e-Rupee क्या है? ई-रुपी के बारे में जानकारी | फुल फॉर्म, मीनिंग और उपयोग (RBI Digital Rupee)

वर्तमान समय में देश में डिजिटल ट्रांसजेक्शन का चलन जोरों पर है। घर का राशन खरीदने के लेकर मोबाइल रिचार्ज एवं दैनिक उपयोग की वस्तुओं को खरीदने से लेकर ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए Bhim UPI, GooglePay, PhonePe एवं Paytm का इस्तेमाल बहुतायत से किया जा रहा है। 1 दिसंबर 2022 से ग्राहकों को डिजिटल पेमेंट में एक और विकल्प मिलने वाला है चूँकि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा अब आम नागरिको के उपयोग के लिए रिटेल ई-रूपी (e-Rupee) या RBI Digital Rupee को लांच किया जा चुका है। हालांकि अभी भी अधिकतर लोगो के मन में यह सवाल है की यह e-Rupee क्या है? ऐसे में आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की e-Rupee क्या है? इसकी फुल-फॉर्म, मीनिंग और उपयोग क्या है। साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको ई-रुपी (Digital Rupee) की कार्यप्रणाली एवं इसके लाभ के बारे में भी सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी।

क्रिसमस डे पर निबंध हिंदी में (Essay on Christmas Day in Hindi)

e-Rupee
ई-रूपी

e-Rupee क्या है?

RBI द्वारा 1 दिसंबर 2022 से भारत में रिटेल इस्तेमाल के लिए e-Rupee का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। ई-रूपी (e-Rupee) एक सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) है जो की मूल रूप से एक डिजिटल वाउचर या कूपन है जिसे की फीचर फोन/स्मार्ट फोन पर प्राप्त एसएमएस या क्यूआर कोड के माध्यम से उपयोग किया जा सकता है। e-Rupee इलेक्ट्रॉनिक रूप से उद्देश्य विशिष्ट (Purpose specific) डिजिटल वाउचर के रूप में कार्य करेगा जिसे की नागरिक, सरकार, व्यवसायो एवं वित्तीय संस्थानों हेतु लीगल टेंडर के रूप में जारी किया जा सकेगा।

e-Rupee डिजिटल वाउचर के रूप में ग्राहकों को जारी की जाएगी जिसके माध्यम से वे विभिन प्रकार की सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकेंगे। इस रूपी का इस्तेमाल रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त SMS या QR code के माध्यम से डिजिटल वेरिफिकेशन के बाद किया जा सकेगा जिसका सबसे बड़ा लाभ यह है की इसके लिए आपके पास किसी भी प्रकार के बैंक-अकाउंट, स्मार्ट-फीचर फोन या एक्टिव इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं पड़ेगी।

e-Rupee की फुल फॉर्म

e-Rupee का फुल फॉर्म Electronic Rupee (इलेक्ट्रॉनिक रूपी) है जिसका हिंदी में अर्थ इलेक्ट्रॉनिक रुपया या डिजिटल रुपया होता है। इलेक्ट्रॉनिक रूपी में रुपए का लेन-देन या संचालन पूर्ण रूप से डिजिटल रूप (Digital Rupee) में होता है ऐसे में इसे इलेक्ट्रॉनिक रूपी या इलेक्ट्रॉनिक कैश की संज्ञा दी गयी है।

कैसे काम करता है e-Rupee

e-Rupee डिजिटल कूपन के जरिए कार्य करता है जिसके तहत माँग होने पर सम्बंधित व्यक्ति या संस्था को e-Rupee जारी किया जाता है। इसका मूल्य एवं वैधता वास्तविक नकदी या कैश की तरह होता है जिसे की विभिन सुविधाओं के भुगतान के लिए उपयोग किया जा सकता है। ई-रूपी को उद्देश्य विशिष्ट (Purpose specific) डिजिटल वाउचर कहा जाता है जिसका अर्थ है की इसे किसी विशिष्ठ उद्देश्य के लिए ही खर्च किया जा सकता है अर्थात इसे जिस उद्देश्य के लिए जारी किया जाता है उस काम के अतिरिक्त इस डिजिटल कूपन को अन्य कार्यों के लिए खर्च नहीं किया जा सकता है। चूँकि e-Rupee में किसी उद्देश्य विशिष्ट हेतु पहले से ही रकम तय रहती है ऐसे में इसे Prepaid Digital Voucher भी कहा जाता है। यहाँ आपको e-RUPI की कार्यप्रणाली को सरल शब्दो में समझाया गया है।

माना आपको अपनी कंपनी की तरफ से किसी अधिकृत कैंटीन पर भोजन के लिए 20-20 रुपए के बाउचर या कूपन, रसीद या पर्ची दी जाती है। इसे आप कैंटीन में जाकर कैंटीन वाले को दे सकते है बदले में आपको 20 रुपए के मूल्य तक भोजन मिल जायेगा। इसके पश्चात कैंटीन मालिक द्वारा इन बाउचर को कंपनी में जाकर रिडीम करके भुगतान प्राप्त कर लिया जायेगा। ऑनलाइन पेमेंट में भी आपको पेमेंट करने पर इसी तरह के बाउचर या कूपन मिलते है जिन्हे आप ऑनलाइन शॉपिंग या विभिन प्रकार की वस्तुओं की खरीददारी में उपयोग कर सकते है। ई-रूपी (e-Rupee) भी इसी प्रकार से कार्य करता है जिसके तहत नागरिकों को किसी सुविधा का लाभ लेने के लिए डिजिटल कूपन जारी किए जायेंगे।

