DNA का फुलफॉर्म हिंदी में – DNA Ka Full Form in Hindi

अगर आप साइंस के विद्यार्थी रहे हैं या हैं तो फिर आपने डीएनए के बारे में पढ़ा ही होगा, या फिर आपने फिल्मो में भी सुना होगा की डीएनए टेस्ट होगा वगैरा वगैरा लेकिन अगर आप नहीं जानते की DNA क्या है, DNA का फुलफॉर्म क्या है तो DNA के बारे में और जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़े।

DNA का फुलफॉर्म हिंदी में - DNA Ka Full Form in Hindi
DNA का फुलफॉर्म हिंदी में – DNA Ka Full Form in Hindi

DNA का फुलफॉर्म

DNA का फुलफॉर्म हैDeoxyribonucleic Acid और हिंदी में इसको “डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल” कहा जाता है।

DNA क्या है ?

इंसान का शरीर अलग अलग कोशिकाओं से बना होता है , उसी में एक अणु DNA होता है। डीएनए का मतलब “डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक अम्ल” होता है। डीएनए की मदद से अपने परिवार का किसी के भी वंश के बारे में पता चल सकता है। हमारे शरीर में डीएनए की बड़ी खास भूमिका होती है। डीएनए में पुरे तरीके से जेनेटिक गुण पाए जाते है। डीएनए सभी जीवो में जैसे इंसान ,बैक्टीरिया ,पेड़-पौधे, कीटाणु , जीव-जन्तुओ, आदि सब में पाया जाता है। वैज्ञानिक जेम्स और फ्रांसिस क्रिक ने वर्ष 1953 में डीएनए की थी ,और इसी लिए उन्हें वर्ष 1962 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। डीएनए का आकर घुमावदार सीढ़ी की तरह होता है। डीएनए एक ऐसा मॉलिक्यूल होता है जिसमे सभी जीवो के जेनेटिक कोड मौजूद होते है। आप कौन है आपकी पहचान क्या है ? ये भी आपका डीएनए बताता है।

  • DNA 3 प्रकार के होते है
    • A- DNA:
      • यह B -DNA फॉर्म के समान दाए हाथ का डबल हेलिस्क है।
    • B -DNA:
      • यह सबसे आम DNA रचना है और दाए हाथ का हेलिस्क है।
    • Z -DNA:
      • Z -DNA एक बाए हाथ का डीएनए है जहा ज़िग-ज़ैग पैटर्न में बाई और डबल हेलिस्क हवाएं होती है।
DNA का फुलफॉर्म Deoxyribonucleic Acid
हिंदी में डीएनए की फुलफॉर्म डीऑक्सी राइबोन्यूक्लिक अम्ल
किसने खोज की जेम्स और फ्रांसिस क्रिक
खोज कब की 1953

डीएनए कहा पाया जाता है ?

हमारे शरीर में रेड ब्लड सैल्स को छोड़ कर लगभग सभी सैल्स में डीएनए पाया जाता है। हर एक व्यक्ति का डीएनए उनके माता – पिता के डीएनए से मिल कर बना होता है, इसी वजह से उनके बच्चो में उनके जैसे गुण ,आदतें पाई जाती है। जैसे आखें , नाक, कद, स्किन कलर , बाल आदि।

डीएनए का महत्व

डीएनए का मेडिकल क्षेत्र में काफी महत्व हो गया है। डीएनए की खोज के बाद से ही इसमें कई अलग अलग प्रक्टिकल्स होने लगे और कई चीजे सामने आई ,डीएनए का महत्व अब वर्तमान में मेडिकल क्षेत्र के अलावा फॉरेंसिक जांचो , कृषि क्षेत्र में , कानूनी जांचो आदि में भी काफी होने लगा है। बहुत से अपराधों को सुलझाने में डीएनए मददगार साबित हुआ है। डीएनए जांच से यह पता लगाया जा सकता है की बच्चे का पिता कौन है और साथ ही रिश्तेदार जैसे की भाई , बहन , भुआ आदि के रिश्तो का भी पता लगाया जा सकता है।

डीएनए कैसे बनता है ?

किसी भी व्यक्ति के शरीर में डीएनए Nucleotide नामक छोटे मॉलिक्यूल्स से मिलकर बना होता है। हर एक Nucleotide में एक फास्टेस्ट ग्रुप एक शुगर ग्रुप और एक नाइट्रोजन बेस मौजूद होता है।

डीएनए 4 केमिकल के आधार पर बना है

  • ADENINE (A )
  • GUANINE (G )
  • CYTOSINE (C )
  • THYMINE (T )

इन्हे शॉर्ट फॉर्म में AGCT भी कह सकते है क्योकि इसमें A और G समूह में उपस्थित होते है जब C और T अन्य समूह उपस्थित होते है। सभी समूह आपस में हाइड्रोजन से जुड़े होते है , इसे डबल हेलिस्क भी कहा जाता है क्योकि यह सीढ़ीदार डिज़ाइन में होते है।

डीएनए टेस्ट क्या है ?

डीएनए एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में जाता है। हर एक इंसान के जीन्स में 46 गुणसूत्र होते है जिसमे 23 माता के और 23 पिता के होते है। आज के समय में डीएनए के 1200 प्रकार के टेस्ट होते है। डीएनए टेस्ट की मदद से जेनेटिक बीमारियों का पता भी लगाया जा सकता है , बालो और आँखों का रंग भी सुनिश्चित किया जा सकता है डीएनए टेस्ट की मदद से। इससे जेनेटिक गुणों की पूरी जानकारी भी मिल जाती है ,साथ में यह निश्चित भी किया जा सकता है की आगे जाकर आपको कौन सी बीमारी होगी।

डीएनए टेस्ट कैसे होता है ?

डीएनए टेस्ट इंसान के गाल के अंदर की कोशिकाओं के द्वारा , बालो से , मूत्र के सैंपल से , खून एवं त्वचा की मदद से किया जा सकता है और डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट 10 से 20 दिन के अंदर आ जाती है। किसी मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला से ही इन सैम्पल्स की मदद से डीएनए टेस्ट किया जा सकता है। प्रयोगशाला पर निर्भर करता है की कितनी राशि खर्च होगी टेस्ट में आपके 5000 से लेकर 50000 तक की राशि खर्च हो सकती है।

DNA का फुलफॉर्म से सम्बंधित प्रश्न

DNA की फुलफॉर्म क्या है ?

DNA की फुलफॉर्म है – Deoxyribonucleic Acid और हिंदी में डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक है।

क्या डीएनए टेस्ट खून के सैंपल से कराया जा सकता है ?

हाँ , डीएनए टेस्ट खून के सैंपल से कराया जा सकता है।

डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट कितने दिन में आती है ?

डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट 10 से 20 दिन के अंदर आती है।

डीएनए कहा पाया जाता है ?

डीएनए रेड ब्लड सेल्स को छोड़कर लगभग सभी सेल्स में पाया जाता है।

एक इंसान के जीन्स  में कितने गुणसूत्र होते है ?

एक इंसान में 46 गुणसूत्र होते है- 23 माता के और 23 पिता के।

Leave a Comment