Purnima 2022 Date: जनवरी से दिसंबर तक कब-कब है पूर्णिमा, चेक करें पूरी लिस्ट, जानिए इसका धार्मिक महत्व

तो नमस्कार दोस्तों आप सभी यह तो जानते ही होंगे की हिन्दू धर्म कितना पवित्र धर्म माना जाता हैं। हिन्दू धर्म इस धरती का सबसे पुराना धर्म माना जाता हैं। हिन्दू धर्म इ बहुत सी मान्यताएं हैं और बहुत सी चीजों के लिए व्रत भी रखा जाता हैं। इसी प्रकार हिन्दू धर्म में पूर्णिमा की भी काफी मान्यताये हैं और इस दिन हिन्दू धर्म में व्रत भी रखा जाता हैं। हिन्दू धर्म में इसको काफी महत्त्व दिया गया हैं। पर आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो यह नहीं जानते हैं की पूर्णिमा क्या होती हैं और इस दिन क्या होता हैं। तो अगर आप भी उन्ही में से एक हैं जो नहीं जानते की पूर्णिमा क्या होती हैं तो उसमे आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं हैं क्योकि आज हम आपको इस लेख के माध्यम यह बताने वाले हैं की पूर्णिमा क्या होती है और Purnima 2022 में कब कब हैं

Purnima 2022 Date: जनवरी से दिसंबर तक कब-कब है पूर्णिमा, चेक करें पूरी लिस्ट, जानिए इसका धार्मिक महत्व
Purnima 2022 Date

तो दोस्तों आप सब भी अगर यह सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो उसके लिए आपको हमारे इस लेख को पूर्ण रूप से पढ़ना होगा क्योंकि इसमें हमने सभी जानकारी प्रदान की हुई हैं तो कृपया कर इसको ध्यानपूर्वक पढ़े

इस पर भी गौर करें :- 2022 में दीपावली कितने तारीख को है?

Purnima क्या होती हैं ?

हिन्दू पचांगों के मुताबिक़ महीने को दो भाग में बाटा गया हैं जो की 15-15 दिन में बांटा गया हैं। इनको पक्ष भी कहा जाता हैं। माह के शुरुआत के 15 दिनों को शुक्ल पक्ष कहा जाता हैं और माह के आखरी 15 दिनों को कृष्ण पक्ष कहा जाता हैं और शुक्ल पक्ष के आखरी दिन को पूर्णिमा कहा जाता हैं और कृष्ण पक्ष के आखरी दिन को अमावस्या कहते हैं। पूर्णिमा के दिन चाँद अपने पूर्ण रूप में दिखाई पढता हैं और हिन्दुओं में इस दिन की काफी मान्यता होती हैं। इस दिन भगवान सत्यनारायण जी का व्रत भी रखा जाता हैं उस व्रत की भी काफी मान्यताएं व कथाएं हैं। एक साल में 12 पूर्णिमा व 12 अमावस्याएं आती हैं।

इस दिन हिन्दुओं में बहुत से पवित्र कार्य किये जाते हैं जैसे की – पितृ तर्पण, श्राद्ध कर्म, देवी-देवता का पूजन, उपाय, नदी, सरोवर और तीर्थस्थलों पर स्नान, यज्ञ, जप, तप, हवन तथा दान आदि। साल में कई महत्वपूर्ण पूर्णिमा भी होते हैं जिनके अलग अलग नाम भी होते हैं जैसे की – फाल्गुन पूर्णिमा ,बौद्ध पूर्णिमा,गुरु पूर्णिमा, शरद पूर्णिमा और कार्तिक पूर्णिमा

पूर्णिमा का महत्त्व

हिन्दू धर्म में पूर्णिमा का बहुत महत्त्व होता हैं। इस दिन हिन्दुओं में बहुत से महत्वपूर्ण कार्य व पवित्र कार्य किये जाते हैं। केवल यह ही नहीं बल्कि हिन्दू धर्म में बहुत से सद्गुरु और गुरुओं,और देवताओं का जन्म भी हुआ हैं। इसी कारण से इस दिन को काफी महत्वपूर्ण भी माना जाता हैं। हिन्दू धर्म में इस दिन बहुत से कार्य किये जाते हैं जैसे की – तीर्थ स्नान, दान और व्रत करना, श्राद्ध कर्म, देवी-देवता का पूजन, उपाय, नदी, सरोवर और तीर्थस्थलों पर स्नान, यज्ञ, जप आदि जैसी चीजें माना यह भी जाता हैं की इस दिन यह सभी चीजें करने से सबके मन की इच्छाएं भी पूर्ण हो जाती हैं।

इस दिन हिन्दुओं में सुहागिन महिलायें अपने पति की लम्बी आयु के लिए वट सावित्री व्रत भी रखती हैं और इसी दिन वह सभी बरगद के पेड़ की पूजा भी करती हैं। इस दिन भगवान सत्यनारायण जी की और भगवान शिव जी की और माता पारवती जी की पूजा भी की जाती हैं। माना यह भी जाता हैं की इस दिन जो भी व्यक्ति भगवान सत्यनारायण का व्रत रखता हैं और अपने घर में श्री सत्यनारायण भगवान की कथा करता हैं उसके घर में हमेशा सुख, शांति, लम्बी आयु भी होती हैं। केवल यह ही नहीं बल्कि इस दिन हिन्दुओं के बहुत से त्यौहार भी मनाये जाते हैं जैसे की – होलिका का दहन भी पूर्णिमा के दिन ही किया जाता हैं, रक्षा बंधन भी पूर्णिमा के दिन ही मनाया जाता हैं

