UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022: ई-क्रय प्रणाली, eproc.up.gov.in

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022: उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने व उनकी आय में वृद्धि करने के लिए कई तरह की योजनाओं और पोर्टल की शुरुआत कर लाभ प्रदान किया जाता है। ऐसे ही एक पोर्टल की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण की सुविधा देने के लिए खाद्य एवं रसद विभाग ई-उपार्जन प्रणाली, ई-क्रय प्रणाली के नाम से की गई है। इस पोर्टल का संचालन खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा किया जाता है। इ-क्रय पोर्टल पर पंजीकरण के माध्यम से आवेदक किसान अपनी फसल को सही मूल्य पर सीधे राज्य सरकार या गवर्नमेंट एजेंसियों को बेच सकेंगे। जिससे इन्हे अपनी फसल बिचौलियों के माध्यम से खरीदार को कम कीमत पर बेचने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और सरकार द्वारा अपनी फसल का समर्थन मूल्य प्राप्त कर किसानों को बेहतर लाभ प्राप्त हो सकेगा।

राज्य के जो भी किसान अपनी फसलों को सही मूल्य में सरकार तक बेचना चाहते हैं, उन्हें UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होगा, आवेदन लॉक करने के पश्चात उन्हें मंडी में किस दिन और किस समय फसल बेचने जाना है, यह जानने के लिए टोकन बनाने प्रक्रिया को पूरा करना होगा। जिसके बाद किसानों को टोकन जारी होने के बाद वह अपनी फसलों को मंडियों तक आसानी से बेच सकेंगे। यदि आप भी UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण पोर्टल पर पंजीकरण हेतु इसके लाभ, दस्तावेज व पंजीकरण की प्रक्रिया जानना चाहते हैं तो इसकी विस्तृत जानकारी आप हमारे लेख के माध्यम से जान सकेंगे।

UP-Gehu-Kharid-Online-Kisan-Registration
UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण

Article Contents

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों को उनकी फसलों को उचित समर्थन मूल्य पर सरकार को बेचने की सुविधा प्रदान करने के लिए ई-क्रय प्रणाली की शुरुआत की गई है। इस पोर्टल पर राज्य सरकार द्वारा 01 अप्रैल से पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी जिसमे आवेदक किसान इसकी अंतिम तिथि 15 जून तक पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा कर सकेंगे, इस पोर्टल पर आवेदक किसान अपनी फसलों को सरकारी संस्थाओं को 1975 प्रति क्विंटल मूल्य पर बेचकर बेहतर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से 55 लाख मैट्रिक टन गेहूं किसानों से खरीदने का टारगेट रखा गया है, इसके लिए सभी किसानों को पोर्टल पर पंजीकरण करवाना आवश्यक है, जिसके बाद ही वह अपनी फसलों को सरकारी गोदाम तक बेच सकेंगे।

UP Gehu Kharid Online Kisan Registration Portal 2022 : Details

पोर्टल का नाम ई-क्रय प्रणाली, ई-उपार्जन प्रणाली
योजना यूपी गेहूं खरीद
शुरू किया गया उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
साल 2022
संबंधित विभाग खाद्य एवं रसद विभाग, उत्तर प्रदेश
प्रक्रिया ऑनलाइन
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानों को उनकी फसलों का उचित समर्थन मूल्य प्रदान करना
श्रेणी राज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइट eproc.up.gov.in

उत्तर प्रदेश गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण आरम्भ

उत्तर प्रदेश में गेहूं खरीद के लिए सरकार द्वारा अप्रैल के महीने से पंजीकरण प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया था, जिसमे 15 जून तक सरकारी संस्थाओं द्वारा किसानों से गेहूं की खरीद की जाएगी। इसके लिए राज्य के किसानों को पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरा करना होगा। राज्य के प्रतियेक जिले में सरकार द्वारा 6000 क्रय केंद्र गेहूं की खरीद के लिए खोले जाएँगे। जिसमे आवेदक किसान एक क्विंटल गेहूं के विक्रय के लिए एक बारी में टोकन की खरीद कर सकेंगे, आवेदक को दूसरे टोकन की खरीद के लिए एक हफ्ते तक का इंतज़ार करना पड़ सकता है। इन टोकन के माध्यम से किसान अपनी फसल को 1975 प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे, आवेदक किसानों को फसल के विक्रय के 72 घंटे के अंदर उनके खाते में फसल का भुगतान कर दिया जाएगा।