लाभार्थियों का मिलेगा पूर्ण लाभ

ई-रूपी (e-Rupee) के माध्यम से सरकार द्वारा विभिन सरकारी योजनाओ को बिना किसी मध्यस्थ के सीधे लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर किया जा सकेगा। इसके तहत सरकार द्वारा विभिन योजनाओं के लाभार्थियों को सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए कूपन जारी किए जायेंगे। जैसे सरकार द्वारा गरीब वर्ग के लोगों को मुफ्त खाद्यान उपलब्ध करवाने हेतु डिजिटल कूपन जारी किए जा सकते है। इसके पश्चात सम्बंधित लाभार्थी अधिकृत राशन की दुकान पर जाकर कूपन के अनुसार निर्धारित राशन ले सकता है। इसका अन्य उदाहरण सरकार द्वारा किसी सरकारी कर्मचारी को इलाज हेतु कूपन जारी किया जायेगा जिसके पश्चात कर्मचारी को पार्टनर बैंक द्वारा इलाज के मूल्य का ई-रूपी (e-RUPI) जारी किया जायेगा जिसके पश्चात कर्मी आसानी से कूपन के माध्यम से हॉस्पिटल को इलाज का भुगतान कर सकता है। ई-रूपी (e-Rupee) का सबसे बड़ा लाभ यह है की इसे सम्बंधित उद्देश्य के अतिरिक्त अन्य उद्देश्य के लिए उपयोग नही किया जा सकता ऐसे में भ्र्ष्टाचार होने की सम्भावना भी खत्म होगी।

ई-रूपी (e-Rupee), कैसे कर सकते है उपयोग

ई-रूपी (e-Rupee) पूर्ण रूप से डिजिटल, कैशलेस एवं सिक्योर पेमेंट सिस्टम है। इसके तहत सरकार द्वारा अधिकृत डिस्ट्रीब्यूशन बैंकों के माध्यम से मांग मूल्य का डिजिटल वाउचर जारी किया जायेगा जिसे की लाभधारक व्यक्ति अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर पर प्राप्त SMS या QR code के माध्यम से प्राप्त कर सकेगा। इसके पश्चात लाभधारक द्वारा डिजिटल वॉलेट के माध्यम से इस कूपन का उपयोग किया जा सकता है। e-Rupee का उपयोग पर्सन टू पर्सन या पर्सन टू मर्चेंट हेतु भी किया जा सकता है। वर्तमान में सरकार द्वारा होलसेल एवं रिटेल माध्यम के लिए e-Rupee जारी किया गया है।

क्या है डिजिटल रूपी के लाभ

डिजिटल रूपी के माध्यम से लोग सम्पर्करहित, कैशलेस एवं सुरक्षित पेमेंट कर सकते है। इसके माध्यम से विभिन सरकारी योजनाओ का लाभ भी आसानी से लिया जा सकेगा एवं घोटालों में कमी आएगी। साथ ही RBI के रेगुलेशन के कारण सिस्टम में भी पारदर्शिता बनी रहेगी। डिजिटल रूपी के माध्यम से संस्थानों एवं वित्तीय इंस्टीटूशन को डिजिटल ट्रांजेक्शन हेतु भी अतिरिक्त सुविधा प्राप्त होगी।

ई-रूपी (e-Rupee) की विशेषताएँ

  • ई-रूपी को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है।
  • इसे सरकार द्वारा अधिकृत बैंकों के माध्यम से जारी किया जायेगा।
  • इस सुविधा को बेसिक फोन पर भी उपयोग कर सकते है।
  •  2 फेज प्रोसेस के माध्यम से यह पेमेंट सुरक्षा को एनश्योर करता है।
  • e-Rupee के उपयोग हेतु बैंक अकाउंट या इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता नहीं है।

ई-रूपी (e-Rupee) सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

ई-रूपी (e-Rupee) क्या है ?

ई-रूपी (e-Rupee) एक सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) है जो की मूल रूप से एक डिजिटल वाउचर या कूपन है जिसे वाउचर या कूपन रिडीम के माध्यम से उपयोग किया जा सकता है।

e-Rupee की फुल फॉर्म क्या है ?

e-Rupee का फुल फॉर्म Electronic Rupee (इलेक्ट्रॉनिक रूपी) है जिसका हिंदी में अर्थ इलेक्ट्रॉनिक रुपया या डिजिटल रुपया होता है।

ई-रूपी (e-Rupee) किसके द्वारा लांच किया गया है ?

ई-रूपी (e-Rupee) को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा लांच किया गया है।

ई-रूपी किस प्रकार से कार्य करता है ?

ई-रूपी कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए ऊपर दिया गया आर्टिकल पढ़े। यहाँ आपको इस सम्बन्ध में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की गयी है।

ई-रूपी (e-Rupee) को किस प्रकार उपयोग किया जा सकता है ?

ई-रूपी का उपयोग सम्बंधित व्यक्ति या संस्था द्वारा रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर पर प्राप्त SMS या QR code के माध्यम से डिजिटल वेरिफिकेशन के बाद किया जा सकेगा।

ई-रूपी (e-Rupee) को किसके द्वारा विकसित किया गया है ?

ई-रूपी (e-Rupee) को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया गया है।

Leave a Comment

Join Telegram