SAARC Full Form in Hindi – SAARC की पूरी जानकारी?

तो दोस्तों आप सभी यह तो जानते ही होंगे की इस विश्व में बहुत से देश है और उन सभी देशों ने आपस में मिलकर बहुत से समूह बनाये हुए है जिससे की वह एक दूसरे देश की सहायता कर सकें। इसी प्रकार बहुत से देशों ने मिलकर बहुत से समूह बनाये है जैसे की – नाटो, ब्रिक्स, आदि जैसे। इसी प्रकार एक और समूह है जो की दक्षिण एशिया के कुछ देशों ने मिलकर बनाया है जिसका नाम है SAARC जिसको सार्क के नाम से भी जाना जाता है। इस समूह में केवल दक्षिण एशिया के कुछ देश ही शामिल है जिसके बारे में हम आपको लेख में बताएँगे। तो दोस्तों क्या आप में से कोई SAARC की फुल फॉर्म जानता है या फिर यह जानता है की यह क्या है। अगर नहीं तो आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज हम आप सभी को इस लेख के माध्यम से SAARC की पूरी जानकारी प्रदान करने वाले है।

SAARC Full Form in Hindi - SAARC की पूरी जानकारी?
SAARC Full Form in Hindi

जैसे की – SAARC की फुल फॉर्म क्या होती है, इसमें कौन कौन से देश शामिल है और इससे सम्बंधित अधिक जानकारी के बारे में हम आपको इस लेख में बताने वाले है। तो दोस्तों अगर आप भी इससे सम्बंधित अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा क्योंकि इस लेख में दी गयी जानकारी को पढ़ने के बाद ही आप इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकोगे तो कृपया करके इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़े और जानकारी प्राप्त करे।

इस पर भी गौर करे :- आरएसएस (RSS) का फुल फॉर्म क्या है | RSS Ka Pura Naam Kya hai ?

SAARC की फुल फॉर्म | SAARC Full Form

  • SAARC Full Form in english – South Asian Association for Regional Cooperation
  • सार्क की फुल फॉर्म हिंदी में – दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन

SAARC क्या है | What is SAARC?

तो दोस्तों जैसा की हमने आप सभी को बताया है की SAARC की फुल फॉर्म South Asian Association for Regional Cooperation होती है। जिसको हिंदी में दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन भी कहा जाता है। इस समूह में दक्षिण एशिया के आठ देश शामिल है यह एक प्रकार का आर्थिक व राजनीतिक संगठन है। इस संगठन की स्थापना 8 दिसंबर 1985 में हुई थी। इसमें शामिल आठ देशों के नाम कुछ इस प्रकार है – भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका। आप सभी को यह भी बता दे की इन देशों की जनसँख्या अगर मिलाई जाए तो यह करीब 1.5 अरब के करीब है। जो की काफी अधिक है। इस संगठन की स्थापना बांग्लादेश के ढाका में चार्ट पर सभी देशो के हस्ताक्षर करने पर की गयी थी।

आपको यह भी बता दे की पहले के समय में इसमें केवल सात ही सदस्य थे लेकिन उसके बाद सन 2007 में जब इस समूह का 14 वा सम्मलेन था उस समय अप्रैल 2007 में इस समूह में अफ़ग़ानिस्तान को भी शामिल कर लिया गया था। इस संगठन का मुख्य उद्देश्य यह है की यह सभी देश प्रगति व शान्ति हासिल करे। इसलिए ही इस संगठन का निर्माण किया गया था। आपको यह बता दे की वर्तमान समय में इस संगठन का मुख्य कार्यालय 17 जनवरी 1987 को नेपाल की राजधानी काठमांडू में की गयी थी।

सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) के कुछ मुख्य उद्देश्य

तो दोस्तों अब हम आप सभी को इस लेख में SAARC के कुछ मुख्य उद्देश्यों के बारे में बताने वाले है जिसके लिए इस संगठन का निर्माण किया गया था। तो अगर आप भी यह जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

  • इस संगठन को बनाने के पीछे इसका मुख्य उद्देश्य यह था की दक्षिण एशिया में जो भी देश या लोग रहते है यानि के यहाँ के निवासियों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना है और इन सभी देशों की प्रगति करना है।
  • इस संगठन का उद्देश्य यह भी है की दक्षिण एशिया के निवासिओं को कल्याण की ओर बढ़ावा देना भी है।
  • यह संगठन यहाँ के सभी देशों को और सभी लोगो जो की यहाँ पर निवास करते है उन सभी को आत्मनिर्भर बनाना भी है ताकि इन सभी देशों को किसी अन्य देश की मदद की आवश्यकता न पढ़े।
  • SAARC बाकी देशों और संगठन का सहयोग करना और उनके साथ मिलकर प्रगति को बढ़ावा भी देता है ताकि पूरी दुनिया भी प्रगति कर सके।
  • SAARC संतान का उद्देश्य यह भी है की दक्षिण एशिया में स्थापित देशों को आर्थिक, समाजिक, सांस्कृतिक, तकनीकी और वैज्ञानिक क्षेत्रों में प्रगति करना भी है।

SAARC के कार्य क्षेत्र

अब हम आप सभी को यह बताने वाले है की यह संगठन किस किस क्षेत्र में करते है। तो अगर आप भी यह जानना चाहते हो तो उसके लिए आप सभी को हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

  1. मानव संसाधन विकास एवं पर्यटन
  2. कृषि एवं ग्रामीण विकास
  3. पर्यावरण, प्राकृतिक आपदा एवं बायो टेक्नोलॉजी
  4. आर्थिक, व्यापार एवं वित्त
  5. सामाजिक मुद्दे
  6. सूचना एवं गरीबी उन्मूलन
  7. उर्जा, परिवहन विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी
  8. शिक्षा, सुरक्षा एवं संस्कृति और अन्य

SAARC Full Form in Hindi से सम्बंधित प्रश्न

SAARC की फुल फॉर्म क्या होती है ?

SAARC की फुल फॉर्म कुछ इस प्रकार है –
SAARC Full Form in english – South Asian Association for Regional Cooperation
सार्क की फुल फॉर्म हिंदी में – दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन

SAARC क्या है ?

इस समूह में दक्षिण एशिया के आठ देश शामिल है यह एक प्रकार का आर्थिक व राजनीतिक संगठन है। आप सभी को यह भी बता दे की इन देशों की जनसँख्या अगर मिलाई जाए तो यह करीब 1.5 अरब के करीब है। जो की काफी अधिक है। इस संगठन की स्थापना बांग्लादेश के ढाका में चार्ट पर सभी देशो के हस्ताक्षर करने पर की गयी थी।

SAARC इस संगठन में कितने और कौन कौन से देश शामिल है ?

SAARC में करीब 8 देश शामिल है जिनका नाम कुछ इस प्रकार है –
भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका।

SAARC की स्थापना कब की गयी थी ?

इस संगठन की स्थापना 8 दिसंबर 1985 में हुई थी। इस संगठन की स्थापना बांग्लादेश के ढाका में चार्ट पर सभी देशो के हस्ताक्षर करने पर की गयी थी।

Leave a Comment