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन पंजीकरण अपडेट

राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष सबसे अधिक गेहूं की खरीद ऑनलाइन पोर्टल की मदद से की गई है, जिसमे ई-क्रय प्राणली के माध्यम से सरकार अब तक 36.7 लाख मेट्रिक टन गेहूं की खरीद कर चुकी है। गेहूं की खरीद पर किसानों को अभी तक 125.15 करोड़ रूपये का भुगतान किया जा चुका है। इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण करने वाले किसानों को उनकी फसलों को मंडियों तक पहुँचाने के लिए सरकार द्वारा ऑनलाइन टोकन की सुविधा भी प्रदान की गई है, जिससे किसानों को किस दिन और किस समय मंडी में फसलों को बेचने के लिए आना है उन्हें इसकी जानकारी टोकन के माध्यम से प्राप्त हो जाएगी।

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के लिए आवश्यक जानकारी

यूपी ई-क्रय प्रणाली पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आवेदनकर्ता किसान को इसके स्टेप्स 1 से स्टेप 6 का पालन करना अवश्यक है, जिसके बाद ही उनका पंजीकरण पूरा हो सकेगा।

  • ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आवेदक सबसे पहले स्टेप 1. में पंजीकरण प्रारूप डाउनलोड करके इसका प्रिंटआउट निकलवा लें और उसमे पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी भर दें।
  • आवेदन फॉर्म में आपको सभी सभी फसल के लिए उपयोग की जाने वाली सभी भूमि का विवरण जैसे खतौनी/खाता संख्या, प्लाट/खसरा संख्या, भूमि का रकबा (हेक्टेयर में) एवं फसल (गेहूं) का रकबा (हेक्टेयर में) भरना होगा।
  • भूमि विवरण भरने के बाद आपको अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक व राजस्व अभिलेखों का पूरा विवरण दर्ज करना होगा।
  • प्रारूप भरने के बाद स्टेप 2. में आप ऑफिसियल वेबसाइट पर पंजीकरण प्रपत्र के विकल्प से ऑनलाइन आवेदन दर्ज कर दें।
  • ऑनलाइन आवेदन दर्ज करने के बाद आप पंजीकरण संख्या को नोट करके सुरक्षित रख लें।
  • स्टेप 3. अब पंजीकरण ड्राफ्ट से ड्राफ्ट आवेदन पत्र प्रिंट कर लें।
  • अब पंजीकरण ड्राफ्ट में सभी बिंदुओं को अच्छे से जाँच कर लें यदि आपको किसी तरह के संशोधन की आवश्यकता है तो स्टेप 4. में पंजीकरण संशोधन से मोबाइल संख्या देकर आवेदन में संशोधन किया जा सकता है।
  • स्टेप 4. से संशोधन किया जा सकता है, यदि आवेदन पत्र में किसी तरह की त्रुटि नहीं पाई जाती है तो स्टेप 3. के बाद आप सीधे स्टेप 5. के विकल्प से आवेदन को लॉक कर सकते हैं।
  • ध्यान रहे आवेदन लॉक करने के बाद आवेदक इसमें किसी तरह का संशोधन नहीं कर सकेंगे।
  • अब सेटप 6. में आवेदन लॉक के बाद पंजीकरण फ़ाइनल प्रिंट के विकल्प पर क्लिक करके आवेदन के फ़ाइनल प्रिंट को सुरक्षित रख लें।
  • आवेदन लॉक होने के बाद ही पंजीकरण स्वीकार किया जाएगा।
  • आवेदक किसान को पंजीकरण के समय अपना वर्तमान में एक्टिव मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा, जिसके माध्यम से दर्ज किये गए मोबाइल नंबर पर एसएमएस द्वारा आए ओटीपी को भरकर पंजीकरण करना होगा।
  • यदि आवेदक किसान 100 क्विंटल से ज्यादा गेहूं बेचना चाहते हैं, तो उन्हें एसडीएम (उपजिलाधिकारी) से ऑनलाइन सत्यापन करवाना होगा।
  • आवेदक किसानों को अपनी आधार कार्ड संख्या, खसरा खतौनी डिटेल, बैंक डिटेल्स, अकाउंट नंबर आदि भरना होगा।
  • डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए सुनिश्चित भुगतान बैंक खाते में भेजा जाएगा।
  • किसान को गेंहू बेचते समय अपने महत्त्वपूर्ण दस्तावेज जैसे पंजीयन प्रपत्र, कम्प्युटराइज्ड खतौनी, पहचान पत्र, आधार कार्ड, बैंक की पासबुक लाना आवश्यक है।

गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के मुख्य तथ्य

  • राज्य सरकार 10 मार्च तक केंद्रों में मापक यंत्र, जाली का छलना, इलेक्ट्रॉनिक काँटा आदि जैसी गेहूं नापने के यंत्र उपलब्ध करवाएगी।
  • इस वर्ष बटाईदार से भी सरकार द्वारा गेहूं की खरीद की जाएगी।
  • पंजीकरण के समय किसान जिस खेत में खेती करते हैं, उसका पूरा विवरण बताना होगा।
  • आवेदक किसान के पंजीकरण फॉर्म में किसी तरह की त्रुटि होने पर मोबाइल नंबर देकर फॉर्म में सुधार कर सकते है।
  • जिसके बाद आवेदन लॉक हो जाने के बाद आवेदन स्वीकार कर लिया जाएगा, जिसकी सूचना किसानों को उनके रेजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त हो जाएगी।
  • इस वर्ष किसानों से पॉप आप मशीन के जरिए बायोमेट्रिक थंब प्रिंट से गेहूं की खरीद की जाएगी।
  • किसान जो खुद से क्रय केंद्र नहीं आ सकते, वह अपने नॉमिनी को भेज सकते हैं आवेदक के नॉमिनी की पहचान व प्रमाणीकरण के लिए उन्हें अपना आधार कार्ड लेकर आना आवश्यक है।
  • आवेदक पहचान फॉर्म भरते समय भूमि की सभी जानकारी जैसी खसरा, खतौनी नंबर, खेत का क्षेत्रफल सही से दर्ज करें।
  • जिसके बाद गेहूं की बिक्री के पश्चात अधिकारी से रसीद अवश्य प्राप्त कर लें।
  • अब पंजीकरण फॉर्म सबमिट करने के बाद आवेदक अपनी पंजीकरण संख्या को नोट कर लें या इसका प्रिंटआउट निकाल लें।

UP गेहूं खरीद का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन पंजीकरण के लिए ई-क्रय पोर्टल को जारी करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को उनकी रबी (गेहूं) की फसल का समर्थन मूल्य प्रदान कर लाभ पहुँचाना है। जिससे राज्य के बहुत से किसान जिन्हे अपनी फसल तैयार होने के बाद कोरोना संक्रमण के समय लॉकडाउन लगने के चलते खरीदार न मिल पाने के कारण समस्या का सामना करना पड़ रहा था जिससे उन्हें अपनी फसल को कम कीमत बेचना पड़ा, ऐसे सभी किसानों को इस समस्या से निजात दिलवाने के लिए सरकार द्वारा उन्हें ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण के माध्यम से अपनी फसल को बेचने की सुविधा प्रदान की गई है, जिससे किसान अपनी फसल को सीधे सरकार तक बेचकर बेहतर लाभ प्राप्त कर सकेंगे, फसल विक्रय के बाद सरकार द्वारा किसानों के खातों में 72 घंटों के भीतर फसल भुगतान की राशि भेज दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश ई-क्रय प्रणाली के लाभ एवं विशेषताएँ

