आधार, PAN, पासपोर्ट और वोटर आईडी का मौत के बाद क्या होता है? जानें

अपने प्रतिदिन के जीवन में हमे अलग-अलग सरकारी एवं निजी कार्यो हेतु कई प्रकार के सरकारी दस्तावेजों की जरुरत पड़ती है। आधार कार्ड, PAN कार्ड, पासपोर्ट और वोटर आईडी कार्ड ऐसे ही महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिनकी जरुरत हमे प्रतिदिन के कार्यो हेतु पड़ती है परन्तु क्या आप जानते है की किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसके इन दस्तावेजों का क्या होता है। आपमें से अधिकतर लोगो को इसके बारे में जानकारी नहीं होगी परन्तु आपको चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है क्यूंकि आज के इस लेख में हम आपको बताएँगे की किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसके आधार कार्ड, PAN कार्ड, पासपोर्ट एवं उसके वोटर आईडी कार्ड का क्या होता है। तो इस महत्वपूर्ण जानकारी हेतु पढ़े यह पूरा लेख।

आधार कार्ड, PAN कार्ड, पासपोर्ट और वोटर आईडी कार्ड किसी व्यक्ति की मौत के बाद निष्क्रिय करवाने पड़ते है या वे खुद ही निष्क्रिय हो जाते है यह सवाल कई लोगो के मन में आता होगा। आज इस लेख के माध्यम से हम इसका जवाब ढूंढेंगे।

मौत के बाद क्या होता है वोटर आईडी का

दोस्तों जैसे की हम जानते है की भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा जारी किया जाने वाला वोटर ID कार्ड न सिर्फ चुनावों के समय मतदाता पहचान पत्र के रूप में उपयोग किया जाता है अपितु कई स्थानों पर इसे पहचान-पत्र एवं अड्रेस प्रूफ के तौर पर भी उपयोग किया जाता है। अगर किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो परिवारजनों का दायित्व है की वह मृतक का मृत्यु प्रमाणपत्र साथ में लेकर चुनाव कार्यालय जाए और फॉर्म नंबर 7 को भरकर मृत व्यक्ति की वोटर ID कैंसिल करवा दे।

क्या होता है मृतक के PAN कार्ड का

वित्त से संबंधित सभी कार्यो के लिए PAN कार्ड का उपयोग किया जाता है। चाहे आपको खाता खुलवाना हो या शेयर संबंधित डीमैट अकाउंट सब जगह PAN कार्ड आवश्यक है। इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए यह सबसे आवश्यक दस्तावेज है। अगर किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो परिवार वालो को उसका PAN कार्ड डीएक्टिवेट करवा देना चाहिए ताकि इससे कोई समस्या पैदा न हो सके।

आधार कार्ड का क्या होता है है धारक की मौत के बाद

आधार कार्ड ऐसा दस्तावेज है जिससे शायद ही वर्तमान समय में कोई अनभिज्ञ हो क्यूंकि आज के समय में यह पहचान हेतु तथा अड्रेस प्रूफ के तौर पर हर जगह इस्तेमाल किया जाता है। व्यक्ति की मौत के बाद आधार कार्ड का क्या करना चाहिए इस संबंध में संबंधित विभाग द्वारा अभी तक कोई स्पष्ट दिशा-निर्देश नहीं है। परिवार के लोगो को इसके बारे में संबंधित विभाग को सूचित करना चाहिए ताकि उन्हें आगे हेतु दिशा-निर्देश प्राप्त हो।

क्या होता है पासपोर्ट का मौत के बाद

जैसे की हम जानते है की हमे हवाई यात्रा करने हेतु पासपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है। अगर किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उसके पासपोर्ट को निरस्त करने हेतु कोई प्रावधान स्पष्ट नहीं है। हर पासपोर्ट की एक समय-सीमा होती है अतः परिवार जनों को चाहिए की वह तब-तक पासपोर्ट को सुरक्षित रखे जब तक उसकी समयसीमा समाप्त न हो। इस प्रकार से पासपोर्ट डिफाल्टर के तौर पर स्वत ही समाप्त हो जाता है।

इस लेख के माध्यम से आपने जाना की आधार, PAN, पासपोर्ट और वोटर आईडी का व्यक्ति की मृत्यु के बाद क्या होता है। अगर किसी दस्तावेज को निरस्त करने का प्रावधान नहीं है तो उसे सँभालकर रखना चाहिए ताकि उसका दुरपयोग ना हो।

अब बिना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के डाउनलोड करें आधार, ये रहा आसान प्रोसेस

ऐसे ही सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट crpfindia.com को बुकमार्क करके रखें

Leave a Comment