UP Board Exam 2023: खुशखबरी! अगले साल से दो बार होंगी यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की परीक्षाएँ

उतर-प्रदेश शासन द्वारा जल्द ही प्रदेश की शिक्षा प्रणाली में बड़े बदलाव किये जा सकते है। इसमें यूपी बोर्ड (UP Board) परीक्षाओं से लेकर कॉलेजो तक की परीक्षाओं में बड़े बदलाव पर मंथन किया जा रहा है। अधिकारियो की माने तो प्रदेश सरकार द्वारा शिक्षा प्रणाली में बदलाव का उद्देश्य, रटने की प्रवृति को हतोत्साहित करना और बच्चो की समझ को विकसित करना है जिससे की सभी छात्रों को फायदा मिल सके। इसके लिए सरकार द्वारा पूरी तैयारियाँ की जा चुकी है। खबरों की माने तो अगले वर्ष से प्रदेश सरकार द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षायें वर्ष में 2 बार करवाई जाएँगी। इसके लिए सरकार द्वारा हाई-स्कूल बोर्ड के लिए नया पैटर्न 2023 से जबकि इंटरमीडिएट बोर्ड का नया पैटर्न 2025 से शुरू कर दिया जायेगा।

बहुविकल्पीय प्रश्नो पर जोर

सरकार द्वारा लागू किये जाने वाले नए पैटर्न में अधिकतर सवाल बहुविकल्पीय टाइप के होंगे। इनमे प्रत्येक विषय के लिए 100 नम्बरों की परीक्षा ली जाएगी जिसमे 30 क्वेश्चन बहुविकल्पीय टाइप के होंगे। बहुविकल्पीय प्रश्नो को हल करने के लिए छात्रों को ओएमआर सीट प्रदान की जाएगी ऐसे में यह छात्रों के लिए नया अनुभव होगा चूँकि अभी तक सरकार द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ही OMR सीट का इस्तेमाल किया जा रहा है। वही बचे हुये 70 नम्बरों के लिए वर्णानात्मक परीक्षा ली जाएगी जिसके आधार पर छात्रों के एनालिसिस क्षमता को मापा जायेगा। इसके लिए सरकार द्वारा 9वीं कक्षा से ही तैयारी शुरू करा दी गयी है ताकि अगले वर्ष से छात्र नये पैटर्न में ढल सके। विज्ञान और गृह विज्ञान विषयो के लिए नए पैटर्न में बहुविकल्पीय प्रश्नो का अनुपात 50 फीसदी रखा गया है।

लागू होगा सेमेस्टर सिस्टम

अभी तक यूपी बोर्ड (UP Board) परीक्षाओं का आयोजन वर्ष में एक बार ही किया जाता है। ऐसे में छात्रों का ध्यान कोचिंग से कम करने और पढाई को और प्रभावी बनाने के लिए सेमेस्टर सिस्टम को लागू किया जा सकता है। नए पैटर्न में वर्ष में 2 बार बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन किया जायेगा जिसमे दूसरी बार में अपना रिजल्ट सुधारने के इच्छुक छात्रों को मौका दिया जायेगा। साथ ही स्कूल स्तर पर होने वाले आंतरिक मूल्याङ्कन को खत्म करने एक पारदर्शी व्यवस्था बनाये जाने पर भी विचार किया जा रहा है।

Leave a Comment