  • उत्तर प्रदेश के किसान ई-क्रय प्रणाली के माध्यम से अपनी फसलों को सीधे सरकार तक बेचने के लिए पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।
  • पोर्टल पर पंजीकृत किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए टोकन जारी किए जाएँगे, जिससे उन्हें किस दिन अपनी फसल बेचने के लिए मंडी में जाना है, उन्हें उसका समय व दिन पता लग जाएगा।
  • राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष 2022 में किसानों की सुविधा को ध्यान रखते हुए 6000 क्रय केंद्रों को निर्माण गेहूं की खरीद के लिए किया जाएगा।
  • पंजीकृत किसानों को अब अपनी बारी आने का इंतज़ार करने की आवश्यकता नहीं होगी टोकन के माध्यम से वह निर्धारित समय पर अपनी फसल बेचने के लिए ला सकते हैं जिससे उनके समय की बचत हो सकेगी।
  • ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आवेदक किसान अपनी फसल को 1975 प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर बेच सकेंगे।
  • किसानों द्वारा बेचीं गई फसल के 72 घंटे के बाद ही उनकी फसल की भुगतान राशि उनके बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
  • इस वर्ष सरकार ने गेहूं खरीदने के लिए 55 लाख मीट्रिक टन टारगेट रखा है।
  • आवेदक किसान पोर्टल पर पंजीकरण के बाद 100 क्विंटल गेहूं के विक्रय के लिए टोकन प्राप्त कर सकेंगे।
  • ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से मंडी में बेची गई फसलों पर किसानों को उचित व समर्थन मूल्य प्राप्त हो सकेगा।
  • किसानों की आय में वृद्धि हो सकेगी और उनके जीवन स्तर में सुधार हो सकेगा।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण की पात्रता

पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदक को इसकी निर्धारित पात्रता को पूरा करना होगा, जिसे पूरा करने वाले किसानों को ही योजना का लाभ प्राप्त प्राप्त हो सकेगा।

  • फसल बेचने के लिए पंजीकरण हेतु आवेदक किसान उत्तर प्रदेश के मूल निवासी होने चाहिए।
  • वह किसान जो मार्किट प्राइस के अनुसार अपनी फसल को बेचना चाहते हैं, वह इसके लिए पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे।
  • आवेदक किसान को अपना कोर बैंकिंग सोल्यूशन बैंक में खाता खुलवाना होगा यानी ऐसा बैंक जो उसी की ब्रांच से कनेक्ट होने की अनुमति दे और जो पैसा जमा, लोन, क्रेडिट करने की सुविधा अपने ग्राहकों को देता है।

UP गेंहू खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण हेतु आवश्यक दस्तावेज

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के लिए आवेदक किसान के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है, बिना पूरे दस्तावेजों के आवेदन की प्रकरिया पूरी नहीं हो सकेगी, जिसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र (वोटर आईडी, पैनकार्ड)
  • राशन कार्ड
  • कृषि भूमि के दस्तावेज
  • कम्प्यूटराइज्ड खतौनी खाता के साथ
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • किसान की किताब
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक की पासबुक

यूपी गेंहू खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण प्रक्रिया

राज्य के जो किसान यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण कर लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो वह ऑनलाइन पंजीकरण की प्रकारिया यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर जान सकेंगे।

  • यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण के लिए आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। UP-Gehu-Kharid-Kisan-Registration
  • जिसके बाद आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको पंजीकरण प्रक्रिया को 6 स्टेप्स में एक के बाद एक करके पूरा करना होगा।
  • इसके लिए सबसे पहले आप पंजीकरण प्रपत्र के लिंक पर क्लिक करें। Kisan-kharid-online-registration
  • अब आपकी स्क्रीन पर फॉर्म आ जाएगा, जिसमे आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड भरकर आगे बढ़ें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Up-kisan-registration
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा, यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, लिंग, पता, पिता-पति का नाम, आधार नंबर, तहसील, जनपद आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपकी रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

पंजीकरण प्रारूप क्या है देखने की प्रक्रिया

यदि आप पंजीकरण प्रारूप जो की आवेदन फॉर्म का एक तरह का डुप्लीकेट फॉर्म है, यह रजिस्ट्रेशन फॉर्म का फॉर्मेट है, जिसे देखने के लिए आप यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Check-registration-format
  • जिसके बाद आपके सामने नया पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आप पंजीकरण प्रारूप के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • अब अगले पेज पर आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म का पीडीएफ खुलकर आ जाएगा।
  • आप इसे डाउनलोड करके इसका प्रिंटआउट निकलवा सकेंगे।

