Uttarakhand Schools Closed: उत्तराखंड में 31 जनवरी तक नहीं खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन्स

कोरोना के बढ़ते मामलो के बीच उत्तराखंड सरकार ने कोरोना सम्बंधित गाइडलाइन्स को 31 जनवरी तक बढ़ाने का फैसला लिया है। ऐसे में प्रदेश के सभी शिक्षण संस्थान 31 जनवरी 2022 तक बंद रहेंगे साथ ही कोविड सम्बंधित प्रतिबंधों को भी आगे बढ़ाया गया है। विधानसभा चुनावो के मद्देनजर चुनाव आयोग पहले ही रैलियों पर पाबंदी लगा चुका है ऐसे में अब सरकार द्वारा भी सभी शैक्षणिक संस्थानों को 31 जनवरी तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। सरकार द्वारा इस फैसले के तहत 12वी तक के सभी शैक्षिक संस्थानों को शामिल किया गया है। चलिए जानते है पूरी खबर

31 जनवरी तक बंद रहने सभी स्कूल

22 जनवरी को रिवाइस की गयी कोरोना सम्बंधित गाइडलाइन्स में उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रदेश के सभी आँगनवाड़ी केन्द्रो ,शैक्षिक संस्थानों और 12वीं कक्षा तक के स्कूलों को 31 जनवरी तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। प्रदेश में भी ओमीक्रोन के मामलो में बढ़ोतरी देखने को मिली है ऐसे में शिक्षण संस्थानों समेत तमाम संस्थानों के लिए कोरोना प्रतिबंधों को जारी रखने का फैसला लिया गया है। विभाग द्वारा साफ किया गया है की सभी छात्रों को ऑनलाइन कक्षाएँ यथावत चलती रहेंगी। अब 31 जनवरी के बाद ही कोरोना सम्बंधित स्थिति के आकलन के बाद स्कूलों को खोलने के फैसले पर विचार किया जायेगा।

उत्तराखण्ड में भी कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलो में उछाल देखने को मिला है ऐसे में सरकार द्वारा सख्त कदम उठाये जा रहे है। वही विधानसभा चुनावो के मद्देनजर भी चुनाव आयोग राजनीतिक दलों को ढ़ील देने के मूड में नहीं है ऐसे मेंरैलियों पर प्रतिबन्ध को भी जारी रखा गया है।

रैलियों पर भी लगा है प्रतिबन्ध

आपको बता दे की कोरोना संक्रमण के मद्देनजर चुनाव आयोग द्वारा पहले ही चुनावी रैलियों पर प्रतिबन्ध लगा हुआ है। ऐसे में सभी दल घर-घर जाकर प्रचार करने को तवज्जो दे रहे है। वही कोरोना सम्बंधित अन्य प्रतिबंधों को भी 31 जनवरी तक यथावत रखा गया है। प्रदेश में लागू नाईट कर्फ्यू को भी आगे बढाया गया है। सिनेमा हाल, रेस्टोरेंट, खेल संस्थान,  रेस्तरां और अन्य मनोरजन गतिविधियों वाले स्थल 50 फ़ीसदी क्षमता को साथ खुलेंगे। 31 जनवरी के बाद फिर से कोरोना सिचुएशन की समीक्षा की जाएगी।

Leave a Comment