सोलर चरखा मिशन 2022 | Solar Charkha Mission Details In Hindi

सोलर चरखा मिशन 2022- देश तभी विकसित होगा जब देश का प्रत्येक गाँव विकसित होगा। भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में दिन प्रतिदिन पलायन की समस्या बढ़ती जा रही है। इस बढ़ती पलायन की समस्या को रोकने के लिए ग्रामीण इलाकों में रह रही जनता के लिए कई योजनाएं केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही हैं, जिससे न केवल उन्हें अपने ही गांव में रोजगार मिलेगा बल्कि उनका कौशल विकास भी हो सकेगा। इसी उद्देश्य से सांसद आदर्श ग्रामीण योजना से प्रेरित होकर बिहार के खानवा गांव में वर्ष 2016 में उस समय के माननीय सांसद गिरिराज जी के प्रयास से भारतीय हरित खादी ग्रामोदय संस्थान द्वारा Solar Charkha Mission के तहत सोलर चरखे की स्थापना की गयी।

सोलर चरखा मिशन 2022 ; Solar Charkha Mission Details In Hindi

आज हम आपको Solar Charkha Mission की Details देंगे। यहाँ आप जानेंगे कि सोलर चरखा मिशन 2022 क्या है? और इस एससीएम मिशन की शुरुआत कब हुयी ?

सोलर चरखा मिशन 2022 क्या है ?

सोलर चरखा मिशन 2022 को सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा 27 जून 2018 में वर्ल्ड MSME Day के अवसर पर लांच किया गया था। रामनाथ सिंह कोविंद जी द्वारा शुरू किये गए इस मिशन के तहत विभिन्न कलस्टरों को स्थापित किया जायेगा जिसमे 200 से लेकर 2042 लाभार्थी होंगे। यह विभिन्न कलस्टर को विभिन्न राज्यों में स्थापित किया जायेगा जिससे सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं और युवाओं को रोजगार से जोड़ा जायेगा। इस योजना को वर्ष 2016 में बिहार के खानवा गांव में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शामिल किया गया था। साल 2018 में पूरे देश में इस मिशन को शुरू किया गया था।

महिलाओं को इस मिशन के तहत रोजगार उपलब्ध कराकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाकर उन्हें देश की अर्थव्यवस्था में योगदान देने हेतु शामिल किया गया है। इसके तहत 5 करोड़ महिलाओं को जोड़ा जायेगा साथ ही साथ स्वयं सहायता समूह को भी Mission Solar Charkha में जोड़ा गया है।

Solar Charkha Mission 2022 Details In Hindi

आर्टिकल आर्टिकल से सम्बन्धित विवरण
आर्टिकल का नाम सोलर चरखा मिशन (एमएससी) 2022
( Solar Charkha Mission Details In Hindi)
योजना शुरू की गयी राष्ट्रपति श्री रामनाथ सिंह कोविंद जी द्वारा
नोडल एजेंसी सूक्ष्म,लघु और माध्यम मंत्रालय
योजना शुभारम्भ वर्ष 27 जून 2018 (वर्ल्ड MSME Day के अवसर पर)
योजना की श्रेणी केंद्र
सौर चरखा संबंधी पायलट परियोजना चलायी गयी बिहार के नवादा जिले के खानवा गांव में
पायलट परियोजना का क्रियान्वयन वर्ष 2016
योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के नए अवसर पैदा करने के साथ साथ पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देना
लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र की सभी महिलाएं
आधिकारिक वेबसाइट kviconline.gov.in

सोलर चरखा मिशन 2022 का लक्ष्य /उद्देश्य

  • सोलर चरखा मिशन के तहत ग्रामीण इलाकों /क्षेत्रों में लोगों के लिए रोजगार के अवसर सृजित करना।
  • देश में 50 से अधिक कलस्टर को कवर किया जायेगा तथा इस मिशन का सञ्चालन 2 वर्ष होगा। ।
  • मिशन सोलर चरखा को सरकार का समर्थन प्राप्त है जोकि 50 समूहों को दी जाएगी और हर समूह में 400 से 2000 शिल्पियों को शामिल किया जायेगा।
  • खादी को बढ़ावा देने में ग्रामीण क्षेत्रों की भागीदारी को शामिल कर उन्हें रोजगार देना।
  • मुख्य रूप से गाँव की महिलाओं और युवाओं को रोजगार देना और उनका विकास करना।
  • SCM Mission के तहत देश भर से 5 करोड़ महिलाओं एवं स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) को इस पहल से जोड़ना है।
  • पर्यावरण को संरक्षण प्रदान करने में नागरिकों की भागीदारी को सोलर चरखा मिशन के तहत शामिल करना।
  • मिशन के तहत 50 कलस्टर शामिल किये जायेंगे और हर एक कलस्टर में 400 से 2000 कारीगरों को शामिल किया जायेगा।
  • 50 कलस्टरों के माध्यम से Solar Charkha Mission के तहत 1 लाख
  • हरित अर्थव्यवस्था यानी की पर्यावरण को बिना नुकसान पहुंचाए पर्यावरण के हित को ध्यान में रखना।
  • देश की अर्थव्यवस्था को सही दिशा में ले जाना।
  • आने वाले दो वर्ष में लगभग एक लाख से अधिक नए रोजगार के अवसर पैदा करना।