यूपी गेंहू खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण फॉर्म का प्रिंटआउट ऐसे करें

ऑनलाइन किसान पंजीकरण फॉर्म का प्रिंटआउट निकलवाने के लिए आवेदक यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको गेहूं खरीद हेतु किसान पंजीकरण के दिए गए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब नए पेज पर आपको किसान पंजीकरण फॉर्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे किसान पंजीकरण संख्या, अपना मोबाइल नंबर और दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।
  • अब आप आगे बढ़ें के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर आपका आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा, जिसे आप प्रिंटआउट निकलवा सकेंगे।

यूपी किसान पंजीकरण संशोधन/ड्राफ्ट

पोर्टल पर पंजीकरण के समय किसी तरह की गलती में सुधार के लिए आप इसके पंजीकरण फॉर्म में फिर से सुधार कर सकेंगे, इसके लिए आप यहाँ बताए गए स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं।

  • आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको पंजीकरण संशोधन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Application-form-correction
  • जिसके बाद अगले पेज में आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण संशोधन प्रपत्र खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई जानकारी जैसी आपका मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको आगे बढ़ें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर पंजीकरण फॉर्म खुलकर आ जाएगा, यहाँ आप अपने फॉर्म में हुई त्रुटि में सुधार कर सकेंगे।

पोर्टल पर आवेदन लॉक के बाद टोकन बनाने की प्रक्रिया

पोर्टल पर अपनी गेहूं की फसल की बिक्री के लिए किसानों को रजिस्ट्रेशन के साथ टोकन बनाना आवश्यक है, इससे आपको मंडी में किस समय और किस दिन लेकर जानी है यह पता चल जाएगा।

  • आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब होम पेज पर आपको आवेदन लॉक के उपरान्त टोकन बनाए के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। Apply-for-token-after-application-lock
  • इसके बाद आपको अगले पेज में पूछी गई सभी जानकारी जैसे किसने पंजीयन ID या मोबाइल नंबर भरना होगा।
  • अब आपको दिए गए कैप्चा कोड को भरकर आगे बढ़ें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर ऑनलाइन टोकन पंजीकरण फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • यह टोकन किसान को उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भी भेज दिया जाएगा।
  • इस टोकन में आपको आपके गेहूं बेचने हत्य समय व दिन निर्धारित किया गया होगा।

मोबाइल एप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको खरीद हेतु किसान पंजीकरण के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको मोबाइल एप डाउनलोड करें (केवल एंड्राइड फ़ोन) के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके डिवाइस में मोबाइल एप डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा।
  • मोबाइल एप डाउनलोड होने के बाद आप इसे इनस्टॉल कर दें।
  • इस तरह आपके मोबाइल एप डाउनलोड करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

सीएमआर का मूवमेंट चालान जेनरेट करने की प्रक्रिया

  • सीएमआर का मूवमेंट चालान जेनरेट करने के लिए आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको गेहूं क्रय प्रबंधन प्रणाली 2021-22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको शाखा में विपरण शाखा का चयन करके, यूज़र टाइप में क्रय केंद्र का चयन करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज में आप अपनी यूज़र आईडी, पासवर्ड और कैप्चा कोड को दर्ज सबमिट के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको परिवहन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको मूवमेंट चालान जारी करें सीएमआर के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर अगला पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको फॉर्म में पूछी गई सभी महत्त्वपूर्ण जानकारी जैसे प्रेषक का नाम, मिल का नाम, प्राप्तकर्ता, परिवहन का नाम आदि भरकर सुरक्षित करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • सुरक्षित करें पर क्लिक करने के बाद सीएमआर का मूवमेंट चालान जेनरेट हो जाएगा।

ई प्रोक्योरमेंट मूवमेंट पर डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट सेव करने की प्रक्रिया

