RBI ने तीन बैंकों पर लगाया भारी जुर्माना, कहीं आपका खाता तो नहीं इसमें

हाल ही में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया RBI ने छत्तीसगढ़ में 3 सहकारी बैंको पर बैंकिंग नियमो का पालन ना करने पर और वित व्यवस्था में नियमितता ना होने के आधार पर जुर्माना लगाया है। इनमे छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में स्थित नागरिक सहकारी बैंक मर्यादित समेत कुल 3 सहकारी बैंको पर जुर्माना लगाया गया है। जानकारी के लिए बता दे की इससे पहले भी फरवरी माह में 3 अन्य सहकारी बैंको पर नियमो के अनुपालन में ढ़िलाई को लेकर 5 लाख तक का जुर्माना लगाया गया था जिसमे 2 बैंक तमिलनाडु के थे जबकि एक बैंक जम्मू-कश्मीर राज्य से था। बैंक नियमो में ढिलाई बरतने समेत अन्य लापरवाही के मामलो को लेकर अब आरबीआई ने सख्त रुख अपना लिया है जिसमे 3 और सहकारी बैंको पर भारी जुर्माना लगाया गया है।

इस आधार पर लगा है जुर्माना

इस बारे में जानकारी देते हुये RBI द्वारा साफ़ किया गया है की बैंको पर कार्यवाही नियमो के उल्लंघन के आधार पर की गयी है। बैंकों द्वारा कर्ज देने के नियमो का पालन ना करना, वैधानिक/अन्य प्रतिबंध और ग्राहक को जानो (KYC) नियमो के पालन में पारदर्शिता ना बरतने के कारण नागरिक सहकारी बैंक मर्यादित और जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित (पन्ना) पर क्रमशः 4.50 लाख रुपये और 1 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। बता दे की आरबीआई द्वारा बैंको पर बैंक‍िंग विनियमन अधिनियम, 1949, KYC अनुपालन में ढ़िलाई बरतने और वर्ष 2014 में शुरू जमाकर्ता शिक्षा और जागरूकता कोष योजना का पालन ना करने पर यह जुर्माना लगाया गया है।

सतना शाखा पर भी लगा 25 हजार का जुर्माना

RBI द्वारा नियमो के उल्लंघन के आधार पर जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित की सतना शाखा पर भी 25000 रूपये का जुर्माना लगाया गया है। इससे पहले इंडिपेंडेंस को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (महाराष्ट्र) के लाइसेंस को भी आरबीआई द्वारा बैंकिंग नियमो के अनुपालन ना करने के आधार पर रद्द किया जा चुका है जिस पर RBI द्वारा 3 फरवरी, 2022 के बाद सभी प्रकार के ट्रांजेक्शन पर रोक लगाई जा चुकी है। साथ ही फरवरी माह में ही RBI द्वारा द बिग कांचीपुरम को-ऑपरेटिव टाउन बैंक लिमिटेड पर नियम अनुपालन को लेकर 2 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा चुका है।

Leave a Comment