World Hindi Diwas 2023: आज है विश्व हिंदी दिवस, जानें इसे 10 जनवरी को मनाए जाने का कारण और उद्देश्य

भारत की आत्मा के रूप में प्रचलित हिंदी देश के सभी भूभागों में वृहद् स्तर पर बोली जाती है। देश की राजभाषा के रूप में स्थापित हिंदी ने देश के विभिन राज्यों के बीच महत्वपूर्ण सेतु के रूप में कार्य किया है। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भी देश के सभी भूभाग के निवासियों को एक साथ लाकर स्वतंत्रता आंदोलन को गति देने में हिंदी की महती भूमिका है। देश की सीमाओं के बाहर वैश्विक स्तर पर हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए प्रतिवर्ष विश्व हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है। प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाये जाने वाले विश्व हिंदी दिवस के माध्यम से हिंदी के वैश्विक स्तर पर प्रचार प्रसार के लिए व्यापक प्रयत्न किए जाते है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) के इतिहास, उद्देश्य एवं इसे मनाये जाने के कारणों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करने वाले है। साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको विश्व हिंदी दिवस से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में भी जानकारी प्रदान की जाएगी।

World Hindi Diwas.
विश्व हिंदी दिवस

हिंदी: भारत की आत्मा में बसी भाषा

भारत को संस्कृतियों का घर कहा जाता है। देश में विभिन राज्यों में विभिन भाषाओ को बोलने वाले देशवासी रहते है। हालांकि यदि कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी एवं असम से लेकर गुजरात तक किसी भाषा का सबसे प्रचलित प्रयोग मिलता है तो वह निसंदेह ही हिंदी भाषा है। देश के प्राचीन इतिहास से लेकर स्वतंत्रता संग्राम एवं आधुनिक समय तक हिंदी ने देश के कोने-कोने से सभी निवासियों के मध्य सेतु के रूप में कार्य किया है। वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबित भारत में हिंदी बोलने वालों की संख्या 43.63 फीसदी है जो की देश की सभी भाषाओ में सर्वाधिक है।

भारत में व्यापक रूप से प्रचलित हिंदी देश के बाहर नेपाल, सूरीनाम, मॉरीशस, त्रिनिदाद और टोबैगो, गुयाना एवं फिजी में भी बोली जाती है। देश में हिंदी को राजभाषा के रूप में स्वीकार किया गया है। देश में हिंदी का अत्यंत महत्व है ऐसे में मातृभाषा के रूप में हिंदी के महत्व के बारे में हिंदी के अमर कवि भारतेन्दु हरिश्चंद्र की निम्न पक्तियाँ सटीक बैठती है :-

निज भाषा उन्नति अहै, सब उन्नति को मूल
बिन निज भाषा-ज्ञान के, मिटत न हिय को सूल।।

विश्व हिंदी दिवस कब मनाया जाता है ?

विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) को प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है। वर्ष 2023 में हिंदी दिवस (World Hindi Diwas 2023) का आयोजन मंगलवार, 10 जनवरी 2023 को किया जायेगा। विश्व हिंदी दिवस के माध्यम से हिंदी को वैश्विक स्तर पर प्रमुख भाषा के रूप में स्थापित करने के लिए विभिन कार्यक्रम आयोजित किए जाते है।

नोटविश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है हालांकि यह याद रखना आवश्यक है की हिंदी दिवस (Hindi Diwas) का आयोजन प्रतिवर्ष 14 सितम्बर को किया जाता है। पाठक इन दोनों तिथियों को लेकर कंफ्यूज ना हो चूँकि विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) का आयोजन हिंदी को वैश्विक स्तर पर बढ़ावा देने के लिए प्रतिवर्ष 10 जनवरी को आयोजित किया जाता है जबकि हिंदी दिवस (Hindi Diwas) को देश में हिंदी के प्रचार-प्रसार को बढ़ावा देने एवं सभी सरकारी कार्यो को हिंदी में करने हेतु प्रेरित करने के लिए 14 सितम्बर को आयोजित किया जाता है।