  • आवेदक सबसे पहले खाद्य एवं रसद विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • यहाँ होम पेज पर आपको गेहूं क्रय प्रबंधन प्रणाली 2021-22 के विकल्प पर क्लिक करना होगा।Save-digital-signature-certificate
  • अब लॉगिन के सेक्शन में आपको लॉगिन के सेक्शन में शाखा में वित्तरण शाखा का चयन करना होगा और यूज़र टाइप में डिपो यूज़र का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने जनपद का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपनी यूज़र आईडी, पासवर्ड और दिए गए कैप्चा कोड को भरना होगा।
  • इसके बाद आपको डिजिटल सिग्नेचर संरक्षित करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर नया पेज खुलकर आ जाएगा, यहाँ आपको ऑफिसर रोल, मोबाइल नेम, डीएससी वैलिडिटी फॉर्म, अफसर नेम इन डीएससी आदि जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सेर्टिफिकेट सेलेक्ट करके हस्ताक्षरित करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपके डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट सेव करने की प्रक्रिया।

ओटीपी सत्यापन की प्रक्रिया

ओटीपी सत्यापन की प्रक्रिया किसानों का तीन बार बायोमेट्रिक सत्यापन फेल होने पर किया जाता है, इसके लिए ओटीपी की प्रक्रिया आवेदक यहाँ बताए गए स्टेप्स को पढ़कर जान सकेंगे।

  • आवेदक को सबसे पहले अपने मोबाइल में ई प्रोक्योरमेंट एप डाउनलोड करना होगा।
  • अब एप ओपन करके आपको क्रय केंद्र प्रभारी का यूज़र नेम, पासवर्ड दर्ज करके लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको किसान खोजें के ऑप्शन पर क्लिक करके किसान की आईडी दर्ज करनी होगी।
  • अब आईडी दर्ज करने के बाद आपको जमा करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको आधार प्रमाणीकरण के लिए स्वयं या मनोनीत वयक्ति के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको जमा करें के भीतर पर सेट करना होगा।
  • अब आपको बायोमेट्रिक स्कैन के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आपका स्कैन फेल हो जाने की स्थिति में आपकी स्क्रीन पर ओटीपी पेज खुलकर आ जाएगा।
  • जिसके बाद आपके आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर आपको एक ओटीपी प्राप्त होगा।
  • अब मोबाइल पर आए ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में भरकर आपको जमा करें के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपकी ओटीपी सत्यापन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2022 से जुड़े प्रश्न/उत्तर

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण क्या है ?

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण की शुरुआत राज्य के किसानों को उनकी फसलों को समर्थन मूल्य पर सरकार तक बेचने के सुविधा प्रदान करने के लिए किया गया है, जिसके लिए सरकार द्वारा ई-क्रय प्रणाली, ई-उपार्जन प्रणाली जारी किया गया है।

यूपी ई-क्रय प्रणाली के माध्यम से फसल बेचने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

यूपी ई-क्रय प्रणाली के माध्यम से फसल बेचने के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट eproc.up.gov.in है।

पोर्टल के माध्यम से गेहूं बेचने के लिए कौन से किसान आवेदन के पात्र होंगे ?

उत्तर प्रदेश के सभी किसान जिनकी अपनी कृषि भूमि है या वह किसी और की कृषि भूमि में खेती करते हैं वह सभी गेहूं बेचने के लिए पोर्टल पर आवेदन के पात्र होंगे।

राज्य सरकार द्वारा यूपी गेहूं खरीद के लिए कितना समर्थन मूल्य निर्धारित किया है ?

राज्य सरकार द्वारा यूपी गेहूं खरीद के लिए समर्थन मूल्य 1975 प्रति क्विंटल निर्धारित किया है

पोर्टल के माध्यम से मंडी में बेची गई फसलों का भुगतान कब तक किया जाएगा ?

पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत किसानों द्वारा बेचीं गई फसल का भुगतान 72 घंटों के भीतर उनके बैंक खातों में हो जाएगा।

यूपी गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण पोर्टल से संबंधित सभी जानकारी हमने आपको अपने लेख के माध्यम से प्रदान करवा दी है और इसकी आवेदन प्रक्रिया के आरम्भ होने की जानकारी भी जल्द ही आपको प्रदान करवा देंगे, इसके लिए यदि आपको हमारा लेख पसंद आए या योजना से सम्बंधित कोई प्रश्न पूछना हो तो आप कमेंट बॉक्स में मैसेज करके पूछ सकते हैं, हम आपके प्रश्नों का उत्तर देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment