ASEAN Full Form in Hindi : ASEAN किसे कहते है ? पूरी जानकारी

ASEAN Full Form – तो दोस्तों आप सभी यह तो जानते ही होंगे की यह दुनिया बहुत ही विशाल है। इस विशाल दुनिया को हम सभी लोगो ने यानि के मनुष्यों ने मिलकर इस इस विश्व को बहुत से छोटे व बड़े देशों में बांटा हुआ है। वर्तमान समय में इस विश्व में करीब 195 countries है। इनमे से कोई देश छोटा है तो कोई देश बहुत विशाल है। इसके साथ साथ इन सभी देशों में से कुछ देश विकसित है और कुछ देश विकास की ओर बढ़ रहे है। इन सभी देशों ने मिलकर कई समूह बनाये हुए है जिसकी मदद से उस समहू में शामिल देश बहुत बार एक दूसरे की सहायता भी करते है।

तो दोस्तों विश्वभर में ऐसे बहुत से समूह बनाये गए है जैसे की – BRICS, SAARC, NATO आदि जैसे बहुत से समूह तो दोस्तों आज हम आप सभी को ऐसे ही एक और समूह के बारे में बताने वाले है जिसका नाम है ASEAN .

ASEAN Full Form in Hindi : ASEAN किसे कहते है ? | पूरी जानकारी
ASEAN Full Form in Hindi

तो दोस्तों क्या आप ने आज से पहले इसके बारे में कभी सुना है अगर हाँ तो क्या आप यह जानते है की ASEAN Full Form क्या होती है और ASEAN किसे कहते है। अगर आप यह सभ जानकारी नहीं जानते है तो आप में से किसी भी व्यक्ति को चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के जरिये ASEAN के बारे में बहुत सी जानकारी प्रदान करने वाले है जैसे की – आसियान किसे कहते है, ASEAN की Full Form क्या होती है आदि जैसी बहुत सी जानकारी। तो दोस्तों क्या आप भी इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करना चाहते है अगर हाँ।

तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख में ही हमने इससे सम्बंधित जानकारी प्रदान की हुई है जिसको पढ़ने से ही आप इसके बारे में जान सकोगे। तो दोस्तों इसलिए कृपया करके हमारे इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ और इससे सम्बंधित बहुत सी जानकारी प्राप्त करें

इसपर भी गौर करें :- ब्रिक्स सम्मेलन क्या है विषय व इतिहास

ASEAN की फुल फॉर्म क्या होती है | What is the full form of ASEAN?

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर आसियान की फुल फॉर्म के बारे में बताने वाले है तो दोस्तों इसकी फुल फॉर्म जानने के लिए हमने यहाँ पर जानकारी दी हुई है तो इसलिए दी गोई जानकारी को ध्यान से पढ़े।`

ASEAN की फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार है :-

  • The full form of ASEAN in english – Association of South East Asian Nations
  • आसियान की फुल फॉर्म हिंदी में – दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन

आसियान किसे कहते है ?

तो दोस्तों जैसा की हमने आप सभी को इस लेख में यह बताया है की आसियान की फुल फॉर्म Association of South East Asian Nations होती है जिसको हिंदी में दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन के नाम से भी जाना जाता है। तो दोस्तों आप सभी को यह बता दे की यह दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों का समूह है जो की आपस में एक दूसरे की आर्थिक विकास में सहायता करते है। इस समूह में शामिल सभी देश एक दूसरे की आर्थिक सहायता भी करते है उसके साथ साथ यह आपस में शांति भी बनाये रखते है। केवल यह ही नहीं बल्कि यह सभी देश आपस में एक दूसरे को विकास की और बढ़ावा भी देते है।

इसके साथ साथ यह सभी देश के लिए प्रगति के लिए कार्य करते है। आप सभी को यह भी बता दे की इस समूह की स्थापना 8 अगस्त 1967 को बैंकाक में की गयी थी जो की थाईलैंड की राजधानी है। आप सभी को यह भी बता दे की इस समूह यानि के आसियान का मुख्यालय इंडोनेशिया में स्थित है जो की जकार्ता की राजधानी है। तो दोस्तों इसके साथ साथ आप सभी को यह भी बता दे की जिस समय इस समूह की स्थापना हुई थी उस समय इस समूह में केवल 5 ही देश शामिल थे लेकिन धीरे धीरे इस समूह में देशों की संख्या बढ़ती गयी और वर्तमान समय में इस समूह में करीब 10 देश शामिल है।

