यूपी पंचामृत योजना | Uttar Pradesh Panchamrut Yojana लाभ एवं पात्रता, आवेदन प्रक्रिया

उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के किसानों की आय को दुगुनी करने के लिए यूपी पंचामृत योजना (Uttar Pradesh Panchamrut Yojana) शुरू की गयी है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा गन्ना किसानों के उत्पादन लागत को कम करके उपज बढ़ाने के लिए सहायता प्रदान की जाएगी। यूपी पंचामृत योजना के माध्यम से सरकार द्वारा नवीन वैज्ञानिक तकनीकों के माध्यम से गन्ना किसानों की उपज को बढ़ाने एवं आमदनी की दुगुना करने के लिए आर्थिक एवं तकनीकी सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना के माध्यम से उत्तर-प्रदेश के करोड़ो गन्ना किसानों को लाभ मिलेगा। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की यूपी पंचामृत योजना है ? साथ ही आर्टिकल के माध्यम से Uttar Pradesh Panchamrut Yojana का उद्देश्य, लाभ, पात्रता, दस्तावेज एवं Panchamrut Yojana Online Registration 2023 सम्बंधित जानकारी भी प्रदान की जाएगी।

Uttar Pradesh Panchamrut Yojana
यूपी पंचामृत योजना

उत्तर-प्रदेश पंचामृत योजना 2023, Highlights

यहाँ आपको Uttar Pradesh Panchamrut Yojana 2023 सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओ की जानकारी प्रदान की गयी है :-

योजना का नाम उत्तर-प्रदेश पंचामृत योजना 2023
उद्देश्यप्रदेश के गन्ना किसानों को लाभ प्रदान करना
लांच की गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
सम्बंधित प्रदेश उत्तर-प्रदेश
लाभ गन्ना कृषकों की आय दुगुनी होगी
विभाग चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग, उत्तर-प्रदेश
लाभार्थी उत्तर-प्रदेश के गन्ना किसान
आवेदन का माध्यम ऑनलाइन / ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट जल्द जारी की जाएगी

Uttar Pradesh Panchamrut Yojana, उद्देश्य

उत्तर-प्रदेश गन्ना उत्पादन में भारत का सबसे बड़ा एवं प्रथम राज्य है। भारत में सर्वाधिक गन्ना उत्पादन उत्तर-प्रदेश में किया जाता है। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश के गन्ना कृषको की आय को बढ़ाने के लिए UP Panchamrut Yojana” लांच की गयी है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा प्रदेश के गन्ना कृषको को उपज बढ़ाने के लिए कुल 5 वैज्ञानिक विधियों ट्रेंच प्रबंध, पेड़ी प्रबंध, कचरा मल्चिंग, ड्रिप सिंचाई और सह-फसल अर्थात कुल 5 विधियों के माध्यम से गन्ना बुवाई का प्रशिक्षण प्रदान हेतु पंचामृत योजना की शुरुआत की गयी है। गन्ना बुवाई की वैज्ञानिक विधियों के माध्यम से कृषकों की उपज लागत में 50 से 60 फीसदी की कमी आएगी साथ ही उपज में भी उल्लेखनीय वृद्धि होगी। ऐसे में कृषको की आमदनी को दुगुना करने का सरकार का सपना पूरा हो सकेगा। साथ ही प्रदेश के करोड़ो गन्ना कृषकों को भी इस योजना के माध्यम से लाभ मिलेगा।

यूपी पंचामृत योजना की विशेषताएँ

यूपी पंचामृत योजना को प्रदेश के चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग द्वारा संचालित किया जा रहा है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गन्ना कृषको के उपज लागत में कमी लाकर गन्ना उत्पादन को बढ़ावा देना है। यहाँ आपको इस योजना की मुख्य विशेषताओ के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है :-

  • यूपी पंचामृत योजना में गन्ने की बुवाई के लिए 5 वैज्ञानिक विधियों ट्रेंच प्रबंध, पेड़ी प्रबंध, कचरा मल्चिंग, ड्रिप सिंचाई और सह-फसल के माध्यम से गन्ना फसल की उपज लागत में कमी लायी जाएगी। कृषक इस योजना के माध्यम से उपज लागत में 50 से 60 फीसदी कमी कर सकेंगे।
  • ड्रिप सिंचाई के माध्यम से कृषको को फसल की सिंचाई की बेहतर सुविधा मिल सकेगी एवं फसल में नमी भी बरक़रार रहेगी।
  • सह-फसल प्रणाली के माध्यम से कृषक गन्ने के फसल के साथ अन्य फसलों टमाटर, गेहूं, धनिया, लहसुन एवं मटर जैसी फसलों की खेती कर सकेंगे जिससे कृषको की आय में वृद्धि होगी।
  • कचरा मल्चिंग के माध्यम से कृषको की फसल अवशेष जलाने के झंझट से छुटकारा मिलेगा एवं प्रदूषण में भी कमी आएगी।

