यूनिवर्सल पेंशन योजना: किनको मिलेगी पेंशन और कब तक मिलेगी राशि जानिए

भारत के पूर्वी राज्य झारखण्ड में यूनिवर्सल पेंशन योजना की शुरुआत की गयी है। यहाँ के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा इस योजना का शुभारम्भ किया गया। राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना की घोषणा झारखण्ड के स्थापना दिवस 15 नवंबर को हुई। पहले की पेंशन योजनाओं में आवेदन के लिए कई समस्याएं सामने आती थी, लाभार्थियों की इन समस्याओं को ध्यान में रखकर सरकार ने पेंशन के तहत लगायी गयी चौदह शर्तों को भी वापिस ले लिया है। सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत जो भी पेंशन योजनाएं थी उन्हें यूनिवर्सल पेंशन योजना बनाकर एक सरल रूप में लाया गया है। यह देश की पहली यूनिवर्सल पेंशन योजना है। ये झारखण्ड राज्य सरकार द्वारा की गयी एक सराहनीय पहल है।

 यूनिवर्सल पेंशन योजना: किनको मिलेगी पेंशन और कब तक मिलेगी राशि जानिए
Universal Pension Scheme

यह भी पढ़े :- झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यूनिवर्सल पेंशन योजना क्या है

यूनिवर्सल पेंशन योजना के तहत झारखण्ड राज्य के 60 वर्ष से ऊपर के बुजुर्गों को यूनिवर्सल पेंशन से लाभान्वित किया जायेगा। इस योजना के तहत सरकार सभी लाभार्थियों को 1000₹ की धनराशि प्रति माह प्रदान करवाएगी। यह धनरशि सभी बुजुर्गो के बैंक के खाते में प्रति माह की पांच तारीख को पहुंचाई जाएगी। इस योजना का लाभ वृद्धों के साथ साथ विधवा महिलाओं और कुछ अन्य महिलाओं जैसे परित्यक्त और एकल जीवन यापन करने वाली महिलाओं को भी यह पेंशन प्रदान कराई जाएगी।

Highlights Of Universal Pension Yojana

योजना यूनिवर्सल पेंशन योजना
राज्य झारखण्ड
शुरुआतझारखण्ड की राज्य सरकार द्वारा
लाभार्थी झारखण्ड के 60 साल या उससे अधिक उम्र के बुजुर्ग
18 या उससे अधिक उम्र की निराश्रित महिलाएं
5 वर्ष या उससे अधिक उम्र के दिव्यांग
HIV/AIDS पीड़ित व्यक्ति
उद्देश्य राज्य के गरीब और निराश नागरिको को आर्थिक सहायता प्रदान करवाना
आधिकारिक वेबसाइट Click Here

कौन हैं पेंशन के हकदार

यूनिवर्सल पेंशन के हकदार झारखण्ड के 60 वर्ष या इससे अधिक वर्ष के सभी वृद्ध हैं। इसके साथ साथ अठारह वर्ष से अधिक उम्र की विधवाएं भी इस योजना का लाभ ले सकती हैं। यदि कोई विधवा इस योजना का लाभ लेती हैं तो उनको अपने पति का मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाना होगा। इसके अलावा वो महिलाएं जिन्होंने अपने पति का त्याग कर दिया हो या उनके पति ने उनका त्याग कर दिया हो अर्थात परित्यक्त महिलाएं भी इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। और जो महिला पैंतालीस वर्ष से अधिक होकर भी एकल जीवन यापन कर रही हैं, वो भी इस योजना का लाभ ले सकती हैं।

उपर्युक्त वर्ग में आने वाली सभी महिलाओं को इस योजना का लाभ लेने के लिए इन्हें राजपत्रित अधिकारी के द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र बनाना होगा। ये प्रमाण पत्र दिखाने पर ही उन्हें इस पेंशन का हकदार माना जायेगा। टैक्स देने वाले और सरकारी नौकरी में स्थाई रूप से नियोजित परिवारों को छोड़ कर अन्य परिवारों के 60 वर्ष के वृद्धो को इस स्कीम का फायदा मिलेगा। एच आई वी या एड्स की पीड़ित व्यक्ति भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है उनके लिए कोई भी उम्र सीमा तय नहीं की गयी है। दिव्यांग लोग भी इस योजना का लाभ उठा सकते है।

