UP Bhulekh: किसान अब खसरा खतौनी नकल और भी आसानी से देख पाएँगे, जानें क्या है तरीका

उतर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानो को भूलेख और खसरा-खतौनी नक़ल को ऑनलाइन चेक करने की सुविधा प्रदान कर दी गयी है. सरकार ने इसके लिए ऑनलाइन पोर्टल लांच कर दिया है जिस पर जाकर कोई भी किसान अपनी भूमि से सम्बंधित सभी जानकारी देख सकता है जैसे-ख़सरा खतौनी की नक़ल आदि. सरकार द्वारा अब नागरिको को सभी सरकारी सेवाएं घर बैठे ही उपलब्ध करायी जा रही है इसी के तहत सरकार द्वारा इस सुविधा के लिए भी पोर्टल लांच कर दिया गया है. चलिए जानते है कैसे चेक कर सकते है आप भी अपनी भूमि सम्बंधित जानकारी

क्या है UP Bhulekh खसरा खतौनी

भूलेख खसरा खतौनी किसी भी जमीन के मालिक की जानकारी देने वाला एक इम्पोर्टेंट दस्तावेज है. इसमें जमीन से जुडी सभी जानकारियाँ होती है जैसे की जमीन मालिक का नाम, खसरा नंबर, खेत का एरिया या भूमि से जुड़ा कोई विवाद आदि जानकारी चेक कर सकते है. जिस व्यक्ति के नाम पर यह खसरा नंबर होता है उसे ही जमीन का वास्तविक मालिक माना जाता है. अब किसानो को यह सुविधा घर बैठे मिल रही है जिससे वे जमीन से सम्बंधित सभी जानकारियाँ आसानी से प्राप्त कर सकते है.

ऐसे चेक करे UP Bhulekh खसरा खतौनी

जो भी किसान इस पोर्टल के माध्यम से अपनी भूमि सम्बंधित जानकारी पाना चाहते है उन्हें इसके लिए आधिकारिक पोर्टल  upbhulekh.gov.in पर जाना होगा. होमपेज पर खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नक़ल देखे पर क्लिक करे. यहाँ पर इस प्रोसेस को पूरी करके वे अपनी जमीन सम्बंधित जानकारी चेक कर सकते है.

  • खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नक़ल देखे पर क्लिक करने के बाद कैप्चा भरें .
  • इसके बाद अगले पेज पर जनपद, तहसील और गाँव का चयन कर लें.
  • अब आपके पास भूलेख खसरा खतौनी का को देखने के लिए चार ऑप्शन होंगे
  •  खसरा/ गाटा संख्या, खाता संख्या, नामांतरण दिनांक और खातेदार के नाम के द्वारा
  • आप जिस भी ऑप्शन से खोजना चाहते है उस ऑप्शन चुन को ले.
  • इसके बाद आपको पुनः कैप्चा कोड भरना होगा.
  • इन आसान स्टेप्स से आप अपनी भूमि सम्बंधित सभी जानकारियाँ देख सकते है

इन आसान स्टेप्स से आप भूमि सम्बंधित सभी जानकारियाँ चेक कर सकते है. अब किसान आसान से इस पोर्टल के द्वारा अपने जमीन से जुडी सभी जानकरियाँ आसानी से ऑनलाइन माध्यम द्वारा पा सकते है.

ये है फायदे

सरकार द्वारा किसानो को अपना खसरा-खतौनी सम्बंधित जानकारी के लिए पोर्टल जारी किये जाने से किसानो का समय और पैसे दोनों की बचत होगी. पहले इसके लिए उन्हें सरकारी विभागों के चक्कर लगाने पड़ते थे पर अब उन्हें यह सुविधा घर बैठ ही मिल रही है. इसके कुछ अन्य फायदे इस तरह से है.

  • अब एक क्लिक पर ही जमीन सम्बंधित सभी जानकारियाँ प्राप्त की जा सकेंगी.
  • उन्हें सरकारी विभागों के चक्कर लगाने की जरुरत नहीं पड़ेगी.
  • खतौनी में दर्ज व्यक्ति ही जमीन का मालिक माना जायेगा.
  • जमीन की धोखाधड़ी से जुड़े मामले कम होंगे.
  • जमीन से जुडी सारी जानकारियाँ प्राप्त होंगी.

अब सरकार द्वारा सभी विभागों को ऑनलाइन किया जा रहा है जिससे की जनता को घर बैठे ही सभी प्रकार की सुविधायें प्राप्त हो सके साथ ही उनके टाइम और पैसे की बचत हो.

Leave a Comment