कैंसिल्ड चेक और इसकी उपयोगिता क्या है | what is cancelled cheque and it use in Hindi

आप सभी यह तो जानते ही होंगे की आज के समय में दुनिया काफी डिजिटल हो चुकी हैं। हर चीज आज के समय में ऑनलाइन उपलब्ध है चाहे वो खाना मंगवाना हो, सामान मंगवाना हो और तो और इन सभी चीजों की पेमेंट भी ऑनलाइन होती हैं। जिसको ऑनलाइन पेमेंट कहते हैं। आज के समय में बैंकों के लगभग सभी कार्य ऑनलाइन होने लगे हैं जैसे की बैंक से पैसे ट्रांसफर करना, या बैंक में पैसे जमा करवाना हो सभी ऑनलाइन हो जाता हैं। पर ऑनलाइन के इस युग में आज कुछ काम ऐसे भी हैं जिसको इंसान को बैंक में जाकर की करने पढ़ते हैं जैसे की – किसी cheque जमा करवाने के लिए व्यक्ति को बैंक जाने की आवश्यकता होती हैं। तो आप सभी Cheque के बारे में तो जानते ही होंगे तो फिर आप सभी ने कैंसिल्ड चेक के बारे में भी सुना ही होगा।

कैंसिल्ड चेक और इसकी उपयोगिता क्या है
what is cancelled cheque

अगर आप नहीं जानते की कैंसिल्ड चेक क्या होता है तो आपको इसमें चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं हैं क्योंकि आज हम कैंसिल्ड चेक के ऊपर ही चर्चा करने वाले हैं और आप सभी को इसके बारे में बहुत सी आवश्यक बाते बताने वाले हैं जैसे की – कैंसिल्ड चेक क्या होता हैं ?इसका उपयोग कहा किया जाता हैं आदि जैसी बहुत सी जानकारी। तो दोस्तों अगर आप भी इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो उसके लिए आपको हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा तभी आप इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकोगे।

इसको भी अवश्य पढ़े :- बैंक चेक (Bank Cheque) कैसे भरे

कैंसिल्ड चेक क्या होता है | What is cancelled cheque

कैंसिल्ड चेक कोई अलग प्रकार का चेक नहीं होता वह भी साधारण चेक की तरह ही होता हैं लेकिन अगर आप ब्लेंक चेक पर दो टेडी लाइन बना देते हो और उस पर cancel लिख देते हो तो उसी को कैंसिल्ड चेक कहा जाता हैं। उस पर cancel लिखने की वजह से वह चेक किसी भी काम का नहीं रह जाता हैं। Cancelled cheque को निरस्त और रद्द चेक भी कहा जा सकता हैं। अगर आप किसी भी व्यक्ति को कैंसिल चेक देते हैं तो उसको देने से पहले आपको भी कुछ बाते याद रखनी होती है जिसके बारे में हम आपको यहाँ पर जानकारी दी हुई हैं

कैंसिल्ड चेक देते समय ध्यान रखे यह बातें

तो दोस्तों यहाँ पर हम आपको कुछ जानकारी देने वाले है तो कृपया करके यहाँ पर दी गयी जानकरी को ध्यान में रखे क्योंकि यह बाते ध्यान न रखने पर कुछ रुकावट भी आ सकती हैं तो कृपया कर जब भी आप किसी व्यक्ति को कैंसिल चेक रहे हो तो यह सब चीजे ध्यान में रखियेगा।

  1. चेक को कैंसिल करते वक़्त black pen और blue pen का प्रयोग करें – तो दोस्तों अगर आप कैंसिल चेक बना रहे हैं तो आपको यह ध्यान रखना है की चेक को कैंसिल करते वक़्त आपको black pen और blue pen का उपयोग करना आवश्यक हैं और एक बात और अगर आप डॉट पेन का प्रयोग करें तो यह भी ठीक रहेगा।
  2. कैंसिल चेक पर हस्ताक्षर करना आवश्यक नहीं – तो दोस्तों अगर आप किसी को भी कैंसिल चेक दे रहे हो तो अब आपको उसपर हस्ताक्षर करने की आवश्यकता नहीं हैं क्योंकि इससे बहुत से गलत कार्य की खबरे सुनने को मिली हैं तब से ही बैंक इसपर हस्ताक्षर करना अनिवार्य नहीं रहा।

Cancelled cheque में किस प्रकार की जानकारी होती हैं | What type of information is there in a canceled check?

कैंसिल चेक में बहुत सी जानकारी होती हैं। यह जानकारी पहले से ही चेक पर मौजूद होती हैं जिसके बारे में आप जान सकते हैं। तो वह जानकारी कुछ इस प्रकार हैं :-

  1. बैंक ग्राहक या खाताधारक का नाम (Name of Account Holder)
  2. खाताधारक की बैंक खाता संख्या (Bank Account Number)
  3. व्यक्ति के बैंक की शाखा का नाम (Bank Branch Name)
  4. बैंक की शाखा का IFSC Code
  5. MICR (Magnetic Ink Character Recognition) Code

Cancelled cheque check कैसे बनाये ?

कैंसिल चेक बनाना कोई अधिक कठिन कार्य नहीं है वह तो बहुत सी सरल कार्य हैं। केवल व्यक्ति के पास चेक बुक होना आवश्यक हैं। तो आइये जानते हैं की किस प्रकार से कैंसिल्ड चेक बनाये जाते हैं।

  1. सबसे पहले तो आपको अपनी चेक बुक लेनी होगी उसके बाद आपको उसमे से एक ब्लेंक चेक को खोल लेना होगा।
  2. उसके बाद आपको ब्लैक या फिर ब्लू डॉट पेन लेना होगा और उससे आपको उस चेक पर 2 टेडी लाइन बनानी होगी।
  3. उसके बाद आपको उस चेक पर कैंसिल लिखना होगा।

बस इसी प्रकार से आप किसी भी ब्लेंक चेक को आसानी से कैंसिल चेक में परिवर्तित कर सकते हो।

कैंसिल्ड चेक की आवश्यकता कहाँ पर होती हैं | Where is a canceled check required?

तो दोस्तों आज हम आपको यहाँ पर बताने वाले हैं की कैंसिल्ड चेक की आवश्यकता कहाँ पर पढ़ती हैं तो अगर आप भी यह जानना चाहते है तो कृपया कर इसको पूर्ण पढ़े

  1. KYC (Know Your Customer) के समय पर – जिस समय में बैंक के ग्राहक की सत्यता होती हैं उस समय में बैंक के द्वारा कैंसिल चेक माँगा जाता हैं। तो उस समय हम को बैंक को कैंसिल चेक देना आवश्यक होता हैं अन्यथा हमारा सत्यापन नहीं हो सकता हैं।
  2. बैंक से लोन लेते समय – बैंक की आवश्यकता आज के समय में बहुत से लोगो को पढ़ती हैं। लोन देने से पहले बैंक को व्यक्ति के बहुत से दस्तावेज की आवश्यकता पढ़ती हैं उनमे से एक कैंसिल चेक भी है। बैंक कैंसिल चेक इसलिए मांगते हैं ताकि उनको आपकी अधिक जानकारी प्राप्त हो सकें।
  3. डीमैट अकाउंट खोलने के लिए – डीमैट अकॉउंट के बारे में तो आप सभी जानते ही होंगे। इस प्रकार के खाते की आवश्यकता तब पढ़ती हैं जब कोई व्यक्ति शेयर्स या फिर ऑनलाइन मार्किट में निवेश करना चाहता है उसके लिए एक अलग प्रकार के खाते की आवश्यकता उसी को डीमैट अकाउंट कहते हैं। तो इस प्रकार का खाता खोलनेके लिए बैंक व्यक्ति से कैंसिल चेक मांगता हैं। ताकि बैंक आपके बारे में अधिक जान सकें
  4. EPF खाते से पैसे निकलने हेतु – अगर कोई व्यक्ति अपने EPF अकाउंट से पैसे निकालना चाहता हैं तो उसके लिए कैंसिल चेक की आवश्यकता होती हैं जो की या तो बैंक को या फिर EPFO करना होता हैं। कैंसिल चेक के बिना कोई भी व्यक्ति अपने EPFO खाते से पैसे नहीं निकाल सकता हैं। जब आप कोई व्यक्ति कैंसिल चेक जमा कर देगा तो उसके बाद ही आपको पैसे दे दिए जाएंगे।
  5. बीमा को खरीदने हेतु – अगर कोई भी व्यक्ति किसी भी कंपनी से बीमा खरीदता हैं तो उस व्यक्ति को उस बीमा कंपनी को कैंसिल चेक देना होता हैं क्योंकि उस कंपनी को उसकी आवश्यकता होती हैं। चाहे आप किसी भी प्रकार का बीमा लेते हो जैसे की – स्वास्थ्य बीमा,जीवन बीमा आदि। आपको कैंसिल चेक जमा करना आवश्यक।