Solar Charkha Mission के मुख्य बिंदु (Main Points)

  • सोलर चरखा मिशन को सूक्ष्म, लघु ,मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा सौर चरखा इकाई को ग्रामोद्योग के रूप में घोषित किया गया है।
  • इस योजना में ‘सौर चरखा कलस्टर’ की स्थापना के लिए रूप रेखा तैयार की गयी है जिसमे 8 से 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांव शामिल हैं।
  • एक क्षमतावान कलस्टर के अंतर्गत 200 से लेकर 2042 कारीगरों को सीधे रूप में रोजगार दिया जायेगा।
  • Solar Charkha Mission के माध्यम से सौर चरखे को सौर ऊर्जा की सहायता से संचालित किया जायेगा।
  • हरित अर्थव्यवस्था के विकास में Solar Charkha Mission पर्यावरण के अनुकूल प्रोग्राम है।
  • Solar Charkha Mission के तहत हर एक कत्तीन को 10 तकुए के दो चरखे उपलब्ध कराये जायेंगे।

SCM Mission के लाभ एवं विशेषताएं ;-

  • Solar Charkha Mission के अंतर्गत गाँव के इलाकों में सौर चरखा कलस्टर से महिलाओं को रोजगार मिलगे साथ ही साथ उनका विकास भी होगा।
  • सोलर चरखा के माध्यम से सूत को तैयार करने में कम समय लगेगा और उत्पादन भी ज्यादा होगा ।
  • SCM Mission पर्यावरण के हित में है जिसमे नवीनीकरण ऊर्जा का उपयोग किया जायेगा।
  • Solar Charkha मिशन से बिजली की बचत होगी साथ ही पानी की भी बचत होगी।
  • ग्रामीण कारीगरों को इस मिशन से रोजगार मिल सकेगा।
  • सौर चरखा मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्र की अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा।
  • रोजगार की तलाश में हो रहे पलायन को रोका जा सकेगा क्यूंकि अब कारीगरों को रोजगार के लिए शहर जाने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • सोलर चारके से बुनकर की आय में वृद्धि हो सकेगी।
  • कारीगरों को इस मिशन के अंतर्गत प्रशिक्षित किया जायेगा।
  • पर्यावरण के अनुकूल इस योजना में सौर ऊर्जा का उपयोग किया जायेगा।
  • खादी वस्त्र के व्यापार में उछाल आएगा खादी को राष्ट्रीय ही नहीं बल्कि अंतरास्ट्रीय बाजार में पहचान दिलाई जाएगी।
  • जरुरतमंद लोगों को रोजगार से जोड़कर इस कार्य में दक्ष किया जायेगा और बुनकरों और कत्तिनों द्वारा तैयार कपडे,चादर ,कंबल, यूनिफॉर्म को सरकारी विभाग को भेजा जायेगा।

‘सोलर चरखा मिशन 2022 के लिए ऐसे करें आवेदन

SCM Mission का लाभ लेने के लिए आपको अपना आवेदन ऑनलाइन माध्यम से करना होगा। आपको आवेदन के बाद सम्बंधित सभी उपकरणों को सरकार की आउटर से उपलब्ध करा दिया जायेगा।

मिशन सोलर चरखा आवेदन फॉर्म कैसे भरें ?

  • इस मिशन के लिए आवेदन फॉर्म को ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त किया जा सकेगा।
  • इसके लिए आपको सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट kviconline.gov.in पर विजिट करना होगा।
  • यह पोर्टल इक्छुक उम्मीदवारों के लिए जानकारी प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है।
  • फिलहाल Solar Charkha Mission के लिए अभी केंद्र सरकार ने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को पोर्टलक पर नहीं दिया गया है आप इसके लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।

