Sahara India Refund Status 2022: आपके भी पैसे फंसे हैं सहारा इंडिया में? तो एक कॉल पर मिलेगा फायदा, सरकार ने जारी किया नंबर

कभी देश की सबसे बड़ी कंपनियों में शुमार रही सहारा परिवार में देश के लाखो लोगो ने निवेश किया था परन्तु कंपनी के कामकाज में पारदर्शिता ना होने और वित्तीय अनियमितता के कारण लोगो के पैसे फँस गए थे। अब झारखण्ड सरकार द्वारा इन सभी लोगो को राहत देते हुये हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है। इस नंबर पर ना सिर्फ सहारा परिवार अपितु दूसरी वित्तीय कंपनियों और सहकारी संगठनो के धोखाधड़ी के खिलाफ भी शिकायत दर्ज की जा सकती है। सरकार द्वारा लोगो के रिफंड को लेकर कड़े कदम उठाये जा रहे है ऐसे में सभी निवेशकों को भी अपनी रकम को वापस (Sahara India Refund Status) मिलने की आस जगी है। चलिए जानते है पूरी खबर

इस नंबर पर करे कॉल – Sahara India Refund Status

झारखण्ड सरकार द्वारा सहारा परिवार की कंपनियों के निवेशकों को राहत प्रदान करते हुये हेल्पलाइन नंबर-112 जारी किया गया है। इस नंबर पर कॉल करके निवेशक अपने साथ हुई धोखाधड़ी की जानकारी पुलिस विभाग को दे सकते है साथ ही अन्य गैर-बैंकिंग कंपनियों और सहकारी समितियों द्वारा धोखाधड़ी की स्थिति में भी इस हेल्पलाइन की मदद से शिकायत दर्ज की जा सकती है। सरकार द्वारा शिकायत मिलने के बाद सीआईडी की आर्थिक अपराध शाखा की मदद से जांच का भरोसा दिया गया है जिसके बाद सरकार द्वारा आगे की कार्यवाही की जाएगी। साथ ही निवेशकों को भी न्याय मिलेगा।

लोगो के फँसे 2500 करोड़ रुपए

आपको बता दे इससे पहले भी 10 मार्च के बजट सत्र के दौरान विधायक नवीन जायसवाल के द्वारा इस मुद्दे को उठाया गया था। विधानसभा में दी जानकारी के अनुसार विधायक द्वारा प्रदेश के 3 लाख लोगो के 2500 करोड़ रुपए को विभिन गैर-बैंकिंग संगठनो में फँसे होने की बात कही गयी थी जिसके बाद उन्होंने सरकार से लोगो की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने की मांग की थी। अब सरकार द्वारा इस पर एक्शन लेते हुए हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है ताकि लोग वित्तीय धोखाधड़ी सम्बंधित शिकायत दर्ज कर सके। हेल्पलाइन नंबर जारी होने के बाद सरकार इन मामलो की अच्छे से जांच कर सकती है।

निवेशकों में अधिकांश ग्रामीणों

इस मुद्दे पर जानकारी देते हुये विधायक नवीन जायसवाल ने कहा की कंपनी की धोखाधड़ी के कारण कंपनी में काम करने वाले तक़रीबन 60 हजार एम्प्लॉय की आर्थिक स्थिति ख़राब है। वही इस मुद्दे पर बोलते हुये झारखण्ड के वित् मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा है की इसमें अधिकतर ग्रामीण क्षेत्र के निवासियो के पैसे डूबे है ऐसे में इन्हे तत्काल राहत देने की आवश्यकता है। इसके लिए अब सरकार द्वारा हेल्पलाइन नंबर जारी कर दिया गया है।

Leave a Comment