विश्व हिंदी दिवस का इतिहास

वैश्विक स्तर पर हिंदी दिवस का आयोजन प्रतिवर्ष 10 जनवरी को किया जाता है। वर्ष 2006 में भारत के तत्कालीन प्रधानमन्त्री डॉ. मनमोहन सिंह के द्वारा प्रतिवर्ष 10 जनवरी को वैश्विक स्तर पर हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की गयी थी। इसके पश्चात प्रतिवर्ष 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है। विश्व हिंदी दिवस के प्रथम सम्मेलन का आयोजन 10-14 जनवरी 1975 में नागपुर में तत्कालीन प्रधानमन्त्री श्रीमती इंदिरा गाँधी द्वारा किया गया था।

विश्व हिंदी दिवस का उद्देश्य

विश्व हिंदी दिवस को वर्ष 2006 से प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जा रहा है। विश्व हिंदी दिवस के प्रमुख उद्देश्य निम्न प्रकार से है :-

  • वैश्विक स्तर पर हिंदी के प्रचार प्रसार को बढ़ावा देना
  • संयुक्त राष्ट्र संघ में हिंदी भाषा को आधिकारिक भाषा के रूप में स्थापित करना
  • हिंदी के प्रति जागरूकता पैदा करने हेतु कार्य
  • हिंदी को प्रमुख वैश्विक भाषा के रूप में स्थापित करना
  • हिंदी की त्रुटियों को दूर करके हिंदी भाषा में सुधार करना
  • वैश्विक स्तर पर हिंदी के महत्व को बढ़ाना एवं प्रसार करना

विश्व हिंदी दिवस किस प्रकार मनाया जाता है ?

विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) के अवसर पर हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए विभिन कार्यक्रम आयोजित किए जाते है। इस अवसर पर भारत सरकार एवं विभिन राज्य सरकारो के द्वारा सरकारी कार्य को हिंदी में करने का संकल्प लिया जाता है एवं हिंदी को बढ़ावा देने के लिए विभिन कार्यक्रमो का संचालन किया जाता है। साथ ही देश या विदेश में इस दिवस पर एक प्रमुख कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाता है। निबंध प्रतियोगिता, सेमिनार, वाद-विवाद, बैठक, चर्चा एवं अन्य माध्यमों से इस दिन हिंदी के प्रचार हेतु प्रयास किए जाते है।

विश्व हिंदी दिवस सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

भारत की राजभाषा क्या है ?

भारत की राजभाषा हिंदी है। साथ ही देश में अंग्रेजी को भी सहभाषा के रूप में मान्यता मिली हुयी है।

विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) कब मनाया जाता है ?

विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) को प्रतिवर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है।

हिंदी दिवस (Hindi Diwas) कब मनाया जाता है ?

हिंदी दिवस (Hindi Diwas) को प्रतिवर्ष 14 सितम्बर को मनाया जाता है।

प्रथम विश्व हिंदी दिवस कब मनाया गया था ?

प्रथम विश्व हिंदी दिवस को वर्ष 2006 में मनाया गया था। इस वर्ष ही तत्कालीन प्रधानमन्त्री डॉ. मनमोहन सिंह के द्वारा विश्व हिंदी दिवस को मनाने की घोषणा की गयी थी। हालांकि प्रथम विश्व हिंदी समेल्लन को 14 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था जिसके उपलक्ष में विश्व हिंदी दिवस को वर्ष 2006 से मनाने की शुरुआत हुयी।

विश्व हिंदी दिवस क्या उद्देश्य है ?

विश्व हिंदी दिवस का क्या उद्देश्य हिंदी का वैश्विक स्तर पर प्रचार प्रसार एवं संयुक्त राष्ट्र में हिंदी को अधिकारिक भाषाओं की सूची में शामिल करना है।

Leave a Comment

Join Telegram