियान्वयन के तहत मॉडल

गोबर-धन योजना 2022 के तहत केंद्र सरकार द्वारा विभिन डिस्ट्रिक्ट को क्रियान्वयन की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। इस योजना के अंतर्गत विभिन स्रोतों से प्राप्त अपशिष्ट को बायो-गैस प्लांट के माध्यम से मीथेन में परिवर्तित किया जायेगा जिससे की ग्रामीणों को खाना पकाने के लिए ईंधन और खेती के लिए उर्वरक प्राप्त हो सकेंगे। इस योजना के तहत विभिन स्तरों पर बायोगैस प्लांट के लिए मॉडल का विवरण इस प्रकार है :-

  • व्यक्तिगत घरेलू मॉडल (Individual Household Model):- व्यक्तिगत घरेलू मॉडल के तहत सरकार द्वारा ग्राम-पंचायतो की सहायता से बायोगैस प्लांट लगाने के इच्छुक परिवारों को आर्थिक और तकनीक सहायता प्रदान की जाएगी। इस मॉडल के तहत ग्रामीण परिवार अपने पास उपलब्ध जगह पर बायोगैस प्लांट लगवाकर ऊर्जा की जरूरतों को पूरा कर सकते है।
  • क्लस्टर मॉडल (Cluster Model):- क्लस्टर मॉडल के तहत सरकार द्वारा ऐसे परिवार के समूहों को जिनके पास 3 से 4 पशु है को बायोगैस प्लांट लगाने के लिए आर्थिक और तकनीक सहायता प्रदान की जाएगी। इसके लिए परिवार के समूहों के चयन की जिम्मेदारी ग्राम-पंचायतो को सौपी गयी है जिसके लिए वे सहकारी समिति, स्वयं सहायता समूहों (SHGs), कृषक उत्पादक समूहों (FPOs) और अन्य निजी व्यवसायियो की मदद ले सकते है। बायोगैस प्लांट के द्वारा उत्पादित गैस का उपयोग सभी सम्मिलित परिवारों द्वारा किया जा सकता है।

यूपी गोपालक योजना,मिलेगा 9 लाख का लोन -ऐसे करें आवेदन

  • सामुदायिक मॉडल (Community Model) :- सामुदायिक मॉडल के तहत बायोगैस प्लांट के निर्माण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में 10 से 12 परिवारों के समूह को चुना जायेगा जो की प्लांट के लिए वेस्ट (Waste) की आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे। सामुदायिक मॉडल के तहत बायोगैस प्लांट का निर्माण गौशालाओं के निकट भी किया जा सकता है जिससे की गोबर की नियमित आपूर्ति की जा सकेंगी। क्लस्टर मॉडल के तहत प्लांट का निर्माण योजना में भाग लेने वाले घरो के निकट ही किया जायेगा जिससे की प्लांट के लिए बायो-वेस्ट की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके। बायोप्लांट से प्राप्त गैस को घरो, रेस्टोरेंट और संस्थानों के लिए बिजली के उपयोग और खाना बनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है जिससे की सभी भागीदारों को आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकेगा। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिकता की भावना को भी बढ़ावा मिलेगा साथ ही ग्रामीण परिवारों की आमदनी में भी वृद्धि होगी।
  • व्यावसायिक मॉडल (Commercial Model):- व्यावसायिक मॉडल के तहत सरकार द्वारा बड़े स्केल पर बायोगैस के उत्पादन हेतु बायोगैस प्लांट के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है। कमर्शियल मॉडल के अंतर्गत निजी व्यवसायी, सहकारी समितियाँ, गौशालाएँ और डेरी व्यवसायी अपनी ईंधन जरूरतों और बाजार की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बड़े स्तर पर बायोगैस और कंप्रेस्ड बायोगैस का उत्पादन कर सकते है और इसे इंडस्ट्रीज, तेल मार्केटिंग कंपनियों और विभिन व्यवसायो को बेच सकते है जिससे की उन्हें आर्थिक लाभ होगा। बायोगैस के अंतर्गत उत्पादित उर्वरको को खेती में उपयोग किया जा सकता है साथ ही आर्गेनिक खेती के लिए भी यह उपयोगी है। केंद्र सरकार द्वारा विभिन विभागों को व्यावसायिक मॉडल को बढ़ावा देने के निर्देश दिये गये है ताकि देश में बड़े स्तर पर बायोगैस को बढ़ावा दिया जा सके।

आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

गोबर-धन योजना 2022 के तहत आवेदन करने के लिए निम्न दस्तावेज होने जरुरी है :-

  • आधार-कार्ड
  • अड्रेस प्रूफ
  • निवास प्रमाणपत्र
  • बैंक अकाउंट की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर/ ईमेल ID

योजना के तहत सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले निवासी ही आवेदन कर सकते है साथ ही उन्हें बायो-गैस प्लांट लगवाने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित की गयी अन्य शर्तो को भी पूरा करना होगा।