ब्लेंक चेक और कैंसिल चेक के बीच में अंतर जानिये

तो दोस्तों आज हम आपको यहाँ पर बताने वाल हैं की ब्लेंक चेक में और कासल चेक में क्या अंतर होता हैं तो इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए इसको पूर्ण रूप से पढ़े

ब्लेंक चेक – जिस प्रकार से कैंसिल चेक में केवल दो लाइन बनाने से और उस पर कैंसिल लिख देने से वह चेक कैंसिल चेक कहलाता हैं उसी प्रकार से ब्लेंक चेक भी सामान्य चेक की तरह ही होता हैं। अगर किसी कोहरे चेक पर कोई व्यक्ति केवल हस्ताक्षर कर देता हैं तो उस चेक को ही ब्लेंक चेक कहते हैं। ब्लेंक का मतलब ही खाली होता हैं। उसी प्रकार उस चेक में कोई और जानकारी भरी नहीं होती हैं।

ब्लेंक चेक की आवश्यकता कब होती है – अगर कोई व्यक्ति बैंक से लोन लेना चाहता हैं तो उस व्यक्ति से बैंक ब्लेंक चेक मांगता हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि बैंक जब भी किसी व्यक्ति को लोन प्रदान करता हैं तो उससे पहले बैंक उस व्यक्ति ब्लेंक लेने के बहुत से कारन होते हैं जिसके बारे में हम आपको यहाँ पर बताने वाले हैं तो कृपया ध्यान से पढ़े

  1. जब बैंक व्यक्ति से ब्लेंक चेक की मांग करता हैं तो उसका मुख्य कारण यह होता है की ब्लेंक चेक में उस व्यक्ति के हस्ताक्षर होते हैं और बैंक उस व्यक्ति के हस्ताक्षर को मैच करते हैं और यह पहचान करते हैं की वह व्यक्ति वही है की नहीं जिसका खाता बैंक में हैं या फिर नहीं।
  2. ब्लेंक चेक इसलिए बैंक के द्वारा माँगा जाता हैं ताकि बैंक वाले पहचान सकें की उस व्यक्ति का बैंक का खाता किस बैंक में हैं। इसलिए ही बैंक ब्लेंक चेक की मांग करता हैं।
  3. बैंक चेक की मांग बैंक के द्वारा इसलिए भी की जाती हैं ताकि बैंक आपके ब्लेंक चेक की मदद से यह जान सके की आपका बैंक अकाउंट किस बैंक की किस ब्राँच में हैं। इस तरह की जानकारी IFSC कोड के द्वारा पता चलती हैं जो की आपके चेक में मौजूद होता हैं।

कैंसिल्ड चेक – कैंसिल्ड चेक कोई अलग प्रकार का चेक नहीं होता वह भी साधारण चेक की तरह ही होता हैं लेकिन अगर आप ब्लेंक चेक पर दो टेडी लाइन बना देते हो और उस पर cancel लिख देते हो तो उसी को कैंसिल्ड चेक कहा जाता हैं।

चेक से सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर यहाँ पर जानिए

कैंसिल्ड चेक क्या होता हैं ?

कैंसिल्ड चेक कोई अलग प्रकार का चेक नहीं होता वह भी साधारण चेक की तरह ही होता हैं लेकिन अगर आप ब्लेंक चेक पर दो टेडी लाइन बना देते हो और उस पर cancel लिख देते हो तो उसी को कैंसिल्ड चेक कहा जाता हैं। उस पर cancel लिखने की वजह से वह चेक किसी भी काम का नहीं रह जाता हैं। Cancelled cheque को निरस्त और रद्द चेक भी कहा जा सकता हैं।

चेक में क्या लिखा जाता हैं ?

चेक में बहुत सी आवश्यक जानकारी लिखी होती हैं जैसे की – उपभोक्ता का खाता नंबर, बैंक की ब्रांच, बैंक का पता आदि कई जानकारियां लिखी होती है

कितने प्रकार के चेक होते हैं ?

चेक के कुछ इस प्रकार के होते हैं यहाँ पर उनके नाम दिए हुए हैं –
Open Cheque
Bearer Cheque
Crossed Cheque
Order Cheque

ब्लेंक चेक क्या होता हैं ?

अगर किसी कोहरे चेक पर कोई व्यक्ति केवल हस्ताक्षर कर देता हैं तो उस चेक को ही ब्लेंक चेक कहते हैं।

तो दोस्तों आज हमने आपको इस लेख में cancelled cheque के बारे में बहुत सी जानकरी प्रदान की हैं तो अगर आपको सभी जानकारी पसंद आयी हो तो कृपया करके हमें कमेंट करके अवश्य बताएं की आपको यह लेख केसा लगा।

Leave a Comment