Sachin Tendulkar Biography in Hindi | सचिन तेंदुलकर का जीवन परिचय

सचिन तेंदुलकर का नाम सर्वश्रेठ बल्लेबाजों में गिना जाता है। सचिन तेंदुलकर क्रिकेट जगत का एक ऐसा नाम है जिससे सभी लोग परिचित है। वैसे तो क्रिकेट में बहुत से महान खिलाड़ी आये लेकिन सचिन तेंदुलकर ने जो रिकॉर्ड बनाये है और जितना प्रेमम उनको लोगो से मिला है इतना शायद ही आज तक किसी खिलाडी को मिला होगा। सचिन तेंदुलकर सबसे कम उम्र में में भारत रत्न से सम्मानित किये जाने वाले पहले व्यक्ति है। यह ऐसे खिलाडी थे जो घायल होने के बाद भी अपनी जी-जान लगाकर खेले और जीते भी, ऐसे ही महान खिलाडी के बारे में आज हम बात करेंगे और जानेगे Sachin Tendulkar Biography in hindi | सचिन तेंदुलकर का जीवन परिचय और साथ ही जानेगे उनके जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में। यदि आपका भी इंटरेस्ट क्रिकेट जगत में है और आप सचिन तेंदुलकर के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

Sachin Tendulkar Biography in hindi |
Sachin Tendulkar Biography in hindi |

सचिन 12 वर्ष की उम्र में ही अपने स्कूल के क्रिकेट मैच में खेलना शुरू कर दिया था जहा उन्होंने शतक बना लिए थे। वर्ष 2000 में उन्होंने शतकों का अर्धशतक पूरा कर लिया था और वे ऐसा करने वाले पहले क्रिकेटर बने थे। जिसके आठ साल बाद टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले क्रिकेटर के तौर पर उनका नाम दर्ज किया गया। अपने क्रिकेट करियर के अंतिम पड़ाव पर आकर सचिन दोहरा शतक लगाने वाले पहले क्रिकेटर बने। इंटरनेशनल क्रिकेट में भी 100 शतक लगाने वाले एकमात्र क्रिकेटर है। भारतीय टीम ने जब 2011 में वर्ल्ड कप जीता था तब सचिन भी भारतीय टीम के अहम हिस्सा थे।

भारत के लिए Sachin Tendulkar ने 200 टेस्ट और 463 वनडे मैच खेले है। 200 टेस्ट मैच में 15921 रन बनाये और वनडे मैच में 18429 रन बनये। टेस्ट मैच में 51 शतक और वनडे मैच में 49 शतक बनाने का रिकॉर्ड भारत के सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है। टी 20 का एक ही मैच खेला था जिसमे उन्होंने 10 रन बनाये थे। IPL में 78 मैच खेले और 2334 रन बनाये है और एक शतक बनाया है। उनके नाम इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है।

यहाँ भी देखें -->> क्विज खेलकर इनाम कमाएं

Sachin Tendulkar Biography in Hindi

प्रारंभिक जीवन परिचय

सचिन तेंदुलकर का जन्म 24 अप्रैल 1973 में मुंबई के दादर इलाके में हुआ था। सचिन तेंदुलकर मराठी ब्राह्मण परिवार से सम्बन्ध रखते है। इनके पिता जी का नाम रमेश तेंदुलकर है जो एक मराठी उपन्यासकार थे। इनकी माता जी का नाम रजनी तेंदुलकर है। सचिन तेंदुलकर का नामकरण उनके पिताजी द्वारा किया गया था उनके पिता जी ने अपने पसंदीदा संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर अपने पुत्र का नाम रखा था। सचिन तेंदुलकर 4 भाई बहन है जिसमे सबसे बड़े भाई का नाम अजीत तेंदुलकर है फिर आते है Sachin Tendulkar फिर उनका एक छोटा भाई है नितिन तेंदुलकर और सबसे छोटी बहन है जिसका नाम है सविताई तेंदुलकर। इनके बड़े भाई इनका क्रिकेट खेलने में समर्थन करते थे।

शिक्षा

इन्होने दादर के शारदा आश्रम विद्या मंदिर से अपनी शिक्षा प्रारम्भ की थी। उनके भाई अजीत तेंदुलकर ने सचिन के अंदर के क्रिकेट खेलने के जज्बे क पहचान लिया था और उनकी मुलाकात प्रशिक्षक (Coach) रमाकांत अचरेकर जी से करवाई थी रमाकांत अचरेकर जी सचिन तेंदुलकर के पहले कोच थे और वही से उनके क्रिकेट जीवन की शुरूवात हुई थी। तेज गेंदबाजी सीखने के लिए सचिन तेंदुलकर 14 साल की उम्र में MRF फाउंडेशन के ट्रेनिंग कैंप पर गए थे जहा उन्हें तेज गेंदबाजी के कोच डेनिस लिली ने उनकी बल्लेबाजी से प्रभावित होकर उनको कहा कि वे अपना ध्यान बल्लेबाजी की ओर केंद्रित करे और तब सचिन बल्लेबाजी की ओर अधिक ध्यान देने लगे जिसके परिणाम स्वरुप आज सचिन तेंदुलकर का नाम महान बल्लेबाजों में आता है। रमाकांत अचरेकर जी क्रिकेट अनोखे तरीके से सिखाते थे। वे स्टंप पर एक सिक्का रखते थे और सभी को कहते थे की जिसने भी सचिन को बॉलिंग करते वक़्त उस सिक्के को गिरा दिया वो सिक्का उसका हो जायेगा यदि कोई ऐसा नहीं कर पाया तो ये सिक्का सचिन का हो जायेगा और सचिन तेंदुलकर के पास ऐसे 13 सिक्के है जिन्हे वे अमूल्य बताते है।

यह भी पढ़िए :-

Virat Kohli Net Worth

भारत का नाम रोशन कर रहीं स्मृति मंधाना आखिर कौन हैं?

Viral: कौन हैं मेजर गौरव चौधरी

भारत में कुल कितने क्रिकेट स्टेडियम है

रोचक तथ्य

शुरुआत

सचिन ने अपने करियर की शुरुआत 15 वर्ष की उम्र में शुरू कर दी थी। 11 दिसंबर 1988 में मुंबई क्रिकेट टीम की तरफ से गुजरात टीम क खिलाफ अपना पहला घरेलू क्रिकेट मैच खेला जहा उन्होंने बिना आउट हुए 100 बनाये। 17 वर्ष की उम्र में अपना पहला टेस्ट मैच करांची में 15 नवम्बरर 1989 में खेला 18 नवंबर 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ जिन्ना स्टेडियम में अपना पहला क्रिकेट मैच खेला। इस प्रकार उन्होंने क्रिकेट जगत में अपना पैर रखा और देश का बच्चा-बच्चा सचिन तेंदुलकर के नाम से वाकिफ है।

वैवाहिक जीवन

सचिन तेंदुलकर का विवाह 24 मई 1995 में अंजलि तेंदुलकर के साथ हुआ था। उनको दो संतान भी है जिनमे एक बेटे का अर्जुन है और बेटी का नाम सारा है। बेटी सारा तेंदुलकर का जन्म 12 अक्टूबर 1997 को हुआ था और अर्जुन तेंदुलकर का जन्म 24 सितम्बर 1999 में हुआ था। अंजलि तेंदुलकर पेशे से एक डॉक्टर है।

