UP Global Investors Summit 2023: (ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया) नए साल पर यूपी में खुलेगा निवेश का पिटारा

उत्तर-प्रदेश को देश के विकास का इंजन बनाने के लिए योगी सरकार ने कमर कस ली है। प्रदेश में फरवरी माह में होने वाले यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया के माध्यम से प्रदेश में लाखों करोड़ रुपए के निवेश की उम्मीद की जा रही है। प्रदेश में विभिन क्षेत्रों में निवेश के लिए विदेशो निवेशकों को आकर्षित करने के लिए योगी सरकार द्वारा तरह-तरह की सुविधाएँ प्रदान की जा रही है। इस समिट के माध्यम से उत्तर-प्रदेश में विकास के नए आयाम को पंख लगने की उम्मीदें लगायी जा रही है। प्रदेश में रोजगार के नवीन अवसरों को प्रदान करने के साथ ही यह समिट यूपी को देश के प्रमुख निवेश स्थल के रूप में पहचान दिलाने में अहम भूमिका निभाने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया (UP Global Investors Summit 2023) के माध्यम से नए साल में यूपी में निवेश की नयी राहें खुलने वाली है जिससे की प्रदेश की विकास गति को रफ़्तार मिलने की उम्मीदें है।

G-20 Summit: क्या है ? जी 20 शिखर सम्मेलन – मुख्यालय

UP Global Investors Summit
UP ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया

ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया

उत्तर-प्रदेश में विकास की गति को नया आयाम देने एवं प्रदेश को देश की अर्थव्यवस्था का केंद्रबिंदु बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा विभिन प्रकार की योजनाओ का शुभारंभ किया जा रहा है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश को निवेशकों का पसंदीदा स्थल बनाने के लिए ‘उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन’ (UP Global Investors Summit 2023) का आयोजन किया जा रहा है। इस समिट के दौरान सरकार द्वारा अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया, यूएई, बेल्जियम एवं ब्राजील सहित विभिन देशो के निवेशकों को आमंत्रित किया जा रहा है। इस समारोह में अधिक से अधिक निवेशकों को आकर्षित करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा विभिन प्रकार की सुविधाएँ एवं छूट प्रदान की जा रही है।

10 लाख करोड़ रुपए के निवेश का है लक्ष्य

ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया (UP Global Investors Summit 2023) में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा लाखो करोड़ रुपए के निवेश के प्रस्ताव तैयार किए जा रहे है। योगी सरकार द्वारा ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया का आयोजन 10 से 12 फरवरी 2023 को राजधानी लखनऊ में किया जायेगा जिसमे 40 से अधिक देशों के निवेशकों को आमंत्रित किया गया है। आपको बता दे की इस समिट के माध्यम से उत्तर-प्रदेश सरकार द्वारा निवेशकों के माध्यम से 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य तय किया गया है।

विभिन क्षेत्रों में होंगे बम्पर निवेश

ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया के माध्यम से प्रदेश में विभिन क्षेत्रों में बम्पर निवेश की उम्मीद जतायी जा रही है। आपको बता दे की इस निवेश समिट के दौरान सरकार द्वारा रक्षा, खाद्य, कृषि, डेयरी, खाद्य प्रसंस्करण, सूचना प्रौद्योगिकी, आपदा प्रबंधन, नवीकरणीय ऊर्जा, जल संसाधन प्रबंधन, जल परिवहन एवं कौशल विकास सहित विभिन क्षेत्रों में निवेश में 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश की उम्मीद जताई जा रही है। इसके लिए सभी प्रमुख औद्योगिक घरानो से संपर्क किया जा रहा है।

निवेशकों से वार्ता के लिए 8 प्रतिनिधिमंडल रवाना

उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन’ (UP Global Investors Summit 2023) को सफल बनाने एवं इस समारोह को निवेशकों के लिए आकर्षित बनाने के लिए योगी सरकार कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहती। इसके लिए सरकार द्वारा मंत्रियों एवं वरिष्ठ अधिकारियों की अगुआई में कुल 8 प्रतिनिधिमंडलों के दल को दुनिया के 18 देशो में भेजा गया है। इन प्रतिनिधिमंडलो के माध्यम से निवेशकों को निवेश के लिए आमंत्रित किया जायेगा। साथ ही विभिन देशो में रोड शो, प्रेजेंटेशन एवं अन्य माध्यमों से भी निवेशकों को आकर्षित किया जा रहा है।

5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी का केंद्र बनेगा यूपी

आपको बता दे की प्रधानमन्त्री मोदी द्वारा भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने में योगी सरकार द्वारा भी प्रमुख योगदान देने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अगले 5 वर्षो में उत्तर प्रदेश को 1 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य तय किया गया है। प्रदेश सरकार के इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए 10 से 12 फरवरी को प्रदेश में UP Global Investors Summit 2023 का आयोजन किया जा रहा है। यदि प्रदेश सरकार अपने 1 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी को प्राप्त करने के लक्ष्य को पूरा करती है तो निश्चित रूप से ही यूपी 5 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी का केंद्र बनाकर उभरेगा।

उत्तर-प्रदेश बनेगा देश का विकास इंजन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर-प्रदेश को देश के विकास का इंजन बनाने के लिए विभिन कार्यक्रम एवं योजनाओ के माध्यम से प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन’ (UP Global Investors Summit 2023) के माध्यम से सरकार द्वारा नयी निवेश अनुकूल नीतियाँ लागू की गयी है जिससे की देश विदेश के निवेशक प्रदेश में निवेश को आकर्षित हो सके। विभिन क्षेत्रों में निवेश के माध्यम से यूपी सरकार प्रदेश में रोजगार के नवीन अवसर पैदा करने एवं उत्तर प्रदेश को देश के विकास का केंद्र बनाने के लिए प्रयासरत है। UP ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया के माध्यम से प्रदेश में निवेश के नवीन रिकॉर्ड बनने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है।

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट इंडिया सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट का क्या उद्देश्य है ?

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट के माध्यम से प्रदेश सरकार द्वारा विदेशी निवेशकों को आमंत्रित किया जायेगा। इस समिट के माध्यम से प्रदेश में लाखो करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य रखा गया है।

उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेशक शिखर सम्मेलन कब आयोजित किया जायेगा ?

UP Global Investors Summit 2023 का आयोजन 10 से 12 फरवरी 2023 को प्रदेश की राजधानी लखनऊ में किया जायेगा।

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में कुल कितने रुपए का निवेश लक्ष्य रखा गया है ?

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में प्रदेश सरकार द्वारा 10 लाख करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य रखा गया है।

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में किन-किन क्षेत्रों में निवेश का लक्ष्य रखा गया है ?

यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में रक्षा, खाद्य, कृषि, डेयरी, खाद्य प्रसंस्करण, सूचना प्रौद्योगिकी, आपदा प्रबंधन, नवीकरणीय ऊर्जा, जल संसाधन प्रबंधन, जल परिवहन एवं कौशल विकास सहित विभिन क्षेत्रों में निवेश का लक्ष्य रखा गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदेश को कितने डॉलर की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य रखा है ?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर-प्रदेश को 1 ट्रिलियन डॉलर की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

Leave a Comment

Join Telegram