‘सौर चरखा मिशन’के अंतर्गत वित्तीय सहायता /सब्सिडी

  • सौर चरखा के एक कलस्टर को अधिकतम 9.599 करोड़ रुपए की सब्सिडी दी जाएगी।
  • सरकार द्वारा सौर चरखा मिशन के तहत 50 कलस्टर की सब्सिडी प्रदान की जानी है।
  • सरकार द्वारा जो लोन दिया जायेगा उसमे किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं लगता
  • इस मिशन में तीन प्रकार से सब्सिडी दी जाएगी।
  • व्यक्तिगत और विशेष प्रयोजन वाहन (एसपीवी) ,कार्यस्थल के लिए सब्सिडी दी जाएगी।
  • सौर चरखा मिशन में मिलने वाली आर्थिक सहायता के बारें में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

सोलर चरखा मिशन के लिए योग्यता शर्तें (SCM Eligibility)

  • छोटे व्यापार के लिए -व्यापारी इस मिशन के लिए पात्र होंगे लेकिन इसके लिए आपको अपना आवेदन सोलर चरखा मिशन के तहत कराना होगा।
  • MSME सर्टिफिकेट इसके लिए आवश्यक है ,जिसके लिए आपको अपना रेजिस्ट्रेशन माइक्रो, स्माल तथा मध्यम एंटरप्राइज में कराना होगा।
  • बिना MSME सर्टिफिकेट के लिए आपको इस मिशन का लाभ नहीं दिया जा सकेगा ।
  • सभी भारतीय नागरिक इस मिशन के लिए पात्र होंगे।

SCM –सोलर चरखा मिशन के लिए औजार एवं रॉ मटेरियल

  • इस मिशन के तहत आवेदनकर्ता यदि क्रेडिट प्राप्त कर लेता है तो उसे उसके बाद 25 चरखे प्राप्त कर सकेंगे।
  • यह 25 चरखे सोलर पॉवर से चलेंगे।
  • साथ ही साथ आवेदनकर्ता को 10 लूम्स भी प्राप्त किये जायेंगे।
  • भारत के खादी कमीशन द्वारा रॉ मटीरियल सप्लाई किया जायेगा साथ ही आवेदक अन्य माध्यमों से भी कच्चे माल को खरीद सकता है।

Mission Solar Charkha 2022 से सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले सवाल /FAQs

solar charkha mission के लिए कौन कर सकता है आवेदन ?

SCM सौर चरखा मिशन के लिए कोई व्यक्ति या खादी संस्थान इसके अलावा अन्य भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

SCM के लाभ लेने के लिए केवीआई द्वारा किन पैरामीटर को पूरा किया जाना आवश्यक होगा ?

सोलर चरखा मिशन का लाभ लेने के लिए केवीआई (खादी ग्रामोद्योग संस्थान) के पास 200 से अधिक कारीगर होने चाहिए। साथ ही KVI का बिक्री 10000 करोड़ से कम नहीं हो। साथ ही नए कारीगरों की संख्या में पिछले तीन साल में बढ़ोतरी हुई हो।

Mission Solar Charkha में प्रमोटर आवेदन के दौरान किन मापदंडों को पूरा करेगा ?

सौर चरखा मिशन में प्रमोटर द्वारा बेस लाइन सर्वेक्षण किया जायेगा 200 सदस्यों को आधार संख्या मनाकर जिसमे से कम से कम 50 प्रतिशत महिलाओं को शामिल किया जाना आवश्यक होगा। भूमि व्यवस्था को प्रमोटर द्वारा पूरा किया जायेगा।

solar charkha mission का क्या लाभ मिलेगा ?

इस योजना solar charkha mission के कई लाभ है जैसे इससे ग्रामीण महिलाओं को रोजगार मिलेगा ,साथ ही सौर ऊर्जा के प्रयोग से बिजली की बचत होगी ,आय में वृद्धि होगी ,कम लागत में अच्छा मुनाफा मिलेगा। पलायन की समस्या कम होगी।

एक क्षमतावान कलस्टर के अंतर्गत सोलर चरखा मिशन में कितने कारीगरों को शामिल किया जा सकेगा।

200 से लेकर 2042 कारीगरों को सोलर चरखा मिशन के तहत एक कलस्टर में शामिल किया गया है।

solar charkha mission को सबसे पहले किस राज्य में प्रोजेक्ट के रूप में चलाया गया ?

solar charkha mission को वर्ष 2016 में बिहार के खानवा गांव में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शामिल किया गया था।

वर्ल्ड MSME Day पर किस दिन सौर चरखा मिशन को शुरू किया गया ?

SCM को 27 जून 2018 (वर्ल्ड MSME Day के अवसर पर ) शुरू किया गया था।

सोलर चरखा मिशन हेल्पलाइन नंबर एवं पता ;-

Solar Charkha Project / Solar Vastra Cell
Khadi & Village Industries Commission
Ministry of MSME, Govt. of India
3 Gramodaya, Irla Road , Vile Parle (West)
Mumbai – 400056
Ph No: 022-26707083
e-mail : solarvastracell.kvic@gov.in

Leave a Comment