क्रिकेट करियर

  • सचिन ने 200 टेस्ट मैच में 15921 रन, 51 शतक, 68 अर्धशतक, 69 छक्के, 2058 चौके मारे है।
  • 463 वनडे मैच में 18426 रन, 49 शतक, 96 अर्धशतक, 195 छक्के, 2016 चौकें मारे है।
  • 1 T20 मैच में 10 रन, 2 चौके
  • 78 IPL मैच में 2334 रन, 1 शतक, 13 अर्धशतक, 29 छक्के, 295 चौके मारे है
  • बचपन में सचिन तेंदुलकर फ़ास्ट बॉलर बनना चाहते थे
  • सचिन खेलते सीधे हाथ से है लेकिन लिखते उलटे हाथ से है।
  • सचिन एक गैर सरकारी संगठन “अपनालय” भी चलाते है जिसमे हर वर्ष 200 बच्चो का पालन पोषण किया जाता है।
  • 1990 में इंग्लैंड दौरे में टेस्ट मैच में अपना पहला शतक लगाया था।
  • टेस्ट क्रिकेट में 13000 रन बनाने वाले ये पहले क्रिकेटर बने।
  • 2012 से राजयसभा के सांसद है।
  • एक दिवसीय अंतरास्ट्रीय मैच में दोहरा शतक लगने वाले पहले खिलाडी बने।
  • सचिन तेंदुलकर की आत्मकथा “प्लेयिंग इट माय वे”  को 6 नवंबर 2014 में प्रकाशित किया गया था। इसकी 150298 कॉपी की पहले से ही बुकिंग की जा चुकी थी और इसको गिनीज ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज किया गया था।
  • 1989 में सचिन में 16 साल की उम्र में टेस्ट डेब्यू किया था
  • पाकिस्तान के पहले मैच में सचिन ने सुनील गावस्कर से मिले पैड पहने।
  • आखिरी वन डे इंटरनेशनल मैच 18 मार्च 2012 को खेला था।
  • सचिन में अपने करियर का पहला वनडे मैच 1989 में खेला था।
  • सचिन में अपने 24 साल के क्रिकेट करियर में 200 टेस्ट मैच, 463 वनडे मैच, 1 T20, 78 IPL खेले है।
  • सचिन तेंदुलकर टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज है।
  • सचिन 76 बार मैन ऑफ़ दा मैच रहे है
  • 20 बार मैन ऑफ़ दा सीरीज रहे है।
  • सचिन भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान 1996 में बने थे।

पुरस्कार

  • अर्जुन पुरस्कार 1994 भारत सरकार द्वारा
  • राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार 1998
  • पद्मश्री पुरस्कार 1999 ( भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार)
  • महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार 2001 ( महाराष्ट्र का सर्वोच्च नागरिक)
  • पद्मविभूषण पुरस्कार 2008 ( भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार)
  • भारत रत्न पुरस्कारर 2014 ( भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार)

अन्य सम्मान

  • 2008 में मुंबई इंडियंस
  • 1988 क्रिकेट क्लब ऑफ़ इंडिया मुंबई क्रिकेट टीम
  • 1989 इंडियन नेशनल क्रिकेट टीम
  • 1992 यॉर्कशायर कंट्री क्रिकेट टीम

सन्यास

टी 20 का पहला और आखिरी मैच उन्होंने वांडरर्स स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था ये मैच उन्होंने 1 दिसंबर 2006 में खेला था। 18 मार्च 2012 में सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच पाकिस्तान के खिलाफ शेरे बांग्ला नेशनल स्टेडियम में खेला था जिस क्रिकेट मैच के दौरान सन्यास लेने की घोषणा की थी। घोषणा करते समय उन्होंने कहा था की मुझे भारत की जमीन पर 200वा टेस्ट मैच खेलने का इंतज़ार है फिर मैं टेस्ट मैच से सन्यास ले लूंगा। आखिरी IPL उन्होंने सनराइज हैदराबाद के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम में 13 मई 2013 में खेला था। 16 नवंबर 2013 वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए मैच में सचिन ने 74 रन की पारी खेली थी। और यह उनका आखिरी टेस्ट मैच था। फिर उन्होंने क्रिकेट जगत से पूरी तरह सन्यास ले लिए था।

email letter

Subscribe to our Newsletter

Sarkari Yojana, Sarkari update at one place

Sachin Tendulkar Biography in hindi से जुड़े कुछ प्रश्न उत्तर

सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से पूर्णतः सन्यास कब लिया था ?

सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट से पूरी तरह सन्यास 16 नवंबर 2013 में लिया था।

सचिन तेंदुलकर के माता-पिता का क्या है ?

सचिन तेंदुलकर के पिता जी का नाम रमेश तेंदुलकर और माता जी का नाम रजनी तेंदुलकर है।

सचिन तेंदुलकर की शादी कब और किस के साथ हुई थी ?

सचिन तेंदुलकर की शादी 24 मई 1995 में अंजली तेंदुलकर से हुई थी।

सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच कब खेला था ?

सचिन तेंदुलकर ने अपना आखिरी वनडे मैच 16 नवंबर 2013 को वानखेड़े स्टेडियम में खेला था।

सचिन तेंदुलकर के प्रथम कोच का क्या नाम था ?

सचिन तेंदुलकर के कोच का नाम रमाकांत अचरेकर जी था।

Sachin Tendulkar को पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम का का कप्तान कब बनाया गया ?

Sachin Tendulkar को पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम का का कप्तान वर्ष 1996 में बनाया गया था।

Leave a Comment