व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

यह भी जाने :- झारखण्ड मुख्यमंत्री सारथी योजना

कब तक मिलेगी पेंशन की धनराशि

झारखण्ड सरकार ने सामाजिक सुरक्षा योजना में आनेवाली सभी पेंशन योजनाओं को एक सरल रूप में शुरू किया है। सभी पेंशन योजनाओं का यह सरल रूप यूनिवर्सल पेंशन योजना के रूप में शुरू किया गया है। पहले की पेंशन योजनाओं से कई लाभार्थी वंचित रह जाते थे। पर अब इस योजना में सभी लाभार्थी भागीदार बनेंगे और इस योजना का लाभ उठाएंगे। 15 नवंबर 2021 को शुरू की गयी इस योजना में सरकार सभी लाभार्थियों को 1000₹ की धनराशि प्रदान कराएगी। यह धनराशि सभी लाभार्थियों को उनके बैंक खाता के माध्यम से प्राप्त होगी। सरकार ये धनराशि प्रत्येक माह के पांच तारीख को लाभार्थियों के खाते तक पहुंचाएगी। यूनिवर्सल पेंशन के तहत सरकार ने सौ करोड़ तक की धनराशि का प्रावधान किया है।

पेंशन के लिए 14 शर्तो को हटाया गया

सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत संचालित योजनाओ को काफी सरल बनया गया है जिनमे Apl Bpl कार्ड की जरुरत को खत्म कर दिया गया है। सर्कार द्वारा अब पेंशन आवेदन के लिए 14 शर्तो को हटा दिया है। गरीब और निराश्रित नागरिक चाहे वो वृद्ध हो, विधवा स्त्री हो, तलाकशुदा स्त्री सभी इस योजना का लाभ उठा सकते है। पेंशन देने के लिए लाभार्थीओ की सख्या तय नहीं की गयी है। Universal Pension Scheme के तहत 100 करोड़ रुपयों का प्रावधान किया गया है।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधारकार्ड
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • आयु प्रमाण पत्र
  • इनकम टैक्स सर्टिफिकेट

Universl Pension Scheme के लिए ऑफलाइन आवेदन

  • यदि आप ग्रामीण क्षेत्र के निवासी है तो आपको प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) को आवेदन कर सकते है
  • यदि आप शहरी क्षेत्र में रहते है तो अंचल पदाधिकारी (CO) को आवेदन कर सकते है।
  • वह जाकर आपको यूनिवर्सल पेंशन स्कीम का आवेदन फॉर्म लेना है।
  • फॉर्म में पूछी सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक भरना है ओट उसके साथ डॉक्युमनेट्स भी अटैच कर दे।
  • फॉर्म को कार्यालय में जमा करा दे।
  • इस प्रकार आपका आवेदन पूरा हो जायेगा और आपके डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करके जल्द ही आपको योजना का लाभ मिलना प्रारम्भ हो जायेगा।

यह भी देखे :- झारखण्ड मुख्यमंत्री प्रोत्साहन योजना

यूनिवर्सल पेंशन स्कीम से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

झारखण्ड राज्य में यूनिवर्सल पेंशन स्कीम कब और किसने आरम्भ की ?

झारखण्ड राज्य में यूनिवर्सल पेंशन स्कीम 15 नवंबर 2021 को झारखण्ड के मुख्य मंत्री हेमंत सोरेन द्वारा शुरू की गयी थी।

इस योजना का लाभ किन-किन को मिलेगा ?

इस योजना का लाभ राज्य से 60 साल या उससे अधिक उम्र के वृद्ध नागरिक, विधवा महिलाएं, परित्यक्त महिलाएं और 45 वर्ष के ऊपर जो महिलाएं अपना जीवन अकेले व्यक्त करती है वे सभी इस योजना का लाभ उठा सकती है।

Universal Pension Scheme लागू करने का वाला पहला राज्य कौनसा है ?

Universal Pension Scheme लागू करने का वाला पहला राज्य झारखण्ड है।

इस योजना के तहत आवेदकों को कितने रूपए दिए जायेगे ?

इस योजना के तहत आवेदकों को 1000 रूपए प्रतिमाह 5 तारिक को दिए जायेगे।

Leave a Comment