गोबर-धन योजना 2022, ऐसे करें आवेदन

गोबर-धन योजना 2022 के तहत आवेदन करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जायें। आपको कुछ इस तरह का इंटरफ़ेस प्रदर्शित होगा।
गोबर-धन योजना
  • होमपेज पर गोबर-धन योजना 2022 में रजिस्ट्रेशन के लिंक दिखायी देगा। इस पर क्लिक कर दे।
  • इसके बाद आपके सामने योजना का आवेदन फॉर्म खुल जायेगा। इसमें माँगी गयी सभी जानकारियाँ दर्ज कर दे ।
गोबर-धन योजना
  • साथ ही सभी जरुरी दस्तावेजों को भी अपलोड कर दे।
  • अन्य सभी औपचारिकतायें पूरी करने के बाद इस फॉर्म को सबमिट कर सकते है।
  • इस प्रकार से आप गोबर-धन योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन कर सकते है।

ये है लॉगिन का प्रोसेस

GOBAR- Dhan Yojna-2022 के तहत लॉगिन करने के लिए इन स्टेपस को फॉलो करें।

  • होमपेज पर आपको लागिन का ऑप्शन दिखायी देगा। इस पर क्लिक कर दे।
GOBAR- Dhan Yojna login
GOBAR- Dhan Yojna login
  • इसके बाद अगले पेज पर यूजरनेम, पासवर्ड और कैप्चा दर्ज करके आप login के ऑप्शन पर क्लिक कर दे।
GOBAR- Dhan Yojna login Submission
  • इस प्रकार से आप योजना के अंतर्गत लॉगिन कर सकते है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना ऐसे करें आवेदन

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

GOBAR- Dhan Yojna-2022 के अंतर्गत किसी भी तरह की असुविधा होने पर आप सम्बंधित विभागीय अधिकारियों से संपर्क कर सकते है। अधिकारियो से संपर्क करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें।

GOBAR- Dhan Yojna.
  • होमपेज पर आपको Contact Us का ऑप्शन दिखायी देगा। इस पर क्लिक कर दे।
GOBAR- Dhan Yojna contact us
  • इसके बाद आप विभिन पदाधिकारियों से संपर्क करने हेतु ईमेल और फ़ोन नंबर की जानकारी प्राप्त कर सकते है।
GOBAR- Dhan Yojna contact

ये सुविधायें भी है उपलब्ध

सरकार द्वारा आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदकों को विभिन प्रकार की सुविधायें प्रदान की गयी है। आधिकारिक पोर्टल के माध्यम से आवेदक राज्य में बायोगैस प्लांट लगाने के लिए सरकार द्वारा अधिकृत टेक्निकल एजेंसी की जानकारी भी प्राप्त कर सकते है। इसके लिए होमपेज पर Information के ऑप्शन को चुनकर टेक्निकल एजेंसी के विकल्प को चुन ले। इसके बाद अपने राज्य का चयन करके आप अपने स्टेट के सम्बंधित टेक्निकल एजेंसी की जानकारी प्राप्त कर सकते है। इसके अतिरिक्त पब्लिसिटी मैटेरियल डाउनलोड करके के लिए Information सेक्शन में जाकर Publicity Material पर क्लिक कर दे।

इसके बाद आप पब्लिसिटी मैटेरियल को डाउनलोड कर सकते है। साथ ही आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से विभिन प्रकार के बायोगैस प्लांट के मॉडल सम्बंधित जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है। इसके लिए होमपेज पर Information सेक्शन में Different Models Of Biogas Plants के ऑप्शन पर क्लिक कर दे। इसके बाद आप योजना के अंतर्गत विभिन प्रकार के बायोगैस प्लांट सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है।

GOBAR- Dhan Yojna 2022 से जुड़े सवालों के जवाब (FAQ)

गोबर-धन योजना 2022 क्या है ?

गोबर-धन योजना 2022 केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गयी योजना है। इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में स्वछता को बढ़ावा देते हुये वेस्ट-मैनेजमेंट का समुचित प्रबंध किया जायेगा।

इस योजना के क्या लाभ है ?

इस योजना के तहत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पशुओ के गोबर, घरेलू कचरे और अन्य जैविक कचरे के उपयोग से बायोगैस बनाने के लिए बायोगैस प्लांट का निर्माण किया जायेगा। साथ ही योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के नवीन अवसर पैदा होंगे जिससे की कृषको और ग्रामीण नागरिको की आमदनी में भी वृद्धि होगी। बायोगैस प्लांट से उत्पन्न उर्वरको को खेती हेतु उपयोग किया जा सकता है।

योजना के तहत आवेदन करने का प्रोसेस क्या है ?

गोबर-धन योजना 2022 के तहत आवेदन करने के लिए ऊपर दिया गया लेख पढ़े। इसमें बताये गए स्टेप्स को फॉलो करके आप योजना में आवेदन कर सकते है।

गोबर-धन योजना 2022 के तहत कौन-कौन आवेदन कर सकता है ?

गोबर-धन योजना को केंद्र सरकार द्वारा शुरू किया गया है। इसके तहत देश के ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिक ही आवेदन कर सकते है। इसके अतिरिक्त उन्हें सरकार द्वारा तय की गयी अन्य शर्तो को भी पूरा करना होगा।

Leave a Comment