जिस समय इस समूह की स्थापना हुई थी उस समय इस समूह में शामिल होने वाले देशों का नाम थाईलैंड, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस और सिंगापूर है। आप सभी को यह भी बता दे की इन सभी देशों को इस समूह का संस्थापक भी माना जाता है। अब हम आप सभी को यहाँ पर उन देशों के नाम बताने वाले है जो की वर्तमान में इस समूह में शामिल है। उन देशों के नाम कुछ इस प्रकार है।

  • थाईलैण्ड ( स्थापना – 8 अगस्त 1967 )
  • सिंगापुर ( स्थापना – 8 अगस्त 1967 )
  • मलेशिया ( स्थापना – 8 अगस्त 1967 )
  • फ़िलीपीन्स ( स्थापना – 8 अगस्त 1967 )
  • इण्डोनेशिया ( स्थापना – 8 अगस्त 1967 )
  • ब्रुनेई ( स्थापना – 8 जनवरी 1984 )
  • वियतनाम ( स्थापना – 28 जुलाई 1995 )
  • लाओस ( स्थापना – 23 जुलाई 1997 )
  • म्यान्मार ( स्थापना – 23 जुलाई 1997 )
  • कम्बोडिया ( स्थापना – 30 अप्रैल 1999 )

ASEAN का उद्देश्य

तो दोस्तों अब हम आप सभी को यहाँ पर ASEAN समूह के कुछ उद्देश्यों के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले है। तो अगर आप भी इस समूह के उद्देश्य जानना चाहते है तो उसके लिए आप सभी को यहाँ पर दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़ना होगा ताकि आप भी इसके उद्देश्य जान सको।

  1. इस समूह यानि के आसियान समूह की स्थापना इसलिए की गयी थी ताकि इस समूह में शामिल सभी देशों के बीच में शांति बानी रहे और यह आपस में एकता को बनाये रखे।
  2. इसका मुख्य उद्देश्य ये है की आपस में सहायता और सहयोग की भावना को बनाये रखना है।
  3. शिक्षा, तकनीकी ज्ञान, वैज्ञानिक क्षेत्र में एक दूसरे की सहायता करना और एक दूसरे को बढ़ावा देना।
  4. कृषि व्यापार और उद्योग के विकास में बढ़ावा देना।
  5. इसका उद्देश्य यह भी है की यह समूह उन सभी समूह को भी सहयोग प्रदान करे जिनके उद्देश्य भी इसी समूह की तरह हो।

ये भी जानें :-

ASEAN से सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर यहाँ पर जानिए

ASEAN की फुल फॉर्म क्या होती है

ASEAN की फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार है :-
The full form of ASEAN in english – Association of South East Asian Nations
आसियान की फुल फॉर्म हिंदी में – दक्षिण पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन

(ASEAN) आसियान किसे कहते है ?

दोस्तों आप सभी को यह बता दे की यह दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों का समूह है जो की आपस में एक दूसरे की आर्थिक विकास में सहायता करते है। इस समूह में शामिल सभी देश एक दूसरे की आर्थिक सहायता भी करते है उसके साथ साथ यह आपस में शांति भी बनाये रखते है। केवल यह ही नहीं बल्कि यह सभी देश आपस में एक दूसरे को विकास की और बढ़ावा भी देते है।

ASEAN समूह में कितने देह शामिल है ?

ASEAN में 10 देश शामिल है जिनका नाम कुछ इस प्रकार है :- थाईलैण्ड ,सिंगापुर, मलेशिया, फ़िलीपीन्स, इण्डोनेशिया, ब्रुनेई, वियतनाम, लाओस, म्यांमार, कम्बोडिया

आसियान देश की स्थापना कब हुई थी और कहाँ पर हुई थी ?

आप सभी को यह भी बता दे की इस समूह की स्थापना 8 अगस्त 1967 को बैंकाक में की गयी थी जो की थाईलैंड की राजधानी है।

आसियान समूह का मुख्यालय कहाँ पर स्थित है ?

इस समूह यानि के आसियान का मुख्यालय इंडोनेशिया में स्थित है जो की जकार्ता की राजधानी है।

Leave a Comment

Join Telegram