इस दिन चाँद अपनी 16 कलाओं से युक्त अपने पूर्ण रूप में होता हैं। जिसको काफी अच्छा माना जाता हैं। माना यह भी जाता हैं की जिस व्यक्ति की कुंडली में चन्द्रमा दोष होता हैं उस दिन अगर वह व्यक्ति भगवान चन्द्रमा की पूजा करे तो उनका चन्द्रमा दोष खतम हो जाता हैं।

Purnima 2022 Date

तो दोस्तों कई लोग यह जानना चाहते हैं की 2022 में Purnima कब कब मनाई जायेगी। तो उसके लिए हमने यहाँ पर जानकारी प्रदान कर दी गयी हैं तो अगर आप भी यह जानना चाहते हैं की 2022 में पूर्णिमा कब मनाई जाएगी तो दी हुई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़े।

17 जनवरी, दिन: सोमवार: पौष पूर्णिमा
16 फरवरी, दिन: बुधवार: माघ पूर्णिमा
17 मार्च, दिन: गुरुवार: फाल्गुन पूर्णिमा
16 अप्रैल, दिन: शनिवार: चैत्र पूर्णिमा
15 मई, दिन: रविवार: वैशाख पूर्णिमा
14 जून, दिन: मंगलवार: ज्येष्ठ पूर्णिमा
13 जुलाई, दिन: बुधवार: आषाढ़ पूर्णिमा
11 अगस्त, दिन: गुरुवार: श्रावण पूर्णिमा
10 सितंबर, दिन: शनिवार: भाद्रपद पूर्णिमा
09 अक्टूबर, दिन: रविवार: आश्विन पूर्णिमा
08 नवंबर, दिन: मंगलवार: कार्तिक पूर्णिमा
07 दिसंबर, दिन: बुधवार: मार्गशीर्ष पूर्णिमा

पूर्णिमा से सम्बंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर

Purnima क्या होती हैं ?

हिन्दू पचांगों के मुताबिक़ महीने को दो भाग में बाटा गया हैं जो की 15-15 दिन में बांटा गया हैं। इनको पक्ष भी कहा जाता हैं। माह के शुरुआत के 15 दिनों को शुक्ल पक्ष कहा जाता हैं और माह के आखरी 15 दिनों को कृष्ण पक्ष कहा जाता हैं और शुक्ल पक्ष के आखरी दिन को पूर्णिमा कहा जाता हैं और कृष्ण पक्ष के आखरी दिन को अमावस्या कहते हैं

Purnima के दिन क्या क्या चीजें की जा सकती हैं

पूर्णिमा के दिन बहुत सी चीजें की जा सकती हैं जैसे की – तीर्थ स्नान, दान और व्रत करना, श्राद्ध कर्म, देवी-देवता का पूजन, उपाय, नदी, सरोवर और तीर्थस्थलों पर स्नान, यज्ञ, जप आदि

2022 में सितम्बर में पूर्णिमा किस दिन हैं ?

2022 में पूर्णिमा 10 सितम्बर को शनिवार को मनाई जायेगी।

पूर्णिमा के दिन होनेवाले कुछ व्रत के बारे में बताइये ?

इस दिन हिन्दुओं में सुहागिन महिलायें अपने पति की लम्बी आयु के लिए वट सावित्री व्रत भी रखती हैं और इसी दिन वह सभी बरगद के पेड़ की पूजा भी करती हैं। इस दिन भगवान सत्यनारायण जी की और भगवान शिव जी की और माता पारवती जी की पूजा भी की जाती हैं। माना यह भी जाता हैं की इस दिन जो भी व्यक्ति भगवान सत्यनारायण का व्रत रखता हैं और अपने घर में श्री सत्यनारायण भगवान की कथा करता हैं उसके घर में हमेशा सुख, शांति, लम्बी आयु भी होती हैं।

पूर्णिमा के दिन कौन कौन से त्यौहार मनाये जाते हैं ?

पूर्णिमा के शुभ दिन पर होलिका दहन व रक्षा बन्धन आदि जैसे त्यौहार मनाये जाते हैं।

तो दोस्तों आज हमने आप को इस लेख के माध्यम से यह बताया हैं की पूर्णिमा क्या होती हैं, पूर्णिमा का महत्व बताय हैं और 2022 में कब कब पूर्णिमा मनाई जायेगी यह बताय हैं तो दोस्तों अगर आप सभी को हमारा यह लेख पसंद आया हो तो हमारी वेबसाइट crpfindia.com को बुकमार्क करें और अगर आप इससे सम्बंधित कुछ प्रश्न पूछना चाहते हैं तो उसके लिए आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं हम जितनी जल्दी हो सकें आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करेंगे धन्यवाद।

Leave a Comment