यूपी पंचामृत योजना में 2028 विशेष कृषकों का चयन किया जाएगा। साथ ही योजना का लाभ लेने हेतु प्लाट का रकबा 0.5 हेक्टेयर क्षेत्रफल में होना आवश्यक है। योजना में कृषको को बाजार मांग के अनुरूप विभिन दलहन एवं तिलहन फसलों के उत्पादन के लिए भी आवश्यक सहायता प्रदान की जाएगी।

UP Panchamrut Yojana, लाभ

  • इस योजना के माध्यम से गन्ना कृषकों की उपज लागत में 60 फीसदी तक की कमी आएगी। साथ ही कृषको की आमदनी दुगुनी की जा सकेगी।
  • UP Panchamrut Yojana के माध्यम से कृषको की आय को दुगुना करने के सरकार के लक्ष्य को पूरा किया जा सकेगा।
  • यूपी पंचामृत योजना के द्वारा कृषको को कम लागत में अधिक उपज प्राप्त हो सकेगी।
  • इस योजना से प्रदेश के करोड़ो गन्ना कृषको को वैज्ञानिक माध्यम से कृषि के गुर सिखाकर आर्थिक लाभ प्रदान किया जायेगा।

यूपी पंचामृत योजना, आवश्यक पात्रता

यूपी पंचामृत योजना के लिए सरकार द्वारा निम्न पात्रताएँ निर्धारित की गयी है :-

  • कृषक का उत्तर-प्रदेश का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  • सिर्फ कृषि व्यवसाय वाले नागरिक ही इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है। योजना में गन्ना कृषको को शामिल किया जायेगा।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए कृषक के पास स्वयं की कृषि भूमि होना अनिवार्य है।

सरकार द्वारा जल्द ही UP Panchamrut Yojana के पात्रता सम्बंधित विस्तृत सूची जारी की जाएगी। साथ ही सरकार द्वारा योजना हेतु आवश्यक दस्तावेजों की सूची की लिस्ट भी जारी की जाएगी।

उत्तर-प्रदेश पंचामृत योजना, आवेदन प्रक्रिया

आपकी जानकारी के लिए बता दे की सरकार द्वारा अभी तक उत्तर-प्रदेश पंचामृत योजना की सिर्फ आधिकारिक घोषणा की गयी है। सरकार द्वारा जल्द ही इस योजना से सम्बंधित विस्तृत दिशा-निर्देश एवं पात्रता सम्बंधित नियम जारी किए जायेंगे। सरकार द्वारा जैसे ही UP Panchamrut Yojana सम्बंधित दिशानिर्देश एवं Uttar Pradesh Panchamrut Yojana Online Registration हेतु ऑनलाइन लिंक जारी किया जाता है हम आपको इस वेबसाइट के माध्यम से सूचित कर देंगे। इसके लिए आप हमारी वेबसाइट www.crpfindia.com को बुकमार्क जरूर करें। धन्यवाद

यूपी पंचामृत योजना सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

यूपी पंचामृत योजना क्या है ?

यूपी पंचामृत योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के गन्ना कृषकों की आमदनी को बढ़ाने के लिए शुरू की गयी योजना है।

यूपी पंचामृत योजना के माध्यम से किस प्रकार गन्ना उपज में वृद्धि होगी ?

यूपी पंचामृत योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा गन्ना विभाग की सहायता से कृषकों को वैज्ञानिक विधि से गन्ना बुवाई का प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा जिसके अंतर्गत 5 वैज्ञानिक विधियों ट्रेंच प्रबंध, पेड़ी प्रबंध, कचरा मल्चिंग, ड्रिप सिंचाई और सह-फसल के माध्यम से गन्ना फसल की उपज में वृद्धि होगी।

यूपी पंचामृत योजना का क्या लाभ है ?

यूपी पंचामृत योजना के माध्यम से कृषको के उपज लागत में 60 फीसदी तक की कमी की जा सकेगी। साथ ही इसके माध्यम से गन्ना कृषकों की आय को दुगुना किया जा सकेगा।

यूपी पंचामृत योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें ?

यूपी पंचामृत योजना हेतु सरकार द्वारा जल्द ही ऑनलाइन लिंक जारी किया जायेगा। इसके पश्चात आप सम्बंधित वेबसाइट के माध्यम से Uttar Pradesh Panchamrut Yojana Online Registration की प्रक्रिया को पूर्ण कर सकते है।

Leave a Comment

Join Telegram